By | May 22, 2023

Purani Chudai ki Kahani: हैलो दोस्तो, जैसा की आपने अभी तक पढ़ा के मालकिन टाइटस से चुद रही थी.

मुझे बहुत बुरा लगता था क्युकी मैं टाइटस से प्यार करती थी, वह कभी कभी मुझे टाइटस की नज़रो में भी नज़र आता था.

लेकिन एक्चुअल में वह प्यार मुझे राजकुमारी के अंदर नज़र आ रहा था.

अब आगे.
राजकुमारी से हुए मेरे लास्ट इंसिडेंट को लगभग 2 महीने हो चुके थे. और उनके होने वाले पति अभी भी जंग पर ही थे. तो वह मुझसे मिलने फिर आ गयी. इस बार भी जैसे मैं उनके कमरे में गयी तो उन्होंने मुझे दबोच लिया. मैं उनको समझ तो गयी थी के वह लेस्बियन है. उनको लड़कियां अच्छी लगती है. इसलिए उन्होंने मुझे अपनी रंडी बना लिया है. मुझे भी मज़ा तो आता था उनके साथ सेक्स करने में.

Purani Chudai ki Kahani

लेकिन मुझे पसंद तो लड़के ही थे. इसलिए जब उन्होंने मुझे पकड़ा और किश करना स्टार्ट कर दिया. मैंने किश में भी खास रिस्पांस नहीं दिया.

फिर सीधा उनकी चुत चाटनी स्टार्ट कर दी. जैसे की मैं एक रंडी हु और अपने कस्टमर को खुश कर रही हु, तो राजकुमारी को भी लगने लगा के मैं ये बस उनको खुश करने के लिए कर रही हु. तो उन्होंने मुझे फिरसे किश करना स्टार्ट कर दिया और अपने कपडे उतार कर अपने चुचो को मेरे चुचो से मिला दिया. मैंने तब भी अच्छा रिस्पांस नहीं दिया किश में. तो तब वह बोल पड़ी “क्या हो गया है तुझे निमेरिअ. तेरे अंदर का स्पार्क ख़तम सा हो गया है. क्या तुझे मैं अच्छी नहीं लगती क्या?”

मैं: कैसी बात कर रही है राजकुमारी? आपकी सेवा करना मेरा धर्म है और मैं तो आपकी दासी हु.

मिश्रा: देख मैं तुझे कुछ बताना चाहती हु. लेकिन ये बात अगर यहाँ से बहार गयी तो तू सूली पर लटकी हुई दिखेगी.

मैं: नहीं नहीं राजकुमारी मैं किसी को नहीं बताउंगी. Purani Chudai ki Kahani

Raja ne Rani ko choda

मिश्रा: ठीक है. तो सुन मुझे लड़किया पसंद आती है मर्द नहीं. तू मुझे बहुत अच्छी लगती है. और सबसे इम्पोर्टेन्ट बात तो ये है के तुझे आज तक किसी मर्द ने छुआ भी नहीं है.

मैं: राजकुमारी आपकी ये दासी आपकी हर्र ख्वाहिश पूरी करने के लिए तैयार है. लेकिन मैं आपसे प्यार नहीं कर सकती.
मिश्रा: तो वैसे भी तुझे ज़िन्दगी भर वर्जिन ही रहना है अपनी मालकिन के लिए. तू मेरे साथ ही रहना. मेरी शादी पर मैं तुझे मे गिफ्ट मांग लुंगी तेरी मालकिन से, यार मैं तुझसे प्यार करती हु.

मैं: माफ़ करना राजकुमारी भले ही मुझे पूरी ज़िन्दगी मर्द न मिले. लेकिन मेरी पसंद औरत नहीं हो सकती.

मिश्रा: तू क्या चाहती है अच्छा ये बता?

मैं: राजकुमारी मैं तो एक गुलाम हु. मैं क्या चाह सकती हु.

मिश्रा: अब मुझे अभी के लिए ये समझ ले की मैं तेरी सहेली हु राजकुमारी नहीं हु और बता क्या चाहती है तू.

मैं: मैं आज़ाद होना चाहती हु. शादी करना चाहती हु और बच्चे पैदा करना चाहती हु.

मिश्रा: ये तो हो ही नहीं सकता और कुछ बता जो हो सकता हो.

मैं: राजकुमारी आपको बुरा लग जायेगा.

मिश्रा: कोई बात नहीं बता दे.

मैं: मैं भी महल की और नौकरनिओ की तरह हर मर्द से चुदना चाहती हु.

मिश्रा: मतलब तू रंडी बनना चाहती है.

मैं: उसमे कम से कम चुदने को तो मिलेगा.

मिश्रा: तुझे मेरे साथ मज़ा नहीं आता क्या?

मैं: राजकुमारी आप नहीं समझ रही है. मुझे मर्द पसंद है और मुझे अपनी चुत की प्यास लंड से बुझानी है.

मिश्रा: ये भी कभी नहीं हो सकता और हाँ ये बात मैं बताउंगी नहीं किसी को बेफिक्र रह.मैं वापस उनकी चुत चाटने लगी. तभी वह हट गयी और रोने लगी. मैं उनको चुप करने लगी. फिर उन्होंने मुझे बताया के वह मेथियस (राजकुमारी के होने वाले पति) से या किसी भी मर्द से शादी नहीं करना चाहती.क्युकी उनको लड़किया पसंद है. Purani Chudai ki Kahani

Bahu Rani Ki Chudai Purani


फिर उन्होंने मुझसे चिपटकर बोली के उनको मेरे साथ ऐसा लगा के जैसे उनका खोया हुआ प्यार मिल गया हो. तो वह मुझसे प्यार करने लगी थी और मैंने भी उनको ऐसे ही छोड़ दिया. मैंने कुछ नहीं बोला और फिर उनको सही किया और फिर बहार आ गयी जैसे ही मैं बहार आयी तो टाइटस मालकिन को चोदकर निकल रहा था.

मेरी और टाइटस की नज़रे मिली एक पल को और फिर वह दूसरी तरफ चला गया और मैं दूसरी तरफ तभी मेरे दिमाग़ में एक आईडिया आया. मेरे दिमाग़ में आया क्यों ना टाइटस से चुदवा लिया जाए कोई मेरी चुत चेक तो करेगा नहीं तो मैंने इस प्लान को अंजाम देने के लिए स्टोर रूम में मालकिन की कोई चीज़ लगा दी.

राजकुमारी चली गयी अगले दिन बिना मुझसे कोई बात किये और फिर मैंने अपने प्लान को अंजाम दिया और एक सिपाही को बोल दिया के टाइटस को स्टोर रूम में भेज दें काम के लिए और फिर आकर मालकिन से उसी चीज़ पर बात छेड़ दी. तो मालकिन ने उसको स्टोर रूम से निकलवाने के लिए बोल दिया . उस काम में काफी देर लगनी थी तो मालकिन ने मुझे जल्दी जाने के लिए बोल दिया.

मैं वहा पर पहुंची और टाइटस भी आ गया. तो मैंने उसको अंदर लिया और दरवाज़ा बंद कर लिया.
टाइटस जैसे ही मुझसे पूछने आया मैं उस पर टूट पड़ी और उसके ऊपर चढ़कर उसको किश करने लगी.

लेकिन उसने मुझे एकदम अपने से अलग कर दिया. और बोला…

टाइटस: ये क्या कर रही है तू? मरवाएगी क्या मुझे?

मैं: टाइटस मैं तुमसे बहुत प्यार करती हु. प्लीज मेरे साथ सेक्स कर लो.

टाइटस: अगर किसी को भी बहार पता लग गया तो मेरा सारे बाजार लंड काटकर भीख मंगवाएंगे ये.

मैं: मैं तो किसी को बताउंगी नहीं अब तुम देखो.

टाइटस: मेरी गांड फट रही है तू ये सब बोल रही है तो.

मैं: डरने की ज़रूरत नहीं है. ये बताओ तुम भी मुझसे प्यार करते हो ना.

टाइटस: मैं तो शुरू से ही चोदना चाहता था अगर. Purani Chudai ki Kahani

Rani ki chudai ki kahani

रातो को तुझे इमेजिन करके ही हिलाता था और यहाँ तक की किसी और लड़की को चोदता था. तब भी तुझे इमेजिन करता था.
अगर इसको ही प्यार बोलते है तो हाँ मैं प्यार करता हु तुझसे. मैंने फिर से उसके होंठो को अपने होंठो से मिला दिया. अब वह तो मेरे होंठो को पूरी तरह से चूस रहा था. मेरे मुँह में अपनी जुबां डाल रहा था.

मैं भी वैसे ही पशनातेली उसको किश कर रही थी. उसने फिर किश करते करते ही मेरे कपडे निकाल दिए और मुझे नंगी कर दिया.

फिर मेरे चुचे दबाने लगा. पहली बार किसी मर्द का स्पर्श मेरे बदन को मिल रहा था मेरी चुत गीली हो चुकी थी और मेरे निप्पल्स बहुत टाइट.

मेरी टाँगे कापने लगी थी डर के मारे. लेकिन टाइटस ने मुझे अपनी गोद में उठाया और मैंने भी अपनी टांगो को उसकी कमर पर लपेट लिया.

उससे चिपटकर उसके होंठो का रसपान करने लगी. फिर काफी देर तक टाइटस ने मुझे चूसने के बाद मुझे चावलों की बोरी के ऊपर बैठा दिया. मेरी टाँगे खोलकर मेरी चुत चाटनी स्टार्ट कर दी. मैं तो एकदम सातवे आसमान पर पहुंच गयी. मेरे मुँह से अपने आप मोअन निकलने लगी. “आह टाइटस चुसो मेरी चुत को.”टाइटस ने तभी मेरे मुँह पर अपना हाथ रख दिया. मैं उसकी उसकी मोटी मोटी उंगलिया चूसने लगी.

वह मेरी चुत में अपनी जुबां लहरा रहा था जिससे मुझे असीम आनंद की प्राप्ति हो रही थी. मुझसे रहा नहीं गया और मैं झड़ गयी. फिर वह उठा और उसने अपने कपडे उतार दिए और मेरे सामने नंगा हो गया. मैं निचे उतरने लगी उसका लंड चूसने के लिए.

तभी उसने मुझे मेरे कंधो से पकड़ लिया और फिर से एक जोरदार चुम्मा दिया. फिर उसने अपने लंड पर थूका और उसको घिसना स्टार्ट कर दिया. Purani Chudai ki Kahani

Raja Rani ki chudai hindi mein

और फिर जब चिकना हो गया तो उसने मेरी चुत पर लगा दिया. उसको पता था के मैं चिल्लाऊंगी.

तो उसने मुझे लिटाया और खुद मेरे ऊपर आ गया और फिर लंड मेरी चुत पर लगाया उसने मुझे किश करना स्टार्ट कर दिया और निचे से अपना लंड मेरी चुत में घुसाना भी. थोड़ा ही लंड गया था की मेरी हालत ख़राब होने लगी.मुझे दर्द होना स्टार्ट हो गया था. मेरे दोनों हाथ के नाख़ून टाइटस की पीठ पर निशान बना रहे थे, टाइटस हलके हलके अंदर डालता फिर बहार निकालता. इस तरह से करते करते पूरा लंड मेरी चुत में चला गया.

मेरी आँखों से आंसू निकले जा रहे थे. मुझे बहुत ज़्यादा दर्द हो रहा था. मैं मन ही मन में सोचने लगी थी के आज बच जाओ आगे नहीं करुँगी कभी भी. फिर टाइटस मेरे ऊपर से हट गया और मेरा मुँह भी खली छोड़ दिया. मैं उसको बोलने:

मैं: “टाइटस मुझे बहुत दर्द हो रहा है. प्लीज जाने दो मुझे”

टाइटस: अरे पहली बार वर्जिन चुत मारने के लिए मिली है. ऐसे कैसे जाने दू. नहीं तो फटी हुई चुत ही मिलती है.

मैं: प्लीज टाइटस तुम्हारा लंड बहुत मोटा है. मेरी चुत फट रही है इसको लेने में देखो खून भी निकल रहा है.

टाइटस: तेरी सील टूटी है इसलिए निकल रहा है आगे मज़ा आएगा बस तू मुझे मज़े दे अभी. मैं फिर चुप हो गयी. उनसे मेरी टाँगे ऊपर उठा ली और फिर मेरी चुत में दोबारा लंड डाल दिया. मेरा फिर से दर्द से बुरा हाल होने लगा. मैं छटपटाने लगी और उसकी पकड़ से दूर जाने लगी लेकिन उसने मेरी टाँगे पकड़ रखी थी. Purani Chudai ki Kahani

Purani Chudai ki Kahani

मैं चिल्ला तो नहीं पा रही थी लेकिन मेरे आंसू नहीं रुक रहे थे और टाइटस मेरी चुत को बुरी तरह से चोद रहा था.
पहले तो मैं सोचती थी के टाइटस मुझे ऐसे ही चोदे लेकिन उससे चुदकर पता लग रहा था के कितना दर्द होता है.
फिर वह ज़्यादा देर तक नहीं टिक पाया मेरी टाइट चुत की वजह से और मेरे पेट पर झड़ गया.

जब वह झड़ा तो मुझे थोड़ा आराम आया. मैं फिर तभी उठी और अपने आपको साफ़ किया और फिर बहार आ गयी.
मुझसे सही से चला नहीं जा रहा था. मुझे अभी भी बहुत दर्द हो रहा था.

मैं किसी वैद के पास भी नहीं जा सकती थी नहीं तो उसको पता लग जाता के मैं वर्जिन नहीं रही हु.

तो आगे क्या हुआ ये पता लगेगा अगले भाग 7 में. तब तक के लिए. धन्यवाद!

इस कहानी का पिछला भाग पढ़ने के लिए:—>दरबारियों ने की प्रिंसिस की चुदाई 5

हमारी वैबसाइट से चुदाई की मस्त कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे-> www.xstory.in

Read More Sex Stories…..

3 Replies to “दरबारियों ने की प्रिंसिस की चुदाई 6”

  1. Pingback: दरबारियों ने की प्रिंसिस की चुदाई 6 Puranii Chudai ki Kahani

  2. Pingback: ट्रिप पर निकाली मम्मी की चुदाई की हवस Badi Mummy ki chudai

  3. Pingback: ना चाहते हुये भी माँ को चोदना पड़ा Mummy ki chudai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *