By | April 23, 2023

Bhabhi Ki Chudai Maal Me हेलो दोस्तों, मेरा नाम है निकिता घोष और मैं वापस आ गयी हु अपनी अगली कहानी के साथ जो लोग मुझे नहीं जानते वह ये जान ले की मैं आपकी हॉट भाभी हु.

जिसके बारे में सोच कर आप दिल खोल के अपना लंड हिला सकते है मैं 34 साल की हु और कोई कमसिन काली नहीं हु बल्कि हर मर्द का लंड जिसको देखके पैंट से बहार आने लगता है वह औरत हु।

पिछले पार्ट में आप सब ने पढ़ा था की मैं बाहर टहलने के लिए और मौसी जी का फार्महाउस देखने गयी थी वहा मैंने पहले आरती को गोलू से चुदते हुए देखा फिर बाद में मौसा जनक और किरण आंटी की चुदाई का नज़ारा देखा।

अब आगे की कहानी, मौसा जी और किरण आंटी की चुदाई देखने के बाद मैं वापस आ गयी उनकी चुदाई देख कर मेरी चुत भी चुदने के लिए तड़पने लग गयी।

मुझे भी लंड की इच्छा हो रही थी और मैं अमित और बाकी सब को मिस कर रही थी फिर मैं अपने रूम में सोने चली गयी मैंने नाईट गाउन पहना हुआ था और नीचे सिर्फ पंतय पहनी थी मुझे नींद नहीं आ रही थी क्यूंकि मुझे मेरी चुत सोने नहीं दे रही थी, काफी कोशिश करने के बाद भी जब नींद नहीं आयी तो मैंने फिंगरिंग करके अपनी चुत ठंडी करने का सोचा ये सोच कर मैं बाहर वाले बाथरूम में जाके बैठ गयी ताकि किसी को मेरी आहें सुनाई ना दे, 

वहा जाके मैंने अपनी नाइटी खोली और अपने आप को मिरर में देखा मैंने मैरून कलर की नाइटी और ब्लैक कलर की पंतय में मैं कमाल लग रही थी। Bhabhi Ki Chudai Maal Me

Desi bhabhi ki chudai

मेरे बड़े-बड़े बूब्स जिनका दूध पीने के लिए मर्द कुछ भी कर जाये, मेरी मोटी गदरायी जाँघे जिनको चूमने के मर्द कुछ भी लुटा दे लेकिन क्या फ़ायदा इतना सब कुछ होने के बाद भी मुझे फिंगरिंग ही करनी पड़ रही थी।

फिर मैंने अपनी पंतय नीचे की और पॉट पर बैठ गयी मैंने अपनी टाँगे खोली और हलके हाथों से अपनी चुत को सहलाने लगी आहा कितना मज़ा आ रहा था काश कोई अपनी जीभ से मेरी चुत को सहलाता मैं अपनी क्लीट को गोल-गोल घुमा रही थी जिसमे मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।

फिर धीरे-धीरे मैंने अपनी स्पीड तेज़ की और ज़ोर-ज़ोर से मसलने लगी अपनी चुत को मैंने अपनी एक टांग पास वाली तप पर रखी और अपनी चुत में ऊँगली करने लगी।

हाय! कितना दिल कर रहा था चुदने को अब मैंने फुल स्पीड पर अपनी चुत में ऊँगली करनी शुरू कर दी मेरी चुत पूरी गीली हो चुकी थी और मैं पूरे सुरूर में थी।

मैं एक हाथ से अपना एक बूब्स दबा रही थी और निप्पल खींच रही थी 5-मिनट लगातार मैं अपनी ऊँगली चुत में अंदर-बाहर करती रही मेरी आहें ज़ोर-ज़ोर से निकल रही थी।

फिर मैं झड़ने वाली थी मेरी चुत से माल की पिचकारी निकली और मैं शांत हो गयी मुझे मज़ा तो बहुत आया लेकिन लंड का मज़ा अलग ही होता है फिर मैंने अपनी चुत साफ की और शीशे में फिर से खुद को देखा, मेरा जिस्म पसीने से भीगा हुआ था और क्या कमाल लग रही थी,

मैंने सोचा की अब मुझे जल्द से जल्द लंड ढूंढना पड़ेगा नहीं तो मेरी तो लंड की प्यास से जान ही निकल जाएगी फिर मैं जाके सो गयी अगले दिन सब का शॉपिंग जाने का प्रोग्राम था सब जा रहे थे तो मुझे भी साथ जाना था घोष बाबू हमेशा की तरह काम पर चले गए थे। Bhabhi Ki Chudai Maal Me

Bhabhi ki chudai ki kahani

2 गाड़ियों में सब बैठ गए मेरे साथ गाडी में आशु (मौसा के बड़े भाई का बेटा)बैठा था मैंने ब्लू कलर की साड़ी और  ब्लैक ब्लाउज पहनी थी मार्किट घर से 30 -मिनट की दूरी पर थी हम दोनों गाडी की सबसे पिछली सीट पर बैठे थे फ्रंट सीट पर मौसा जी और मौसी जी बैठे थे मिडिल सीट पर आरती मौसा जी के बड़े भाई और उनकी बीवी बैठे थे और पीछे मैं और आशु बैठे थे बाकी सब दूसरी गाडी में थे।

मौसा जी सब को अपनी लाइफ की कहानिया बता रहे थे मैं विंडो से बाहर देख रही थी तभी मुझे अपनी जांघ पर कुछ महसूस हुआ जब मैंने देखा तो वह आशु का हाथ था जब मैं आशु की तरफ देखा तो उसने मुझे एक स्माइल दी, मुझे उसकी स्माइल थोड़ी अजीब सी लगी पर फिर भी मैंने उसको एक वापस  स्माइल दी मुझे लगा की उसने गलती से मेरी जांघ पर हाथ रख दिया होगा लेकिन ऐसा नहीं था।

इस बार उसने मुझे देखते हुए मेरी जांघ पर हाथ रख दिया मैं समझ नहीं पा रही थी की वह ये किस हिसाब से कर रहा था फिर उसने मुझे देख कर आँख मारी और किश करने का इशारा किया, 

ये देख कर मैं घबरा गयी मैंने आगे की तरफ देखा की कोई देख न ले फिर मैंने आशु की तरफ गुस्से से देखा लेकिन वह बाज़ नहीं आया वह मेरी जाँघों को मसलने लग गया,

मैं तो पहले से ही चुदने के लिए बेताब रहती हु तो मैं ज़्यादा देर कण्ट्रोल नहीं कर पायी मेरी चुत गीली होनी शुरू हो गयी और मैं मदहोश आँखों से आशु को देखने लग गयी।

मुझे अभी भी समझ नहीं आया था की एक-दम से वह मेरे साथ ऐसा कैसे कर सकता था क्या वह कोई अन्तर्यामी था जो मेरे मन को पढ़ रहा था।

फिर वह अपने हाथ को मेरे चुत पर ले गया और दबाने लगा मुझे मज़ा आ रहा था और साथ में डर भी लग रहा था की कही कोई देख न ले लेकिन आशु पिछली सीट पर बैठे होने का पूरा फ़ायदा उठा रहा था। Bhabhi Ki Chudai Maal Me

Moti bhabhi ki chudai

फिर उसने मेरा हाथ पकड़ा और अपने खड़े हुए लंड पर रख दिया उसका लंड पैंट के ऊपर से काफी मोटा और लम्बा लग रहा था अब मैंने खुद को सरेंडर कर दिया और उसका लंड मसलने लग गयी।

फिर उसने अपना एक हाथ मेरे पल्लू के नीचे ले-जा कर ब्लाउज के ऊपर से मेरे बूब्स पर रख लिया इससे मेरी आह निकल गयी और आगे वाले पीछे देखने लगे मैंने बोला की मुझे कुछ चुभ गया इसलिए आहहा निकली, आशु एक तरफ मेरी चुत पर अपनी ऊँगली रगड़ रहा था और दूसरी तरफ मेरे बूब्स  को दबा रहा था बहुत मज़ा आ रहा था मुझे मैं ये सोच कर भी खुश हो रही थी की मुझे अब लंड मिल जायेगा।

फिर आशु ने ज़िप खोली और लंड बाहर निकाल लिया उसका लंड काफी तगड़ा था उसको देखते ही मेरे मुँह में पानी आ गया अब मेरा लंड चूसने का बहुत दिल करने लगा लेकिन मुझे बाकी सब का डर था।

फिर आशु ने मुझे इशारा करके लंड को मुँह में डालने को कहा लेकिन मैंने उसको मना कर दिया पर आशु कहा मानने वाला था उसने मुझे बार-बार लंड चूसने का बोल कर कन्विंस कर लिया और अब मैं उसका लंड चूसने वाली थी

फिर पहले मैंने आगे वालो को अच्छे से देखा उनमे से हर कोई अपने फ़ोन में बिजी था फिर मैं आगे झुकी और आशु के लंड को अपने हाथ में ले लिया लंड हाथ में लेते ही मैं समझ गयी थी की उसको चूसने में बड़ा मज़ा आने वाला था।

बस सिचुएशन थोड़ी डिफिकल्ट थी नहीं तो मैं तो किसी कुतिया की तरह आशु के लंड पर टूट पड़ती पहले मैंने उसके लंड पर एक किश की और फिर उसने टोपे पे जीभ फिरने लगी।

उसने अपनी आँखें बंद कर ली मतलब उसको मज़ा आना शुरू हो गया था उसने टोपा काफी टेस्टी था और उसमे से प्रे-छुम निकल रहा था फिर मैंने अपना मुँह खोला और उसने लंड को मुँह में लेने लगी पहले-पहले मैंने उसके आधे लंड की चुस्की ली और फिर जब आधा लंड गीला हो गया तो पूरा लंड निगलने की कोशिश करने लगी, आशु ने पीछे से मेरे सर पर हाथ रखा और दबा दिया। Bhabhi Ki Chudai Maal Me

Bhabhi ki chudai hindi mein

इससे उसका पूरा लंड मेरे मुँह में घुस गया और मेरी सांस रुकने लगी जब मैं तड़पने लगी तो मैंने उसकी पैर पर तप किया फिर उसने अपना लंड बाहर निकला, उसका लंड पूरा मेरी थूक से भीगा हुआ था मुझे ये सब करने में बहुत मज़ा आ रहा था तभी मैंने उसको आगे का ध्यान रखने को कहा और लंड फिर से मुँह में दाल लिया।

अब मैं ज़ोर-ज़ोर से उसका लंड चूस रही थी उसकी नज़रें आगे बैठे लोगों की तरफ थी मुझे इतना मज़ा आ रहा था की अगर अब मुझे कोई देख भी लेता तो भी मैं नहीं रूकती मेरी मन पसंद चीज़ जो मेरे मुँह में थी।

मैं उसका मज़ा ले रही थी अगले 10 -मिनट मैं लगातार उसका लंड चूसती रही इस बीच वह अपने एक हाथ से मेरी गांड भी दबाता रहा फिर उसका लंड फड़फड़ाने लगा और उसके पानी की पिचकारी मेरे गले में आ गयी।

मैंने उसका सारा पानी पी लिया और सीधे होके मुँह साफ कर के बैठ गयी उसने भी अपना लंड अंदर कर लिया और मुझे फिर से किश का इशारा किया उसका माल काफी टेस्टी था 

इस सब के दौरान मुझे एक बात समझ में नहीं आयी की आशु ने इतना बोल्ड स्टेप लिया कैसे क्यूंकि उसको कहा पता था की मैं लंड की प्यासी थी।

फिर हम मॉल पहुँच गए अंदर जाके सब अपनी-अपनी शॉपिंग करने इधर-उधर निकल गए मैं मौसा जी और मौसी जी के साथ चली गयी और आशु भी हमारे साथ ही था।

वह दोनों आगे चल रहे थे और हम दोनों पीछे थे आशु बार-बार मेरी गांड दबा रहा था मुझे इसमें मज़ा तो आ रहा था लेकिन डर भी लग रहा था की कही कोई देख न ले।

फिर आगे जाके आशु ने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे रोक लिया और मौसा और मौसी जी अपने ध्यान में आगे बढ़ते गए आशु मुझे साइड में ले गया तभी मैंने उससे कहा- Bhabhi Ki Chudai Maal Me

Sexy bhabhi ki chudai

मैं: आशु ये तुम क्या कर रहे हो? पागल हो गए हो क्या?

आशु: तुम्हारे जैसी सेक्सी औरत को देख कर तो कोई भी पागल हो सकता है चलो अंदर चलते है।

मैं: नहीं सब लोग यहाँ है किसी ने देख लिया तो पन्गा हो जायेगा।

आशु: कोई नहीं देखेगा मैं जानता हु अपनी फॅमिली को सब लोग काम से काम एक घंटा शॉपिंग में लगाएंगे और किसी को फरक नहीं पड़ता की कोन किधर गया।

ये बोल कर आशु मुझे एक दूकान में ले गया वह सिर्फ सामान पड़ा था और उसको गोडाउन बनाया हुआ था।

 मैंने आशु से कहा-

मैं: ये कहा ले आये हो तुम मुझे? पता नहीं किसकी जगह है अगर कोई आ गया तो?

आशु: कोई नहीं आएगा जान मेरी ये मेरा ही गोडाउन है ये सुन कर मुझे थोड़ी राहत मिली फिर आशु ने एक सेकंड भी वेट नहीं की और मेरे होंठो पर अपने होंठ चिपका दिए वह ज़ोर-ज़ोर से मेरे होंठ चूसने लगा।

मैं भी तो इसी चीज़ के लिए तरस रही थी तो मैं भी उसका साथ देने लगी किश करते हुए वह मेरी मोटी गांड दबा रहा था।

मैं मदहोश हो रही थी और मेरी चुत गीली होनी शुरू हो गयी थी फिर उसने मुझे दीवार के साथ लगाया और मेरा पल्लू नीचे गिरा दिया अब मेरे ब्लाउज में कैसे हुए बड़े-बड़े बूब्स और बाहर उभरी हुई क्लीवेज उसके सामने थी उसने अपना मुँह मेरी क्लीवेज में लगा लिया और उसको चूमने चाटने लगा।

मैंने अपना हाथ उसके सर पर रख लिया और उसको अपने बूब्स में दबाने लग गयी।

फिर उसने मेरा ब्लाउज खोला और ब्रा नीचे खींच के मेरा एक बूब्स बाहर निकाल लिया वह मेरे निप्पल्स पर जीभ फिरने लगा और मुझे और ज़्यादा मज़ा आने लगा। Bhabhi Ki Chudai Maal Me

Devar bhabhi ki chudai hindi mein

वह मेरे निप्पल्स की चुस्किया भर रहा था और उस पर जीभ गोल-गोल घुमा रहा था मैं आठ अह्ह्ह की आहें भर रही थी फिर वह नीचे झुका और मेरी कमर पर किश करने लगा।

वह अपने दांतो से मेरी कमर को काट रहा था फिर उसने मेरी नाभि में अपनी जीभ घुमानी शुरू कर दी मुझे मज़ा आ रहा था उसने बाद कमर से मेरी साड़ी में हाथ डाला और उसको नीचे खींच दिया, मेरी साड़ी उतर गयी और अब मैं पेटीकोट में थी।

फिर उसने मेरे पेटीकोट का नाडा खोला और उसको भी उतार दिया अब मैं सिर्फ पंतय में थी मेरी गदरायी हुई कोमल जांघें देख कर उसकी आँखें चमक उठी उसने मेरी जाँघों को चूमना शुरू कर दिया फिर वह मेरी पंतय पर पहुंचा मेरी चुत के पानी से मेरी पंतय गीली हो चुकी थी वह मेरी चुत को पंतय के ऊपर से ही चाटने लगा।

मैं उसके सर को अपनी चुत में दबा रही थी फिर उसने मेरी पंतय निकाल दी और मेरी चुत में जीभ डालने लगा इससे मैं और उत्तेजित होने लगी वह मेरी क्लीट को टेस्टे  कर रहा था जिससे मेरी चुत चुदने के लिए तड़प रही थी।

फिर वह चुत में जीभ डाल कर ऊपर-नीचे करने लगा, मैंने अपनी ब्रा उतार दी और पूरी नंगी हो गयी फिर उसने मुझे घुमाया और मेरी गांड देख कर बोला:

आशु: कमाल की गांड है तुम्हारी ऐसी गांड तो किस्मत वालो को देखने को मिलती है।

मैं: अब सिर्फ देखोगे ही या कुछ करोगे भी? बस मेरे ये कहने की देर थी की आशु खड़ा हुआ और उसने अपने कपडे उतार दिए उसका 8 -इंच का लंड मुझे सलामी दे रहा था लंड देख कर मुझसे रहा नहीं गया और मैंने जल्दी से घुटनो पर बैठ कर लंड हाथ में पकड़ लिया।

फिर मैंने उस पर जीभ फिराई और फिर उसको मुँह में डाल लिया उसका लंड बहुत स्वाद था मैं ज़ोर-ज़ोर से उसके लंड को चूसने लगी फिर उसने मेरे बाल पकड़ लिए और मेरे मुँह में धक्के देने लगा।

वह मुझे चोक कर रहा था और मेरे मुँह से बहुत सारी थूक निकल रही थी फिर उसने मुझे खड़ा करके घुमाया और मुझे हाथ दीवार पर रखने को बोल मैंने हाथ दीवार पर रखे और नीचे झुक गयी।Bhabhi Ki Chudai Maal Me

देवर भाभी की माल मे चुदाई

फिर उसने मेरी गांड पर एक ज़ोर का थप्पड़ मारा और अपना लंड मेरी चुत पर रगड़ने लगा मैं आह आठ कर रही थी और मेरी साँसे तेज़ होने लगी जैसे ही उसके लंड को मेरी चुत का द्वार मिला उसने ज़ोर का धक्का मारा और पूरा लंड मेरी चुत में घुसा दिया।

मैं: आह्ह्ह्ह…मुझे दर्द हुआ लेकिन बहुत सुकून भी मिला मेरी चुत लंड लेने के लिए तड़प रही थी आशु मेरी तड़प शांत करने वाला था फिर उसने धक्के देने शुरू किये और थप-थप की आवाज़ आनी शुरू हो गयी, मेरे बूब्स हवा में लटक रहे थे और वह मेरी गांड को पकड़ कर मुझे चोद रहा था बीच-बीच में वह रुक जाता और मेरी पीठ पर किश करने लगता फिर वह मेरे बूब्स को पकड़ कर मसलने लगता और फिर से मुझे चोदने शुरू कर देता।

15 -मिनट उसने उसी पोजीशन में मुझे चोदा फिर वह नीचे ज़मीन पर लेट गया और उसने मुझे अपने ऊपर आने को कहा मैं अपनी टाँगे खोल कर उसके ऊपर आयी और फिर नीचे उसके लंड पर बैठ गयी उसने मुझे अपनी बाहों में भर लिया और मुझे किश करने लग गया साथ-साथ वह मेरी चुत में झटके मारने लगा।

मैं भी गांड ऊपर-नीचे करके अपनी चुत चुदवाने  लगी फिर उसने मुझे नीचे कर दिया और ज़ोर के झटके देके मुझे चोदने लग गया वह साथ-साथ मेरे होंठ और बूब्स भी चूस रहा था बड़ा मज़ा आ रहा था मुझे पीछे फर्श मेरी पीठ पर चुभ रहा था लेकिन उसका अपना ही टशन था।

अब 10-मिनट और उसने मुझे चोदा और फिर वह आहा करने लगा मैं समझ गयी थी की उसका माल निकलने वाला था फिर मैंने जल्दी से उसको अपने ऊपर से हटाया और घोड़ी बनके उसका लंड चूसने लग गयी।

उसने मेरी गांड पर अपने हाथ रखे और मेरे मुँह में ज़ोर के धक्के लगाने लगा 20-30 धक्के मारने के बाद उसने अपना माल से मेरा मुँह मे भर दिया, बहुत ही मज़ा आया हम दोनों को फिर हम दोनों ही सीधे फर्श पर लेट गए हम दोनों की साँसे फूली हुई थी। Bhabhi Ki Chudai Maal Me

भाभी की चुदाई की कहानी कार मे

फिर मैंने उससे पुछा-

मैं: कार में जब मुझे छु रहे थे तो तुम्हे डर नहीं लगा की अगर मैं बाकी सब को बता देती तो क्या होता?

आशु: मुझे पता था की तुम नहीं बताओगी तुम्हारी चुत लंड के लिए तड़प जो रही थी।

मैं: हां ये तो ठीक है लेकिन तुम्हे ये कैसे पता था।

आशु: कल रात जब तुम बाहर वाले बाथरूम में फिंगरिंग कर रही थी तब मैंने तुम्हे देख लिया था मैं तभी समझ गया था की तुम्हे चुदाई के लिए मानना मुश्किल नहीं होगा।

मैं: ओके।

आशु: चलो अब चलते है काफी टाइम हो गया है।

मैं: हां ठीक है फिर हम दोनों ने कपडे पहने और थोड़ा सामान लेके वापस सभी लोगों में शामिल हो गए

इस कहानी का भाग 1 यहा से पढे: भाग 1 –> चुदकड़ों की खानदानी रासलीला 1

हमारी वैबसाइट से चुदाई की मस्त कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे-> www.xstory.in

Read More Sex Stories….

2 Replies to “चुदकड़ों की खानदानी रासलीला 2 Bhabhi Ki Chudai Maal me”

  1. Pingback: दरबारियों ने की प्रिंसिस की चुदाई 2 Purani Chudai ki Kahani

  2. Pingback: चुदकड़ों की खानदानी रासलीला 3 Bahan Ki Chudai Maal Me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *