By | January 24, 2023

Apni Sagi Bahan Ki Chudai:-हैलो दोस्तो, जो भी ये एपिसोड पहली बार पढ़ रहा हो उनसे कहूंगा की आप पहेले एपिसोड से ही पढे ताकि आपको कहानी ठीक से समझ भी आये और मज़ा भी. यहा क्लिक करके पढ़ सकते:-आंटी की लड़की ने नंगा देखा फिर चुदाई कारवाई 5
भाग 6: स्वाति का सीक्रेट लव
स्वाति अब तक तो आप मेरे बारे में जान ही गए होंगे. जी हाँ अमित की कजिन सिस्टर जिसके बारे में अपने किस तरह से मैंने अपनी जवानी की आग अमित के अंदर लगायी. पर अगर सच कहूँ तो मुझे अमित के साथ सेक्स करने में उतनी दिलचस्बी नहीं है.पर में क्यों ऐसा कर रही थी अमित के साथ वो आपको आगे पता चल जायेगा.

आज में आपको बताउंगी की जब मैंने अमित को सुबह सेक्स के लिए पागल किया तो उसके बाद क्या हुआ. सुबह अमित के साथ मस्ती करने के बाद में जिम को निकली जहा मुझे लिफ्ट में शोभा और उसका कोई रिलेटिव लड़का मिला जो अमित के उम्र का ही था-ही शोभा हाउ अरे यू?शोभा – ही स्वाति ऍम गुड तुम आज इस टाइम पर?में – हाँ शाम को नहीं जा पाऊँगी जिम थोड़ा काम है तो सोचा आज इस टाइम जिम जा रहे है

Apni Bahan Ki Chudai

आप सबसे भी मिल लुंगी.शोभा मुझे उसके साथ खड़े लड़के को मिलते हुए बोली – ये राकेश का भाई है कुछ दिनों के लिए हमारे घर आया है.में शोभा की टांग खींचती हुई बोली – ओह्ह! देवर आया है! है है है!हम एक दूसरे से हाथ मिलते हुए नाम बताये और फिर लिफ्ट नीचे जाने लगी. दोनों मेरे पीठ पीछे कुछ फूस फूसा रहे थे पता नहीं क्या पर साफ़ था की वो लड़का मेरी गांड की आकर को अपने आँखों से नाप रहा हो.

फिर में वहा से जिम को गयी जहा मेरी सबसे बेस्ट फ्रेंड टीना मेरी वेट कर रही थी.अगर कहु तो आप लोगो को अब तक शायद पता होगा टीना और मेरे बीच क्या बाते चल रही है अपार्टमेंट में. पर मुझे यकीन है की ये सिर्फ हम महिलाओ के बीच ही है और कोई दूसरा नहीं जानता. टीना से मिलने के बाद हमने थोड़ी बाते की. Apni Sagi Bahan Ki Chuda

में – हैलो टीना बेबी कल रात को रिप्लाई क्यों नहीं की?टीना – क्या बोलू यार मेरा पूरा मूड ख़राब थी कल.

में – क्यों?टीना – यार वो मेरे पापा न अजीब है उनकी किसी रिलेटिव की बेटी की शादी है तो वो अपने साथ मुझे ले जा रहे है.में – व्हाट! पर क्यों तुम कुछ बहाना मार देती.टीना – यार बहाना मारती वो कमीना मेरा भाई राहुल और उसका कोचिंग क्लासेज और मेरी पार्टी फ्रिक माँ और उनका पार्टी. बस में ही घर में खाली मिली सबको.

में – कितने दिन के लिए?टीना – 3 दिन के लिए. उसी लिए कल मूड ख़राब हुआ और सो गयी गुस्से में.में – तो अगले 3 दिन हम नहीं मिलेंगे क्या? (में थोड़ा उदास होकर बोली.)टीना – अरे उदास मत हो मेरी बिल्ली. मैं कुछ करुगी.

bhai bahan ki chudai ki kahnai

में हलकी मुस्कान देते हुए बोली – क्या? बोलना.टीना – जल्दी से जिम ख़त्म करके चलो बताती हूँ.फिर कुछ 1 घंटे हमने थोड़ी बहुत बातो के साथ एक्सेरसिस ख़त्म किया और वहा से निकलने लगे.

टीना – आज पता है कोई आया था जिम में वो शोभा के साथ.में – हाँ देखा मैंने जब आ रही थी तो लिफ्ट में वो मेरे पीछे खड़ा था.साफ़ पता चल रहा था की वो मुझे पीछे से ताड़ रहा है.टीना – हा यार तेरी तो मस्त फिगर है कोई भी ताड़ेगा और वो भी स्पोर्ट्स वियर में हो तो पूछो मत है है है!में – और हाँ बताना तो भूल ही गयी.टीना – क्या बोलो.में – मेरे घर में भी आया हुआ है एक सेम उम्र का.

टीना – कोन?में – वो मेरे पापा के सिस्टर का बीटा है माय कजिन भाई.टीना – थैंक गॉड तेरा भाई है वरना में उसे मार डालती.में – है है है! तू कितनी पोस्सेस्सिवे है मेरे लिए.

टीना और में इतने में लिफ्ट में घुसे. लिफ्ट में घुस कर हम ऊपर जा रहे थे की दौड़ कर किसी ने हमारी लिफ्ट को बंद होने से पहले रोका जिससे लिफ्ट का डोर फिर से खुल गया.

में – ही श्रद्धा – ओह ही स्वाति.में – काफी जल्दी में हो आज?श्रद्धा हस्ते हुए बोली – है है है! नहीं बस देखि तो एक लिफ्ट खुली थी तो आयी.में – हाँ हाँ! जल्दी तो बहुत होगी आज.श्रद्धा – वो तो है पर सब तुम्हारे प्लान….. Apni Sagi Bahan Ki Chuda

टीना हम दोनों को आखरी तक देख रही थी क्यों की टीना को श्रद्धा के बारे में ज़्यादा नहीं पता था.इससे पहले की श्रद्धा अपनी बात ख़त्म करती मैंने उसे टोकते हुए बात हटाने के लिए बोली – ओह सॉरी ये मेरी फ्रेंड टीना मेरे सेम फ्लोर में रहती है.इस पर श्रध्दा समझ गयी की वो आगे उस बारे में न बोले.श्रद्धा – ही टीना.टीना – हेलो.में – तो और बताईये.श्रद्धा – कुछ खास नहीं फ्री टाइम मिला था बाद में कही जाना है तो सोची की शोभा के यहाँ हो आऊं.

मैं – हाँ हाँ जाओ जाओ वाहा भी हो आओ.श्रद्धा – ऐसा क्यों बोली.में – नहीं नहीं कुछ नहीं.इतने में हमारा फ्लोर आया और हम दोनों श्रद्धा को बाई बोलकर लिफ्ट से निकल गए. लिफ्ट से निकलने के बाद में टीना से पूछी.में – चल बता क्या था तुम कुछ बोल रही थी मेरे लिए कुछ है करके.

टीना – वो अगले 3 दिन में नहीं होना तो सोची की आज….. यू क्नोव?में – यार सचमे मेरा भी बहुत मन है पर वो मेरा भाई अमित घर पे है.टीना मेरे गालो को हलके से चींटी काटते हुए बोली – चिंता न कर स्वीटू आज मेरे घर कोई नहीं है.में – सच्ची?
टीना – हाँ राहुल किसी फ्रेंड के यहाँ गया है और वही से अपनी क्लास को जाने की बात कर रहा था माँ से. माँ भी शॉपिंग करने गयी है उनको शाम में कोई बिसनेस वालो का कोई काम है और डैड आएंगे 3 बजे तक.

में – तू जा कब रही है?टीना – ट्रैन 4 बजे की है पापा ने कहा है वो 3 बजे तक आएंगे.में ख़ुशी से पागल हो गयी और इसका असर मेरी चूत में हलकी नमी से होने लगा.

Bhai bahan ki chudai hindi mein

में – चल तेरे घर चलते है.टीना – नहीं रुको अभी तुम अपने घर जाओ में घर जाकर देख तो लू की सचमे सब गए बहार या नहीं और फ़ोन भी करके पूछ लुंगी की वो सब कब आएंगे. Apni Sagi Bahan Ki Chuda

में – मुझसे तो रहा नहीं जा रहा टीना मन तो करता है की यही खा जाओ तुझे.टीना – 10 मिनट की तो बात है. में घर जाकर सब कॉल करके तुम्हे कॉल करती हूँ. एंड तेरे लिए तो मस्त सरप्राइज भी है.

मैं उसकी हाथ पकड़ कर दबाते हुए बोली – सरप्राइज बोलना प्लीज.टीना – चल तू टाइम खराब मत कर मुझे जाकर देखने दे में कॉल करती हूँ.इसके बाद में अपने घर को गयी और बेसब्री से टीना की कॉल का वेट करने लगी. तभी अमित अपने रूम से कही को जाने के लिए अच्छा से तैयार हो कर निकला.

में – कहा बॉस कहा को?अमित – क्या करू तुम तो बस आग लगाती हो पर बुझाती नहीं.में – ओहो! तो कही आग बुझाने जा रहे है?अमित – नहीं नहीं अपने फ्रेंड से मिलने जा रहा हूँ. और तुम बोलो क्या करोगी पूरा दिन.में – में भी बहार जाउंगी कुछ देर बाद नहाकर.अमित – शाम को घर पर होंगे न.में – हाँ में जल्दी ही आ जाउंगी.इतने में मेरी फ़ोन बजी और में उसे देख झट से अमित को बाई बोली – ठीक है में यही एक फ्रेंड से मिलकर आती हूँ बाई.

अमित – हाँ बाई पर कहा…उसके बाई को बिना सुने ही में डोर को बंद की और जल्दी जल्दी चलते हुए टीना के घर को जाने लगी. पर इतनी भी जलबाज़ी नहीं दिखा रही थी अपने चाल में की किसी के ध्यान में आ जाओ. फिर मैंने उसकी घंटी बजे तो टीना ने डोर ओपन किया.टीना – है है है! तुझे तो 1 मिनट भी नहीं लगी यहाँ पहुँचने में.

में अंदर घुसी और डोर को धक्का मारते हुए उसे गले से लगाती हुई बोली – इतना वेट करवाई तो में क्या कर सकती हूँ.इतने में टीना मेरे होंटो से होंठ लगा कर किश कर डाली. हम दोनों के जीभ एक दूसरे के साथ गले लगने लगे.

जो किश टीना के नरम होठो के साथ मिलती है उसका मज़ा किसी भी लड़के के होठो में नहीं मिलता. में किश को तोड़ी और बोली – अब बता न क्या है तेरा सरप्राइज.टीना – वेट इतना कहते हुए वो फिर से मुझे किश करने लगी.आंखे बंद करके हमदोनो एक दूसरे को किश करते हुए बिना देखे पीछे को धीरे धीरे चलने लगे और तभी अचानक से गिर पड़े सोफे पर जिसपर हम दोनों हसने लगे. अब वो मेरे नीचे थी और में उसके ऊपर. में उसे फिर से किश करने लगी.उसके जीभ को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. धीरे धीरे उसका हाथ मेरे पैंट के अंदर मेरी पेंटी के ऊपर से गांड को दबाने लगी. मेरी भी हाथ उसके बड़े बूब्स को उसके टी शर्ट के ऊपर से दबा रही थी पर हमारी किश अब भी जारी थी. Apni Sagi Bahan Ki Chuda

कुछ ही पल में मेरी हाथ उसके टी शर्ट के अंदर से उसके बूब्स को दबाने लगी तो मैंने पुछा.में – कामिनी बिना ब्रा पहने आयी थी क्या जिम?टीना – है है है! हाँ मुझे लगा तुम्हे तभी से उक्साउन पर तुमने ध्यान नहीं दिया क्या?में – नहीं तुम कभी ऐसा करती नहीं.

Chhoti bahan ki chudai ki story

इतना कहते हुए में उसके कमर के पास घुटने तक कर उठी और फिर उसके टी शर्ट को खींच कर उसके गले से बहार निकल फेकी और फिर अपनी स्पोर्ट वियर का टी शर्ट खोली और उसके मुँह पर दे मारी. वो बस मुस्कुरा कर लेटी मुझे देखते रही और मैंने अपनी ब्रा खोली और साइड में फेक कर उसके ऊपर लेट गयी.इस तरह लेटने से हम दोनों को हमेशा मज़ा आता है जब हमारे बूब्स और निप्पल एक दूसरे पर रगड़ते है. किसी भी मर्द के साथ ये एहसास नहीं मिलता.

टीना – यार सिर्फ ऊपर मज़ा करे क्या? नीचे??में समझ गयी और उठ खड़ी हुई सोफे पर लेटी हुई ही एक ही बार में उसकी पैंट और पेंटी को खींचने लगी तो देखा की उसने तो आज पैंटी भी नहीं पहनी थी.में उसे देख मुस्कुरायी और फिर उसकी पैंट निकाल फेकि और फिर अपनी पैंट और पेंटी भी उतर कर फेक डाली.

अब हम दोनों लड़किया उसके के घर उसके लिविंग रूम में पुरे नंगे बेशर्मी के साथ हस्ते हुए एक दूसरे को देख निहार रहे थे. अपने प्राइवेट रूम में नंगी रहना और लिविंग रूम में खुले आम नंगी रहने में काफी अंतर होता है. ऐसा लगता है दुनिया में पूरी आज़ादी के साथ जी रहे हो.में फिर उसके ऊपर लेटने ही वाली थी की उसने कहा – हे!! एक आईडिया. बाथरूम चले क्या?
में – क्यों? है है है! तुझे कही जाना है क्या?टीना – उफ़ इडियट. जिम से आकर ऐसे ही हम पुरे पसीने के साथ है. क्यों न साथ में नहाय? जैसे हम हमेशा नहाते है साथ हो तो.में उठी और उसका हाथ पकड़ उसे उठाने लगी. फिर हम दोनों उसके लिविंग रूम में नंगे बदन लेकर इधर उधर दौड़ते हुए अपने फेके कपडे समेटने लगे इतने में जब में झुक कर अपनी टी शर्ट उठा रही थी तो उसने मेरी नंगी गांड पर ज़ोर का मारा और भागने लगी अपने कमरे को.में – कुति तू तो गयी आज.

फिर में उसके पीछे भागती हुई उसके कमरे में गयी तो वो अपने कपडे मेरे तरफ फेकते हुए बाथरूम में घुस गयी. में उसकी रूम की डोर बंद किये बिना ही उसके पीछे बाथरूम में घुस गयी. उसे पकड़ कर उसके गांड पर मारने के लिए पर उतने में उसने हैंड शावर लेकर मेरे ऊपर पानी बरसाने लगी. Apni Sagi Bahan Ki Chuda

मेरे मुँह पर पानी पड़ी तो में थोड़ी पीछे हैट गयी.टीना – सॉरी सॉरी मारना मत प्लीज.में पानी की छिटो को हाथ से हटती हुई उसके पास पहुंची और उसे बहो में ले ली. उसके बाद हमने फिरसे एक दूसरे को किश किया अब हम दोनों को ऐसा सुकून मिल रहा था जब हम दोनों की नंगी बदन एकदूसरे से रगड़ रही थी. फिर मेरी हाथ थोड़ी साइड को गयी और हमारे सर के ऊपर वाले शावर को चालू कर दी.शावर से बरसते पानी में हम दोनों के नंगे बदन गीली हो चुकी थी और बूब से बूब और निपल से निप्पल रगड़ने में और भी मज़ा मिल रहा था ऐसा लग रहा था जैसे हम दो लड़किया एक दूसरे के प्यार में खुली बारिश के नीचे नंगी हो कर संगम कर रहे हो.

Dost ki bahan ki chudai ki kahani

दो संपो की तरह हम दो नागिन एक दूसरे के बदन पर जा रहे थे और कभी न रुकने वाली किश कर रहे थे. हमारी टाँगे एक दूसरे के बीच घुस कर अपनी जांघो को एक दूसरे के जांघो से रगड़ रही थी. और कभी कभी जांघ एक दूसरे की चूत से रगड़ जाती जिस पर पागल होकर होठो को हलके से काट लेते और आहे भरते.
फिर हम अलग हुए और वो मुझे देख बोली – बिना साबुन का क्या मज़ा?फिर उसने शावर बंद किया और शावर जेल की बोतल लेकर मेरी बदन पर शावर जेल की लम्बी पिचकारी दे मारी. और अपने बदन पर भी जेल डालकर अपने बूब्स पर उसे फैलते हुए मुझसे बोली – अब आओ माय स्वीटू.मैंने भी शावर जेल को अपने बूब्स और पेट से होते हुए चूत के ऊपर लगाकर उसे खींच गले लगायी. इस बार तो और भी मज़ा आ रही थी एक दूसरे से बदन रगड़ने में क्यों की साबुन से हमारे बदन फिसलते हुए रगड़ खा रही थी. जिसमे और भी मज़ा आ रही थी.

फिरसे टीना को किश करते हुए इस बार मेरी हाथ उसकी एक जांघ को फैलते हुए उसकी चूत पर साबुन मलने लगी. उसने आह भरते हुए अपना भी हाथ मेरे चूत के तरफ बड़ाई तो मैंने अपनी टैंगो को फैलाकर उसकी हाथ को रास्ता दी. अब हम दोनों हलकी आहे भरते हुए एक दूसरे को किश कर रहे थे.और एक दूसरी की चूत पे उंगलियों से साबुन को मलते हुए मज़ा ले रहे थे. इसके बाद हमने किश को तोडा और

फिर एक दूसरे पर हैंड शावर से पानी डालने लगे. हम दोनों को ही ऐसे नंगे नहाने में बहुत मज़ा आता था एक दूसरे को छूते और छेड़ते हुए.इससे पहले भी हमने कई बार टाइम मिलने पर नहायी है कभी टीना के घर कभी मेरे. इसके बाद हैंड शावर से एक दूसरे पर पानी डालकर साबुन हटाने के बाद मैंने टीना को हाथ से पकड़ कर घुमाया और उसे कमर से झुककर उसके गीली गांड पर एक तमाचा दे मारा.टीना – पागल इतनी ज़ोर से..फिर में झुकी और उसके गांड पर जहा मारी थी वह एक किश कर डाली. और फिर उठ कर शावर जेल लेकर एक पिचकारी जेल की उसके गांड की दरार पे डाल दी. Apni Sagi Bahan Ki Chuda

badi bahan ki chudai ki kahani

इसके बाद में अपनी उंगलियों से उसकी गांड की मुँह पर साबुन मलकर उसकी गांड की छेद साफ़ करने लगी.यूं तो हमने एक दूसरी की चूत कई बार चाटी है लेकिन आज तक गांड नहीं चाटी थी. टीना को वो उतनी अछि नहीं लगती थी. फिर उसकी गांड पर पानी डाल कर मैंने साबुन साफ़ की. और इसके बाद पलट कर उसके तरफ अपनी गांड दिखा कर खड़ी हो गयी.वो समझ गयी की में क्या चाहती हूँ. तो उसने शावर जेल लिया पर मेरी गांड के जगह मुझे देख मुस्कुराते हुए अपने हाथ में जेल डालकर बोली – नाउ माय टर्न स्वीटू.

इतना कहते हुए टीना ने मुझे दिवार पे हाथ के बल टिकाया और अपने उंगलियों से मेरे गांड के दरार में हाथ घुसा कर मेरी गांड की मुँह को जेल से अच्छे से मलने लगी. उसकी उंगलिया जब मेरी चूत से होते हुए गांड की मुँह को रगड़ती तो अजीब सा मज़ा दे जाती और मेरी मुँह से आह निकल जाती.जिससे वो और भी ज़्यादा मेरी दोनों छेद को छेड़ती. तभी मुझे एहसास हुआ की वो अपनी ऊँगली मेरी गांड में हलके से अंदर भी घुसती और निकालती. इससे पहले उसने कभी ऐसा नहीं किया था पर में चुप चाप मज़ा लेती रही. इसके बाद साबुन से मेरी गांड और चूत को अचे से धोया.

फिर वो हैंड शावर से पानी डाल कर साबुन हटा देती पर साबुन के जाने के बाद भी उसे मेरी गोल गांड पर पानी डालना बंद नहीं की. उसे मेरी गोल मटोल गांड पर ऐसे पानी डालना अच्छा लगता था। और वो डालते रहती थी जब तक में उसे रोक न दूँ. फिर हमने नहाना बंद किया.इसके बाद देखि तो टॉवल उसके पास एक ही थी तो उसने अपना बदन जल्दी से साफ किया तो मैंने उससे पूछा – वाह रे टीनू आज खुद से अकेले अकेले? साली सेल्फिश.इससे पहले जब भी हम साथ में नहाते थे तो हम एक दूसरे को टॉवल से पोछा करते थे. पर आज वो खुद से अपने आप को साफ कर रही है

तो मैंने ऐसा पुछा तो उसका जवाब आया की.टीना – तुम थोड़ा टाइम लेकर खुद को साफ कर आओ. मुझे तुम्हारे सरप्राइज के लिए तैयार होना है ना. है है है!इस बात पर में हसी और बोली – अच्छा हो की तेरा सरप्राइज बढ़िया हो वरना तेरी आज खैर नहीं.इस पर वो टॉवल मुझ पर फेक कर बोली – देख लेना अगर बढ़िया न लगे तो. Apni Sagi Bahan Ki Chuda

Indian bhai bahan ki chudai ki story

फिर में अपने आप को पोछने लगी और पूरा पोछने के बाद बहार निकलने से पहले सोची की टीना से पूछ लू की वो तैयार है या नहीं क्यों की में नहीं चाहती थी की उसका सरप्राइज बर्बाद हो.में – में आऊं बहार?टीना – रुक बस 1 मिनट जैसा की मैंने कहा में नहीं चाहती की उसका सरप्राइज बर्बाद हो क्यों की वो मुझे बहुत पसंद करती है और उसकी हर ख्वाइश में भी पूरी करनी चाहती हूँ.टीना – हाँ आजा बहार .

तो दोस्तो आज इस भाग मे बस इतना ही बाकी अगले भाग मे .
Read more Sex Stories..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *