By | April 3, 2023

Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5: हैलो दोस्तो, मेरा नाम रिंकू है मेरी उम्र 21 साल है और मैं उत्तर प्रदेश के एक गाओं का रहने वाला हु मेरी ये कहानी मेरी मम्मी और मेरे बीच बने रिश्ते की है मेरी फॅमिली में हम 4 लोग है पापा मम्मी मैं और मेरा बड़ा भाई, मेरा बड़ा दिल्ली में जॉब करते है और पापा खेतो को सँभालते है और मैं शहर में रहकर पढ़ाई कर रहा हु।

ये भी पढे-> पिछला भाग 1 मम्मी की हवस की आग मिटाई 4

हमारी वैबसाइट से चुदाई की मस्त कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे-> www.xstory.in

Maa Ki Chudai Ki Part 5

मेरी मम्मी का नाम रम्भा(बदला हुआ नाम) है और उनकी उम्र 42  साल है गाओं की भोली भाली और पूजा पाठ करने वाली औरत है अगर दोस्तो आपने अभी तक इस कहानी पिछला भाग  नहीं पढ़ा तो यहा क्लिक करके आप पिछला भाग पढ़ सकते है , चलो अब आपका जायदा समय खराब करते हुये कहानी पे आता हु ।

फिर से साहिल ने अपनी जीभ मम्मी की गांड के छेद पर लगा दी और अब करण और साहिल एक साथ मम्मी की चूत और गांड चाट रहे थे मम्मी झुकी झुकी आपने होंठों को काट रही थी।

Antarvasna maa ki chudai

करण बार बार बहार की तरफ देख रहा था जहा से मैं उन दोनों की पूरी चुदाई देख रहा था और अपनी ही मम्मी को ऐसे देखकर अपना लंड सेहला रहा था पीछे से मम्मी की चूत अच्छी तरह दिख रही थी।

करण ने मम्मी की चूत का निकला हुआ चमडे को खींच खींच के चूस रहा था करण और साहिल ने मिलके मम्मी को अंदर तक गरम कर दिया था बस वह अपने मुँह से नहीं कह रही थी। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

अगर मम्मी चुदाई में खुली हुई होती तो कब का करण का लंड पकड़ के अपनी चूत में डाल लेती।

Maa ki chudai kahani

मगर वह बस अपनी चूत और गांड को चटवा रही थी करण और साहिल ने मम्मी की गांड और चूत को चाट चाट के गीला कर दिया था फिर करण ने अपना लंड मम्मी की चूत पर लगा देता है और उनकी गांड को पकड़ के अपना लंड अंदर डाल देता है करण का लंड एक बार में सीधे अंदर घुस जाता है और फिर करण मम्मी की गांड को पकड़ के धक्के लगाने लगता है।

करण के हर धक्के के साथ मम्मी के बूब्स और उनका मंगलसूत्र दोनों हिल रहे होते है और कमरे में थप थप की आवाज के साथ साथ मम्मी की सिसकारी की आवाज भी आ रही होती है।

फिर साहिल मम्मी के पास आगे आ जाता है और उनके दोनों खाला की लड़की सबा की चूत फाड़ी लटके हुए बूब्स को मसलने लगा है फिर साहिल ने मम्मी को आगे से सीधा किया और खुद उनके नीचे लेट गया।

अब मम्मी के दोनों बूब्स साहिल के मुँह पर आ गए और एक बच्चे की तरह वह मम्मी के दोनों बूब्स चूसने लगा।

मम्मी और साहिल को देखकर ऐसा लग रहा था जैसे कोई गाये अपने बछड़े को बूब्स पीला रही हो और उसका बछड़ा चूस चूस के उसके बूब्स पे रहा हो अब करण अपने धक्को में कोई कमी नहीं छोड़ रहा था।

करण ने धक्के लगाते हुए एक जोर का थप्पड़ मम्मी की गांड पर मारा और मम्मी के मुँह से अह्ह्ह्हह की आवाज जोर से निकली मम्मी ने तुरंत पीछे मूड के करण को देखा और करण ने उन्हें देखकर स्माइल करने लगा।

इस बार जब मैंने मम्मी को देखा तो उनकी आँखों में मुझे गुस्सा नहीं बल्कि एक चुदासी औरत दिखाई दी जिसके होंठों पर तो न है मगर उसकी चूत भरपूर तरीके से लंड मांग रही थी।

करण मम्मी की चुदाई करते हुए उनकी गांड पर और थप्पड़ मारने लगा और मम्मी हर ठप्पा में मोअन और भी जयादा करने लगी कुछ देर और चुदाई करके करण ने अपना

थूक मम्मी की गांड पर टपका दिया और फिर करण अपनी ऊँगली मम्मी की गांड में डालने लगा।

जैसे ही करण की ऊँगली मम्मी की गांड में गयी मम्मी के मुँह से सीई करके आवाज निकली और फिर मम्मी ने पीछे मुड़ के देखा तो करण उन्हें देखकर हसने लगा तभी मम्मी करण को मना करने लगी।

मम्मी – बेटा प्लीज वह मत करो मुझे दर्द हो रहा है। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

करण – आंटी आपकी गांड देखकर तो लग रहा है अंकल ने अच्छे से इसे बजाय है तभी तो ये इतनी बड़ी हो गयी है।

Maa ki chudai story

करण मम्मी की गांड में ऊँगली करता रहा और मम्मी ऐसे ही झुकी रही करण और साहिल दोनों मिलके मम्मी को बड़े प्यार से चोद रहे थे, मम्मी ने कभी ऐसे चुदाई नहीं करवाई होगी जैसे साहिल और करण उन्हें चोद रहे थे।

फिर करण ने अपने धक्के तेज कर दिए और तभी मम्मी का बैलेन्स बिगड़ गया और वह साहिल के ऊपर लेट गयी।

साहिल का मुँह मम्मी के बूब्स के बीच घुस गया करण ये देखकर हसने लगा मम्मी तुरंत साहिल के ऊपर से उठने लगी मगर तभी साहिल बोला ।

साहिल – अरे आंटी उठने की जरुरत नहीं है बल्कि मुझे तो और भी जयादा अच्छा लगा जब मेरा मुँह आपके बड़े बड़े बूब्स के बीच आ गया था।

मम्मी ने साहिल की बात का कोई जवाब नहीं दिया और फिर साहिल ने खुद को थोड़ा और नीचे कर दिया और अब करण का लंड तो निकल ही चूका था इसीलिए साहिल ने लेटे लेटे अपना लंड मम्मी की चूत में डाल दिया और मम्मी की गांड पकड़ के आगे पीछे करने लगा।

साहिल मम्मी की गांड को जल्दी जल्दी आगे पीछे कर रहा था जिससे मम्मी के बूब्स हिल रहे थे मगर मुझे तो पीछे से उनकी गांड ही दिख रही थी और साइड से थोड़े से हिलते बूब्स दिख रहे थे फिर करण मम्मी के बगल में खड़ा हो गया और अपना लंड मम्मी के मुँह के पास ले गया।

मगर मम्मी ने अपना मुँह हटा लिया फिर करण बोला।

करण – आंटी मैं जनता हु आप अंकल का लंड भी चुस्ती होगी तो मेरे लंड में क्या कमी है? वैसे भी सिर्फ आज रात की तो बात है उसके बाद तो ये सब कभी नहीं होगा तो आज की रात आप हमें भी पूरा मज़ा दीजिये ना.

मम्मी ने कोई भी जवाब नहीं दिया मगर करण ने अपना लंड फिर से मम्मी के होंठों पर लगा दिया और मम्मी ने इस बार करण का लंड अपने हाथ से पकड़ लिया मगर अपने मुँह में नहीं जाने दिया। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

करण – चलिए आंटी मुँह में मत लीजिये मगर कम से कम अपने हाथ से तो इसको सेहला दीजिये,  हम तो उतने में खुस हो जायेंगे फिर अपनी कमर चलाते हुए मम्मी करण का लंड आगे पीछे करने लगी और ये देखकर मैं भी दांग रह गया की मम्मी अपनी इच्छा से करण का लंड आगे पीछे कर रही थी।

Maa ki chudai ki kahani

साहिल लेटा लेटा मम्मी की चूत के मज़े ले रहा था और करण मम्मी के हाथो से जन्नत का मज़ा ले रहा था करण का हाथ मम्मी के सर पर था और वह करण के लंड को आगे पीछे कर रही थी करण ने मम्मी के बालो के जुड़े को खोल दियाऔर मम्मी के लम्बे लम्बे बाल खुल के उनकी गांड तक आ गए अब मम्मी और भी जयादा हसीं लग रही थी।

करण – आंटी आप खुले बालो में और भी जयादा खूबसूरत लगती हो मुझे तो ताजुब होता है की अंकल आपको प्यार नहीं करते है अगर आप मेरी बीवी होती तो रोज कम से कम 3 बार आपको प्यार करता।

मम्मी करण के तारीफ भरे शब्द सुनकर अपना मुँह दूसरी तरफ कर लेती है और फिर मैंने देखा साहिल ने अपना हाथ मम्मी की गांड से हटा लिया था मगर अब मम्मी खुद अपनी कमर हलके हलके चला रही थी और साथ ही साथ वह करण का लंड भी आगे पीछे कर रही थी।

साहिल मम्मी के बूब्स और निप्पल मसलने लगा और मम्मी की चूत की गर्मी को शांत करने लगा, मम्मी बड़े प्यार से अपनी कमर चला रही थी तभी साहिल बोल पड़ा।

साहिल – आंटी आराम आराम से करो वरना मेरा पानी निकल जायेगा, साहिल के शब्द सुनके मम्मी ने अपनी कमर चलना बंद कर दिया जैसे की उन्हें होश आ गया हो मम्मी करण और साहिल को देखने लगी, Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

तभी करण ने मम्मी का हाथ पकड़ के उन्हें साहिल  के लंड के ऊपर से उठा लिया और मम्मी के उठते ही साहिल का लंड भी उनकी चूत के पानी से गिला पड़ा था मम्मी जैसे ही खड़ी हुई तभी करण ने उनके होंठों को चूसना शुरू कर दिया।

करण मम्मी के होंठों को चूसते हुए उनकी चूत में ऊँगली करने लगा शुरू में करण सिर्फ एक ऊँगली कर रहा था फिर उसने 2 ऊँगली मम्मी की चूत में डाल दी और जल्दी जल्दी अंदर बहार करने लगा,  मम्मी बार बार करण का हाथ पकड़ रही थी मगर करण कहा मानने वाला था वह वैसे ही ऊँगली करता रहा और फिर उसने मम्मी को दीवार से लगा दिया और उनकी एक टांग को ऊपर उठाने लगा।

Dost ki maa ki chudai

जिससे मम्मी का बैलेंस बिगड़ने लगा तभी करण बोलै।

करण – आंटी आप दीवार को पकड़ लो इससे आप नहीं गिरोगे, फिर मम्मी ने दीवार को पकड़ लिया और करण ने मम्मी की एक टांग को उठा लिया फिर उसने अपना लंड मम्मी की चूत में डाल दिया और फिर करण धक्के लगाने लगा करण का लंड मम्मी की चूत में जाता साफ़ दिख रहा था और करण के धक्के से मम्मी बूब्स और उनका मंगलसूत्र दोनों हवा में झूल रहे थे.

मम्मी की ऐसे चुदाई होते देखकर ऐसा लग रहा था जैसे मेरी मम्मी पोर्नस्टार और  एडम्स है और इस टाइम वह थ्रीसम करवा रही है जिसमें उन्हें बहुत मज़ा आ रहा है करण मम्मी की चुदाई में कोई कसर नहीं छोड़ रहा था और मम्मी भी एक टांग पर खड़ी खड़ी  अपनी चुदाई करवा रही थी ।

कुछ देर बाद चुदाई करवा के मम्मी ने करण का हाथ हटा दिया जो उनकी टांग पकडे हुए था शायद उन्हें दर्द हो रहा था इसीलिए करण ने भी उनकी टांग छोड़ दी और फिर वह ऐसे ही उनकी चुदाई करने लगा, फिर कुछ धक्के और लगाके करण ने अपना लंड निकाल लिया और फिर साहिल ने अपना लंड डाल दिया अब साहिल मम्मी की चूत चोद रहा था।

आज मम्मी भी सोच रही होगी की पहले एक लंड नहीं मिलता था मगर आज 2 लंड उन्हें एक साथ चोद रहे थे साहिल धक्के लगाए जा रहा था और करण अब आगे आके मम्मी से अपना लंड हिलवा रहा था और मम्मी भी बड़े प्यार से करण का लंड आगे पीछे कर रही थी।

करण और साहिल को मम्मी को चुदते चुदते  काफी टाइम हो गया था मगर वह थोड़ी थोड़ी देर चुदाई कर रहे थे इसीलिए उनका पानी नहीं निकल रहा था मगर मम्मी का पानी कई बार निकल चूका था मगर इस बार साहिल धक्के लगाते लगाते  खुद को रोक ही नहीं पाया और वह तेज तेज धक्के लगते लगाते लगाते सारा पानी मम्मी की गांड के ऊपर निकाल देता है।

अपना पानी निकलने के बाद साहिल गद्दे पर बेथ गया । Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

Desi maa ki chudai

करण – बहनचोद आंटी की गांड गन्दी कर दी साले इसे साफ़ कोन करेगा, तभी साहिल मम्मी की मैक्सी करण को फेक के देता है और करण मम्मी की मैक्सी से सारा पानी साफ़ कर देता है और फिर करण मम्मी को गद्दे पर ले आता है और उन्हें सीधा लिटा देता है और फिर करण मम्मी की टाँगे फैला देता है और जल्दी से आपने लंड डाल देता है और फिर करण मम्मी के ऊपर झुक कर धक्के लगाने लगता है और मम्मी अपनी आँखे बंद कर लेती है।

जब करण तेज तेज धक्के लगाने लगता है तो मम्मी उसके दोनों हाथ को पकड़ लेती है मम्मी मोअन कर रही होती है और करण उनके होंठों को चूसने लगता है कुछ देर धक्के लगाने के बाद मम्मी करण की पीठ पर हाथ रखकर उसे खुद से चिपका लेती है साहिल और मैं करण और मम्मी को ही देख रहा होता है मम्मी को ऐसे देखने से साफ़ पता चल रहा था की उनका पानी फिर से निकलने वाला है और कुछ ही धक्को के बाद मम्मी का पानी निकल जाता है।

वह करण को और भी जयादा कस के पकड़ लेती है करण भी अपनी कमर तेज तेज चलाने लगता है और कुछ ही देर बाद वह मम्मी की चूत में ही अपना पानी भर देता है और मम्मी से चिपक के लेटा रहता है।

करण और मम्मी की साँसे फूल रही होती है और फिर जब करण मम्मी के होंठों को चूसता  है तो मम्मी भी अपना मुँह खोल के करण के होंठों को चूसने लगती है करण और मम्मी लगभग 2-मिनट तक ऐसे ही लेते रहते है।

फिर दोनों बिलकुल शांत हो जाते है और तब करण मम्मी के ऊपर से उठ जाता है मम्मी की चूत करण का सारा पानी पि जाती है और थोड़ा बहुत पानी ही बहार निकलता है करण का लंड जैसे ही मम्मी की चूत से बहार आता है, मम्मी करण का लंड देखने लगती है क्युकी करण का लंड अभी भी थोड़ा खड़ा होता है जबकि साहिल का लंड सिकोड़ के छोटा हो चूका होता है।

फिर करण मम्मी की मैक्सी उठता है और उनकी चूत साफ़ करने लगता तभी साहिल बोलता है।

साहिल – साले तूने तो आंटी के अंदर ही पानी निकाल दिया कही ये माँ बन गयी तो क्या होगा?

करण – साले अपने बाप को ज्ञान मत दे आंटी ने पहले ही ऑपरेशन करवा लिया है इसीलिए उन्हें इसकी कोई चिंता नहीं है, करण की बात सुनके मम्मी और साहिल करण को देखने लगते है। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

साहिल – साले तुझे कैसे मालूम आंटी ने ऑपरेशन करवा लिया है।

करण – भाई जब मर्दो का पानी निकलने वाला होता है तो औरतो को पहले पता चल जाता है और वह पानी निकलने से पहले ही बोलने लगती है की अंदर मत निकालना और अगर गलती से पानी निकल भी जाता है तो तुरंत पेशाब करने चली जाती है मगर आंटी ने ऐसा कुछ नहीं किया।

Sagi maa ki chudai

मम्मी करण को ही घूर के देख रही थी और शायद वह यही सोच रही थी की करण औरतो के बारे में जयादातर हर बात जनता है और ये सच भी था क्युकी करण ने काफी औरतो को चोदा है ऊपर से सारा ज्ञान उसे अपनी माँ से मिला है इसीलिए वह हर वह बात जनता है जो एक औरत जानती है।

साहिल – मान गए भाई तुझे साला सच में तो बहुत बड़ा खिलाडी है।

करण – अब एक काम कर जल्दी से आंटी के लिए पानी लेके आ वह थक गयी है साहिल मम्मी के लिए पानी लेने आ गया और जल्दी ही वह पानी लेके कमरे में वापस चला गया फिर करण ने मम्मी को पानी दिया और मम्मी ने भी पानी पि लिया फिर पानी पि के मम्मी उठने लगी।

तभी करण ने उनका हाथ पकड़ लिया और उन्हें फिर से बिठा दिया और फिर करण उठा और साइड में जाके उसने अपने बाल काटने की मशीन और एक पेपर उठा लिया और उसे लेके मम्मी के पास आ गया।

साहिल – भाई ये बाल काटने का  क्यों लेके आया है? Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

करण – अरे भाई आंटी की झाटे बहुत बड़ी है उसे साफ़ कर देते है वरना अंकल तो इसे देखते भी नहीं है।

करण की बात सुनके मम्मी उठने लगी मगर साहिल ने उन्हें पकड़ लिया और फिर से लिटा दिया मम्मी साहिल से छूटने  की कोशिश करने लगी।

मम्मी – देखो तुम दोनों जो करना चाहते थे वह तुम तुम दोनों कर चुके हो अब बस मुझे जाने दो।

साहिल – अरे आंटी अभी तो एक ही बार हुआ है और देखो करण का लंड तो अभी भी शांत नहीं हुआ है आज तो आप ये समझो की आपकी सुहागरात है जो पूरी रात चलेगी और हम दोनों मिलके आपको पूरी रात सोने नहीं देंगे।

फिर करण ने नीचे पेपर बिछा दिया और मम्मी की टाँगे पकड़ के फैलाने लगा।

मम्मी – करण बेटा प्लीज मुझे छोड़ दो जो करना था तुमने कर तो लिया है और तब मैंने भी तुम्हे नहीं रोका अब तो मुझे जाने दो।

करण – जानता है साहिल शरीफ औरतो की यही बात सबसे अलग होती है की मज़े वह भी पुरे लेती है मगर दिखाती ऐसे है की उन्हें तो मज़ा ही नहीं आया जबकि अंदर से मन उनका भी लंड लेने को करता है।

Saa ki chudai dekhi

साहिल -हा  भाई तू सही कह रहा है थोड़ी देर पहले कैसे मेरे लंड पर अपनी कमर चला रही थी और तुझे भी कैसे खुद से चिपका लिया था मगर अब देख आंटी ऐसे बोल रही है जैसे इन्हे मज़ा ही नहीं आया हो।

मम्मी साहिल की बात सुनके नीचे देखने लगी और करण उनकी टाँगे फैला के बाल काटने की मशीन चलाने लगा मगर मम्मी उसका हाथ रोक रही थी तभी करण बोला: Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

करण – चलो आंटी हम दोनों आपको छोड़ देंगे बस आप अपने बेटे की कसम खाके बोल दो की अभी अभी जो आपकी चुदाई हुई है उसमें आपको मज़ा नहीं आया बस इतना सा काम कर दो।

करण की कसम वाली बात सुनके मम्मी सोच में पड़  गयी क्युकी अब वह झूठ नहीं बोल सकती थी क्युकी मज़ा तो उन्हें भी बहुत आया है जो मैंने खुद अपनी आँखों से देखा था मम्मी करण की बात का कोई जवाब नहीं दे रही थी।

करण – आंटी मैं जानता हु आप आपने बेटे की झूठी कसम नहीं खा पाओगे क्युकी दुनिया की कोई माँ ऐसा नहीं कर सकती है और सच तो ये है की आपको भी अपनी चुदाई करवाने में बहुत मज़ा आया है ।

तो अब आप पीछे क्यों हैट रही हो? अब तो आपको ये भी दिखा दिया की आपके बेटे को कुछ भी पता नहीं चलेगा फिर भी आप डर रहे हो अब आप डरना बंद करो और चुदाई का पूरा मज़ा लो।

करण ने मम्मी के सीने पर हाथ रखकर उन्हें लिटा दिया और साहिल मम्मी के बगल में बैठकर उनकी नाभि चाटने लगा और साहिल आपने दोनों हाथो से मम्मी की टाँगे फैला दी और अब करण बड़े ही प्यार से मम्मी की झाटे साफ़ कर रहा था।

सिर्फ 5-मिनट में करण ने मम्मी की झाटे साफ़ कर दी और अब मम्मी की चूत साफ़ साफ़ दिख रही थी मम्मी की चूत एक दम फूली हुई थी और उसके अंदर का गुलाबी पानी और भी जयादा अच्छा लग रहा था।

फिर करण ने सारे बाल पेपर में उठाके साइड में रख दिए और झुककर मम्मी की चूत चाटने लगा करण की जीभ मम्मी की गांड तक को चाट रही थी और कुछ देर चूत चाटकर करण ने मम्मी को घोड़ी बना दिया। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

Maa ki chudai hindi me

मम्मी भी बिना कुछ कहे करण के सामने घोड़ी बन गयी फिर साहिल करण की जगह आ गया और उसने फिर से अपना लंड मम्मी की चूत में डाल दिया और उन्हें चोदने लगा।

करण मम्मी के मुँह के पास आ गया और इस बार उसने अपना लंड मम्मी के मुँह में डाल दिया अब मम्मी बार बार अपना मुँह हटा रही थी मगर करण इस बार लंड डाल के ही माना।

फिर करण ने मम्मी का मुँह पकड़ा और अपना लंड अंदर बहार करने लगा अब मम्मी के 2 छेदो में लंड घुसे हुए थे 1  उनके मुँह में और 2 उनकी चूत में मगर मम्मी को देखकर लग रहा था की उन्हें इससे जयादा फरक नहीं पड़  रहा था।

इस बार साहिल ने भी अपनी सारी कसर निकाल दी वह मम्मी को बहुत जोर जोर से चोद रहा था जिससे मम्मी पूरी हिल रही थी फिर कुछ देर बाद करण ने अपना लंड बहार निकल लिया।

जो मम्मी के थूक से गिला हो गया था।

करण – आंटी सच में आप क्या लंड चुस्ती हो? अगर थोड़ी देर और चुस्ती तो मेरा तो निकल ही जाता।

फिर करण मम्मी के पीछे आ गया और अपना लंड मम्मी की चूत में डाल दिया और उन्हें चोदने लगा, करण ने मम्मी को चोदते हुए उनकी गांड में फिर से ऊँगली डाल दी और वह बार बार अपना थूक डालके मम्मी की गांड को गीला कर रहा था और साहिल मम्मी को अपना लंड चुसवा रहा था।

करण मम्मी की गांड को अपने थूक से गिला करता रहा और उनकी चुदाई भी करता रहा फिर करण ने अपना लंड मम्मी की चूत से निकाल लिया और फिर करण ने अपने लंड पर थूक लगाया और उसे मम्मी की गांड पर लगा दिया और अपनी गांड पर लंड का अहसास होते ही मम्मी ने साहिल का लंड मुँह से निकाल दिया।

मम्मी – नहीं बेटा वहा  नहीं प्लीज पीछे मत करो तुम चाहो तो आगे कर लो मगर पीछे मत करो।

करण – अरे आंटी कुछ नहीं होगा मैं बहुत आराम से करूँगा अगर आपको दर्द हुआ  तो आप मुझे बता देना वैसे भी गांड तो आप पहले भी मरवा चुकी होगी तो अब क्यों डर रही हो? Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

साहिल – भाई लगता है आंटी तेरे लंड की लम्बाई और मोटाई देखकर डर रही है हो सकता है अंकल का लंड छोटा हो क्यों आंटी सही कह रहा हु या नहीं?

Soti hui maa ki chudai

मम्मी ने साहिल की बात का कोई जवाब नहीं दिया मगर साहिल सच ही कह रहा था करण का कड़क और मोटा लंड पापा के लंड से बड़ा ही था फिर करण ने हलके हलके अपना लंड मम्मी की गांड में डालना शुरू कर दिया और जैसे ही करण का सूपड़ा थोड़ा सा अंदर गया मम्मी के मुँह से आह्हः करके आवाज निकलने लगी

मगर करण फिर भी नहीं रुका और हलके हलके उसने अपना पूरा सूपड़ा मम्मी की गांड में दाल दिया और फिर बिना धक्के लगाए ऐसे ही रुक गया।

 जब मम्मी नार्मल हो गयी तो फिर करण ने आपने लंड निकाल लिया और फिर से थूक लगाके उसे अंदर डाल दिया इस बार जब करण के लंड का सूपड़ा अंदर गया तो मम्मी को दर्द नहीं हुआ और

फिर करण ने हलके से थोड़ा और लंड अंदर डाल दिया और फिर थोड़ी देर रुक गया उसके बाद उसने फिर से वैसे ही किया और हलके हलके करके अपना पूरा लंड मम्मी की गांड में डाल दिया मम्मी को बीच बीच में थोड़ा दर्द हुआ था । Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

मगर अब मम्मी  करण का पूरा लंड अंदर ले चुकी थी और जैसे ही करण ने अपना लंड अंदर बहार करता तभी मम्मी की आह अहह सुनाई देती, जब करण का लंड अच्छे से अंदर फिट हो गया उसके बाद करण ने सही से धक्के लगाने शुरू कर दिए और मम्मी मोअन करने लगी।

करण अपने लंड से अच्छे से मम्मी की गांड की कुटाई कर रहा था और फिर कुछ देर मम्मी की गांड मारने के बाद करण ने अपना लंड निकाल लिया और इस बार करण का लंड मम्मी की गांड से निकले खून से सना हुआ था।

साहिल और मम्मी की नज़र करण के लंड पर ही थी जो मम्मी की गांड से निकले खून से सना हुआ था

फिर करण ने गंदे कपडे से अपना लंड साफ़ कर लिया और फिर वह जाके मम्मी के बगल में लेट गया और साहिल मम्मी के पीछे चला गया फिर करण ने मम्मी को अपने ऊपर खींच लिया और मम्मी भी आराम से उसके ऊपर आ गयी.

करण ने अपना लंड मम्मी की चूत में लगा दिया और फिर मम्मी करण के लंड पर बैठ गयी और करण का लंड मम्मी की चूत की गहराई में चला गया। Maa Ki Chudai Ki Part 5

Bete ne maa ki chudai ki

करण मम्मी की गांड पकड़ के आगे पीछे करने लगा और मम्मी भी बड़े आराम इस चुदाई का मज़ा लेने लगी।

फिर करण ने मम्मी को अपने ऊपर झुका लिया और उनके होंठों को चूसने लगा तभी साहिल ने मौका का फायदा उठाया और उसने अपने लंड पर थूक लगाके मम्मी की गांड में डाल दिया0.

मम्मी के होंठों को करण चूस रहा था इसीलिए मम्मी कुछ नहीं बोल पायी और अब मम्मी की चूत और गांड दोनों में लंड थे और फिर साहिल मम्मी की गांड में और करण मम्मी की चूत में धक्के लगाने लगे।

फिर जैसे ही करण ने मम्मी के होंठों को छोड़ा तो उनके मुँह से अब सिसकारी जयादा निकलने लगी।

मम्मी जयादा ही गरम हो चुकी थी और वह करण के सीने पर हाथ रखकर अपनी कमर खुद चलाने लगी अब मम्मी करण और साहिल का चुदाई में पूरा साथ दे रही थी और मेरे दोनों दोस्त मम्मी की गर्मी शांत कर रहे थे

कुछ देर बाद साहिल ने अपना लंड निकल लिया और मम्मी अभी भी करण के लंड पर अपनी कमर चला रही थी और करण मम्मी के दोनों बूब्स को मसल रहा था। Maa Bete Ki Chudai ki kahani 5

Antarvasna maa ki chudai

साहिल – भाई अब तो आंटी भी खुल के अपनी चुदाई करवा रही है देख तो तेरे लंड पर कैसे अपनी कमर चला रही है।

करण – भाई एक बार अगर तुम किसी औरत को गरम कर दो तो फिर वह भी सब कुछ भूल कर चुदवाती है कुछ देर अपनी कमर चलने के बाद मम्मी रुकने लगी मगर तभी करण नीचे से धक्के लगाने लगा और कुछ ही देर बाद मम्मी ने अपना पानी निकल दिया और फिर वह करण के सीने पर लेट गयी.

दोस्तो आज बस इस कहानी मे इतना ही , बाकी अगले भाग मे . 

आप भी घर में ऐसी चुदाई करते हो तो बताना कोई इंटरस्टेड हो तो भी कमेंट जरूर भेजना घर में, अब आगे की स्टोरी अगले भाग मे जब तक के लिया आप के साथ भी कुछ ऐसा हुआ हो तो  बताना ।

Read More Sex Stories..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *