By | July 4, 2023

Bhai Bahan Ki Chuddai: हैलो दोस्तो, कैसे हो आप सब, ये कहानी मेरी दीदी यानि मेरे पापा की पहली पत्नी की बेटी के साथ हुयी चुदाई की है, और मैं और मेरी दीदी दोनों जुड़वा है, अब मैं आपका

जायदा समय न लेते हुये सीधा कहानी पे आता हु,

दीदी: चोद न!  बहुत हुआ।

मैं: बस थोड़ा सा और किश भी चाहिए।

दीदी: नहीं मिलेगी लेट हो रहा है जाने दो न।

मैं: पहले किश!

दीदी: ठीक है पर सिर्फ एक बोलते ही उनके होंठो को चूम लिया, 5  मिनट तक किश करने के बाद वो कॉलेज के लिए निकल गयी।

Bhai Bahan Ki Chuddai

मैं: अब मैं भी साफ़ करने के बाद कोचिंग के लिए चला गया, अरे! कैसे हो आप? सॉरी मैंने इंट्रो नहीं दिया, तो मैं हु सौरव मैं 19 साल का हु।

वो मेरी दीदी सनाया जो 26  साल है और की इकोनॉमिक्स मैं मास्टर’स कर रही है 

मेरे पापा एक डेंटिस्ट है और उनका अपना क्लिनिक है और मम्मी एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर है दोनों की लव मैरिज हुई थी तो आप कह सकते हो हम एक अच्छे घर से आते है और कभी किसी चीज़ की कमी नहीं हुई, हमारा घर 2 मंज़िला है नीचे हॉल किचन और मास्टर बैडरूम है जिसमे मम्मी-पापा रहते है और हम तीनो का अलग-अलग रूम ऊपर है कॉमन बाथरूम।

ये मेरी पहली  स्टोरी है अब मेरी  २ बजे मेरी कोचिंग से छुट्टी मिल गयी तो मैं दीदी को ले जाने के लिए उनके कॉलेज चला गया।

वो जब बाहर आयी तो थोड़ा अपसेट दिख रही थी मैंने जब पुछा तो ‘कुछ नहीं’ बोल के सवाल टाल दिया।

हम घर  पहुंचे तो मैंने उन्हें अंदर घुसते ही बाहों मैं भर लिया और किश करना चाहा वो मुझे 1 खींच के थप्पड़ मार के गुस्से मैं रूम मैं चली गयी।

Bahan ki chudai

मैं एक-दम से सुन्न पड़ गया, फिर थोड़ी देर बाद वो दरवाज़ा खोल के बाहर आयी तो मैं वही गेट के पास खड़ा था।

दीदी मुझे सॉरी बोल के मेरे गले लग गयी तो मैंने भी ज़ोर से बाहों मैं भर लिया और मैं  कुछ नहीं बोला फिर थोड़ी देर बाद हम सोफे मैं बैठ गए।

मैं: क्या हुआ दीदी?

दीदी: पीरियड्स! एंड रियली सॉरी पहले ही प्रोफेसर ने लेक्चर मैं डाट लगा दी फिर तुम अचानक किश करने लग गए मैं कही भागी जा रही हु क्या?

मैं: सॉरी पर प्रोफेसर ने डाट क्यों लगा दी?

दीदी: सब तुम्हारी वजह से हो रहा है।

मैं: मैंने क्या किया इसमैं?

दीदी – नटखट आवाज़ मैं): अगर कल हम सेक्स नहीं करते तो मैं अपना प्रोजेक्ट वर्क कर लेती।

मैं: तो इसमैं मेरी गलती है, दीदी- मुस्कुराते हुए): और नहीं तो क्या?

मैं: अच्छा जी और फिर हम करीब आ गए मैंने दीदी को कमर से पकड़ लिया दीदी की साँसे तेज़ होने लगी उनका दिल भी ज़ोर से धड़क रहा था की मैं भी सुन सकता था।

मैं अपने होंठ उनके होंठो के सामने ले गया और किश करने लगा काफी देर तक (इसके अलावा कुछ कर भी नहीं सकता था क्यूंकि वो पीरियड्स मे थी)थोड़ी देर बाद मैंने अपना हाथ उनके मम्मो (ब्रैस्ट) पर रख दिया और बड़े-बड़े मम्मो को दबाने लगा।

वो भी पूरा साथ दे रही थी उनका फिगर 34-32-36  है और हाइट 5.5  प्रॉबब्ली वो कॉलेज मैं सबसे खूबसूरत है सारे लड़के उनके पीछे पड़े होते है मैंने उनका डीएम भी देखा है जिसमे लड़के भरे पड़े है पर वो कभी किसी को रिप्लाई नहीं करती मुझसे सच्चा प्यार जो है किश करने के बाद हमने लंच किया और फिर बेड पे  जाके सो गए।

तो ये हमारा नया रिश्ता कुछ 6 महीने पहले ही चालु हुआ है पर मैं आपको अब शुरुआत से बताता हु की मेरी ये रोमांच (सेक्स) भरी लाइफ स्टार्ट कैसे हुई बचपन से ही हमारे बीच बॉन्डिंग बहुत अछि रही है ।

Bhai Bahan ki chudai ki kahani

मैं हमेशा उनसे अपनी छोटी से छोटी बात शेयर करता था वो बचपन से ही मेरा ख़याल किसी मम्मी की तरह रखती है, कभी-कभी तो वही मुझे नहलाती थी जब माँ किसी काम से दूर होती थी तो और कभी-कभी मैं उनपे भी पानी छिड़क के पूरा गीला कर देता था।

तो वो भी अपने सारे कपडे उतार देती थी ऑफ़ कोर्स जब बहुत छोटे थे तभी ये होता था।

मैंने कई बार उनके बूब्स को टच किया है जब वो आये भी नहीं थे जैसे-जैसे हम बड़े होते गए हमारी बॉन्डिंग और अच्छी होती चली गयी, हम घर मैं खूब मस्ती करते थे और फिर पापा से डाट भी खाते थे।

माँ हमारी बहुत अछि थी कभी उन्होंने दीदी को सौतेली नहीं समझा और पापा से भी वही बचती थी श्रुति बड़ी ही शाय किस्म की लड़की है कभी भी हमारी शैतानियों मे भाग नहीं लेती और ना ही पापा को हमारे बारे मैं कम्प्लेन करती थी।

मेरी बहन बहुत ही क्यूट और इनोसेंट सी है एक-दम प्यारी मुझे उस पर आज तक कभी गुस्सा नहीं आया।

मैं पढ़ने मैं अच्छा था हमेशा क्लास मैं फर्स्ट या सेकंड ही आया हु दीदी और श्रुति अलग स्कूल मैं पढ़ते थे और मैं एक दुसरे स्कूल मे, ऐसा क्यों था पापा ही जाने पर मैं अपना होमवर्क हमेशा दीदी के साथ ही बैठ के किया करता था।

 उनके कमरे मे और वो मुझे एक टीचर की तरह अच्छे से पढ़ाती थी कभी-कभी तो मैं उनके साथ ही सो जाता था।

दीदी मुझे हमेशा कुड्ले करके सोती थी मुझे दीदी के पास रहना बहुत अच्छा लगता था पर जैसे-जैसे हम बड़े होते जा रहे थे वो बहुत अलग बेहवे करने लगी, उनके बूब्स धीरे-धीरे बड़े होते जा रहे थे।

पढ़ते वक़्त जब भी मेरी नज़र उनकी बूब्स पर  पड़ती तो वो उनकंफर्टबले हो जाती थी।

जब भी मैं कोई डिफिकल्ट सवाल सोल्वे करता या कांसेप्ट समझता था तो वो मुझे ज़ोर से गाल पे किश करती और मुझे प्यार करने लगती।

Bhai aur bahan ki chudai

बड़े ही क्यूट अंदाज़ से वो “मेरा प्यारा बाबू कभी बचा” बोल कर मेरे गाल खींचने लगती थी।

मुझे ऐसे मैं इर्रिटेशन भी लगती थी और अच्छा भी बहुत लगता था, श्रुति अपनी पढ़ाई अपने कमरे मैं ही किया करती थी और बात भी हमसे कम ही करती थी।

वो माँ के साथ ही ज़्यादातर रहती थी पढ़ाई मैं एवरेज ही थी वो जब मैं 12th  क्लास मैं था पिछले साल तो एक बड़ा ही सेक्सी एक्सीडेंट हुआ था।

मैं शाम को 7 बजे दीदी के रूम मैं गया, मैंने देखा की रूम अंदर से लॉक था ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था दीदी अपना रूम कभी भी शाम को लॉक नहीं करती थी।

जैसे ही मैंने गेट नॉक किया और दीदी बोला तो अंदर से कुछ सामान गिरने की आवाज़ आयी और 5 मिनट बाद दीदी ने गेट ओपन किया, 

मैं दीदी को देखते ही रह गया वो बहुत ही सेक्सी लग रही थी उन्होंने काफी शार्ट शॉर्ट्स पहना था और एक टाइट स्किन फिटिंग टी-शर्ट पहनी थी जिससे उनका चूत साफ़ दिख रहा था।

शायद वो ब्रा और पंतय भी नहीं पहनी थी उनके निप्पल उभरे हुए टी-शर्ट से साफ़ दिख रहे थे।

मैंने उनको पहले कभी ऐसे नहीं देखा था मैं तो वही फ्रीज हो गया, फिर दीदी ने मेरा हाथ पकड़ा और मुझको अंदर खींच के गेट लॉक कर दिया।

Bhai bahan ki chudai hindi mein

वो मुझे बेड पे बिठा के पूछने लगी-

दीदी: मैं कैसी लग रही हु?

मैं: बहुत ही हॉट दीदी।

दीदी: हाट पागल! फिर वो स्माइल करते हुए मिरर की और देखने लगी और बोली-

दीदी: मैंने पहली बार ऐसा कुछ कोसिस किया है।

मैं: लड़के तो आपके पीछे पागल होने वाले है मैं बता दू उस वक़्त वो कॉलेज मैं थी तो उनका वे ऐसे भी बहुत सेक्सी था और उस पर ऐसी ड्रेस।

मैं: आपका बॉयफ्रेंड तो पागल होने वाला है (तैसे करते हुए)

दीदी: मारूंगी तुझे! और वैसे भी मेरा आज तक कोई बॉयफ्रेंड नहीं बना है, पता नहीं क्यों पर ये जान के मुझे बहुत ख़ुशी हुई फिर उन्होंने मुझे अपनी फोटो लेने को बोला,

मैंने एक बहुत ही सेक्सी सी दीदी की फोटो निकाली और उनको दिखाया तो वो बहुत खुश हो गयी, तभी अचानक से उन्होंने मेरे गाल पे एक किश दे दी पता नहीं क्यों पर मुझे वो कुछ अलग लगा और मेरे लंड भी खड़ा होने लगा।

थोड़ी देर बाद दीदी कपडे चेंज कर लो और फिर हम नार्मल पढ़ाई करके रात 9 बजे डिनर करने चले गए।

डिनर करने के बाद थोड़ी टीवी देखि और 10:30 बजे को सोने चले गए मैंने दीदी को कहा की मैं आपके साथ सोऊंगा तो वो मान गयी रात 11 बजे बेड मे लेटे हुए।

Chhoti bahan ki chudai

दीदी: सुबू(वो प्यार से मुझे सुबू बुलाती थी) तुम सो गए क्या?

मैं: नहीं!

दीदी: तुम्हे मैं कैसी लगती हु?

मैं: दुनिया मैं सबसे प्यारी।

दीदी: अरे नहीं गर्ल बताओ।

मैं: क्यूट एंड इनोसेंट और ऐसे जिन्हे मैं कभी प्यार करना बंद नहीं कर सकता।

दीदी: मैं भी तुमसे बहुत प्यार करती हु, फिर वो मेरे करीब आयी अपना एक पैर मेरे पैरों के ऊपर रख दिया और सर मेरे शोल्डर पर फिर अपने हाथ मेरी चेस्ट मैं फेरने लगी और ज़ोर से पकड़ लिया मेरा तो लंड हार्ड होने लगा।

शायद वो भी देख ले पर कुछ कहा नहीं और वैसे ही रहा थोड़ी देर बाद मैंने भी उसकी तरफ फेस करके ज़ोर से पकड़ लिया और अपनी टांग उनकी टांग के ऊपर रखनी चाहि पर ऐसा वो करने नहीं दिया,

Bhai bahan ki chudai kahani

फिर मैंने और ज़ोर से उन्हें पकड़ लिया अब उनके बूब्स मेरी चेस्ट से टच हो रहे थे मुझे बहुत अच्छा लगा और मैं ऐसे ही सो गया सुबह 7 बजे जब मेरी नींद खुली तो मैंने देखा की दीदी कॉलेज के लिए तैयार हो रही थी।

मुझे जब उठे हुए देखा तो वो बोली-

दीदी: गुड मॉर्निंग सुबू।

मैं: गुड मॉर्निंग दीदी आज इतनी जल्दी तैयार हो गयी?

दीदी: हां तुम भी हो जाओ आज जल्दी जायेंगे क्या था उनका प्लान और आज इतनी जल्दी क्यों तैयार होने को बोल रही थी अगले पार्ट मैं सब बताऊंगा बहुत ही सेक्सी कंटेंट आने वाला है थैंक्स

तो दोस्तो कैसी लगी ये लगी ये घर की कहानी आगे क्या हुआ ये मैं आपको अगले भाग 2 मे।

हमारी वैबसाइट से चुदाई की मस्त कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे-> www.xstory.in

Read More Sex Stories….

3 Replies to “पापा की पहली पत्नी की बेटी के साथ हुयी चुदाई”

  1. Pingback: पापा की पहली पत्नी की बेटी के साथ हुयी चुदाई 2 Bhaii Bahan Ki Chudai

  2. Terrence

    Thanks for finally talking about > पापा की पहली
    पत्नी की बेटी के साथ हुयी चुदाई Bhai Bahan Ki Chuddai < Loved it!

    Reply
  3. Juliet

    My partner and I stumbled over here coming from a different web address and thought I should check things out.
    I like what I see so now i am following you.

    Look forward to exploring your web page for a second time.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *