By | April 25, 2023

Baap Beti ki Chuddai: पिछले पार्ट्स में आपने पढ़ा था की कैसे मेरी और आशु की सेक्स वीडियो मॉल के मैनेजर के पास थी और वह हमें ब्लैकमेल करने लग गया।

फिर मुझे उससे चुदना पड़ा लेकिन फिर भी उसका मन नहीं भरा, उसने आशु के सामने एक और शर्त रखी की उसको एक कुवारी लड़की को चोदना है अब हमारे पास कोई रास्ता नहीं था तो हमने आशु की बहन को उससे चुदवा दिया अब आगे चलते है।

Baap Beti ki Chudai:

आशु ने अपना माल मेरे मुँह पर निकाल दिया और मैं उसका माल पी गयी उधर कीर्ति ने भी मैनेजर का माल पी लिया अब सब ठन्डे हो चुके थे कीर्ति को देख कर ऐसा लग रहा था की उसको भी बहुत मज़ा आया था मज़ा आता भी क्यों न 30 साल की लड़की ने अभी तक सेक्स नहीं किया था तो चुत तो उसकी भी तड़प रही होगी।

फिर सब ने अपने-अपने कपडे पहने और बाहर आ गए मैनेजर ने वह वीडियो अपने सिस्टम से डिलीट कर दी, अब जाके हमारी टेंशन ख़तम हुई और हम घर वापस आ गए अगले दिन सब नार्मल चल रहा था फिर शाम को सब साथ में बैठ कर चाय पी रहे थे चाय पीने के बाद सब अपने-अपने रूम में चले गए। Baap Beti ki Chudai:

Beti ki chudai kahani

अब बस आशु और आशु के पापा धनुष (मौसा के बड़े भाई) ही वह पर बैठे थे वह काम की कुछ बातें कर रहे थे तभी अचानक कीर्ति वहा आयी और आशु को बोली-

कीर्ति: भैया आज फिर से दोस्ती करे? आशु उसकी बात सुन कर घबरा गया फिर वह बोला-

आशु: हां हां करेंगे कीर्ति लेकिन अभी नहीं अभी तुम जाओ,

कीर्ति: भैया मुझे अभी करनी है चलो न करते हैआशु थोड़ा गुस्से से बोला: 

आशु: बोला ना अभी नहीं अभी हम काम कर रहे है फिर मैं जल्दी से वहा गयी और कीर्ति को अंदर लेके चली गयी ये सब आशु के पापा धनुष अंकल के सामने हो रहा था।

फिर उन्होंने पुछा-

धनुष अंकल: ये किस चीज़ की बात कर रही है आशु हड़बड़ाई आवाज़ में बोला: 

आशु: पापा कुछ नहीं वह एक नयी गेम आयी है फ्रेंडशिप नाम की इसको वही खेलनी है।

धनुष अंकल: अच्छा ठीक है उधर मैंने कीर्ति को बोला: 

मैं: क्या हुआ कीर्ति?

कीर्ति: भाभी बड़ा दिल कर रहा है दोस्ती करने का कल बहुत मज़ा आया था मुझे फिर से मज़ा करना है।

मैं: कोई बात नहीं कीर्ति तुम जी भर का मज़ा करोगी एक बार अपने भैया को फ्री हो जाने दो फिर वह तुम्हारे साथ दोस्ती करेंगे।

कीर्ति: ओके भाभी, धनुष अंकल से बात ख़तम करने के बाद आशु सीधा हमारे पास आया फिर वह कीर्ति को देखते हुए बोला-

आशु: कीर्ति ये सीक्रेट फ्रेंडशिप होती है इसमें किसी को बताते नहीं है की हमने दोस्ती की है।

कीर्ति: ओके भैया सॉरी लेकिन अब तो हम कर सकते है न दोस्ती? आशु कुछ नहीं बोला और सोचने लग गया फिर मैंने उससे पुछा- Baap Beti ki Chudai:

Baap beti ki chudai hindi mein

मैं: अब क्या?

आशु: अब क्या चोदना पड़ेगा इसको नहीं तो इसका मुँह किसी के सामने भी खुल सकता है।

मैं: अपनी बहन को चोदोगे ।

आशु: अभी ये मेरे लिए सिर्फ एक सेक्सी लड़की है और वैसे भी ये भी खुद चुदना चाहती है तो मैं क्या करू, ये बोल कर आशु हवस भरी निगाहों से अपनी बहन को देखने लग गया।

कीर्ति ने लेग्गिंग्स और टाइट टी-शर्ट पहनी हुई थी इन कपड़ो में उसका फिगर उभर कर आ रहा था।

फिर आशु कीर्ति को बोला-

आशु: चल मेरी लाड़ली बहन हम दोस्ती करते है।

कीर्ति: चलो भैया, फिर आशु कीर्ति को फार्महाउस की तरफ लेके जाने लगा उसने मुझे भी साथ चलने को कहा ताकि मैं ध्यान रख सकू फार्महाउस पहुँच कर कीर्ति और आशु रूम में चले गए मैं ध्यान रखने के लिए बाहर ही रुकी रूम का दरवाज़ा खुला था तो मैं पूरा कार्यक्रम देख पा रही थी अंदर जाते ही कीर्ति ने आशु को गले से लगा लिया और वह दोनों किश करने लगे कीर्ति बड़े मज़े से किश कर रही थी।

आशु उसको जीभ चूसना सीखा रहा था साथ में वह अपनी बहन के बूब्स भी दबा रहा था कीर्ति की साँसे तेज़ हो रही थी और वह पूरा मज़ा ले रही थी।

फिर आशु ने कीर्ति को घुमाया और उसके पीछे चिपक गया वह अपने हाथ आगे ले-जाके उसके बूब्स दबाने लगा और पीछे से वह कपड़ो के ऊपर से उसकी गांड में अपना लंड दबाने लगा।

फिर उसने कीर्ति की टी-शर्ट उतार दी कीर्ति के ब्रा में कसे हुए बूब्स देख कर आशु पागल हो गया उसने जल्दी से उसकी ब्रा का हुक खोल कर उसकी ब्रा उतारी और बूब्स चूसने शुरू कर दिए।

वह ज़ोर-ज़ोर से कीर्ति के निप्पल्स चूस रहा था जिससे उसकी सांस चढ़ती जा रही थी।

फिर उसने कीर्ति को बेड पर लिटाया और उसकी कमर चूमते हुए लेग्गिंग्स पर आ गया उसने लेग्गिंग्स के ऊपर से उसकी चुत वाली जगह पर मुँह मारना शुरू किया। Baap Beti ki Chudai:

Baap beti ki chudai video

फिर वह बोला-

आशु: बड़ी अछि खुशबु आ रही है मेरी बहिन की चुत में से कीर्ति ने ये सुन कर स्माइल पास की फिर आशु ने कीर्ति की लेग्गिंग्स उतार दी और उसकी जाँघों को चूमने लग गया वह उसकी जाँघों को अपनी जीभ से चाट रहा था।

फिर उसने कीर्ति की पंतय उतारी और उसकी पहले से गीली चुत को चाटने लग गया, कीर्ति मदहोश हो गयी थी और मज़े से तड़प रही थी उसके बाद आशु ने अपने सारे कपडे उतार दिए और अपने तन्ने हुए लंड के साथ कीर्ति के सामने खड़ा हो गया उन दोनों को देख कर मेरी चुत भी लीक होने लगी थी।

अब आशु ने कीर्ति को बोला: 

आशु: मेरी बहन मेरा लंड चूसेगी?

कीर्ति: नहीं भैया मुझे ये अच्छा नहीं लगता।

आशु: अरे वह तो दुसरे का लंड था ये तेरे भाई का लंड है तुझे ज़रूर अच्छा लगेगा, कीर्ति आशु की बात मानते हुए घोड़ी बन गयी और उसने लंड मुँह में डाल लिया इससे पहले वह कुछ बोल पाती आशु ने उसके बाल पकडे और धना-धन उसके मुँह को चोदने लगा।

कीर्ति के मुँह से लार टपक रही थी वह आशु को धक्का दे रही थी लेकिन वह कहा उसको छोड़ने वाला था।

फिर जब आशु ने लंड बाहर निकला तो कीर्ति बोली-

कीर्ति: भैया आप गंदे हो आपका ये बहुत कड़वा है फिर आशु ने कीर्ति को लिटा लिया और उसकी जाँघों के बीच आ गया वह अपना लंड उसकी चुत पर रगड़ने लगा और कीर्ति बोली-

कीर्ति: भैया अब कर लो न दोस्ती, आशु ने लंड कीर्ति की चुत के मुँह पर सेट किया और ज़ोर का धक्का मारा लंड पूरा कीर्ति की चुत में समां गया और उसके मुँह से ज़ोर की चीख निकली आशु ने कीर्ति के मुँह से अपने मुँह को बंद कर लिया और उसको धापा-धप चोदने लग गया यहाँ मेरी चुत पानी- पानी हो रही थी मेरा ध्यान बाहर काम और अंदर ज़्यादा था।

आशु अपनी बहन को ज़ोर-ज़ोर से चोद रहा था वह उसके होंठ चूस रहा था और बीच-बीच में निप्पल्स भी चूस रहा था कीर्ति भी पूरे मज़े में थी उसकी नयी-नयी फटती चुत में बहुत गर्मी थी। Baap Beti ki Chudai:

Baap aur beti ki chudai

फिर आशु ने कीर्ति की टाँगे मोड़ दी और ज़ोर-ज़ोर से उसकी चुत में धक्के मारने लगा पूरे कमरे में थप-थप की आवाज़े आ रही थी आवाज़ से पता चल रहा था की कीर्ति की चुत पानी छोड़ रही थी।

फिर आशु आहा आठ करने लगा मैं समझ गयी की वह झड़ने वाला था लेकिन उसने लंड अपनी बहन की चुत से बाहर नहीं निकाला वह ज़ोर के धक्के लगता रहा और अपनी बहिन की चुत में ही अपना माल निकाल दिया।

फिर वह हांफता हुआ लेट गया कीर्ति स्माइल कर रही थी और बहुत खुश थी उसने अपने भाई को गले लगा लिया और दोनों अंदर ही लेटे रहे तभी मेरे कंधे पे किसी ने हाथ रखा मेरी गांड फट गयी और मैंने मूड कर पीछे देखा

पीछे धनुष अंकल (आशु और कीर्ति के पापा) थे उनको देख कर मेरी सिटी-पित्ती गुल हो गयी.

फिर उन्होंने मुझसे पुछा-

धनुष अंकल: क्या चल रहा है?

मैं: जी…जी कुछ नहीं अंकल,

धनुष अंकल: तुम यहाँ क्या कर रही हो? और आशु और कीर्ति कहा है?

मैं: वह तो यहाँ नहीं है यहाँ तो मैं अकेली हु, 

धनुष अंकल: लेकिन मैंने तुम तीनो को यहाँ साथ में आते देखा है.

मैं: नहीं अंकल आपको गलत-फेहमी हुई है.

धनुष: मेरी आँखें इतनी भी कमज़ोर नहीं हुई है, तभी उनका ध्यान कमरे में गया उन्होंने देखा की उनका बेटा और बेटी दोनों नंगे और बाहों में बाहें डाले लेटे हुए थे। Baap Beti ki Chudai:

Baap beti ki chudai ki kahani

ये देख कर वह रूम की तरफ जाने लगा, मैंने उनका हाथ पकड़ के उनको रोकने की कोशिश की लेकिन वह नहीं रुके रूम के दरवाज़े पर जाके वह बोले-

धनुष अंकल: ये क्या किया तुमने आशु? अपनी ही बहन के साथ अपने बाप की आवाज़ सुन कर आशु एक-दम से उठ खड़ा हुआ उसने जल्दी से अंडरवियर पहना और खड़ा हो गया कीर्ति अपने बाप की तरफ देख कर मुस्कुरा रही थी।

फिर वह बोली-

कीर्ति: पापा आज मैंने भैया के साथ अच्छे से दोस्ती की और ये बोल कर कीर्ति अपने बाप के गले से लग गयी करते के कैसे हुए सतांन के साथ टच होते ही धनुष को करंट सा लगा उसने अपनी बेटी की तरफ देखा तो उसको एक सेक्सी लड़की दिखाई दी जो अभी-अभी अपने भाई से चूड़ी थी।

फिर वह आशु को बोला: हरामज़ादे! दफा हो जा यहाँ से अंकल के ये बोलते ही आशु रूम से भाग खड़ा हुआ.

फिर अंकल ने कीर्ति की बेड पे बिठाया और उससे पुछा-

धनुष अंकल: क्या हुआ कीर्ति?

कीर्ति: पापा भैया ने मुझे दोस्ती करने का तरीका बताया है बहुत मज़ा आता है इसमें आप भी करेंगे मेरे साथ दोस्ती?

धनुष अंकल: ये कब सिखाया आशु ने तुम्हे?

कीर्ति: कल सिखाया था मॉल में जाके कल सबसे पहले दोस्ती मैंने एक अंकल के साथ करे थी वहा पे,

 धनुष अंकल: अच्छा तो तुम्हे कैसा लगा दोस्ती करके?

कीर्ति: पापा बहुत मज़ा आया,  Baap Beti ki Chudai:

Bap beti ki chudai story

धनुष अंकल: फिर तो मुझे भी कर लेनी चाहिए तुमसे दोस्ती, अंकल की ये बात सुन कर हम दोनों एक-दुसरे की तरफ देखने लगे,

कीर्ति: हां पापा ज़रूर करनी चाहिए,

धनुष अंकल: चलो फिर करते है ये बोलते ही धनुष अंकल ने अपने होंठ कीर्ति के होंठो से चिपका दिए और उसके होंठ चूसने लगे कीर्ति भी अंकल का साथ देने लगी उन्होंने अपना एक हाथ कीर्ति के एक बूब्स पर रखा और उसको दबाने लगे, कीर्ति किश करते हुए हम्म हम्म कर रही थी।

फिर अंकल ने उसकी गर्दन पर किश करना शुरू कर दिया कीर्ति अपना हाथ अंकल के लंड पर ले गयी और पंत के ऊपर से उनका लंड मसलने लग गयी।

धनुष अंकल ने कीर्ति के दोनों बूब्स पकडे और एक-एक करके उन्हें चूसना शुरू कर दिया मैं और आशु हैरानी से उनको देखे जा रहे थे कीर्ति अब सिसकियाँ लेने लगी थी।

फिर अंकल खड़े हुए और उन्होंने अपनी पैंट उतार दी फिर शर्ट उतारी और फिर बाकी सब भी उतार दिया अंकल का लंड 7-इंच का था उनका लंड टाइट था और कीर्ति की तरफ इशारा कर रहा था। Baap Beti ki Chudai:

Baap beti ki chudai kahani

फिर अंकल बोले: लंड चूसोगी?

कीर्ति: नहीं पापा मुझे लंड चूसना अच्छा नहीं लगता,

धनुष अंकल: ऐसा क्यों? ये तो दोस्ती करने में एहम पार्ट है।

कीर्ति: मुझे कड़वा लगता है।

धनुष अंकल: बस इतनी सी बात अभी इसका इलाज कर देते है फिर अंकल अंदर किचन में गए और वह से चॉकलेट सिरप लेके आये तभी आशु मुझे बोला 

आशु: ये आईडिया मुझे क्यों नहीं आया?

मैंने कहा: बेटा बेटा होता है और बाप बाप होता है, फिर धनुष अंकल ने अपने लंड को सिरप में भिगो लिया और बोले-

धनुष अंकल: ये लो अब हो गया ये टेस्टीचॉकलेट सिरप देख कर कीर्ति खुश हो गयी उसने लंड अपने हाथ में पकड़ा और उसको चाटने लग गयी फिर धनुष अंकल बोले-

धनुष अंकल: बेटा इसको चूसो भी ये सुन कर कीर्ति ने लंड मुँह में डाल लिया और चूसना शुरू कर दिया इस बार वह मज़े से लंड चूस रही थी जैसे कोई रंडी चूसती है,

5-मिनट में कीर्ति ने लंड चाट कर साफ़ कर दिया फिर धनुष अंकल ने उसको बेड पर लिटाया और उसकी टाँगे खोल कर उसकी चुत पर अपना मुँह लगा लिया मुँह लगते ही वह पीछे देख कर बोले- Baap Beti ki Chudai:

Hindi mai baap beti ki chudai

धनुष अंकल: साले अंदर ही माल निकाल दिया भोंसड़ी के अगर कुछ हो गया तो?

आशु ने ये सुन कर अपनी आँखें नीची कर ली फिर धनुष अंकल ने चुत चाटनी शुरू की वह अपनी बेटी की चुत को बड़े मज़े से चाट रहे थे और कीर्ति भी मस्त हो रही थी, कुछ देर उसकी चुत चाटने के बाद अंकल कीर्ति के ऊपर आ गए और उसकी चुत में लंड घुसा दिया कीर्ति आठ अहह करने लगी और अंकल अपनी ही बेटी को चोदने लग गए, 

धीरे-धीरे उन्होंने स्पीड बधाई और वह ज़ोर-ज़ोर से चुदाई करने लगे उन्होंने कीर्ति की टाँगे उठा कर उसको पूरा मोड़ दिया फिर वह उसकी चुत में धक -धक् धक्के देते रहे, चुदाई देख कर आशु का लंड फिर से खड़ा हो गया फिर वह भी अंदर वापस चला गया और अंकल को बोला-

आशु: पापा मैं भी कर लू?

धनुष अंकल: साले पहले पुछा था मुझसे? पता नहीं किस्से सील तुड़वा दी इसकी इतने साल मैं तरसता रहा और सील तोड़ने का मज़ा कोई और ले गया, अंकल की ये बात सुन कर आशु हैरान हो गया इधर मैं भी हैरान थी की बाप अपनी बेटी को कब से चोदना चाहता था।

धनुष अंकल: जा बाहर जा अभी मेरी बारी है ये सुन कर आशु बाहर आ गया और देखने लगा की उसका बाप उसकी बहन के साथ क्या-क्या करेगा, अंकल अब पूरा ज़ोर लगा कर कीर्ति को चोद रहे थे।

उन्होंने उसके निप्पल्स चबा-चबा कर लाल कर दिए थे फिर वह आठ अहह करते हुए उसकी चुत में ही झड़ गए, झड़ने के बाद भी वह कीर्ति को किश करते रहे कीर्ति भी उनका पूरा साथ दे रही थी हालांकि वह 2 बार फिर से झड़ चुकी थी अगले 10-मिनट अंकल कीर्ति के साथ किसिंग और कुड्लिंग करते रहे उनका लिंड फिर से खड़ा हो गया। Baap Beti ki Chudai:

Beti ki chudai ki kahani

फिर वह कीर्ति को बोले-

धनुष अंकल: कीर्ति बेस्ट दोस्त बनना चाहोगी मेरी, 

कीर्ति: वह कैसे पापा?

धनुष: इसके लिए तुम्हे थोड़ा दर्द ज़्यादा सहना पड़ेगा।

कीर्ति: कोई न पापा कल भी दर्द हुआ था लेकिन बाद में मज़ा आया था।

अंकल: चलो फिर घुटनो के बल बैठ जाओ, कीर्ति उनकी बात मानते हुए घुटनो के बल बैठ गयी फिर उन्होंने उसको घोड़ी बना दिया और उसके पीछे आ गए कीर्ति की गांड कमाल की लग रही थी पहले तो धनुष अंकल ने उसके चूतड़ों पर किश किये।

फिर उन्होंने अपना मुँह उसकी गांड के चीयर में डाला और पूरे चीयर में जीभ फिरने लगे कीर्ति को गुदगुदी होने लगी और वह हसने लग गयी।

फिर अंकल ने कीर्ति के चूतड़ खोले और गांड के छेद को चाटने लगे, अब कीर्ति को मस्ती सी चढ़ने लगी थी अब अंकल खड़े हो गए और अपना लंड उसकी गांड के छेद पर दबाने लगे इससे कीर्ति को थोड़ा दर्द हुआ और उसकी हलकी आठ निकली।

फिर अंकल ने कीर्ति को कस के दबोच लिया, उनका लंड उसकी गांड के छेद पर टिका हुआ था और उन्होंने एक ज़ोर का धक्का मारा इससे उनके लंड की टोपी उसकी गांड में चली गयी और कीर्ति दर्द से कांपने लग गयी वह चीखने लग गयी लेकिन उसकी चीखों का कोई असर नहीं हुआ अंकल पर वह उसको बेटी नहीं रांड समझ कर चोद रहे थे। Baap Beti ki Chudai:

Baap beti ki chudai story

फिर उन्होंने कीर्ति के सर पर हाथ रख कर उसका मुँह तकिये में दबा दिया इससे उसकी आवाज़ बंद हो गयी और अंकल ताबड़-तोड़ धक्के देने लग गए कुछ ही सेकण्ड्स में अंकल ने अपना पूरा लंड उसकी गांड में घुसा दिया अंकल के लंड पर कीर्ति की गांड का खून नज़र आ रहा था।

फिर उन्होंने उसके सर को छोड़ दिया कीर्ति बेहोशी जैसी हालत में थी और आह अहह कर रही थी।

लेकिन अंकल पर इसका कोई फरक नहीं पड़ा वह धक्के देते गए 5-7 -मिनट बाद जब कीर्ति की गांड खुल गयी तो उसको मज़ा आने लगा वह बोलने लगी-

कीर्ति: पापा बहुत मज़ा आ रहा है और ज़ोर से करो, ये सुन कर अंकल ज़ोर-ज़ोर से उसकी गांड मारने लगे उन्होंने उसके बाल पकड़ लिए और पीछे खींच कर उसकी गांड की सवारी करने लगे 10-मिनट तक अंकल अपनी बेटी को छोड़ते रहे फिर उन्होंने अपना माल उसकी गांड में ही निकाल दिया. 

Read More Sex Stories… 

3 Replies to “चुदकड़ों की खानदानी रासलीला 4”

  1. Pingback: बुआ के लड़के मम्मी को चोदा 2 Mummy Ki Chudaii

  2. Pingback: चुदकड़ों की खानदानी रासलीला 5 Sasur bahu ki chudaii

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *