By | April 2, 2023

Chhoti bahan ki chudai kahani: -हैलो दोस्तों मेरा नाम रवि है और मै सेक्स स्टोरीस का बहुत बड़ा फैन हूँ।

मुझे रिश्तो मे चुदाई की कहानियाँ पढ़ने मे बहुत मज़ा आता है। उसमे मैंने भाई बहन की चुदाई की कहानियाँ भी पढ़ी और ये कहानियाँ पढ़कर मेरे ऊपर भी अपनी छोटी बहन ज्योति को चोदने का चस्का लग गया।

ये भी पढे-> ट्रेन में माँ की चुदाई 

हमारी वैबसाइट से चुदाई की मस्त कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे-> www.xstory.in

bahan ki chudai kahani

अब मै बस इसी धुन मे रहता कि कैसे मै अपनी छोटी बहन ज्योति को चोदूँ।

मेरी छोटी बहन बहुत ट्रेंडी है और अब इंजीनियरिंग कर रही है, उसका फिगर 32-30-34 का है, बहुत ही मस्त फिगर है मानो देख के ही लंड खड़ा हो जाये, ये बात तब की है जब मैं इंजीनियरिंग के बाद जॉब हंट पे लगा हुआ था और वो कॉलेज जाती थी।

Chhoti bahan jyoti ki chudai ki kahani

ज्योति को बहुत लोग लाइन मारते थे टीचर्स भी, बिना बात के उसको टच करना भी होता था और पॉपुलर भी थी ज्योति,

होती भी क्यूँ ना इतना मस्त बदन देख के कोई भी पागल हो जाता, मेरी हवस बढ़ते-बढ़ते इतनी बढ़ गयी थी की मैं अब ज्योति को कैसे भी करके चोदना चाहता था।

chhoti bahan ki chudai kahani

मै कभी मज़ाक में उसके बूब्स दबाता और कभी गांड पे हाथ मारता, ऐसे ही करते-करते एक महीना भी हो गया था।

उसकी ब्रा-पैंटी पे मुठ तो इतनी मारी हुई थी की वो परेशान हो जाती थी की वो गन्दी कैसे हो रही थी, मैं बहुत कन्फ्यूज्ड था की और क्या किया जाये कि ज्योति मेरे सामने अपनी चूत लेकर हाजिर हो जाये,

फिर एक रात ज्योति अपने कमरे में पोर्न देख रही थी और वो डोर लॉक करना भूल गयी थी, रात काफी हो गयी थी तो शायद वो डोर लॉक करना भूल गयी, मैं एक्चुअली उसकी पैंटी लेने उसके रूम गया और मैंने उसको पोर्न देखते पाया, मैंने वो देखते ही प्लान बना दिया की उसको वीडियो रिकॉर्डिंग करके ब्लैकमेल करूँगा।

दोस्तो आप यकीन नहीं करोगे आगे जो हुआ वो तो और भी मज़ेदार हुआ।

मैंने चुपके से उसकी वीडियो ले ली, उसका एक हाथ उसकी पैंटी में था, शॉर्ट्स और लूस टी-शर्ट पहनी थी उसने, ज्योति को लगा की कोई आया था तो वो पलटी और मुझे देख के शॉक में उछल पड़ी। Chhoti bahan ki chudai kahani

Sexy bahan ki chudai

मैं थोड़ा गुस्से में बोला: ये क्या था? मैंने तुम्हारी वीडियो रिकॉर्ड कर ली है ये सब करते हुए, ये सब करते हुए शर्म नहीं आती?

वो डर के मारे मुझे सॉरी बोलने लगी।

ज्योति: भैया प्लीज मम्मी-पापा को कुछ मत बताना प्लीज प्लीज!

वो इतना सॉरी बोल रही थी की मैंने उसको बिठाया और पानी दिया, फिर मैं उसको बोला-

मै: तू एक मिनट के लिए शांत हो।

ज्योति: भैया ये बात यही छोड़ दो न, मैं आप जो कहोगे वो करुँगी।

मै: मुझे चाहिए तो है बहुत कुछ।

ज्योति: भैया आप भी तो मेरी पैंटी पे मुठ मारते हो मुझे पता है।

उसकी ये बात सुन कर मैं डीप शॉक में था, मेरे मुँह से कुछ बात नहीं निकली और मैंने बस यही पुछा-

मै – तुझे ये सब कैसे पता चला?

ज्योति: भैया अब आपके अलावा मेरी ब्रा पैंटी गन्दी कौन करेगा?

मै: तो तुझे पता था ये सब?

ज्योति: सब पता है आपकी हरकतें हेहेहे।

मै: अच्छा ठीक है तुझे खराब फील नहीं हो रहा की मैं ये सब…?

अब जो जवाब सुनके मैं और शॉक में था और मेरे कान और आँखें आँख खुले के खुले रह गए थे वो था-

ज्योति: भैया तुम मुझे चोदना चाहते हो इतने दिन से ये भी पता है। बस मैं भी एन्जॉय कर रही थी।

Bhai bahan ki chudai ki story

मैं ख़ुशी से पागल हो गया था ये सुन कर, इतने दिन तक मुठ मार के चल रहा था मैं, फिर मैंने उसका हाथ पकड़ा और उसको धीरे से अपनी तरफ खींचा। वो शर्मा रही थी। मेरे दिमाग में अब उसको चोदने के अलावा कुछ और नहीं चल रहा था। वो अपने लिप्स को काट रही थी। फिर मैंने उसकी कमर को ज़ोर से पिंच किया। तभी वो शरमाते हुए बोली-

ज्योति: भैया ये डोर तो लॉक करो।

मैंने डोर लॉक किया और फट से उसको पकड़ा और किस किया, इतने मुलायम उसके लिप्स थे की मज़ा ही आ गया,

फिर मैंने उसके कपडे उतारने शुरू किये, मैं तो सिर्फ शॉर्ट्स में था ज्योति ने नाडा खोला और मेरे लंड को पकड़ लिया।

मेरा लंड इतना बड़ा था और सलामी दे रहा था।

मैं अब उसको नंगा करके उसकी चूत को मसल रहा था।

वो वर्जिन थी तो डर भी रही थी की क्या होगा।

मैं उसकी चूत में ऊँगली करते हुए उसके बूब्स को चूस रहा था। Chhoti bahan ki chudai kahani

वो भी बहुत सिसकिया लेते हुए “भैया आह अहह आराम से भैया” बोल रही थी।

मैंने 5 मिनट की ऊँगली के बाद ऊँगली उसके मुँह में डाल दी और चूसने को कहा।

वो गीली ऊँगली को चूसने लगी।

फिर मैं उसकी को किस करने लगा।

मैं उसके बदन को ज़ोर से मसल रहा था, फिर मैं बोला-

छोटी बहन ज्योति की चुदाई की कहानी

मै: आज तू जम के चुदेगी।

आज से ज्योति सिर्फ मेरी है सिर्फ मेरी कहते हुए मैंने उसके निप्पल्स को काटा।

वो बहुत ज़ोर से सिसकियाँ ले रही थी, मैंने उसके मुँह में मेरा अंडरवियर रखा और उसकी चूत में मेरा लंड घुसाने की कोशिश करता रहा।

ज्योति की चूत बहुत टाइट थी, मैंने अपना लंड उसकी कुंवारी चूत के मुंह पर रखा और अंदर दबाने लगा पर लंड अंदर ही नहीं जा रहा था।

फिर मैंने उसकी चूत पर ढेर सारा ऑइल लगाया और अपने लंड पर भी ऑइल लगाया और चूत पर लंड को सेट करके एक जोरदार धक्का मारा।

पहले धक्के मे ही लंड उसकी चूत को चीरता हुआ आधा अंदर चला गया, ज्योति दर्द के मारे लगभग चीख ही उठी पर मैंने उसके मुंह पर हाथ रखकर उसकी चीख को हलक मे ही दबा दिया।

फिर मै उसके बूब्स को दबाने और चूसने लगा और ऐसे ही 5 मिनट तक किया फिर वह थोड़ी राहत महसूस करने लगी।

फिर मैंने दूसरा धक्का दे कर पूरा लंड अंदर डाल दिया।

वो तो दर्द से रो रही थी।

उसका बदन मुझे मदहोश कर रहा था तो मैंने उसके रोने की फिकर नहीं की।

मैंने उसकी चूत को लंड से धीरे-धीरे करके चोदना चालु किया।

पहले तो उसको बहुत दर्द हो रहा था और वो तड़प रही थी।

मेरी पीठ पे उसके नाख़ून के निशान बैठ रहे थे।

वह मुझे गालियां दे रही थी। Chhoti bahan ki chudai kahani

ज्योति: भैया…। आह्ह्ह्हह कमीने मै तेरी बहन हूँ रंडी नहीं, प्लीज आराम से कर। आह्ह्हह्ह मर गयी आराम से भैया प्लीज।

मै: आह मेरी जान तू रंडी नहीं है? आज से तू मेरी रांड है।

ज्योति: भैया आह्ह्ह आह्ह्ह चोद आह्ह्ह्ह।

छोटी बहन की सील तोड़ी

15 मिनट तक उसकी चूत चोदने के बाद मैं झड़ गया।

मैंने अपना पूरा माल उसके मुँह पे डाला और एक थप्पड़ भी मारा।

फिर मैंने उसको किस किया और आई लव यू बोला।

वो दर्द से चल नहीं पा रही थी, रात के 3 बज रहे थे, मैंने अपनी शॉर्ट्स पहनी और निकल ही रहा था की उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने पास बुलाया।

फिर उसने मेरा लंड शॉर्ट्स से निकाला और मुँह में लिया, उसके बाद वो बोली-

ज्योति: भैया सुबह उठ कर चले जाना।,मुझे अब बहुत दर्द हो रहा है, प्लीज इधर ही सो जाओ।

मैंने उसको बेड पे लिटाया और उसके मुँह में मेरा लंड डाल कर चूसने को कहा।

वो बहुत थकी हुई थी, फिर मैं 69 पोजीशन में जा कर उसकी चूत को आराम से चूसने लगा।

वो अब और मदहोश हो रही थी और उसको अच्छा भी लग रहा था।

फिर 10 मिनट के बाद हम सो गए।

ऐसे हुई शुरुवात हमारी कहानी की जो कभी एन्ड नहीं होगी।

सुबह उठ कर भी वो नहीं चल पा रही थी। मम्मी ने भी उसको पुछा।

वो बोली: बस तबियत ठीक नहीं है।

सुबह ब्रेकफास्ट में सब बैठे थे टेबल पे तब मैंने ज्योति की चूत को सहलाया और फिर उसके टांगो को पिंच किया।

ऐसे हुई मेरी और मेरी प्यारी बहन के प्यार की शुरुआत।

कहानी अच्छी लगी हो तो कमेंट ज़रूर करना।

Read More Sex Stories…

4 Replies to “छोटी बहन ज्योति की सील तोड़ने का मज़ा | bahan ki chudai kahani”

  1. Zannatul

    baanglaadesh se koee dekhega to kahega, main to apanee badee bahan choodee roj pahanata hoon. yadi koee meree bahan ko apane saath laana chaahata hai to krpaya mujhe bataen. ham 2-3 log meree bahan ko chodenge.

    Reply
  2. Praveen Singh

    Praveen Singh
    Bihar se koi unstatisfied lady/women, Girl’s/ housewife, bhabhi/aunty, widowed/divorced ko fully satisfaction chahiye ya ” pregnant hona chahte hai” ya “Couple threesome sex krna ho” please contact me-6201488244
    About me-
    Sainik School Gopalganj boy
    Good Stamina boy
    Age 25
    Height-5’6
    Penis-: 7.5-8 inches
    From-katihar
    Good looking boy
    I am friendly boy (so read krke mt rho
    Please please please contact me-6201488244 call/what’sapp

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *