By | May 22, 2023

Raja Rani Ki Chudaii: हैलो दोस्तो पिछली कहानी मे आपने पढ़ा के कैसे मैं बहुत चुदासी हो गयी. मैं रात में अपनी चुत में ऊँगली करने लगी, तभी एला ने मुझे देखा और फिर मैंने एला के साथ लेस्बियन सेक्स किया.
अब आगे.

मैं सुबह में उठी वाशरूम गयी नहा रही थी के टाइटस भी नहाने आ गया, जैसे ही वह मेरे सामने नंगा हुआ मेरी तो हालत फिर ख़राब होने लगी.

Raja Rani Ki Chudaii

मैं फिर से गरम हो गयी थी, टाइटस का लंड वैसे भी मुझे देखते ही खड़ा हो जाता था, तभी टाइटस का एक साथी आया।

साथी: आज अपना लंड कण्ट्रोल में रखना, रोम की राजकुमारी यानी मिश्रा आ रही है.

टाइटस: क्या बात कर रहा है दो सगी बहनो ने अपने पापा का लंड लिया और माँ बनी, मैंने सुना है वह बहुत खूबसूरत है.

साथी: अरे परी है परी . Raja Rani Ki Chudaii

Raja Rani ki chudai

उसके लिए राजकुमार अपने राज्ये छोड़ दे, टाइटस: ऐसी लड़कियो को चोदने में कितना मज़ा आएगा.

साथी: अबे आराम से बोल.

किसी ने सुन लिया ना तो तेरा ये लम्बा लंड काटकर लटका देंगे, तभी मैं नहाकर बहार निकल आयी लेकिन बहार आकर खड़ी हो गयी फिर उनकी बाते सुनने लगी.

टाइटस: बहनचोद कैसे शांत करू इसको, सुबह से बैठ ही नहीं रहा है ऊपर ये मालकिन की बाँदी आ जाती हैऔर हमारे सामने रहती भी नंगी है तो बहन चोद कैसे मैं न हो इसको चोदु।

साथी: अबे अब देखले किसी और लड़की को पकड़कर चोद ले. इसको शांत कर लेकिन, रिस्का मेरे साथ ही नहाने गयी थी.

टाइटस ने उसको पकड़ा और उसको चोदना स्टार्ट कर दिया, मुझे काफी ग़ुस्सा आ रहा था रिस्का के ऊपर, मैं एक बात से तो खुश थी के टाइटस का मुझे देखते ही लंड खड़ा हो जाता है. फिर राजकुमारी के आने की तयारी होने लगी.

Rani ki chudai story

फिर जब राजकुमारी आयी तो उनका हमने फूलों से स्वागत किया, राजकुमारी सच में बहुत सुन्दर थी.

मेरी नज़रे उनके ऊपर से नहीं हट रही थी. सच में वह कोई परी ही थी, अस्तपार में खेल होते थे हर साल जिसके अंदर तीरंदाज़ी नाच गाना और लड़ाई होती थी. लड़ाई 2-3 ग़ुलामो में करवाते जो ज़िंदा बचता था उसको आज़ाद कर दिया जाता था.

राजकुमारी वह खेल ही देखने आयी थी. वह खेल अगले दिन होने वाले थे. तो राजकुमारी के लिए अलग एक कमरा सजाया गया और मालकिन ने मुझे ही उनके पास रुकने के लिए बोला. उनके सारे काम मैं ही कर रही थी. उनको नहलाना कपडे पहनना या उनका श्रंगार करना. वह तो पूरा दिन ऐसे ही गुज़र गया. रात में मैं और राजकुमारी कमरे में अकेले थे. तो वह मुझे बाते करने लगी.

मिश्रा: मैंने सुना है तुम अब तक वर्जिन ही हो.

मैं: जी राजकुमारी.

मिश्रा: तो कभी ऐसा नहीं लगता के तुम्हे भी लंड लेना चाहिए?

मैं: नहीं मालकिन का हुकुम है मुझे उनकी सेवा करनी है तो मुझे वर्जिन ही रहना पड़ेगा.

मिश्रा: मैं भी तुम्हारी उम्र की ही हु. लेकिन मुझे तो ऐसा लगता है के मैं हर समय लंड ही लेती रहु अपनी चुत में.

मैं: राजकुमारी मैं तो एक गुलाम हु ना.

तो मैं क्या सोचती हु इससे कुछ फरक भी नहीं पड़ता.

मिश्रा: मतलब फील तो तुम्हे भी ऐसा ही होता है.

अब सुनो मेरी बात मुझे एक लम्बा मोटा लंड देखना है अभी के अभी. किसी को भी लेकर आओ.

मैं: ठीक है राजकुमारी मैं लाती हु. Raja Rani Ki Chudaii

Rani ki chudai sexy

मेरे दिमाग में अब काफी चीज़े चल रही थी. जैसे की ये राजकुमारी भी मेरी तरह ही है. यानी मैं कोई ज़्यादा चुदासी लड़की नहीं थी, यानी सभी लड़किया ऐसी ही होती है. दूसरी तरफ ये भी सोच रही थी के किसको लेकर औ राजकुमारी के मनोरंजन के लिए. तो मेरे दिमाग में टाइटस की सुबह वाली बात आयी. तो सोचा क्यों न अपने मर्द को राजकुमारी के सामने पेश कर दिया जाए.

राजकुमारी भी खुश हो जाएंगी उसका लंड देखकर और वह भी खुश हो जाएगा राजकुमारी को देखकर और मैं तो हो ही जाउंगी खुश जाते टाइम मुझे मालकिन मिल गयी मैंने उनको राजकुमारी की ख्वाहिश बताई. मालकिन भी राजकुमारी के कमरे में पहुंच गयी.

मैं टाइटस को लेकर आ गयी तो देखा एक रंडी और 2 नामर्द पहले से खड़े थे, राजकुमारी टाइटस को देखकर बोली.

मिश्रा: क्या नाम है तुम्हारा?

टाइटस: टाइटस.
मिश्रा: अच्छा टाइटस ये बताओ तुम्हे मैं कैसी लगती हु.

टाइटस: आप बहुत खूबसूरत है राजकुमारी एकदम परी जैसी.

मिश्रा: अच्छा मेरा बदन कैसा है.

टाइटस: आपका जिस्म एकदम नरम और मुलायम है.

आपके होंठ गुलाब की पंखुड़ी जैसे है और आपका बाल बहुत घने है. मिश्रा (अपने कपडे के ऊपर से ही चुचो पैर हाथ चलते हुए): अच्छा ये कैसे है. राजकुमारी… Raja Rani Ki Chudaii

Rani ki chudai ki kahani

मिश्रा: क्या देखकर ही बताओगे क्या कैसे है ये…

फिर सभी लोग हसने लगे और फिर राजकुमारी बोली. अच्छा चलो अपने सारे कपडे उतारो. टाइटस ने एक एक करके अपने सारे कपडे उतार दिए. मेरी धड़कने बढ़ने लगी. टाइटस का लंड अभी पूरी तरह से टाइट नहीं था इसलिए लटका हुआ था.

मालकिन और राजकुमारी दोनों उसके लंड को देखकर खुश हो गयी. फिर मालकिन ने रंडी को इशारा किया उसके लंड चूसने का तो वह आकर उसके आगे घुटनो पैर बैठ गयी और उसका लंड मुँह में भर लिया. टाइटस ने भी उसका सर पकड़ लिया और उसका मुँह चोदने लगा. मालकिन और राजकुमारी दोनों उसको देखकर एक्साइट होने लगी.

मालकिन ने दोनों नामर्दो को बुलाया. वह दोनों मालकिन और राजकुमारी के अगल बगल बैठ गए. वह उनके हाथो से अपनी चुत रगड़वाने लगी. कमाल की बात ये थी के इतना सबकुछ होने पर भी उन नामर्दो की लूलिया एकदम वैसी ही थी बटन जैसी.

तो वह उनकी चुत रगड़ रहे थे और टाइटस उस रंडी का मुँह चोद रहा था. खलबली तो मेरी चुत में भी लगी हुई थी, लेकिन मैंने अपने आपको संभाला हुआ था. फिर टाइटस ने उस रंडी को उठाया और उन दोनों के सामने घोड़ी बना दिया. और उसकी चुत में अपना लंड एक बार में ही पूरा उतार दिया और उसकी चुत में धक्के लगाने लगा. राजकुमारी और मालकिन ने भी उन दोनों नामर्दो के मुँह को अपनी चुत पैर लगा दिया.

वह उनकी चुत चाट रहे थे और टाइटस रंडी की चुत मार रहा था. मैं प्यासी लंड की भुकी उनके आगे कड़ी होकर उनको कभी शराब पीला रही थी तो कभी पानी. लेकिन टाइटस को देखकर मज़ा तो मुझे भी आ रहा था. फिर टाइटस भी बेड पर आ गया. उनके आगे आकर लेट गया और रंडी को अपने ऊपर बैठा लिया. और फिर रंडी टाइटस के लंड पैर उछलने लगी. मेरी चुत से नदिया बह रही थी, मैं समझ नहीं पा रही थी मुझे क्या हो रहा है. मुझे मेरी चूत पर लार जैसा कुछ महसूस हो रहा था.

मैं फिर बेड के पीछे जाकर खड़ी हो गयी. पहले तो एक कपडे से मैंने अपनी चुत साफ़ की और फिर अपनी चुत रगड़ने लगी.

फिर टाइटस ने निचे से ही उसकी चुत में झटके लगाने स्टार्ट कर दिये. Raja Rani Ki Chudaii

Rani ki chudai story

लड़की सातवे आसमान पर पहुंच गयी थी. मैं चुत में ऊँगली करते हुए इमेजिन करने लगी अपने आपको उस रंडी की जगह.
टाइटस उस रंडी की चुत फाड़ रहा था अपने मोठे लंड से और निचे उसकी दोनों बॉल्स भी ऊपर निचे हो रही थी. मैं उसमे इतनी खो गयी थी के मुझे मालकिन की आवाज़ सुनाई ही नहीं दी. वह एकदम मेरे पास उठकर आ गयी. उन्होंने देखा के मेरा हाथ मेरी चुत पर था.

मैं अभी भी उसको ही देखकर अपनी चुत रगड़ रही थी. तभी मालकिन ने पीछे से मेरी कमर पर तप किया तभी मैंने अपना हाथ अपनी चुत से हटा लिया और अपने आपको होश में लाने लगी. मालकिन मुझे देखकर हसने लगी. मैं इतनी चुदासी होकर अपनी चुत में ऊँगली कर रही थी के मुझे होश ही नहीं रहा था.


मैं शर्म से पानी पानी होने लगी. राजकुमारी को भी जब मालकिन ने ये बताया तो राजकुमारी बोली.

राजकुमारी: वह पीछे क्या रगड़ रही है? यहाँ सबके सामने आकर चुत में ऊँगली कर.

मैं: नहीं राजकुमारी मैं सही हु. आप और वाइन लेंगी?

राजकुमारी: मुझे ना सुनने की आदत नहीं है. चल यहाँ आकर नंगी हो और फिर चुत में ऊँगली कर हमारे सामने.
मैं अब कुछ नहीं कर सकती थी लेकिन मैं खुद भी वही चाहती थी.

मैं उनके सामने ही खड़ी हो गयी और नंगी होकर अपनी चुत में ऊँगली करने लगी टाइटस की चुदाई देख देखकर.
टाइटस और रंडी पसीने में नाहा रहे थे. वही हाल अब मेरा भी हो रहा था.

राजकुमारी को और मालकिन को जब ज़्यादा गर्मी लगी. तो उन्होंने उन दोनों नामर्दो को अपनी चुत से हटाया और पंखा करने को बोल दिया और फिर टाइटस उस रंडी को कुतिया बनाकर वही बेड पर ही चोदने लगा. राजकुमारी ने मुझे अपने पास बुलाया और मेरा हाथ लेकर अपनी चुत पर रख दिया. मैं भी उनकी चुत पर अपना हाथ रगड़ने लगी.

फिर बोली “तुझे तो चुत रगड़ना भी नहीं आता.” Raja Rani Ki Chudaii

Raja Aur Rani ki chudai story

और तभी उन्होंने मेरी चुत पर अपना हाथ रख दिया. मेरी चुत को पहले हलके हलके सहलाते हुए एक ऊँगली अंदर डालकर ऊपर से रगड़ने लगी. मैंने भी फिर वैसे ही उनकी चुत में किया.

मैं उनकी चुत को वैसे ही रगड़ती रही और वह अपने दोनों हाथो को मेरे गले के पीछे ले गयी और मुझे अपनी तरफ खींचकर मुझे किश करने लगी. कल रात एला और अब ये राजकुमारी मेरी किस्मत में लड़किया ही लिखी थी शायद. मैं भी उनको किश वापस किश करने लगी. साथ के साथ उनकी चुत में भी ऊँगली करती रही. मालकिन हमें और टाइटस दोनों को देखकर चुत में ऊँगली कर रही थी. फिर वह एकदम उठी और अपने कमरे में चली गयी.

शायद उनसे बिना लंड के कण्ट्रोल नहीं हुआ और वह अपने पति से चुदने चली गयी. हम दोनों अभी भी किश में पूरी तरह से विलीन हो रखे थे. फिर टाइटस झड़ गया उसकी चुत में ही. दोनों नामर्द ही कमरे में रह गए थे. तो नामर्दो को तो पंखा हिलने के लिए बोल दिया और रंडी को पानी और शराब पिलाने के लिए. राजकुमारी मुझे अपने मुँह से शराब पीला रही थी.

राजकुमारी ने टाइटस को जाने का हुकुम कर दिया. अब मैं राजकुमारी वह रंडी और वह वाइन पीती और तभी मुझे किश करती तो और मेरे मुँह में ही उसको निकाल देती. मैं उसको पी जाती , मुझे नशा होने लगा. और मेरी चुत में और भी खलबली मचने लगी.

मैंने राजकुमारी के कपडे निकाल दिए और उनको नंगी कर दिया. राजकुमारी का जिस्म लगभग मुझ जैसा ही था.

तो मैंने फिर उनके चुचे दबाते हुए उनकी चुत में ऊँगली करते हुए उनको किश करना स्टार्ट कर दिया. फिर उनके चुचे चूसे.
फिर हलके हलके उनकी चुत तक आ गयी. मैंने उनकी चुत चाटनी स्टार्ट कर दी. वह भी बहुत गीली हो राखी थी. मैं उनकी चुत का सारा रास पी गयी. फिर मैंने उनकी चुत की फांक खोलकर उसको चाटना स्टार्ट कर दिया. राजकुमारी अपनी आँखें बंद किये भरपूर आनंद ले रही थी.

मैं उनकी चुत चाट रही थी साथ के साथ अपनी चुत में भी ऊँगली कर रही थी. कुछ टाइम बाद ही राजकुमारी झड़ गयी और निढाल होकर लेट गयी, मैं उठकर अपने कमरे की तरफ जाने लगी तो उन्होंने मुझे बोला.

मिश्रा: आज यही सो जाओ मेरे साथ बेड पर. Raja Rani Ki Chudaii

Rani ki chudai kahani

मैं: राजकुमारी मैं आपके बराबर में कैसे सो सकती हु?

मिश्रा: अरे कोई नहीं. मुझे अच्छा लगेगा. एक काम करते है पहले नहाते है फिर सोएंगे.

मैं: ठीक है मैं पानी तैयार करती हु. तो मैं बाथरूम में आकर पूल में पानी देखने लगी तो उसमे पानी कम था.
तो मैंने उन दोनों नामर्दो को पानी लाने के लिए भेज दिया, इतने में राजकुमारी आयी और फिरसे मुझे किश करने लगी.

राजकुमारी फिर पूल में आ गयी. मैं भी साथ में ही आ गयी. हम दोनों अभी भी किश कर रहे थे. मुझसे अब बिना लंड के रहा नहीं जा रहा था और शायद वही हाल राजकुमारी का भी था. हम एक दूसरे के जिस्म से अपनी प्यास बुझा रहे थे.

फिर मैंने राजकुमारी को अच्छे से साफ़ किया और राजकुमारी ने मुझे साफ़ किया. मुझे थोड़ा अजीब भी लग रहा था के राजकुमारी मुझे साफ़ कर रही है लेकिन फिर मैंने उसको जाने दिया. और फिर हम नहाकर बहार आये और बेड पर आकर सो गए एक दूसरे से चिपटकर. Raja Rani Ki Chudaii
कहानी में आगे क्या हुआ ये पता लगेगा अगले भाग 5 में तब तक के लिए. धन्यवाद!

इस कहानी का पिछला भाग पढ़ने के लिए:—> दरबारियों ने की प्रिंसिस की चुदाई 3

हमारी वैबसाइट से चुदाई की मस्त कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे-> www.xstory.in

Read More Sex Stories…

One Reply to “दरबारियों ने की प्रिंसिस की चुदाई 4”

  1. Pingback: दरबारियों ने की प्रिंसिस की चुदाई 5 Chut Ki Rani Ki Chudai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *