By | February 5, 2023

Sage Bete Ne Maa Ki Chudai ki:-हैलो दोस्तो, कैसे हो आप सब , अगर आपने अभी तक इस कहानी के पिछले भाग अभी तक नहीं पढे तो यहा क्लिक करके  पढ़ सकते है .

ये भी पढे-> मजबूरी मे बना पत्नी का ग्राहक फिर दोस्तो ने की चुदाई 

सेक्स कहानी मैं आपको अपनी ने माँ के साथ हुए किस्से के बारे में बताऊंगा. हम 4 लोग की फॅमिली है -मम्मी पापा में और मेरी छोटी बहन जो मुझसे 2 साल छोटी है.यह बात तब की है जब मेरी माँ 36 साल की थी

और में 18 साल का. मैं माँ से बहुत प्यार करता था. वो मेरा बहुत ख्याल रखती थी. मैंने कभी माँ को बुरी नज़र से नहीं  देखा था.हां लेकिन कई बार जब वो कपडे बदल रही होती थी तो गलती से उनके रूम में जाके उनको ब्रा-पेंटी में देखा है.

जब भी ऐसा होता मैं तुरंत मूड जाता और अपने रूम के तरफ आ जाता. लेकिन मुझे माँ को ऐसे देखने में कभी शर्म नहीं आई. और वो दृस्य मेरे दिमाग में थोड़े टाइम तक घूमते रहता था

Sage Bete Ne Maa Ki Chudai ki

वो गोरी जांग पतली कमर और क्लीवेज. माँ की इतनी उम्र के बाद भी उनके बूब्स बिलकुल भी नहीं झूले थे.इस कहानी के लिए में अपनी माँ को नाम से ही बुलाऊंगा.

श्वेता का रंग गोरा था और वो सभी तरह के कपडे पहनती थी. उसका साइज करीब-करीब 32-30-36 होगा. इसलिए जब वो जीन्स पहनती थी तो उसकी गांड जैसे उसमे जकड गई हो ऐसा लगता था.में अक्सर अपनी मम्मी को शॉपिंग में हेल्प करता था.

 वैसे ही एक दिन हम लोग दोनों शॉपिंग करने गई. जगह थोड़ी दूर थी तो हम लोग मेट्रो से गए. श्वेता ने एक बार में बोहोत सारी शॉपिंग कर ली थी मेरे दोनों हाथो में सामान था Sage Bete Ne Maa Ki Chudai ki

जब हम लोग वापस आ रहे थे तो मेट्रो में बोहोत भीड़ थी और हमारे दोनों हाथो में सामान. हर स्टेशन पे लोग चड़े जा रहे थे  भीड़ बढ़ती जा रही थी. एक टाइम पे ऐसी सिचुएशन थी की हम लोग थोडा सा भी हिल नहीं सकते थे.

तभी मुझको एक पिछे से ढाका लगा और में आगे श्वेता पे जुक गया. इस धक्के से मेरा लंड श्वेता की गांड पे डाब गया और हम लोग उसी पोजीशन पे रहे. मैंने अपने लंड को श्वेता की गांड के ऊपर से हटाने की कोशिश की लेकिन कुछ फ़ायदा नहीं हुआ भीड़ इतनी थी की में हिल ही नहीं पा  रहा था.

Maa ki gand chudai ki kahani

उल्टा कोशिश करने के कारन श्वेता की गांड मेरे लंड को रगड़ रही थी जिससे मेरा लंड थोड़ा खड़ा होगया. श्वेता ने आज जीन्स पहनती थी और उसकी गांड का दबाव बहुत जोर सी मेरे लंड पे था.

जब मेट्रो शुरू हुई तब मेट्रो चलने के कारन मेरा लंड शेवटा की गांड पे और रगड़ने लगा और वो और खड़ा हो गया. श्वेता ने पीछे मूड के देखा सायद उससे भी मेरा लंड उसकी गांड पे महसूस हो रहा था.

लेकिन उसने कुछ कहा नहीं और आगे मूड गई. मुझे अब यह सिचुएशन अच्छी लगने लगी थी श्वेता की गांड मेरे लंड को सेहला रही थी. में पुरे मजे ले रहा था और भूल गया था की वो मेरी माँ है.

हम लोग का स्टेशन आने वाला था तो हम लोग जैसे-तैसे करके गेट के पास गए लेकिन में अभी भी श्वेता के पीछे खड़ा था. स्टेशन आने में कुछ 2 मिंट होंगे मैंने सोचा ऐसा मौका फिर कभी नहीं मिलेगा पूरा फ़ायदा उठाने का सोचा.

और जान भुज के खुदसे अपना लंड माँ श्वेता के गांड पर घिसने लगा. श्वेता एकदम दरवाज़े से चिपकी हुई थी और में पिछे से  अपना लंड उसकी गांड पे रगड़ रहा था. श्वेता को भी इसका एहसास हो रहा था क्युकी उसके चेहरे पे हलकी सिसकी आ गयी थी Sage Bete Ne Maa Ki Chudai ki

पर उसने कुछ नहीं कहा.जैसे ही हम स्टेशन पे उतरे श्वेता सीधा स्टेशन के भर निकली मेरे तरफ देखा भी नहीं और कुछ बात भी नहीं की. श्वेता घर जाने  तक चुप थी घर पोहोचने पे उसने सब सामान रखा और सीधा अपने रूम में चली गई.

मुझे लगा शायद उन्हें पता चल गया की में जान बुझ के कर रहा था सब उससे बुरा लगा होगा की उसका खुद का बेटा उसके साथ ऐसे किया.उस रात भी जब हम लोग खाना खाने बैठे

श्वेता ने कुछ ज्यादा बात नहीं की मेरी और रात को फिर सब रूम में चले गई सोने.

में रात भर सोचता रहा की श्वेता को इतना बुरा लग गया क्या वो कभी अब मेरी बात नै करेगी. यही सोचते-सोचते में सो गया.सुबह जब में उठा तब तब पापा काम पे जा चुके थे और मेरी बहिन भी पढ़ने चली गई थी.

श्वेता और में अकेले थे घर में जिससे मुझको और डर लगने लगा की श्वेता अब क्या बोलेगी मेरे को. में हॉल में गया और सोफे पे बैठके टीवी देखने लगा.तभी श्वेता आई मुझे नास्ता दिया और वापस बिना कुछ बोले अपने रूम में चली गई.

फिर थोड़ी देर बाद आई और मेरे पास आके सोफे पे बैठ गई.जब वो रूम में गई थी तब श्वेता ने सलवार सूट पहना हुआ था लेकिन वापस आई तो एक पिंक टॉप जिसका गाला बहुत डीप था और निचे शॉर्ट्स पहनी थी.

मैंने कुछ कहा नहीं और टीवी के तरफ ही देखता रहा. जैसे ही मेरा नास्ता ख़तम हुआ श्वेता सोफे से उठी और प्लेट लेने के लिए झुकी. जैसे ही वो झुकी मैं उसके टॉप के डीप नैक सी उसकी चूचिया देख सकता था.

वो एक दम ही दूध जैसे गोर थे. मेरी नज़र वही पे टिकी हुई थी और तभी श्वेता ने मुझे देख लिया उसने प्लेट उठाई ओर किचन में चली गई.

में और घबरा गया की ऐसे ही वो बात नहीं कर रही थी और अब यह.में यही सब सोच रहा था तभी श्वेता ने मुझे किचन मे से आवाज़ लगाई तो में किचन में गया. Sage Bete Ne Maa Ki Chudai ki

Sauteli maa ki chudai ki story

शायद वो दोहपर का खाना बना रही थी और उसे कोई बर्तन लेना था.जो ऊपर वाले शेल्फ पे ढाका हुआ था और उसका हाथ नहीं जा रहा था इसलिए उसने मुझे बुलाया.

वो गैस पे कुछ बना रही थी और शेल्फ ठीक जहाँ श्वेता खड़ी थी उसके ऊपर था.तोह मैंने माँ को कहा की साइड हटे ताकि में बर्तन उत्तार सकू तो श्वेता ने कहा की वो हैट नै सकती उससे कन्टिन्यूसली जो वो बना रही थी

उसको हिलाना पड़ेगा वरना ठीक से नहीं बनेगा.तो में उसके पीछे से ही  खड़े होके बर्तन उत्तरने लगा. शेल्फ थोड़ी ऊँची थी तो मेरा हाथ नहीं जा रहा था तो में थोड़ा आगे झुका बर्तन तक जाने की कोशिश कर रहा था तभी मुझे मेरे लंड पे कुछ महसूस हुआ.

जी हाँ शेवटा की गांड.इस बार श्वेता खुद जान बुझ के मेरे लंड से अपनी गांड लगा रही थी. और हॉक्स से मेरे लंड को सेहला रही थी. कल हुए किस्से के कारन श्वेता उत्तेजित होगी और क्युकी कल जीन्स पहना था तो श्वेता को ठीक से  महसूस नहीं हुआ होगा

इसलिए आज उसने शॉर्ट्स पहनी की मेरे लंड का पूरा मज़ा उठा सके.मेरा हाथ बर्तन तक जा चूका था

लेकिन मैंने फिर भी नाटक करते रहा की मुझे बर्तन नहीं मिला और श्वेता अपनी गांड से मेरे लंड को सहला रही थी. मेरा लंड भी खड़ा होगया था और उसकी दोनों गांड के बिच समां गया था.

मैंने भी हलके-हलके से अपना लंड रगड़ना शुरू करदिया. श्वेता ने खाना बनना रोक दिया और मुझे कमर से पकड़ के अपनी और खींचा और जोर से मेरे लंड को अपने गांड सी रगड़ने लगी.

मुझे बहुत माज़ा आने लगा.मैंने अब हाथ निचे कर लिए और किचन प्लेटफार्म पे रख दिये. तब श्वेता ने मेरा हाथ लिया और अपनी छाती पे रख दिया Sage Bete Ne Maa Ki Chudai ki

और मेरे हाथ को छाती पे दबाया. में समझ गया माँ क्या चाहती है मेरी.

में अपने दोनों हाथो सी फिर श्वेता की चूचियों को टॉप के उपर से मसलने लगा. और साथ ही उसकी गांड के बिच अपना लंड भी हिला रहा था.

फिर मैंने अपना एक हाथ उसकी चूत पे रखा और शॉर्ट्स के उपर से सहलाने लगा उसकी चूत पूरी गिल्ली हो चुकी थी. मैंने फिर उसकी शॉर्ट्स में हाथ डाल दिया और सीधा हाथ उसकी गिल्ली चूत पे रख दिए.

श्वेता सिसक उठी इससे और मेरी जांघो को कस से पकड़ लिया. में हल्का-हल्का चूत पे ऊँगली रगड़ रहा था श्वेता अब से हलकी-धिम्मी आह… आह की आवाज़े निकालने लगी.

Dost ki maa ki chudai ki kahani

मेरा लंड इन आवाज़ों से और तन गया मुझे अब लंड को चूत में डालना था अब मुझसे  रुका नहीं जा रहा था. तो मैंने श्वेता की शॉर्ट्स उतार दी तो देखा श्वेता ने अंदर कुछ नहीं  पहना था.

श्वेता की नंगी गांड मेरे आँखों के सामने थी जिसके बिच मेरा लंड फसा हुआ था.में दोनों हाथ से गांड को मसलने लगा. क्या बताऊ क्या नज़ारा था माँ श्वेता की गांड मैंने पहली बार देखि थी

जिससे देख मेरा लंड इतना कभी नहीं तना होगा. मैंने फिर श्वेता को घुमा अपनी तरफ किया और अपना लंड उसकी चूत पे रगड़ने लगा.

श्वेता कुछ देर तक मेरे लंड का मज़ा अपने चूत पे लेती रही लेकिन जैसे ही में लंड अंदर डालने वाला तहत वो बोली की “मुझे चूत में नहीं गांड में लंड चाहिए.” जिससे सुन में दंग रह गया की यह श्वेता ने क्या कहा.

और वो घूम के किचन के प्लेटफार्म के सहारे झुक के खड़ी हो गयी  जिससे मुझे उसी चूत  दिख रही थी. क्या गज़ब का नज़ारा था Sage Bete Ne Maa Ki Chudai ki

 श्वेता मेरे सामने ऐसे झुकी हुई इंतज़ार में की में कब उसकी गांड में अपना लंड डालु .मैंने श्वेता से पूछा “क्या कभी अपने पहले पीछे लिया है?” मेरी श्वेता के सामने लंड बोलने की हिमायत नहीं हो रही थी.

 तो श्वेता बोली “न लिया तो नहीं लेकिन आज तुम्हारा लेना चाहती हु.”मैंने श्वेता से कहा “लेकिन इसमें बहुत दर्द होगा आपको और ऊपर सी पहली बार है तो और भी ज्यादा.” तो श्वेता बोली “दर्द होगा सह लुंगी लेकिन आज तो पीछे ही चाहिए मेरे को.” मैंने कहा “ठीक है में डालता हूँ.”

मैंने अपना लंड गांड की छेद पे रखा और डालने सी पहले श्वेता को कहा की डालने जा रहा हूँ लेकिन मेरा लंड अंदर ही नहीं जा रहा था. श्वेता का यह पहली बार तहत इसलिए उसकी गांड का छेद इतना छोटा था की मेरे लंड को नहीं ले सका.

तो मैंने कहा  “यह तो ऐसे नहीं जाएगा तेल लगेगा करना पड़ेगा श्वेता इशारा करते हुए “उसमे रखा है लो जल्दी और जल्दी से डालो.” में तुरंत गया और तेल लेके आया और थोड़ा श्वेता की गांड के छेद पे डाला और थोड़ा अपने लंड पे.

Sagi maa ki chudai ki raat me

फिर मैंने वापस लंड छेद पे रखा और श्वेता को वार्निंग देते हुए एक धक्का दिया जिससे मेरा लंड का खाली ऊपर का हिस्सा अंदर गया और श्वेता ने हलकी सी चिक दी और पूछा “क्या अंदर घुस गया?”जिसपे मैंने जवाब दिया “नहीं अभी तो थोड़ा ही गया फिर और थोड़ा तेल मेरे लंड पे डाला और एक झटका दिया जिससे करीब आधा लंड अंदर चला गया और इस बार श्वेता ने जोर से आवाज़ निकली “Aaaahhhhhhhhhhhh आअह्ह्ह आह्हः कहा “अभी भी पूरा नहीं गया बाकी है आधा जिससे सुन श्वेता चौक गयी बोली “क्या!!!!” और फिर मेरे आखरी झटके से पूरा लंड अंदर था और मैंने लंड हल्का-हल्का अंदर बाहर करना शुरू करदिया. Sage Bete Ne Maa Ki Chudai ki

माँ की चीखे और जोरसे होगी और वो और चिकने लगी. “आआअह्हह्ह्ह्ह आअह्ह्ह आह्हः आह्ह्ह्हह लंड डालने के दस सेकंड बाद ही श्वेता बोली “आअह्ह्ह्ह आह्हः निकाल लो निकाल लो …. आआह्ह्ह्हह्ह भहट्ट दआ…रद्द्द.”

श्वेता पूरा बोलती उसके पहले मैंने जोरसे 2-3 झटके दे दिये  जिससे वो आगे कुछ नहीं बोल पाई और खाली आवाज़े निकाल रही थी.

उसकी चूचिया भी आगे पीछे हो रही थी.मैंने अपने दोनों हाथ चूचियों पे रखे और उससे मसलने लगा जिससे श्वेता और उत्तेजित होगी और वो और हवस भरी आवाज़ निकलने लगी.“आआह्ह्ह्हह्ह आह्ह्ह्हह्ह चेतन…अण्णन आह्हः श्वेता के मुह से मेरा नाम सुनते ही पता नहीं क्या हुआ? मैंने उससे और जोर से उसे चोदने लगा. फिर उसकी सफ़ेद गांड को देख कर मुझे उसपे मारने का बोहोत मन किया और में एक हाथ से जोर से उसकी गांड पे मारा.

गांड और हाथ के संपर्क से जोर से आवाज़ आई. और श्वेता जोर से चीला उठी “Aaaaaaaaaahhhhhhhhhh यह क्या किया मैंने कुछ नहीं  कहा और उसकी गांड मारते हुए उसे चूसता भी रहा.माँ श्वेता का छेद इतना टाइट था की में अपना लंड उसमे बहुत मुश्किल सी हिला पा रहा था

जिससे मैं पूरी स्पीड से उससे चोद भी नहीं सका. मुझे श्वेता को स्पंक करने से बहुत माज़ा आ रहा था.श्वेता की अब सासे फूल रही थी और वो आवाज़ भी नहीं निकाल पा रही थी.

श्वेता की गांड इतनी टाइट थी की में ज्यादा देर तक उसे चोद नहीं पाया और मेरा माल निकलने वाला था.मैंने श्वेता से कहा “में झड़ने वाला हूँ श्वेता ने कुछ जवाब नहीं दिया तो मैंने पूछा “कहा छोड़ू अंदर की बाहर?” श्वेता बोली “जहा मन करे ….” में अब जितनी स्पीड हो सके उतनी स्पीड में श्वेता को चोदने लगा.मैं जड़ने वाला था तो मैंने श्वेता को कमर से पकड़ा अपनी और खींचा और पूरा लंड अंदर डालके माल चोद दिया. Sage Bete Ne Maa Ki Chudai ki

Bete ne maa ki chudai ki

जब मेरा माल निकल रहा था तभी बिच में मैंने अपना लंड निकाला और कुछ माल उसकी गांड पर भी छोड़ दिया.श्वेता की गांड पूरी लाल हो चुकी थी और उसकी गांड के छेद से मेरा माल निकल रहा था.

 श्वेता बहुत थक गई थी वो थोड़े देर तक सर निचे करके प्लेटफार्म के सहारे ही खड़ी रही. में भी श्वेता के ऊपर झुक के लेट गया.मेरा लंड श्वेता की दोनों गांड के बिच था.

श्वेता थोड़े देर बाद उठी मेरे तरफ घूमी और मेरे को देखने लगी. उसका हाल बेहाल था आँखों सी जैसे आंसू की नदिया बह रही हो.और कुछ रिएक्शन नहीं दिया.

फिर में अपना शॉर्ट्स पहने ही जा रहा था की श्वेता ने मुझे रोका और बोली “इसने आज मुझे इतने माज़े दिए थोड़ी सेवा इसकी भी तो करने दो और मेरे लंड को पकड़ के निचे घुटनो पे बैठ गई.

पहले तो उसने लंड चाट के माल साफ़ किया और यह करते वक़्त उसने आंख ऊपर करके मेरी और देखा वो लुक जबरदस्त था  जिससे मेरा लंड हल्का खड़ा हो गया. फिर श्वेता लंड को मुँह में लेके चूसने लगी.

माँ कसम कहता हूँ माँ से अच्छा लंड आज तक किसी ने नहीं चूसा होगा. श्वेता ने लंड चूस-चूस के वापस बड़ा कर दिया था. अब वो मेरे को डीप थ्रोट देने लगी थी.

में यह सब देख के हैरान था की श्वेता मन भी यह रूप छुपा हुआ था जो मुझे आज देखने मिल रहा है. कुछ टाइम बाद श्वेता ने अपनी स्पीड बढ़ा दी वो लंड ऐसे चूस रही थी जैसे एकदम एक्सपर्ट हो इस चीज़ में.

मुझको बहुत ही माज़े आ रहे थे. झड़ने के कुछ समय पहले मैंने श्वेता को बालो से पकड़ा और अपना लंड उसे मुँह में जोर सी अंदर बाहर करने लगा. Sage Bete Ne Maa Ki Chudai ki

श्वेता के मुहसे खली “ऊऊऊह्ह्ह हहहहहह” की आवाज़े निकल रही थी.झड़ने से पहले मैंने फिर श्वेता को कहा “में झड़ने वाला हूँ मुँह में ही छोड़ दु ?” श्वेता ने इशारा करते हुए कहा की बाहर  निकालो लंड को.

Indian maa ki chudai

तो झड़ने के कुछ सेकण्ड्स पहले ही मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया . जैसे ही लंड निकाला श्वेता लंड के निचे मुह खोल के बैठ गई और हाथ से जोर-जोर से हिलाने लगी.

 में झड़  गया मेरा सारा माल उसके ऊपर गिर गया कुछ मुह के अंदर तो कुछ चेहरे पे तो कुछ चूचियों और बालों पे.जितना माल मुँह में गया श्वेता ने उसको पी लिया और मेरी तरफ देख स्माइल किया.

 श्वेता फिर उठी  मेरे को किश किया और कहा कितना गन्दा कर दिया तुमने अपनी माँ को अपने माल से अब इससे साफ़ कौन करेगा? चलो बाथरूम में मेरे साथ और मेरा हाथ पकड़ के बाथरूम में ले गयी और वहा पे  मैंने वापस उसकी गांड मारी. और हम लोग साथ में नहाये.

आशा करता हूँ आपको यह स्टोरी पसंद आई होगी. आप अपने व्यूज और कमैंट्स कर सकते है

Read More Sex Stories….

2 Replies to “माँ की गांड का उद्घाटन Sage Bete Ne Maa Ki Chudai ki”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *