By | April 3, 2023

Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4 : हैलो दोस्तो, मेरा नाम रिंकू है मेरी उम्र 21 साल है और मैं उत्तर प्रदेश के एक गाओं का रहने वाला हु मेरी ये कहानी मेरी मम्मी और मेरे बीच बने रिश्ते की है मेरी फॅमिली में हम 4 लोग है

पापा मम्मी मैं और मेरा बड़ा भाई, मेरा बड़ा दिल्ली में जॉब करते है और पापा खेतो को सँभालते है और मैं शहर में रहकर पढ़ाई कर रहा हु। अगर दोस्तो आपने अभी तक इस कहानी पिछला भाग  नहीं पढ़ा तो यहा क्लिक करके आप पिछला भाग पढ़ सकते है , चलो अब आपका जायदा समय खराब करते हुये कहानी पे आता हु ।

ये भी पढे–>> पिछला भाग 1– मम्मी की हवस की आग मिटाई 3

Maa ki chudai ki kahani

मेरी मम्मी का नाम रम्भा (बदला हुआ नाम) है और उनकी उम्र 42  साल है गाओं की भोली भाली और पूजा पाठ करने वाली औरत है

जब करण ने जैसे ही साहिल को आवाज दी तो वैसे ही साहिल कमरे के अंदर चला गया और उसने कमरे की लाइट जला दी अब अंदर सब कुछ साफ़ साफ़ दिखाई दे रहा था

करण मम्मी के ऊपर चढ़ा हुआ था और वह मैक्सी के अंदर हाथ डालके मम्मी के बूब्स मसल रहा था और मम्मी उसका हाथ बार बार हटा रही थी जैसे ही साहिल ने लाइट जलाई थी मम्मी साहिल को देखकर और जयादा गबरा गयी था। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4

Dost ki maa ki chudai

क्युकी साहिल भी पूरा नंगा होके  कमरे में घुसा था और अब साहिल का लंड भी तन के खड़ा था मम्मी की नज़र भी साहिल के लंड पर ही थी और वह उसे घूर  के देख रही थी 

तभी साहिल बोला: 

साहिल – आंटी आपको ऐसे करण के साथ देखकर सच में यकीं नहीं हो रहा है की आप भी ऐसा कर सकती है मम्मी साहिल की बात सुनके दंग  रह गयी और फिर वह तुरंत बोल पड़ी।

मम्मी – बेटा तुम्हे कोई गलत फेहमी हुई है ये करण मेरे कमरे में आ गया और ये मेरे साथ ये सब हरकते करने लगा।

साहिल – आंटी अब नाटक करने की कोई जरुरत नहीं है मैंने सब कुछ आपने कानो से सुन चूका हु पहले तो मुझे भी यकीं नहीं हुआ था जब करण ने कहा की इसने आपकी गांड दबाये है और अपने इसे कुछ नहीं कहा मगर अब सब कुछ साफ़ हो चूका है।

साहिल को ऐसे बोलते देखकर मम्मी और ज्यादा हैरान हो गयी थी।

Antarvasna maa ki chudai

साहिल – करण तूने बिलकुल ठीक कहा था यार आंटी की चूत में बहुत गर्मी है तभी तो ये तुझे कुछ नहीं कह रही थी जब तू इनकी गांड दबा रहा था॥

करण – हा  भाई अब तू वहा  क्या खड़ा है? यहाँ आके देख आंटी के बूब्स कितने बड़े और मज़ेदार है आज हम दोनों मिलके पूरी रात आंटी के ये बूब्स चूसेंगे, 

करण की बात सुनते ही साहिल भी मम्मी के पास आ गया और उनके बूब्स दबाने लगा मम्मी करण और साहिल से घबरा रही थी और उन्हें रोकने की कोशिश कर रही थी।

मम्मी – बेटा ये तुम दोनों क्या कर रहे हो? प्लीज ऐसा मत करो कही किसी को कुछ पता चल गया तो मैं किसी को मुँह दिखने लायक नहीं रहूंगी।

करण – आंटी आप डर क्यों रही हो? आज इस कमरे में जो कुछ होगा वह कभी किसी को पता नहीं चलेगा बस आज आप भी खुल के इस पल का मज़ा लो जो अब अंकल आपको नहीं देते है। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4

Desi maa ki chudai

मम्मी – बेटा तुम्हे कोई गलत फेहमी हुई है मैं आपने पति के साथ बहुत खुस हु मैंने कभी भी किसी और के बारे में सोचा तक नहीं है।

करण – आंटी हर औरत अपने पति के साथ खुस ही होती है मगर शादी के कुछ साल बाद ही पति का प्यार गायब हो जाता है और आपको देखकर तो मैं ये समझ ही गया था की अंकल आपको ढंग से चोद भी पाते है और अगर वह आपको चोदते भी है तो सिर्फ अपना पानी निकाल के साइड हो जाता है और आप ऐसे ही तड़पती रहती हो, 

करण की बात सुनके मम्मी दंग रह गयी थी क्युकी वह पापा के बारे में सच बोल रहा था करण और साहिल मम्मी के दोनों साइड बैठे हुए थे और दोनों के हाथ मम्मी की मैक्सी के अंदर थे और वह दोनों मम्मी के बूब्स दबा रहे थे और मम्मी उनके हाथ रोकने की नाकाम कोशिश कर रही थी।

 फिर करण साहिल ने मिलके मम्मी की मैक्सी निकाल के साइड में फेक दी और अब मम्मी सिर्फ काली पेंटी में उनके सामने थी ।

मम्मी के गले में अभी भी उनका मंगलसूत्र था और वह उनके नंगे बदन पर चार चाँद लगा रहा था मम्मी का गोरा बदन देखकर साहिल और करण की आँखों में चमक आ गयी थी।

साहिल – भाई आंटी के बूब्स तो देख यार कितने बड़े और मस्त है और इनका ये मंगलसूत्र तो इनकी जवानी में चार चाँद लगा रहा है यार लगता है रिंकू ने बचपन में बहुत बूब्स चूसा है तभी ये इतने बड़े हो गए है।

करण – हा भाई और हम दोनों भी तो आंटी के बच्चे है इसीलिए आज हम दोनों भी ये बूब्स पिएंगे, फिर करण और साहिल ने मम्मी का एक एक बूब्स अपने अपने  मुँह में भर लिया और 2 छोटे बच्चो की तरह वह मम्मी का बूब्स चूस चूस के पीने लगे।

साहिल तो बिलकुल बच्च की तरह मम्मी का बूब्स चूस रहा था मगर करण अपनी जीभ से मम्मी के निप्पल से भी खेल रहा था करण बहुत अच्छी तरह जनता था की अगर सही ढंग से औरतो के बूब्स चूसे जाये तो वह बहुत जल्दी गरम हो जाती है और अपनी मम्मी की बदौलत करण इस खेल में बहुत माहिर था।

मम्मी अभी भी करण और साहिल का मुँह हटा रही थी मगर अब वह दोनों मम्मी से चिपक गए थे और मौका देखते ही करण ने अपना हाथ मम्मी की पेंटी में डाल दिया अब मम्मी अपनी चूत पर करण का हाथ लगते ही मम्मी बोल पड़ी।

मम्मी – बेटा प्लीज ऐसा मत करो मैं तुम दोनों के आगे हाथ जोड़ती हु मैं किसी को मुँह दिखाने लायक नहीं रहूंगी मैं भी तुम्हारी माँ जैसी हु। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4

Sagi maa ki chudai

करण – आंटी आप मुँह से तो झूठ बोल शक्ति हो मगर आपकी चूत तो आपसे भी जयादा सच बोल रही है देखो हमारी वजह से ये कितनी गीली हो गयी है।

करण ने अपना हाथ बहार निकाल के दिखाया तो उसके हाथ में मम्मी की चूत का चिपचिपा पानी लगा हुआ था।

साहिल – भाई लगता है आंटी की गर्मी निकलना शुरू हो गयी है और आंटी आप शायद करण को जानती नहीं हो ये किसी भी औरत को देखते ही बता देता है की वह अंदर से कितनी बड़ी चुड़क्कड़ है और देख लो आपके बारे में इसकी राय सच ही है आपकी चूत तो कब से लंड मांग रही है और आप हो की रहने दो रहने दो कर रही हो।

आंटी एक बार करण से चुदवा के देखो आपकी सारी गर्मी निकाल के रख देगा।

मम्मी भले ही मुँह से मना कर रही थी मगर करण एक नंबर का खिलाडी था उसने ये साबित कर दिया था की मम्मी भी लंड के लिए तरस रही थी बस वह मुँह से कहना नहीं चाहती थी क्युकी उन्हें चोदने वाले उनके बेटे के दोस्त थे।

साहिल – करण भाई लगता है आंटी रिंकू की वजह से डर रही है अब इन्हे क्या मालूम वह सुबह से पहले उठने वाला नहीं है? वैसे एक बार आंटी को भी ये दिखा देते है फिर ये भी खुल के चुदवा सकती है।

साहिल की बात सुनके करण ने मम्मी को अपनी गोदी में उठा लिया और मैं तुरंत भाग के आपने बिस्टेर पर चला गया लगभग 2-मिनट बाद ही लाइट ऑन  हो गयी और मैं सोने का नाटक करने लगा।

फिर मैंने देखा करण मम्मी को गोदी में लेके आया है और मम्मी अभी भी सिर्फ काली पेंटी में थी मम्मी मेरे सामने आधी नंगी खड़ी थी और वह मुझे देखकर बहुत ही बुरा महसूस कर रहा था और करण वही खड़े खड़े मम्मी का बूब्स चूस रहा था और उनका दूसरा बूब्स दबा रहा था।

फिर साहिल ने मेरी गांड पर एक लात मार दी मगर मैं फिर भी नहीं उठा तभी साहिल बोला ।

साहिल – रिंकू साले तूने चूस चूस के अपनी मम्मी के बूब्स कितने बड़े कर दिए है और अब देख तेरी मम्मी हमें मना कर रही है जबकि इनकी चूत तो कितनी गीली हो रही है अब देख लो आंटी आप इसके सामने नंगी खड़ी हो फिर भी ये नहीं उठेगा और अब ये सुबह से पहले नहीं उठेगा चाहे इसके सामने आप चुदवा भी लो तो भी ये नहीं उठेगा।

मम्मी करण से छूट के तुरंत मेरे पास आ गयी और मुझे हिलाने लगी मगर मैं तो नाटक किये हुए पड़ा था।

मम्मी – ये क्या किया है तुमने मेरे बेटे के साथ? ये उठ क्यों नहीं रहा है? Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4

Maa ki chudai dekhi

करण – कुछ नहीं किया है आंटी बस एक नींद की गोली दी है जिससे ये सुबह तक सोता रहेगा और आपको अपनी चुदाई करवाने में कोई परेशानी नहीं होगी बस अब आप भी रिंकू की चिंता मत करो उसे कुछ भी मालूम नहीं चलेगा।

करण की बात सुनते ही मम्मी उठ के गयी और उसके गाल पर एक थप्पड़ मार दिया।

मम्मी – तुम दोनों कितने बड़े हरामी हो आपने ही दोस्त की माँ के साथ ये सब करते तुम्हे शर्म नहीं आती है मेरे सीधे साढ़े बेटे के पता नहीं कैसे दोस्त बन गए ऐसे दोस्तों से तो दूसरे बेहतर है।

मम्मी की बात सुनके करण हसने लगा और फिर वह बोलै।

करना – साहिल आंटी आपने बेटे को बहुत सीधा समझती है जरा रिंकू भैया की वीडियो तो दिखा आंटी को करण के मुँह से वीडियो की बात सुनके मैं डर गया पता नहीं ये दोनों कोनसी वीडियो की बात कर रहे थे।

 मगर मैं कर भी क्या सकता था?।

साहिल ने आपने मोबाइल में एक वीडियो चला दी और करण ने मोबाइल मम्मी के हाथ में दे दिया।

करण – लो देख लो आंटी आपका सीधा साधा बीटा कैसे औरतो को चोदता है ।

मम्मी आधी नंगी खड़ी हुई थी और वह साहिल के मोबाइल में मेरी चुदाई की वीडियो देख रही थी मैंने देखा वीडियो देखकर मम्मी की आँखे भी बड़ी हो गयी और वह मेरी तरफ देखने लगी।

करण – देखा आंटी हम तीनो ही एक जैसे है और ये आंटी भी आपकी उम्र की है जिसे हम तीनो ने इसी कमरे में पूरी रात चोदा था बस आज आपका बेटा सो रहा है और अब हम दोनों आपको चोदेगे ।

करण ने मम्मी के हाथ से मोबाइल लेके साइड में रख दिया और उनकी पेंटी को एक झटके में नीचे कर दिया मम्मी आपने हाथ से अपनी चूत छुपाने लगी।

मम्मी – प्लीज बेटा मान जाओ ऐसा मत करो मेरे साथ, तुम मेरे बेटे के दोस्त हो और उसके सामने ही तुम उसकी माँ के साथ ये गन्दी हरकत कर रहे हो मगर करण और साहिल कहा मानने वाले थे तभी साहिल ने मम्मी को पीछे से पकड़ लिया और उनके दोनों बूब्स दबाने लगा, 

मम्मी ने जैसे ही साहिल का हाथ हटाना चाहा तो मैंने मम्मी की चूत देखि मम्मी की चूत साफ़ नहीं दिख रही थी क्युकी उनके नीचे बहुत बाल थे मम्मी के इतने बाल देखते ही करण बोला:

करण – क्या बात है आंटी? आप नीचे के बाल साफ़ नहीं करती हो क्या? वैसे साफ़ करने का फायदा भी क्या है अंकल तो आपको चोदते ही नहीं है तो बाल साफ़ करने की जरुरत भी नहीं होगी, 

मम्मी गुस्से से करण की तरफ देख रही थी फिर करण ने मम्मी की एक टाँग पकड़ के फैला  दी और उनकी चूत के बाल हाथ से हटा के उनकी चूत चाटने लगा चूत पर करण की जीभ  लगते ही मम्मी ने अपनी आँखे बंद कर ली और साहिल पीछे से खड़ा होके  मम्मी की गर्दन को चाटने लगा और उनके बूब्स को दबाने लगा। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4

Maa ki chudai hindi

जिससे मम्मी गरम हो रही थी अब मम्मी रोकती भी तो किसे रोकती अगर मम्मी करण को रोकती तो साहिल मम्मी के बूब्स से खेलता और अगर मम्मी साहिल को रोकती तो करण की जीभ उनकी चूत पर अपना कमाल दिखाने लगती है फिर करण ने मम्मी का एक हाथ पकड़ लिया और लगातार उनकी चूत चाटने लगा बची कुछ कसर साहिल ने पूरी कर दी, 

जब एक औरत को दोनों तरफ से गर्म किया जा रहा हो तो वह भी खुद को कितनी देर तक रोक सकती है कुछ ही देर में मम्मी ने आपने हाथ चलाना बंद कर दिया और अब साहिल भी आगे से  गया और उसने मम्मी की गहरी नाभि में अपनी जीभ घुसा दी।

साहिल कुत्ते की तरह मम्मी की नाभि को चाटने लगा और करण ने तो अपना मुँह मम्मी की चूत से हटाया ही नहीं था मम्मी भी अब गरम हो चुकी थी और मैंने देखा वह हलके हलके आपने होंठों को दबा रही थी ।

करण ने अपनी एक ऊँगली मम्मी की चूत में डाल दी और उसे अंदर बहार करते हुए वह मम्मी की चूत चाट रहा था इधर साहिल खड़े खड़े अपना लंड मम्मी की नाभि में डाल रहा था।

साहिल के लंड का सूपड़ा मम्मी की नाभि में घुसा हुआ था और वह उसी में धक्के लगा रहा था जिससे मम्मी का पेट अंदर बहार हो रहा था और साथ ही साथ वह मम्मी के बूब्स भी मसल रहा था।

मैंने देखा अब मम्मी भी उन दोनों को नहीं रोक रही थी उन्होंने अपने हाथ ढीले छोड़ दिए थे मम्मी की आँखे बंद दी थी और उनका चेरा लाल पढ़ गया था।

इधर करण पूरी मेहनत कर रहा था और कुछ ही देर में करण की मेहनत रंग ला लायी और मम्मी एक दम से कांप गयी और उन्होंने साहिल का कंधा पकड़ लिया और साहिल भी मम्मी की पीठ पर हाथ फेरने लगा और फिर करण खड़ा हो गया और उसने साहिल को साइड कर दियाऔर मम्मी के होंठों को चूसने लगा।

अब मम्मी करण का साथ नहीं दे रही थी मगर उसे रोक भी नहीं रही थी फिर मम्मी के होंठों को चूसते हुए करण ने फिर से अपनी ऊँगली मम्मी की चूत में डाल दी और उसे अंदर बहार करने लगा।

करण की ऊँगली मम्मी की चूत के पानी से गीली हो गयी थी फिर करण साहिल को मम्मी की चूत का पानी दिखाने लगा।

साहिल – क्या बात है भाई? लगता है आंटी के अंदर से गरम पानी का झरना फुट पड़ा है आंटी आप भी देख लो अभी अभी आपका पानी निकला है और फिर से आपकी चूत गरम होने लगी है। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4

करण – चल भाई आंटी को अंदर कमरे में ले चलते है यहाँ अपने बेटे के सामने चुदवाने में उन्हें भी बुरा लगेगा और अंदर वह भी खुल के चुदाई का आनद ले पाएंगी।

Bete ne maa ki chudai ki

साहिल – रिंकू भाई तू सोता रहे और मैं और करण मिलके आज रात तेरी मम्मी की सारी गर्मी निकाल देंगे जो तेरे पापा कभी नहीं निकाल पाए, फिर मम्मी साहिल के ऐसे शब्द सुनके पानी पानी हो रही थी फिर साहिल ने नीचे पड़ी मम्मी की पेंटी उठा ली और उसे अंदर से देखने लगा और वह अंदर से गीली थी।

साहिल – करण भाई ये देख आंटी तो पहले से ही गरम हो गयी थी बस हमें ड्रामा दिखा रही थी ये देख इनकी पेंटी भी अंदर से गीली है।

करण  – यार मैं तो पहले ही कह रहा था और रिंकू भी तो यही कहता है की जिस औरत को उसका पति नहीं चोदता है उसकी चूत हमेशा गरम ही रहती है अब देख ले बहार की औरतो की चूत ठण्ड कर देता है।

मगर खुद की मम्मी की चूत प्यासी ही छोड़ दी अब तू अपनी मम्मी की चूत की चिंता मत करना आज पूरी रात इसे हम ठंडा कर देंगे, मम्मी खड़ी ये सब बाते सुन रही थी और उनका मुह  नीचे था।

फिर करण ने उन्हें अपनी गोदी में उठा लिया और उन्हें अंदर ले गया साहिल ने जाते जाते लाइट बंद कर दी और फिर मैं भी दरवाजे के पास चला गया, अंदर मैंने देखा करण ने मम्मी को नीचे लिटा दिया था और वह खुद उनके ऊपर आके उनके बूब्स चूसने लगा।

और अपने हाथ से मम्मी की चूत मसलने लगा मगर करण को चूत के ऊपर बाल पसंद नहीं आ रहे थे तभी साहिल भी मम्मी के बूब्स चूसने लगा और करण मम्मी का पेट चूमता चूमता नीचे आने लगा अब करण मम्मी की जांघो को चाट रहा था और मम्मी के जांघो को चाटने के बाद करण ने मम्मी का पैर पकड़ा और उनकी पैरो की उँगलियों को अपने मुँह में ले लिया फिर करण मम्मी की पैरो की उंगलिया चूसने लगा। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4

जैसे जैसे करण मम्मी की पेअर की ऊँगली चूस रहा था वैसे ही मम्मी को अंदर कुछ हो रहा था ।

करण और साहिल जिस तरह मम्मी को चाट रहे थे वैसे तो उन्हें कभी पापा ने भी नहीं चाटा था अब मम्मी को देखकर ये साफ़ पता चल रहा था की वह भी अंदर से पूरी गरम हो चुकी है साहिल मम्मी के बूब्स और नाभि को चाट रहा था और करण मम्मी की जांघो और पैरो को चाट रहा था कुछ देर बाद करण ने मम्मी की जांघो को पकड़ के फैला दिया और मम्मी की बालो भरी चूत फ़ैल के खुल गयी थी ,

अब करण ने मम्मी की दोनों जांघो को पकड़ा और अपना मुँह मम्मी की चूत में लगा दिया करण बड़े ही प्यार से मम्मी की चूत चाट रहा था और मम्मी ने अब अपनी आँखे बंद की हुई थी करण के चूत चाटने से कमरे में चाप चाप की आवाज आ रही थीऔर साहिल ने मम्मी के बूब्स चूस चूस के लाल कर दिए थे।

फिर साहिल ने मम्मी का हाथ पकड़ के अपने लंड पर रख दिया मगर मम्मी ने तुरंत अपना हाथ हटा लिया साहिल समझ गया की मम्मी मज़े तो ले रही है मगर वह ये दिखाना नहीं चाहती है इसीलिए फिर साहिल ने ऐसा कुछ नहीं किया और वह फिर से मम्मी की नाभि से खेलने लगा।

Maa ki chudai stories

मैंने आज से पहले नाभि का इतना बड़ा दीवाना नहीं देखा जितना बड़ा साहिल हैअगर उसे पुरे दिन नाभि चाटने को कहा जाये तो वह बिना रुके नाभि चाट सकता है और दूसरी तरफ करण है जो औरतो को ऊपर से नीचे तक सब जगह चाट जाता है और वह मम्मी की चूत के साथ साथ उनकी गांड को भी चाट रहा था और मम्मी बस लेटी लेटी  इस पल का मज़ा ले रही थी।

मैं जानता था की वह बस ऊपर ऊपर ही मना कर रही है क्युकी अंदर से तो वह भी इस चीज के लिए तरस रही थी करण ने चाट चाट के मम्मी की चूत और गांड को गिला कर दिया था Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4

फिर करण ने  मम्मी की दोनों टांगो के बीच बैठ गया और अपना लंड मम्मी की बालो से भरी चूत पर लगा दिया मम्मी आँखे फाड़े करण को ही देख रही थी और फिर मम्मी करण से बोली।

मम्मी – बेटा प्लीज ऐसा मत करो तुम्हे अभी तक जो किया उसके लिए मैंने कुछ नहीं कहा मगर ये मत करो।

मम्मी के इन शब्दों ने करण के अंदर और भी जोश भर दिया क्युकी करण हमेशा कहता है की जब किसी औरत को लंड चाइये होता है तो वह ऐसे ही बहाना बनाती है मगर अंदर से वह भी चुदाई ही चाहती है ।

अब करण ने अपना लंड मम्मी की चूत में उतार दिया और मम्मी जो करण की आँखों में देख रही थी लंड अंदर जाते ही उन्होंने अपनी आँखे बंद कर ली और करण ने अपना 77 इंच का मोटा लंड मम्मी की चूत की गहराई में उतार दिया।

करण कुछ देर ऐसे ही रुका रहा और फिर उसने अपना लंड बहार निकला और फिर से उसे अंदर डाल दिया मम्मी करण का लंड लेके मुँह बना रही थी यानी करण का लंड उनकी चूत में रगड़ मार रहा था।

करण – साहिल तू साइड हो जा यार पहले मैं कर लू फिर तू भी कर लेना, करण की बात सुनके साहिल साइड हो गया और अपना लंड सहलाने लगा और करण मम्मी के ऊपर झुक गया और मम्मी के बूब्स चूसते हुए धक्के लगाने लगा मम्मी आँखे बंद किये अपनी चूत में जाता लंड महसूस कर रही थी।

xxx maa ki chudai sex story

करण अभी हलके हलके लंड अंदर बहार कर रहा था और जैसे ही करण का लंड अंदर जाता था तभी मम्मी अपना मुँह बनाती थी फिर करण ने हलके हलके अपने धक्को की रफ़्तार बढ़ा दी और कुछ ही देर बाद मम्मी के मुँह से भी अहह अह्ह्ह शठ उम्म्म सी करके आवाज निकलने लगी और करण के धक्को से थप थप की आवाज निकल रही थी 

करण मम्मी के होंठों को चूसने लगा और अब मम्मी अपनी आँखे खोल ही नहीं रही थी बल्कि अपनी चुदाई का मज़ा ले रही थी और करण अपना मुँह मम्मी के मुँह में घुसा के उनकी जीभ चूस रहा था करण की चुदाई देखकर साहिल को भी जोश आ गया।

साहिल – करण अब मुझे भी तो करने दे यार या सारी चुदाई तू कर देगा। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4

साहिल की बात सुनके करण ने धक्के धीरे कर दिए और फिर वह मम्मी के ऊपर से उठ गया करण ने जैसे ही अपना लंड निकला उसका पूरा लंड मम्मी की चूत के पानी से गीला पड़ा था करण उठके मम्मी के बगल में आ गया और साहिल ने अपना 5-इंच का लंड मम्मी की चूत में डाल दिया, 

Antarvasna maa ki chudai

जिससे मम्मी को कोई खास फरक नहीं पड़ा और फिर साहिल धक्के लगाने लगा।

मम्मी की चूत पहले ही पानी पानी हो रही थी जिससे साहिल का लंड सत्ता सात अंदर बहार हो रहा था और करण मम्मी के बगल में बैठकर उनके रसीले होंठों को चूस रहा था ।

फिर करण ने अपना लंड मम्मी के मुँह के पास कर दिया और फिर वह मम्मी से बोला 

करण – देखो आंटी आपकी चूत कितनी प्यासी है और कितना पानी छोड़ रही है इसने तो मेरा पूरा लंड ही गिला कर दिया आंटी आपकी चूत का ये पानी देखकर साफ़ पता चल रहा है की अंकल तो इसे अच्छी तरह छूते भी नहीं है।

सच कहु आंटी अगर रिंकू की जगह मैं आपका बेटा होता तो घर पर ही आपकी इस गरम चूत को रोज अपने लंड से ठंडा कर देता, करण की बात सुनके मम्मी उसकी तरफ घूर के देखने लगी,

फिर  करण ने जोश जोश में बहुत बड़ी बात बोल दी थी मगर साहिल तो मम्मी की चूत में धक्के लगते हुए ही पगला गया था और उसके मुँह से वह बात निकल गयी जो करण ने भी नहीं सोची थी। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4

Beta maa ki chudai xxx

साहिल – हा आंटी अगर करण आपका बेटा होता तो ये जरूर आपको चोद देता जैसे ये अपनी मम्मी को रोज चोदता है साहिल ने जैसे ही ये बात बोली करण और मम्मी ने एक साथ उसकी तरफ देखा और साहिल को अहसास हो गया की वह क्या बात बोल गया है साहिल ने धक्के लगाने बंद कर दिए और करण गुस्से से साहिल की तरफ देख रहा था।

साहिल ने तुरंत करण को सॉरी बोला और फिर करण साहिल की जगह आ गया और उसने फिर से अपना लंड मम्मी की चूत में डाल दिया मम्मी करण की ये बात जानकर हैरान दिख रही थी ।

मगर करण को जैसे कोई फरक नहीं पड़ा था और वह दाना दान धक्के लगाए जा रहा था और एक बार फिर से मम्मी के मुँह से अह्ह्ह अह्ह्ह उम् सीई करके आवाज निकलने लगी थी करण के धक्को से मम्मी के बूब्स जोर जोर से ऊपर नीचे हो रहे थे।

जो देखने में बहुत अच्छे लग रहे थे साहिल मम्मी के पास आ गया और उनके होंठों को चूसने लगा मम्मी ने अभी तक खुल के किसी का भी साथ नहीं दिया था मगर इसका मतलब ये नहीं था की उन्हें मज़ा नहीं आ रहा था, मम्मी की कामुक आवाजे और उनकी चूत से बहता पानी ये बता रहे थे की उनकी चूत अंदर से कितनी गरम है जिसको एक लंड की जरुरत थी और आज तो उन्हें 2 लंड एक साथ मिले थे।

जो मम्मी की चूत को शांत कर रहे थे कुछ देर धक्के लगाने के बाद करण ने अपना लंड निकाल लिया और वह मम्मी से बोला।

करण – आंटी आप कुतिया बन जाओ, मम्मी ने करण की बात सुनी मगर वह वैसे ही लेटी रही फिर करण और साहिल ने मम्मी को पलट दिया और खुद उनकी टाँगे मोड़ के उन्हें कुतिया बना दिया,  मम्मी की गोरी और बड़ी गांड करण के सामने थी 

करण – ये देख भाई क्या मस्त गांड है आंटी की? अगर ऐसे गांड देखकर भी किसी का लंड खड़ा नहीं होता तो वह सच में मर्द कहलाने लायक नहीं है साहिल आंटी की गांड पकड़ के फैला दे यार,

करण की बात सुनते ही साहिल ने मम्मी की गांड पकड़ के फैला दी और अब मम्मी की गांड का छेद और चूत का छेद साफ़ खुले हुए दिख रहे थे। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 4

indian maa ki chudai

 फिर  करण ने तुरंत अपना मुँह मम्मी की गांड में लगा दिया और वह मम्मी की गांड और चूत दोनों चाटने लगा मम्मी घोड़ी बनी हुई थी मगर कुछ नहीं कह रही थी और करण और साहिल उनकी जवानी का रस पी रहे थे जैसे ही करण मम्मी की चूत चाटने लगा, दोस्तो आज इस कहानी मे बस इतना ही आगे क्या हुआ कैसे फीर रिंकू अपनी मम्मी को चुदते हुये पकड़ता है ओर चुदाई करने को कहता है .

आप भी घर में ऐसी चुदाई करते हो तो बताना कोई इंटरस्टेड हो तो भी कमेंट जरूर भेजना घर में, अब आगे की स्टोरी अगले भाग मे जब तक के लिया आप के साथ भी कुछ ऐसा हुआ हो तो  बताना ।

Read More Sex Stories…3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *