By | March 7, 2023

Chote Bhai Bahan Ki Chudai: हैलो दोस्तो, मैं आपका दोस्त राहुल, आज फिर पिछली कहानी का अगला भाग लेके आया हु , आप लोगो ने पढ़ा कैसे राहुल अपनी कविता आंटी को अपनी वासना के जाल में फसा ही लिया और फिर चुदाई की और चुदाई करते करते पीछे से माँ ने हमको देख लिया था। अब आगे बताता हु क्या हुआ फिर। 

ये भी पढे:- छोटी बहन ज्योति की सील तोड़ने का मज़ा

Chote Bhai Bahan Ki Chudai

आप लोगो ने जाना की राहुल के घर उसकी माँ सारिका ने क्या खेल खेला पहले तो सारिका ने  खुद कविता को राहुल के साथ मज़े करने की इजाज़त दी फिर बाद में उन दोनों को रंगे  हाथ पकड़ झूट मूट का डांटने का नाटक कर अपने खेल को खेल गयी,

इस खेल में हार तो किसी की नहीं हुई पर जीत तीनो की हुई खास कर राहुल की जिसे अब अपनी माँ के साथ साथ बुआ भी इनाम में मिली, वही कविता को भी इस बात की ख़ुशी थी की अब सारिका से छूप कर कुछ नहीं करना होगा, उससे सारिका भी खुश थी उसकी सबसे अछि सहेली और नन्द कविता अब उसके साथ थी राहुल के साथ सेक्स का मज़ा लेने के लिए इसके बाद की कहानी अब आगे,

कमरे में हुए कारनामे के बाद कविता चाय बनाने के नाम पर मुस्कुराती हुई किचन को चली गयी राहुल नंगे बदन बिस्तर पर बैठा था और अपनी माँ को नाइटी पहनते देख मुस्कुराया बोला: माँ! अब इसकी क्या ज़रूरत आपको?

सारिका: हाहाहा! तो क्या नंगी रहु घर पे? Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

Bahan ki chudai story

राहुल: अब किस्से छुपना? वैसे माँ आपने आओ ऐसे क्यों किया?सारिका अपनी नाइटी के नाड़े को बांधती हुई बोली: क्या? मैंने क्या किया?

Chote Bhai Bahan Ki Chudai

राहुल: हमारी बीच की बात आंटी को क्यों जानेने दी आपने?

सारिका राहुल के गाल को थपथपाती हुई बोली: क्यों तुम्हारी आंटी भी हमारे साथ है अब क्या तुम खुश नहीं?

राहुल: हाँ वह तो ठीक है पर अगर आंटी ने कभी किसी…सारिका राहुल के होंटो पर ऊँगली रख बोली: शठ ऐसा कुछ नहीं होगा मुझे उस पर बहुत भरोसा है और वैसे…सारिका नंगे बैठे राहुल के लंड को हाथ में लेकर ऊपर नीचे सहलाने लगी, सारिका: वैसे तुम वह सबकी चिंता मत करो बस इसकी क्या हालत होने वाली है उसकी चिंता करो हाहाहा!

राहुल हस्स पड़ा और बोला: माँ! डॉन’टी वोर्री बस रात होने दो,

सारिका: हाँ ठीक है चलो कपडे पहनो अभी और बहार आओ मैं कविता के पास जाती हूँ, राहुल झट से उठा और फिर याद आया की वह अपने कपडे लिविंग रूम में ही छोड़ आया था झट से भागा और लिविंग रूम में जाकर कपडे पहनकर किचन को गया किचन में सारिका और कविता दोनों ही पीठ दिखा कर खड़ी थी और  आपस में बात कर रहे थी, राहुल दोनों महिलाओ को पीछे से देख उनकी नाइटी पर उबरे उनके जिस्म के अकार को नापा और पास गया और अपने दोनों हाथ उन्दोनो के गांड पर रख दिये 

राहुल: क्या बना रहे हो?

सारिका: हम तो चाय बना रहे है पर तुम्हारे हाथ बहुत ज़्यादा आज़ाद बन रहे है।

कविता: हाहाहा कैसे नहीं बनेगे अब तो नवाबजादे को पूरी आज़ादी जो मिल गयी,

राहुल उनकी गांड को दबा गया और बोला: क्या करू माँ आंटी आप लोगो को देख के मेरे हाथ शांत ही नहीं बैठते।

सारिका राहुल के हाथ को अपनी गांड पर से हटा कर बोली: हम भी नहीं चाहते की तुम शांत बैठो पर ये मत भूलो की भारती भी है इस घर पे। Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

Bhai Bahan ki chudai hindi mein

राहुल: पर वह तो अभी नहीं है ना?टिंग-टँगी तभी दरवाज़े की घंटी बजी और सारिका बोली: लो आ गयी।

कविता: रुको मैं दरवाज़ा खोलती हूँ ये कह कर कविता किचन से चली गयी, सारिका राहुल से बोली: अब हमें सोच समझ कर रहना होगा तीनों को और करना होगा राहुल।

राहुल हलकी निराशा के साथ बोला: ओके माँ!

Chote Bhai Bahan Ki Chudai

सारिका: चलो जाओ अब मैं और कविता चाय बनाकर लाते  है, राहुल बिना कुछ बोले किचन से बहार निकला उसके चेहरे पर निराशा का कारन वह खुद था वह इस बात को सोच निराशा में था की उसने क्यों भारती को यहाँ बुलाया, 

भारती  उसे देख पहले मुस्कुरायी फिर तुरंत मुँह फेरती हुई अपने यानि के राहुल के कमरे को जाने लगी राहुल सोचने लगा की भारती भला ऐसे क्यों मुँह फेर कर गयी।

वही राहुल के कमरे का दरवाज़ा खोलती हुई भारती राहुल को एक बार फ्री से देखा और कमरे के अंदर चली गयी, कुछ देर के लिए राहुल लिविंग रूम में बैठा रहा फिर भारती अपने कमरे से निकल किचन को गयी किचन में कविता और सारिका को देख बोली: मेरे लिए भी चाय बना रहे है क्या?

सारिका: बिलकुल सही टाइम पर आयी तुम वरना नहीं मिलती चाय हाहाहा, भारती दोहरे मतलब के साथ बोली: हाँ कभी कभी सही वक़्त पर सही जगह पहुँच जाती हूँ मैं, भारती का इशारा कल रात के हादसे पर से था वह छूप  कर माँ बेटे के छुपे राज़ को अपने आँखों से देख रही थी ।

कविता: चलो तुम भी जाओ बहार जाकर बैठो खामखा किचन में भीड़ न बनाओ।

भारती: हाँ हाँ ठीक है ठीक है भारती किचन से निकली और लिविंग रूम में जा बैठी,उसने राहुल  राहुल से नज़र नहीं मिलाई और न ही उस देखा और ये सब  राहुल उसे देख रहा है या नहीं राहुल की नज़र भारती पर ही थी वह ये समझ नहीं पा रहा था की आखिर भारती इतनी चिड़ी हुई क्यों है, पर असल बात ये थी की भारती चिड़ी हुई नहीं थी बल्कि कल रात जो उसने देखा वह उसकी आँखों से जा नहीं रहा था  इस बात से उत्तेजित तो थी ही की कल राहुल और उसकी माँ को सेक्स करते देखा लेकिन वह इस बात से परेशान भी थी की कैसे भला एक बेटा अपनी माँ के साथ ये कर सकता है अगले 2-3 मिनट राहुल इंतज़ार में था की कब भारती कुछ बात करे पर नहीं भारती अपनी फ़ोन निकाल कर उसमे कुछ करने लगी मानो राहुल तो है ही नहीं तभी राहुल ने  अपना फ़ोन निकाला और भारती को मैसेज भेज दिया, Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

Bhai bahan ki chudai ki kahani

राहुल व्हाट्सप्प मैसेज: हेलो! तुम्हारा मूड क्यों ख़राब है आज? भारती अपने सामने बैठे राहुल से नज़र नहीं मिला रही थी और  उसे जवाब में लिखा:

भर्ती:  किसने कहा? मैं तो ठीक हु।

राहुल: लगता है क्लास में टीचर ने पिटाई कर दी।

भारती: फ़ालतू बकवास बंद करो।

राहुल: क्या हुआ बताओ तो कुछ तो बात है।

भारती: कुछ नहीं।

राहुल: लीकेज शुरू हो गया क्या?

भारती: व्हाट? क्या बोल रहे हो!

राहुल: पीरियड्स हाहाहा! भारती के चेहरे पर उसकी इस बात पर दबी हस्सी निकली और फिर वह खुद को घंभीर बनाती हुई जवाब लिखी: 

भारती: कुछ भी इडियट।

राहुल: हस्सी आयी तो दबा क्यों रही हो निकलने दो न हस्सी को।

भारती: ओफ्फो मुझे कोई हस्सी नहीं आयी दिमाग मत खाओ।

राहुल: अच्छा वह भी है क्या तुम्हारे पास?

भारती: तुमसे ज़्यादा ही है भारती कुछ सोची और राहुल के अगले मैसेज से पहले ही वह लिखी: वैसे कल सोफे पे नींद आयी?

राहुल मौका देख वापस लिखा: नहीं नहीं बिलकुल नहीं आयी क्यों अपने साथ रूम में सोने दोगी आज? भारती मुस्कुरायी और लिखी: तो रात भर क्या कर रहे थे यहाँ तो मछर भी नहीं मारने को? Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

Badi bahan ki chudai

राहुल: खुले आँख के साथ सपने देख रहा था।

भारती: क्या देखा सपने में?

राहुल जानता था की भारती के साथ उसकी डाल नहीं गलने वाली और अब उसे भी भारती में कोई दिलचस्बी नहीं थी लेकिन है तो वह लड़का ही जो लड़की पर डोरे डालने से बाज़ नहीं आने वाला, वह भारती के इस सवाल को एक मौका बनाते हुए वापस लिखा:

राहुल: नहीं यार नहीं बता सकता वरना तुम मरोगी मुझे।

भारती: क्यों? ऐसा क्या देखा सपने में?

राहुल: मैंने देखा की मैं तुम्हे किश कर रहा था हाहाहा!

राहुल को पता था की वह हद से ज़्यादा लिख दिया है अब भारती उसे डाट तो ज़रूर लगाएगी और इंतज़ार किया की वह वापस क्या जवाब लिखेगी पर जब रिप्लाई आया तो उसकी सोच ही पलट गयी।

भारती: सिर्फ किश किया मुझे अपने सपनो में और कुछ नहीं?

राहुल के मन में एक हलकी ख़ुशी उमड़ पड़ी पर इससे पहले की वह जवाब में कुछ लिखता किचन से सारिका और कविता चाय लेकर आ गयी  राहुल ने तुरंत अपना फ़ोन नीचे रख दिया, राहुल बिलकुल भी नहीं चाहता था की उसकी माँ को भनक भी हो की वह भारती के साथ फ़्लर्ट मार रहा था क्यों की उसे डर था की कविता आंटी के किस्से पर भले उसकी माँ से माफ़ी मिल गयी पर भारती पर शायद न मिले।

राहुल ने अपनी माँ के हाथ से चाय लि और वही कविता भारती को उसकी चाय का  कप देकर राहुल के बगल में आ बैठी।

 राहुल 3 सीटर सोफे पर बीच में बैठा हुआ था और बाए तरफ कविता बैठ गयी, एक सिंगल सोफे पर भारती पहले से थी और एक सिंगल सोफे खाली था लेकिन सारिका भी राहुल के बगल उसके दांये तरफ जा बैठी कुछ सेकंड शांति थी और फिर सारिका ने बात सुरू कर दी । Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

सारिका: तो भारती कैसा था बेटा तुम्हारा दिन? भारती चाय पीती हुई बोली: हाँ बढ़िया था आंटी।

कविता: क्लास तो तुम्हारा दोपहर तक ही था तो फिर अब तक कहा थी?

भारती: वह दिव्या के यहाँ थी माँ कंबाइन स्टडी करने गयी थी(अगर आप लोगो को याद हो तो एपिसोड ३२ में आपलोगो ने पढ़ा था की भारती दिव्या से क्यों मिलने गयी थी)कविता: अच्छा दिव्या कैसी है वह? उससे मिले काफी दिन हो गए है।

सारिका: दिव्या कोन ?

Sagi bahan ki chudai

कविया: है इसकी स्कूल फ्रेंड थी पहले हमारे पड़ोस में रहती थी तो उसके मम्मी पापा से जान पहचान थी हमारी बाद में उन्होने  घर बदले तो फिर उनसे उतनी बात नहीं होती थी ये दोनों अब भी फ्रेंड्स है भारती रह रह कर राहुल के तरफ भी देख रही थी भारती सारिका और कविता से बात कर रही थी लेकिन उसके मन से कल रात का किस्सा जा नहीं रहा था  वह राहुल और उसकी माँ को एक साथ देख यही सोच रही थी की कल रात इसी 3 सीटर सोफे पर राहुल अपनी माँ को छोड़  रहा था।

लेकिन भारती के दिमाग में एक और बात थी राहुल जैसा घटिया लड़का जो अपनी माँ को चोद सकता है वह इसकी माँ कविता को किश नज़र से देखता होगा? पर बेचारी भारती इस बात से अनजान थी की अब उसकी माँ भी इन दो माँ बेटे के वासना के खेल में शामिल थी।

सारिका: तुम इतना क्या सोच रही हो?अचानक से सारिका भारती से पूछ पड़ी क्यों की भारती इन सब सोच में खोई हुई लगातार सारिका को देखे जा रही थी तो वह चौक उठी।

भारती: ऐसा कुछ नहीं आंटी ।

सारिका: तो? हाहाहा! पढ़ाई का ज़्यादा प्रेशर है क्या? भारती किस्सा बदलने के लिए तुरंत मुस्कुराती हुई बोली: नहीं आंटी वह ये आपकी नाइटी काफी अछि है वही देख रही थी।

सारिका: ओह थैंक्स तुम्हे अच्छी लगी? Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

भारती: हाँ अच्छी है थोड़ी मॉडर्न – ट्रेडिशनल लग रही है तुरंत कविता मुस्कुराती हुई भारती से बोली: अच्छा तो क्या मेरी नाइटी मॉडर्न नहीं?भारती अपनी माँ को चिढ़ाती हुई बोली:! मॉडर्न हँ मॉडर्न की स्पेलिंग भी आती है आपको।

!कविता: ओह! तो अगर मैं पह्नु तो मॉडर्न नहीं लेकिन यही चीज़ सारिका पहने तो मॉडर्न हाँ? 

सारिका हस्ती हुई भारती से बोली: हाहाहा! वह भी मेरी ही नाइटी है भारती!

भारती कविता को और फिर सारिका को देख बोली: ओह अच्छा वह आपका है क्या।

सारिका: हाँ!

Bhai bahan ki chudai story

भारती: हाँ मतलब वह भी ठीक है लेकिन आपकी नाइटी का डिज़ाइन ज़्यादा अच्छा है। राहुल दोनों महिलाओ के बीच बैठा सोचने लगा की चाहे जिस उम्र की भी लड़की हो कपडे और फैशन की बात पर दुनिया भूल जायेंगे दुनिया से उसका मतलब वह खुद था क्यों की इन 3 महिलाओ को इस बात की कोई फ़िक्र ही नहीं था  की राहुल उनके बीच में ही है।

कविता: ये ऐसी ही है सारिका हमेशा यही करती है मैं कुछ भी करू या पह्नु इसे मॉडर्न कभी नहीं लगती ।

भारती: ओहो! एक स्मार्ट फ़ोन तो आपको ठीक से चलना नहीं आता बात करती हो!

सारिका: ऐसा नहीं है भारती! तुम जानती नहीं हो तुम किस्सके बारे में बोल रही हो!

भारती: मतलब?

सारिका: तुम्हारी माँ शादी से पहले शेरनी थी मोहल्ले की सुपर स्टार!

भारती: नाह! कुछ भी! आप बस माँ को सपोर्ट करने के लिए कह रही हो!

सारिका: अरे नहीं कविता को तुमने नहीं देखा है पर पता है सारिका बोलने से पहले कविता के तरफ देखा और फिर भारती से बोली: तुम्हारी माँ और मैं तुम दोनों के पैदा होने से पहले गोवा गए थे।

भारती: माँ और गोवा? हाहाहा साडी पहनके?

सारिका: वह कविता बिकिनी में भी घूमी है मेरे साथ।

भारती: व्हाट! माँ और बिकिनी में? इस बात पर सिर्फ भारती के नहीं पर राहुल के भी कान खड़े हो गए उसकी कविता आंटी जो पूरे बदन को ढकने वाली औरत गोवा में बिकिनी में!

कविता: ओफ्फो सारिका क्यों बता रही हो अब ये सब चुप कर तू। Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

सारिका: तू चुप कर इसे भी तो पता चले की तू भी किसी टाइम मॉडर्न थी, सारिका फिर भारती को देख पूछी: अच्छा भारती तुमने कभी बिकिनी पहनी है?

भारती: कहा बैंगलोर में बीच ही कहा है?

सारिका: हाँ तो! सोच तुम्हारी माँ बिकिनी पहन कर समुन्दर की तट पर जल परी बनी घूमी है और तुम उससे मॉडर्न नहीं मानती।

भारती: हो ही नहीं सकता माँ और बिकिनी में तो मैं कभी मान ही नहीं सकती आप बस उनका साथ देने के लिए बोल रही हो।

Bhai bahan ki chudai sexy

सारिका: हाहाहा मानो या न मानो पर यही सच है कविता शर्माती हुई सारिका से बोली: ओफ्फो सारिका तुम बस करो ये सब क्यों बोल रही हो अब? सारिका सोफे से उठी और भारती का कप लेकर बोली: मानो या न मानो भारती पर कविता अगर चाहे तो अब भी मर्दो के छक्के छुड़ा सकती है हाहाहा! राहुल इस बात पर अपनी माँ की  तरफ देखने लगा की कही उसकी माँ का इशारा उस पर तो नहीं, सारिका किचन को जाती हुई बोली: चलो मैं जाकर शावर कर के आती हूँ फिर बात करेंगे।

कविता: रुक मैं भी आती हूँ।

सारिका: कहा मेरे साथ नहाने हाहाहा!

कविता: चल हट पगली तू पहले नाहा तब तक मैं अपने बालो पर तेल लगा लुंगी, इतना कहती हुई सारिका और कविता किचन को गए और फिर वह से सारिका के रूम को अब लिविंग रूम में फिर से भारती और राहुल अकेले बैठे हुए थे राहुल को भारती के पूछे सवाल पर जवाब देना था राहुल ने तुरंत अपना फ़ोन उठाया और भारती के पूछे सवाल पर जवाब लिखा,

राहुल: सिर्फ किश ही किया उसके आगे तुम कुछ करने नहीं दिया ,सपनो में भी तुम झगड़ रही थी मुझसे, भारती हस्स पड़ी उसे पढ़कर और जवाब में लिखा: तो मतलब तुम अपने सपनो में भी ऐसे ही हो। Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

राहुल: कैसे ही हूँ ज़रा बताओगी? 

भारती: एक नंबर के ठरकी हाहाहा!

राहुल: अच्छा तो मैं ठरकी? तो तू क्या है कमीनी!

भारती: तू होगा कमीना कुत्ता कमीना मैं नहीं।

राहुल: तू कुतिया गाली न दे ज़्यादा।

भारती: तुम दोगे तो क्या मैं चुप रहूंगी मुझे भी आती है काफी गालिया दिमाग मत ख़राब करो।

राहुल: देखा इसी लिए सपनो में किश के आगे कुछ नहीं कर पाया वहा भी ऐसे ही झगड़ रही थी तुम।

भारती: हाँ हाँ सब जानती हूँ में जैसे की अगर झगड़ू नहीं तो बड़े तीर मार लोगे, इस मैसेज को भेजते ही भारती उठी और राहुल को मुँह चिढ़ाती हुई अपने रूम के तरफ चल पड़ी उसे जाते देख राहुल मैसेज में लिखा: भाग रही हो हाहाहा! तुम्हारे देश में दम नहीं पर अकड़ किसी से कम नहीं, भारती अपने कमरे को चली गयी पर उसने दूर लॉक नहीं किया, राहुल बैठा रहा की शायद इस पर भारती कोई रिप्लाई करे पर कुछ नहीं आया अगले 4-5  मिनट राहुल अकेला ही बैठा रहा लिविंग रूम में, भारती के होते वह अपनी माँ और आंटी के पास भी नहीं जा सकता था क्यों की उसकी माँ ने सतर्क रहने को बोला था  तभी उसकी फ़ोन पर दुबारा मैसेज आया । Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

भारती: हाँ हाँ जैसे की तुम्हारे गांड में तो बहुत दम है! राहुल ने अपने मैसेज में गांड शब्द की जगह देश लिखा था ये सोच कर की कही भारती सच मे चीड़ न जाए पर भारती ने जब उसे अपने रिप्लाई में साफ़ शुद्ध गांड शब्द बोला तो राहुल के रूह रोमांच में खड़े हो गए, वह तुरंत रिप्लाई में लिखा: मेरे गांड में तो बहुत दम है देखोगी?

भारती: आओ दिखाने, राहुल के तन्न बदन में ख़ुशी की लहर आ गयी की भारती उसे उकसा रही है की वह उसके पास जाये वह अपना फ़ोन सोफे पर फेका और धीरे धीरे दबे पाँव भारती के कमरे की तरफ जाने लगा, वही सोफे पर पड़े उसके फ़ोन में भारती का एक और मैसेज आया जो लेट डिलीवर हुआ।

भारती: टाँगे थोड़ दूंगी तेरी अब दिमाग ख़राब मत करो बाई! पर राहुल के हाथ में न ही फ़ोन था और न ही वह ये पढ़ पाया वह यही सोच आगे चला गया की भारती उसे अपने कमरे में बुला रही है राहुल एक दफा अपनी माँ के कमरे के तरफ देखा तो कमरे में सारिका थी नहीं शायद शावर में हो और कविता वार्डरॉब से कपडे निकलने में लगी हुई थी।

Bhai bahan ki chudai hindi awaz mai

राहुल धीरे से उनके कमरे का दरवाज़ा बिना आवाज़ के बंद किया और अपने रूम यानि के भारती के कमरे की और बाद चला वह जाकर झट से दरवाज़ा खोल बोला: क्या बोल रही थी? हाँ मेरा दम देखोगी! ओह्ह्ह सहित!भारती ड्रेसिंग टेबल के तरफ खड़ी थी और राहुल को पीठ दिखाए हुए थी पर बात ये हुई की भारती कपडे बदल रही थी वह अब घर में पहनने वाली एक छोटी टी-शर्ट पहनी हुई थी और नीचे सिर्फ एक गहरी लाल रंग की पंतय में थी, भारती को ऐसे देख राहुल के लंड ने झटका दे मारा राहुल को पीछे देख भारती भड़क उठी अपने हाथो से अपनी गांड को छुपाने लगी , 

भारती: इडियट! क्या कर रहे हो नॉक नहीं कर सकते थे ,! राहुल ने उसे ऊपर से नीचे देखे जा रहा था लड़की चाहे जो भी हो पर पहली बार उसकी नंगी टाँगे और जांगे देखने का मज़ा अलग ही होता है। Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

राहुल: आए आए वह तुम ही बोली की आओ? भारती अपनी टी-शर्ट के निचले सिरे को पकड़ नीचे खींचकर अपनी गांड छुपाती हुई बोली: मैं कब बोली? बिना पूछे सुने कही भी आ घुसते हो क्या?

राहुल: अरे यार मुझे क्या पता था की तुम ऐसे हो अभी वैसे एक बात बोलू? भारती गुस्से में बोली: क्या है जल्दी बोलो एंड गेट आउटराहुल: काफी सेक्सी लग रही हो लुकिंग हॉट भारती और गुस्सा होती हुई बोली: शट उप एंड गेट आउट! राहुल उसे एक बार ऊपर से नीचे दुबारा देखा और मुस्कुराता हुआ कमरे से जाने लगा, भारती उसकी कही बात की वह सेक्सी लग रही है ये बात भले गुस्सा दिलाई हो उसे लेकिन अंदर ही अंदर भारती को हलकी मस्ती भी आयी, साथ ही उसकी सहेली दिव्या की कही वह बात की जो लड़का अपनी माँ को इतना मज़ा दे सके वह जवान लड़कियों का क्या हाल करेगा ये बात भारती के तन बदन में गुड़गुड़ाहट बन्न कर चल रही थी, वह राहुल को उसे ऐसे ऊपर नीचे देख और मुस्कुराते हुए जाते देख वह खुद को रोक नहीं पायी और बोली: अच्छा रुको! राहुल सर घुमाकर देखा तो अब भारती उसके सामने पलट कर खड़ी थी एक हाथ से टी- शर्ट के निचले सिरे को खींच अपने सामने के हिस्से को छुपा कर वह खड़ी बोली: वैसे क्यों आये थे तुम?

राहुल ने देखा की भारती के शकल पर अब गुस्सा नहीं था और ना ही वह अपनी नंगी टाँगे और जांगे दिखाकर खड़े रहने में शर्मा रही थी, राहुल मौका न गवाते हुए बोला: वह… वह बस तुम्हे देखने के लिए आया था भारती: मुझे? क्यों?

राहुल: वह… पता नहीं अच्छा लगता है तुम्हारे साथ बात करने में, भारती साफ़ जानती थी की वह उसे अपने मीठी बातो से पटाने की कोशिश में है पर भारती भी इसका मज़ा लेना चाहती थी और बोली: ऐसा क्यों?

राहुल: पता नहीं।

भारती: अंदर आकर बैठो कही मेरी माँ ये सब न सुन ले,राहुल अंदर आने लगा तो भारती टोकती हुई बोली: दूर बंद कर दो ना , राहुल के चेहरे पर ख़ुशी तो मनो फूले न समां रहा था वह अपनी ख़ुशी को छुपाता हुआ गेट बंद किया और फिर अपने बेड पर आ बैठा भारती अपनी जगह पर अब भी वैसी ही खड़ी थी और बोली: तो क्यों अच्छा लगता है तुम्हे मेरे साथ? Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

राहुल अपनी जांघो को दबाकर बैठा था क्यों की भारती को ऐसे अधनगी देख उसका लंड खड़ा होने लग गया था।

राहुल: बोला बस अच्छी लगती हो।

भारती: तुम मुझे पसंद करती हो ?

राहुल: हा ।

भारती: क्यों?

राहुल: अरे यार अब बार बार क्यों पूछने से मैं क्या बोलू?

भारती: क्या मैं तुम्हे खूबसूरत लगती हूँ?

राहुल: हाँ वह तो तुम हो ही। भारती अपने होंटो को हलके से काटती हुई आँखों में अदाओ के साथ पूछा : क्या मैं तुम्हे हॉट लगती हूँ?

राहुल: हाँ बहुत।

भारती: तो मैं खूबसूरत हूँ या हॉट हूँ? Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

Bhai bahan ki chudai ki kahaniyan

राहुल: उफ़ तुम दोनों ही हो यार, भारती उसके मुँह से सुनकर मज़ा लेना चाहती थी तो वह बोली: क्या क्या हूँ बोलो, राहुल भी जान गया की भारती को उसके मुँह से अपनी तारीफ सुननी है वह आगे बोला : काफी खूबसूरत और हॉट और सच मे तुम काफी सेक्सी हो यार, भारती अपनी शर्म को भूल अपने हाथ से पकडे टी-शर्ट के निचले हिस्से को छोड़ दिया और  खींची हुई टी-शर्ट ऊपर की और सिकुड़ता हुआ अपने अकार में आया और अब उसकी पैंटी को सामने से खुले आम दिखा रही थी पैंटी में छपी भारती की चूत की रेखा और उभर के अकार को घूरा राहुल ने ।

राहुल:वाओ! तुम तो मुझे पागल कर दोगी, भारती मुस्कुराती हुई बोली: क्यों? ऐसा क्या हुआ?

राहुल: हफ़ पूछो मत क्या मस्त लग रही हो तुम बस इस टी-शर्ट में।

भारती: तुम्हें यह पसंद है ?

राहुल: हाँ यार हाँ, भारती अपनी नंगी पतली टैंगो को आगे चलती हुई राहुल के सामने आयी फिर उसकी आँखों में आँखे डाल कर पहले अपनी दाए पेअर के घुटने को राहुल के कमर के बगल में रखा फिर दूसरे पैर के घुटने को दूसरी तरफ रख राहुल की गोद  पे चढ़ गयी, राहुल की गोद में बैठ उसकी आँखों में आँखे डाल बोली: तुम्हारा तो काफी सख्त हो गया है, भारती को अपनी गोद पर राहुल के शार्ट में तने लंड का दबाव साफ़ एहसास हो रहा था  Chote Bhai Bahan Ki Chudai:

indian bhai bahan ki chudai

 राहुल: हाँ तुम्हारे कारन, राहुल अब तक कोस रहा था खुद को की उसने भारती को यहाँ क्यों बुलाया पर अब जो भारती बोली उसने एक पल में उसकी सारी सोच बदल डाली,  भारती अपनी निचले होंठ काटती हुई राहुल की आँखों से आँख मिलाकर बोली: क्या तुम मुझे चोदोगे ?

राहुल को एक पल यकीन नहीं हुआ की क्या उसने सही सुना? राहुल दबी आवाज़ में बोलै: क्या?

भारती अपने दोनों हाथो में राहुल के गाल को पकड़ उसे देख बोली: चोदोगे मुझे?

राहुल: क्या तुम सीरियस हो?

भारती: हाँ क्या तुम…

राहुल: मैं क्या बोलना?

भारती: क्या तुम मेरे साथ वह सब करोगे जो कल रात तुमने आंटी के साथ किया!

राहुल: क्या?! 

Read More Sex Stories…

3 Replies to “भाई ने बड़ी बहन की अपने मोटे लंड से चूत फाडी फिर चूत से निकला खून Chote Bhai Bahan Ki Chudai”

  1. Vicky

    Oh my goodness! Awesome article dude! Many thanks, However I am experiencing problems
    with your RSS. I don’t understand the reason why I am unable to
    subscribe to it. Is there anybody else getting identical RSS issues?
    Anybody who knows the answer will you kindly respond?

    Thanx!!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *