By | April 3, 2023

Maa Bete Ki Chudai kahani 2: हैलो दोस्तो, मेरा नाम रिंकू है मेरी उम्र 21 साल है और मैं उत्तर प्रदेश के एक गाओं का रहने वाला हु मेरी ये कहानी मेरी मम्मी और मेरे बीच बने रिश्ते की है मेरी फॅमिली में हम 4 लोग है पापा मम्मी मैं और मेरा बड़ा भाई, मेरा बड़ा दिल्ली में जॉब करते है और पापा खेतो को सँभालते है और मैं शहर में रहकर पढ़ाई कर रहा हु।

ये भी पढे->> पिछला भाग 1 — मम्मी की हवस की आग मिटाई

Maa ki Chudai ki kahani

मेरी मम्मी का नाम रम्भा (बदला हुआ नाम) है और उनकी उम्र 42  साल है गाओं की भोली भाली और पूजा पाठ करने वाली औरत है अगर दोस्तो आपने अभी तक इस कहानी का भाग 1 नहीं पढ़ा तो यहा क्लिक करके आप भाग 1 पढ़ सकते है , चलो अब आपका जायदा समय कराब न करते हुये कहानी पे आता हु ।

करण बोला: करण – भाई तुम दोनों की मम्मी का बदन भी बहुत गदराया हुआ है और अगर कोशिश की जाये तो तुम दोनों भी अपनी मम्मी को चोद सकते हो, करण की बात सुनके मुझे और भी जयादा जोश आ गया फिर दिन ऐसे ही निकल गया और हम लोग अगले दिन का इंतजार करने लगे क्युकी अगले दिन करण की मम्मी आ रही थी 

फिर अगले दिन दोपहर को करण अपनी मम्मी को ले आया, तब मैं और साहिल कमरे पर ही थे जैसे ही करण की मम्मी आयी तो मेरी और साहिल की नज़र उन पर टिक गयी करण की मम्मी ने हलके नीले रंग की साड़ी और ब्लाउज पहना था जो उनके गोरे और गदराये बदन पर बहुत अच्छा लग रहा था, करण की मम्मी के बड़े बड़े बूब्स ब्लाउज से बहार आ रहे थे और हम दोनों के ही लंड खड़े हो चूक थे. Maa Bete Ki Chudai kahani 2

Maa ki chudai

फिर मैंने और साहिल ने आंटी के पेअर छुए और उन्हें नमस्ते कहा

मैं – नमस्ते आंटी कैसे हो आप?

करण की मम्मी – मैं ठीक हु बेटा और तुम दोनों कैसे हो और पढ़ाई कैसे चल रही है।

साहिल – हम लोग ठीक है आंटी और पढ़ाई भी सही चल रही है बस पेपर आने वाले है उसी की तैयारी चल रही है

फिर मैंने आंटी को पानी पिलाया करण ने मुझे वहा से जाने का इशारा किया ताकि वह अपनी मम्मी को चोद सके,

मैं – अच्छा करण हम दोनों चलते है कुछ काम से जाना है।

करण – अरे भाई कहा जा रहे हो? तुम कहो तो मैं भी साथ चलता हु (नाटक करते हुए)

मैं – अरे नहीं यार तू आंटी के साथ बाते कर हम दोनों काम निपटा के आते है 

फिर करण हम दोनों को बहार छोड़ने आया, 

करण – देखो भाई अभी 2 बज रहे है 6 बजे से पहले आना मत, 

मैं – भाई तेरी मम्मी कितनी सेक्सी लग रही है यार काश यार हम दोनों अभी उनकी चुदाई देख पाते,

करण – बहन के लोड़ो रात को देख लेना रात के लिए मैंने कुछ सोचा है तुम दोनों को पूरी चुदाई दिखा दूंगा,  बस अभी निकलो यहाँ से और 6 बजे तक दिखना मत, 

करण से बात करके मैं और साहिल बहार आ गए मगर मेरे दिमाग में तो यही चल रहा था की अब करण कैसे अपनी मम्मी को चोद रहा होगा। Maa Bete Ki Chudai kahani 2

Maa ki chudai ki kahani

मैं – यार साहिल करण के तो मज़े मे है साला अपनी ही मम्मी को चोद रहा होगा और हम दोनों बहार बैठे अपना लंड सेहला रहे है वैसे क्या करण की बाते सुनके तेरा भी मन है अपनी मम्मी को चोदने का, 

साहिल – सच कहु भाई तो मन तो मेरा भी हो रहा है सोच घर में ही चूत मिल जाये तो लड़के बहार क्यों जायेंगे और मम्मी की गर्मी भी शांत हो जाएगी।

मैं – हा भाई शायद इसीलिए करण की मम्मी भी मान गयी और अब वह खुल के करण से चुदवाती है वैसे भाई करण की मम्मी की गांड देखकर लग रहा था की करण उनकी गांड भी मरता है

साहिल – हा  भाई सच में कितनी मोटी गांड थी, फिर मैं और साहिल मूवी देखने निकल गए और पूरी दोपहर बाहर ही रहे फिर शाम को 6 बजे हम लोग वापस आ गए जब हमने गेट खटखटाया तो कुछ देर बाद करण ने आके गेट खोला, 

तब करण टी शर्ट और अंडरवियर में था और उसने हम दोनों को देखकर आँख मारी मैंने हलकी आवाज में करण से पूछा।

मैं – भाई हो गयी माँ की चुदाई या नहीं, करण ने मेरी बात सुनके अपनी 2 ऊँगली उठा दी यानी उसने 2 बार आंटी को चोदा था फिर उसने अपनी टी शर्ट उठा के दिखाई और मैंने और साहिल ने देखा की करण के सीने पर काटने के निशान पड़े थे, 

फिर हम दोनों अंदर आ गए और तभी करण की मम्मी अंदर वाले कमरे से बहार आयी और उन्होंने सिर्फ मैक्सी पहनी हुई थी आंटी ने बहार आते ही पूछा,  Maa Bete Ki Chudai kahani 2

करण की मम्मी – आ गए तुम दोनों चलो बैठो मैं चाय बनाती हु, फिर करण की मम्मी चाय बनाने लगी और मैं और साहिल उन्हें छुपी नज़र से देखने लगे फिर हम सबने चाय पि और उसके बाद आंटी खाना बनाने लगी और हम तीनो बाते करने लगे,

फिर रात के 9 बजे हम लोगो ने खाना खा लिया और खाना खाके मैं और साहिल बहार निकल आये और एक कोल्ड ड्रिंक लेके वापस घर आ गए और फिर आंटी ने कोल्ड ड्रिंक गिलास में निकाली और हम तीनो ने कोल्ड ड्रिंक पि ली मैंने आंटी को कोल्ड ड्रिंक पीने को कहा, तो उन्होंने मना कर दिया क्युकी ये करण का आईडिया था .

करण ने मुझे और साहिल को पहले ही बता दिया था की खाना खाके तुम लोग कोल्ड ड्रिंक लेके आना जिसमें करण की मम्मी एक गोली मिला देंगी, वह गोली विटामिन की होगी मगर करण ने अपनी मम्मी को बोल दिया था की ये गोली नींद की है जो वह मुझे और साहिल को दे देंगी और करण की मम्मी ने ठीक वैसे ही किया हमें कोल्ड ड्रिंक पिए 15 -मिनट हुए थे।

Maa ki chudai story

तभी मैं बोला, यार मुझे बड़ी नींद सी लग रही है मैं तो सोने जा रहा हु, 

साहिल -हा  भाई मुझे भी नींद आ रही है चल फिर सो जाते हैऔर फिर हम दोनों ने बिस्तर लगाया और हम दोनों लेट गए लगभग 10 -मिनट बाद करण ने हम दोनों को जोर से हिलाया मगर हम दोनों नाटक करते हुए लेटे थे, 

करण की मम्मी – बेटा लगता है गोली का असर हो गया दोनों सो गए है

करण – हा  मम्मी फिर देर किस बात की है चलो अब तो अपने कपडे निकाल दो वैसे भी कल सुबह तो आप चले जाओगे, 

करण अपनी मम्मी के पास गया और उनकी मैक्सी निकाल के साइड में फेक दी मैक्सी निकट ही करण की मम्मी सिर्फ ब्रा में आ गयी आंटी ने काली ब्रा पहनी थी जो उनके बूब्सो पर बहुत अच्छी लग रही थी और वह नीचे से पूरी नंगी थी।

तभी करण की मम्मी बोली, 

करण की मम्मी – अरे बेटा यहाँ नहीं अंदर कमरे में चलते है यहाँ मुझे तेरे दोस्तों के सामने अजीब लग रहा है।

करण – अरे मम्मी अब डरने की क्या जरुरत है? दोनों घोड़े बेच कर सो रहे है अब अगर मैं आपको इनके सामने भी चोद दू तो भी ये दोनों नहीं उठेंगे, करण ने ये बोलते ही अपनी मम्मी के होंठों को चूसना शुरू कर दिया और मैंने और साहिल ने देखा की करण की मम्मी भी उसके होंठों को चूस रही थी हम दोनों करवट लेके लेटे हुए थे ताकि हमारे खड़े लंड दिखाई न दे, 

अब करण के हाथ अपनी मम्मी के बूब्स को दबा रहे थे और करण की मम्मी के हाथ उसके बालो में घूम रहे थे उन दोनों को देखने से ऐसा लग रहा था जैसे दोनों माँ बेटे न होकर एक प्रेमी जोड़ा है, करण ने अपनी मम्मी के होंठों को चूसते हुए उनकी ब्रा के हुक खोल दिए और उसकी मम्मी ने खुद अपनी ब्रा निकाल के साइड में फेक दी, Maa Bete Ki Chudai kahani 2

करण और उसकी मम्मी ने लगभग 10 मिनट तक एक दूसरे के होंठों को चूसा, फिर वह दोनों अलग हो गए और अब करण का लंड खड़ा हो चूका था तभी उसकी मम्मी ने करण का लंड पकड़ लिया और उसे आगे पीछे करने लगी, 

Dost ki maa ki chudai

करण – मम्मी जब भी आपके इन रसीले होंठों को चूसता हु तो मैं तो जन्नत में आ जाता हु मन करता है बस इन्हे अपने मुँह में भर के चूसता राहू ,

करण की मम्मी – तो मैंने कब तुझे रोका है जब से आयी हु तब से मेरे होंठों को ही तो चूस रहा है कभी ऊपर के होंठों को चूसता है तो कभी नीचे के होंठों को, 

करण – अब क्या करू मम्मी? इनसे मेरा मन ही नहीं भरता है करण नीचे बैठ गया और अपनी मम्मी की बूब्स जैसे गोरी जांघो को अपनी जीभ से चाटने लगा, 

जांघो को चाट ते हुए वह चूत तक आ गया और फिर वह अपनी मम्मी की चूत पर जीभ फिरने लगा, करण की मम्मी सीधी खड़ी थी इसीलिए उनकी चूत खुली नहीं थी और करण ऐसे ही उनकी चूत चाट रहा था अपनी मम्मी की चूत चाटते हुए करण ने अपनी मम्मी की चूत का चमड़ा पकड़ लिया और उसे खींच खींच के चूसने लगा

तभी करण की मम्मी ने अपनी टांग उठा ली और करण की चूसने  से वह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह ममम उम्म्म करने लगी करण की मम्मी की आवाज बहुत ही कामुकता से भरी थी, करण की मम्मी को देखकर ये साफ़ पता चल रहा था की उन्हें कितना मज़ा आ रहा था और वह दोनों तो हम दोनों के होते हुए भी हमें भूल ही गए थे करण की मम्मी करण का सर पकड़ के अपनी चूत में दबा रही थी,  Maa Bete Ki Chudai kahani 2

करण की मम्मी – आअह्ह्ह्ह बेटा उम्म्म ऐसे ही रुकना मत बेटा अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहहकरण की मम्मी बाबत ही जयादा गरम हो गयी थी और वह करण का मुँह अपनी चूत पर दबा रही थी और करण भी जल्दी जल्दी अपनी मम्मी की चूत चाट रहा था करण काफी देर से अपनी मम्मी की चूत चाट रहा था और फिर कुछ ही देर में करण की मम्मी का पानी निकल गया।

जब करण की मम्मी का पानी निकला तो वह बिलकुल कांप सी गयी थी फिर उन्होंने आपने पेअर नीचे कर लिया और करण खड़ा हो गया, करण ने खड़े होते ही अपनी मम्मी के होंठों को चूसना शुरू कर दिया करण और उसकी मम्मी कुछ देर एक दूसरे के होंठों को चूसते रहे फिर करण की मम्मी नीचे बैठ गयी और उन्होंने करण का लंड आपने मुँह में ले लिया।

Sagi maa ki chudai

करण की मम्मी उसका लंड चूस रही थी और यहाँ मेरा लंड उन्हें देख देख के पागल हो रहा था करण की मम्मी उसके साथ पूरी तरह खुली हुई थी उन्हें देखकर लग रहा था की अब वह पूरी तरह खुल के आपने बेटे से चुदवाती है।

करण की मम्मी गप गैप करण का लंड चूस रही थी और फिर कुछ देर बाद करण ने उन्हें अपनी गोदी में उठा लिया और वह उन्हें अंदर वाले कमरे में ले जाने लगा, 

करण – मम्मी यहाँ की लाइट बंद कर दो ताकि ये दोनों आराम से सोते रहे,

करण की मम्मी ने लाइट बंद कर दी और बहार वाले कमरे में अब पूरा अंधेरा हो गया था और अंदर वाले कमरे में लाइट जल रही थी करण और उसकी मम्मी के अंदर जाते ही मैं और साहिल उठ गए और सीधे कमरे के पास चले गए अंदर का नज़ारा देखते ही मैं पागल हो गया,  करण नीचे गद्दे पर लेता हुआ था और उसको मम्मी की गांड दरवाजे की तरफ थी और वह करण का लंड चूस रही थी

करण की मम्मी जिस तरह झुककर करण का लंड चूस रही थी उससे उनकी गांड और चूत पीछे से बिलकुल खुली हुई दिख रही थी करण की मम्मी की चूत एक दम चिकनी थी और उनकी चूत का खुला हुआ छेद साफ़ दिख रहा था मन तो कर रहा था की अभी पीछे से जाके उनकी चूत में लंड डाल दू 

मगर मैं किसी तरह बर्दास्त कर रहा था करण अपनी मम्मी के बाल पकड़ के अपना लंड उनके मुँह में घुसा रहा था और उसकी मम्मी भी उसका लंड चूसने में कोई कसर नहीं छोड़ रही थी। Maa Bete Ki Chudai kahani 2

फिर जब कुछ देर बाद करण की मम्मी ने उसका लंड आपने मुँह से निकाला तो करण का लंड उसकी मम्मी के थूक से सना पड़ा था और करण की मम्मी का थूक उनके मुँह से टपक रहा था।

करण ने अपनी मम्मी के मुँह से निकलते थूक को चाट ते हुए उनके होंठों को चूसने लगा करण और उसकी मम्मी को देखकर लग रहा था जैसे मैं और साहिल कोई लाइव ब्लू फिल्म देख रहे है कुछ देर अपनी मम्मी के होंठों को चूसने के बाद करण बोलै।

करण – मम्मी जल्दी से घोड़ी बन जाओ और करण की बात सुनते ही उसकी मम्मी घोड़ी बन गयी फिर करण ने अपने हाथो से अपनी मम्मी की गांड को फैला दिया और अपना मुँह उनकी गांड के छेद पर लगा दिया करण अपनी मम्मी की गांड का छेद को चाट रहा था और उसकी मम्मी आपने होंठों को काट रही थी।

अब तो करण की मम्मी को देखने से पता चल रहा था की वह कितनी गरम हो चुकी है फिर करण ने भी देर नहीं की और अपना लंड मम्मी की चूत पर लगा दिया, 

Dost maa ki chudai dekhi

करण अपना लंड अपनी मम्मी की चूत पर रगड़ रहा था मगर वह उसे अंदर नहीं डाल रहा था तभी करण की मम्मी ने पीछे मूड के देखा करण की मम्मी की आँखों में लंड की तड़प साफ़ दिख रही थी, तभी करण ने अपनी मम्मी को कुछ इशारा किया और फिर करण की मम्मी ने नीचे से हाथ डाल के करण का लंड पकड़ लिया और उसे अपनी चूत में डालने लगी हलके हलके करण की मम्मी ने पूरा लंड अंदर डाल लिया, ।

फिर करण ने अपनी मम्मी की गांड को पकड़ा और धक्के लगाने शुरू कर दिए करण की मम्मी की चूत में जाता लंड मुझे और साहिल को साफ़ दिख रहा था और हम दोनों भी अपने अपने  लंड मसल रहे थे जैसे ही करण का लंड पूरा अंदर जाता तभी कमरे में कमरे में थप थप की आवाज गूंज ने लगती, और  करण अपनी मम्मी की आग अच्छे तरह से भूझा रहा था।

जो अब उसके पापा नहीं भुजा पाते  है करण की मम्मी के बूब्स हवा में झूल रहे थे और हर धक्के के साथ वह भी आगे पीछे हो रहे थे करण ने धक्के लगते हुए अपनी मम्मी के बूब्स को पकड़ लिया और उसने बहुत दम लगाके उसे मसल दिया, 

करण की मम्मी के मुँह से अह्ह्ह्ह अह्ह्ह निकलने लगी ये साफ़ पता चल रहा था की करण की मम्मी को दर्द हुआ था मगर इस दर्द का भी करण की मम्मी को मज़ा आ रहा था।

करण धक्के लगते हुए अपनी मम्मी के दोनों बूब्सो को जोर जोर से मसल रहा था और उसकी मम्मी अह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उम्म्म मममम कर रही थी कभी वह उनके बूब्स को मसलता तो कभी उनके निप्पल को जोर जोर से खींच लेता, 

करण ने अपनी माँ की चुदाई में कोई कस र नहीं छोड़ रहा था फिर करण ने अपना लंड बहार निकाल लिया और करण की मम्मी भी सीधी हो गयी फिर करण खड़ा हो गया और उसकी मम्मी ने अपनी चूत से लंड निकाला और मुँह में ले लिया, 

ये देखकर तो मेरा हलक सुख गया था करण ने अपनी मम्मी को पूरी तरह से पोर्न स्टार बना दिया था जैसे ब्लू फिल्म में हेरोइन लंड चाट के साफ़ करती है वैसे ही करण की मम्मी उसका लंड चाट चाट के साफ़ कर रही थी।

फिर कुछ देर बाद करण फिर से लेट गया और उसकी मम्मी उसके ऊपर आ गयी और करण ने अपना लंड उनकी चूत पर लगा दिया और उसकी मम्मी उसका लंड अंदर डालते हुए उसके ऊपर बैठ गयी फिर करण की मम्मी ऊपर नीचे होने लगी और करण उनकी गांड पकड़ के दबाने लगा, करण की मम्मी की चूत में जाता करण का लंड साफ़ दिख रहा था और करण अपनी मम्मी की गांड को पकड़ के अपने लंड पर मार रहा था.  Maa Bete Ki Chudai kahani 2

Maa ki chudai hindi

फिर करण की मम्मी करण के ऊपर बैठी बैठी उसके ऊपर झुक गयी और अब करण अपनी मम्मी के बूब्स चूसते हुए उनकी चुदाई कर रहा था कुछ देर बाद करण की मम्मी ने ऊपर नीचे होना बंद कर दिया, शायद उनके पेअर में दर्द हो रहा था तभी करण ने अपनी मम्मी को पीठ से पकड़ा और लंड डाले डाले  ही उन्हें नीचे कर दिया,

अब करण अपनी मम्मी के ऊपर था और वह उनके होंठों को चूसते हुए फिर से धक्के लगाना लगा करण की मम्मी सीई सीई आठ अहह कर रही थी और करण दना दन धक्के लगाए जा रहा था करण की मम्मी ने भी अपने पेअर करण की कमर में लपेट लिए थे 

और वह करण से बिलकुल चिपक गयी थी करण भी तेज तेज धक्के लगा रहा था करण और उसकी मम्मी को देखकर लग रहा था की अब वह दोनों चरम पर आ गए थे इसीलिए दोनों रुकना नहीं चाह  रहे थे फिर कुछ ही देर में करण की मम्मी का शरीर ढीला पढ़ गया और करण धक्के लगाता ही रहा और फिर कुछ देर बाद करण भी अपनी मम्मी से चिपक गया, 

अब  करण और उसकी मम्मी आँखे बंद किये उस पल का मज़ा ले रहे थे और वह दोनों एक दूसरे एक होंठों को चूस रहे थे कुछ देर बाद करण अपनी मम्मी के ऊपर से उठ गया और उसकी मम्मी अपनी टाँगे फैलाये हुई थी

जब करण अपनी मम्मी के ऊपर से हटा तो उसकी मम्मी की चूत साफ़ खुली खुली दिख रही थी जिसके अंदर करण का पानी हलके हलके बहार निकल रहा था  Maa Bete Ki Chudai kahani 2

करण की मम्मी उसे देखकर मुस्कुरा रही थी फिर करण अपनी मम्मी के बगल में लेट गया और उनके बूब्स को चूसने लगा उसकी मम्मी भी उसके बालो में हाथ फेर रही थी करण को उसकी मम्मी के साथ ऐसे देखकर मुझे करण से जलन हो रही थी काश करण की जगह मैं होता और मेरी मम्मी भी मुझे ऐसे ही प्यार करती ।

कुछ देर करण अपनी मम्मी के बूब्स चुस्त रहा फिर उसकी मम्मी बोली: 

करण की मम्मी – बेटा हैट तो जरा मैं पेशाब करके आती हु अपनी मम्मी की बात सुनके करण हैट गया और पेशाब वाली बात सुनके मैं और साहिल भी आके सोने का ड्रामा करने लगे फिर करण की मम्मी कमरे के बहार आयी और करण भी उनके साथ था 

Soti hui maa ki chudai

करण ने आते ही कमरे की लाइट जला दी जिससे कमरे में उजाला हो गया साहिल तो करवट लेके लेट गया मगर मैं करवट नहीं ले पाया जिससे मेरा खड़ा हुआ लंड साफ़ दिख रहा था।

फिर करण की मम्मी ने मुझे देखा और उनकी नज़र मेरे खड़े लंड पर गयी और वह करण को मेरा लंड दिखाने लगी, अब  करण भी मेरा लंड देखकर हसने लगा

तभी उसकी मम्मी बोली: 

करण की मम्मी – है है है बेटा लगता है रिंकू सपने में कुछ गन्दा देख रहा है 

करण – आपको कैसे पता मम्मी की ये गन्दा सपना देख रहा है

करण की मम्मी – बेटा इसका लंड देख कैसे पाजामे के अंदर से ही झटके मार रहा है इसे देखकर ही मुझे ये लगा वैसे ये सब मैंने तुझे भी करते देखा है तेरा भी लंड कई बार रात में ऐसे ही खड़ा रहता था।

करण -हा  मम्मी पहले रहता था जब मैं आपके सपने देखता था मगर अब तो मुझे सपने देखने की जरुरत ही नहीं पड़ती है आपने तो मेरा सपना हकीकत ही कर दिया है।

करण की बात सुनके उसकी मम्मी हसने लगी फिर वह दोनों बाथरूम में चले गए और करण भी अपनी मम्मी के साथ बाथरूम में चला गया शायद करण अपनी मम्मी को पेशाब करते देखना चाहता था, 

करण और उसकी मम्मी लगभग 15 -मिनट बाद बाथरूम से आये मैंने देखा करण की मम्मी उसकी गोदी से चिपकी हुई थी और करण का लंड फिर से खड़ा हो चूका था करण अपनी मम्मी को कमरे में ले गया,

अब करण और उसकी मम्मी के अंदर जाते ही मैं और साहिल फिर से उठके करण और उसकी मम्मी को देखने लगे करण ने अपनी मम्मी को नीचे लिटा दिया और खुद उनके ऊपर लेट गया।

वह दोनों फिर से एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे और फिर कुछ देर बाद करण की मम्मी खुद उसके सामने घोड़ी बन गयी और करण उनकी गांड के छेद को चाटने लगा, Maa Bete Ki Chudai kahani 2

Bete ne maa ki chudai ki

अब करण ने चाट चाट के अपनी मम्मी के गांड के छेद को गिला कर दिया था फिर उसने अपनी एक ऊँगली अपनी मम्मी की गांड में डाल दी फिर करण की मम्मी को ज्यादा फरक नहीं पड़ा,  बस उनके मुँह से सिर्फ सीई करके आवाज निकली और करण अपनी ऊँगली अंदर बहार करने लगा।

करण की मम्मी को देखकर लग रहा था की उन्हें भी इसमें मज़ा आ रहा था वैसे जल्दी कोई औरत अपनी गांड के छेद को छूने भी नहीं देती है मगर यहाँ तो करण की मम्मी को मज़ा आ रहा था।

शायद करण ने उन्हें इसका आदि बना दिया था कुछ देर ऊँगली करने के बाद करण उठ गया और उसने अपना लंड अपनी मम्मी की चूत में डाल दिया मुझे लगा था करण अपनी मम्मी की गांड मरेगा मगर वह फिर से अपनी मम्मी चूत मार रहा था ।

करण की मम्मी वैसे ही घोड़ी बनी हुई थी और करण उनकी गांड पर चढ़कर दना दन धक्के मर रहा था।, लगभग 10-मिनट चूत मरने के बाद करण ने अपना लंड निकाल लिया तब करण का लंड उसकी मम्मी की चूत के पानी से गिला हो गया था

फिर करण ने थोड़ा सा थूक हाथ में लिया और उसे अपने सुपडे पर लगा लिया और इस बार उसने अपनी मम्मी की गांड में लंड लगा दिया और हलके हलके आपने लंड अंदर करने लगा जैसे जैसे करण का लंड अंदर जा रहा था

वैसे ही उसकी मम्मी के मुँह अह्ह्ह अह्ह्ह करके आवाज निकल रही थी

करण की मम्मी – रुक जा बेटा रुक जा थोड़ा आराम आराम से मुझे दर्द हो रहा है 

करण – क्या मम्मी आपको अभी भी दर्द होता है? अब तक तो आपको इसकी आदत हो जनि चाहिए थी वैसे आपकी गांड अभी भी टाइट ही है 

Maa ki chudai stories

करण की मम्मी – बेटा आहहा मैं तो उम्म्म तुझे हमेशा कहती हु आगे अहह कर लिया कर मगर आठ तू तो मेरी अह्ह्ह मेरी गांड के उम्म्म के पीछे पड़ा रहता है।

करण – मम्मी जब भी मैं आपकी गांड की चुदाई करता हु ऐसा लगता है जैसे पहली बार कर रहा हु इसमें जो मज़ा है वह और कही न मिलता है करण ने हलके हलके पूरा लंड अंदर डाल दिया और फिर धीरे धीरे धक्के लगाने लगा आज मुझे पता चला की करण इतनी अच्छी चुदाई कैसे करता है और हर औरत को वह कैसे खुस कर देता है Maa Bete Ki Chudai kahani 2

क्युकी करण को चुदाई सीखाने वाली उसकी मम्मी है जिनकी चुदाई कर कर के करण इतना बड़ा खिलाडी बना है अब करण धक्के लगाए जा रहा था और उसकी मम्मी ‘ममम ओह बेटा करती जा रही थी, करण बीच बीच में अपना लंड बहार निकल के अपनी मम्मी की गांड को देखता था।

 जो करण के लंड की वजह से खुल गयी थी और अब करण का लंड बड़े ही आराम से अंदर जा रहा था कुछ देर बाद आंटी सीधी लेट गयी क्युकी उसकी मम्मी थक गयी थी।

फिर करण अपनी मम्मी की टांगो के बीच आ गया और उसने फिर से लंड अपनी मम्मी की गांड में डाल दिया और फिर से उनकी गांड मारने लगा,

अब करण बीच बीच में कभी चूत में लंड डाल देता तो कभी गांड में लंड डाल  देता था और करण की मम्मी इस चुदाई का पूरा मज़ा ले रही थी अब करण अपनी मम्मी की गांड मारते हुए उनकी चूत के दाने  को भी रगड़ रहा था जिससे उसकी मम्मी का पानी भी निकल गया था 

करण ने लगभग 20 -मिनट तक अपनी मम्मी को गांड मारी और उनकी चूत को रगड़ रगड़ के उनका भी पानी कई बार निकाल दिया फिर करण ने भी अपना पानी अपनी मम्मी की गांड में डाल दिया, 

अब करण और उसकी मम्मी दोनों हाफ रहे थे और दोनों ही पसीने पसीने हो गए थे फिर करण की मम्मी उसके सीने से चिपक गयी और उनके बूब्स चिपके हुए थे Maa Bete Ki Chudai kahani 2

Bete ne ki maa ki chudai

करण और उसकी मम्मी को ऐसे देखकर बहुत अच्छा लग रहा था, मैंने देखा की करण के अंदर सच में बहुत हवस भरी थी उसने दोहफर में 2 बार अपनी मम्मी को चोदा था और मेरे सामने भी उसने 2 बार अपनी मम्मी को चोदा था।

मगर करण को देखकर लग रहा था की वह अभी और चुदाई करना चाहता है वैसे भी रात का 1 बज चूका था 

फिर मैं और साहिल उसकी चुदाई देखकर वापस आपने बेड पर आ गए और सोने लगे करण अभी भी अपनी मम्मी के साथ था

आप भी घर में ऐसी चुदाई करते हो तो बताना कोई इंटरस्टेड हो तो भी कमेंट जरूर भेजना घर में, अब आगे की स्टोरी अगले भाग मे जब तक के लिया आप के साथ भी कुछ ऐसा हुआ हो तो  बताना ।

Read More Sex Stories…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *