By | April 15, 2023

Mami ki chudai :हैलो दोस्तों, मेरा नाम नेहा है, ये कहानी दो साल पहले की है. मेरा भांजा मेरे साथ ही रहता था. कई बार मैंने उसको फ़ोन पे पोर्न देखते हुए पकड़ा था. पर हर बार वहा पे मेरे सास-ससुर होते थे. इसलिए मैं डाट देती थी.

एक बार मेरे सास-ससुर गाव चले गए कुछ काम से कुछ टाइम के लिए और मेरे भांजे की पूरी ज़िम्मेदारी मुझपे थी. तभी अचानक लॉक् डाउन लग गया और अब मेरे सास-ससुर के वापस आने का भी कोई जल्दी नहीं था. मेरे हस्बैंड भी आउट ऑफ़ कंट्री फस्स गए थे. मेरी सेक्स की भूख बढ़ रही थी उनकी न होने में. एक दिन मैं और मेरा भांजा बैठे हुए बातें कर रहे थे.
फिर मैंने उसको डायरेक्टली पुछा-

Mami ki Chudai

मैं: तुम पोर्न वीडियो कोनसी साइट से देखते हो?

Mami ki chudai story

ये सुन के वो डर गया और बोला :

भांजा: आप कैसी बातें कर रही है. मैं ऐसा कुछ नहीं करता. आपको कोई गलत-फेहमी हुई है.

मैंने कहा : मुझे सब मालूम है. मुझे अपना फ्रेंड ही समझो. मैं तो तुम्हे सब के सामने डाटती हु इसलिए की कही उन्होंने देख लिया तो मुश्किल आ जाएगी. तुम मुझे सब बता सकते हो. चिंता मत करो.

मैं किसी को कुछ नहीं बताउंगी.फिर वो थोड़ा रिलैक्स हो गया. उसने मुझे साइट खोल के दिखाई.

मैंने उससे कहा: चल कोई वीडियो साथ में देखते है.पहले तो वो थोड़ा हिचकिचा रहा था पर बाद में वो मान गया. फिर हमने साथ में एक नंगी पोर्न वीडियो देखि. हम दोनों अब एक्ससिटेड हो चुके थे. पर ये सब धीरे-धीरे आगे बढ़ने के लिए मैंने अपने को वही स्टॉप कर दिया.

Mami ki chudai ki kahani

मैं वहा से उठी और उसके गाल पे एक किश देके अपने रूम में आ गयी. अपने रूम में आके मैंने अपना रूम लॉक किया और फिर मस्टुर्बते किया.

अगले दिन मैंने इस कहानी को आगे बढ़ने के लिए और अपने भांजे के दिल को टटोलने के लिए एक चाल चली.

मैंने उसको अपने रूम में बुलाया और बोली –
मैं: मेरी बॉडी पैन हो रही है बहुत प्लीज तुम मेरी कमर दबा दो.

वो तो जैसे मेरे पास आने का इंतज़ार ही कर रहा था. फिर वो आया और मेरे बेड पे बैठ गया और

उसने मेरी कमर दबानी शुरू की. कुछ देर बाद उसके हाथ मेरे बूब्स की तरफ आने लगे.
मैं समझ गयी की आग लग चुकी थी. मैंने फिर उसको भेज दिया और कुछ नहीं कहा. 3

Desi mami ki chudai

अगले दिन मैंने सर में दर्द का बहाना बनाया. उसने मेरे सर को अपनी गोद में रख लिया और फिर सर दबाते-दबाते वो मेरे बूब्स को टच करने की कोशिश कर रहा था. तभी मैंने उससे पुछा: क्या चाहते हो तुम?

पहले तो मेरी बात सुन कर वो थोड़ा डर गया. उसको लगा की उसकी पोल खुल गयी थी.

फिर उसने बोला: कुछ नहीं.

मैंने कहा: जो कर रहे हो वो पूरा करो अब.

अब वो बोला : क्या करू मैं. मैं समझ गयी की वो थोड़ी एक्टिंग कर रहा था. फिर मैंने कहा :

मैं: टच कर लो मुझे.
वो बोला : कहा टच कर लू?

Mami ki chudai hindi

मैंने कहा: जहा भी तुम्हारा मन हो. बस मेरे इतना कहने की देर थी की

वो पूरा मेरे बूब्स पे हाथ फेरने लगा और मेरे बूब्स को दबाने लगा.

मुझे बहुत अच्छा लग रहा था. बहुत दिनों बाद कोई मेरे बूब्स को दबा रहा था और चूस रहा था.

फिर मैंने अपने कपडे उतार दिए और उसके भी.अब हम दोनों नंगे थे. उसने मुझे मेरी चुत को चूसा . मैं तो जैसे सातवे आसमान में थी. वो लगातार मेरी चुत चूसता रहा. उसका लंड भी बड़ा हो चूका था. मैं उसने लंड को धीरे-धीरे मसल रही थी.

फिर मैंने अपने मुँह में उसका लंड पूरा ले लिया. उसने मुझे मेरे मुँह पे किश किया. फिर उसने मेरे बूब्स पे अपना लंड रगड़ा.
मैं तो जैसे हवा में थी.

Mami ki chudai stories

फिर उसने धीरे से अपनी दो ऊँगली मेरी चुत में घुसा दी और ज़ोर-ज़ोर से अंदर-बाहर करने लगा. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. वो भी पूरा गरम हो चूका था. मुझे आज बहुत दिनों बाद चुत फटने का मज़ा मिल रहा था. फिर उसने अपना लंड मेरी चुत के लिप्स पे रख दिया.

मैंने उसको उसका लंड मेरी चुत पर रगड़ने को कहा. उसने बहुत देर तक अपने लंड को मेरी चुत पे रगड़ा. मैं तड़प रही थी अब लंड को अपने अंदर लेने के लिए. फिर मैंने उसको कंडोम दिया जो मैं पहले ही अपने बैडरूम से ले आयी थी.

मैंने उसको वो पहनने को कहा. अब उस कंडोम को पहन के वो मेरी चुत में अपना लंड घुसाने जा रहा था.

एक बार तो मेरी चीख निकली पर बहुत मज़ा आया. उसने अपने लोडे को मेरी चुत के अंदर बाहर किया और हम दोनों एक साथ ओर्गास्म पे पहुंचे. उसके बाद हम दोनों ने कई रातें ऐसे ही गुजारी. हम दिन में कई बार सेक्स करते थे.

वो कभी-कभी किचन में आके मेरे पीछे से अपने लंड को रगड़ता था और बूब्स को सहलाता था. मुझे अपने हस्बैंड की फीलिंग आ रही थी उससे. उसके बाद वो मुझे चोदने के नए-नए तरीके ढूंढने लगा. हमने रोलप्ले भी किया. हमने घर में पति पत्नी की तरह सुहागरात भी की.

Mami ki chudai ki story

मैंने अपनी सारी हवस निकाल ली उसके साथ. हम दोनों क्यूंकि घर में अकेले थे तो कई बार मैंने उसको अपने साथ नहलाया भी. हम दोनों एक साथ बहुत पोर्न देखते थे, रात में एक-दुसरे के खूब मज़े लिए. वो जब मेरे बूब्स दबाता था तो मुझे जन्नत की ख़ुशी मिल जाती थी. इतना अच्छा सेक्स मुझे मेरे पति से कभी नहीं मिला.

मेरे पति तो हमेशा मुझसे पहले ही झड जाते है और फिर उनका दोबारा सेक्स में मन नहीं होता. मेरे भांजे के बारे में सोच कर आज मेरे बूब्स हार्ड हो जाते है. हम नंगे भी घूमे घर में.

लेकिन लॉक डाउन खुलते ही मेरे सास-ससुर के आने की खबर आ गयी और हमने एक-दुसरे से अलग होने के गम में एक पूरी रात ड्रिंक करके सेक्स किया. मैं बता दू की मेरा भांजा 22 साल का था और मैं 44 की तब.

आपको ये कहानी कैसी लगी प्लीज कमेन्ट करके ज़रूर बताये क्युकि आपके कमेन्ट से हमे पता लगता है की आपको कहानी कैसी लगी.

हमारी वैबसाइट से चुदाई की मस्त कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे-> www.xstory.in

Read More Sex Stories…….

One Reply to “मामी की प्यासी चुत Mami ki Chudai”

  1. Pingback: मेरा बेटा मेरा दीवाना Maa bete ki chudai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *