By | February 3, 2023

Sage Bhai Bahan Ki Chudai ki Story: –हैलो दोस्तो, आज एक नयी कहानी के साथ मेरी बहन बहुत हॉट है और अब इंजीनियरिंग कर रही है. उसका फिगर 32-30-34 का है. बहुत ही मस्त फिगर है मानो देख के ही लंड खड़ा हो जाये. ये बात तब की है जब मैं इंजीनियरिंग के बाद जॉब पे लगा हुआ था

ये भी पढे->माँ के साथ पॉर्न फिल्म देख की चुदाई 2

और वो कॉलेज जाती थी. 3 महीने हुए थे और बहन और माँ पे प्यार बहुत आने लग गया था. ज्योति को बहुत लोग लाइन मारते थे टीचर्स भी. बिना बात के उसको टच करना भी होता था. पॉपुलर भी थी ज्योति और होनी भी चाहिए इतना मस्त बदन देख के कोई भी पागल हो जाता.

Bhai Bahan Ki Chudai

मेरी हवस बढ़ते-बढ़ते इतनी बढ़ गयी थी की मैं अब ज्योति को चोदना चाहता था.कभी मज़ाक में मैं उसके बूब्स दबाता और कभी गांड पे मारता. ऐसे ही करते-करते एक महीना भी हो गया था.

उसकी ब्रा-पेंटी पे मुठ तो इतनी मारी हुई थी की वो परेशान हो जाती थी की वो गन्दी कैसे हो रही थी.मैं बहुत कन्फ्यूज्ड था की और क्या किया जाये. फिर एक नाईट ज्योति अपने कमरे में पोर्न देख रही थी और वो डोर लॉक करना भूल गयी थी.

रात काफी हो गयी थी तो शायद वो भूल गयी.मैं एक्चुअली उसकी पेंटी लेने उसके रूम गया और मैंने उसको पोर्न देखते पाया. मैंने वो देखते ही प्लान बना दिया की उसको वीडियो रिकॉर्डिंग करके ब्लैकमेल करूँगा.Sage Bhai Bahan Ki Chudai ki Story:

मेरा लंड चूसने के लिए आगे जो हुआ वो तो और भी मज़ेदार हुआ. मैंने चुपके से उसकी वीडियो ले ली. उसका एक हाथ उसकी पेंटी में था. शॉर्ट्स और टी-शर्ट पहनी थी उसने. ज्योति को सेंस हुआ की कोई आया था तो वो पलटी और मुझे देख के शॉक में उछल पड़ी.

Bhai bahan ki chudai hindi mein

मैं थोड़ा गुस्से में बोला: ये क्या था? मैंने तुम्हारी वीडियो रिकॉर्ड कर ली है ये सब करते हुए. ये सब करते हुए शर्म नहीं आती?वो डर के मारे मुझे सॉरी बोलने लगी.ज्योति: भैया प्लीज मम्मी-पापा को कुछ मत बताना प्लीज प्लीज!वो इतना सॉरी बोल रही थी की मैंने उसको बिठाया और पानी दिया.

फिर मैं उसको बोला-में: तू एक मिनट के लिए शांत हो.ज्योति: भैया ये बात यही छोड़ दो न. मैं आप जो कहोगे वो करुँगी.में: मुझे चाहिए तो है बहुत कुछ.ज्योति: भैया आप भी तो मेरी पेंटी पे मुठ मारते हो मुझे पता है.उसकी ये बात सुन कर मैं डीप शॉक में था.

मेरे मुँह से कुछ बात नहीं निकली और मैंने बस यही पुछा-तुझे ये सब कैसे पता चला?ज्योति: भैया अब आपके अलावा मेरी ब्रा पेंटी गन्दी कोन करेगा?में: तो तुझे पता था ये सब?ज्योति: सब पता है आपकी हरकतें हेहेहे.में:

अच्छा ठीक है वे अरे इवन लेकिन तुझे खराब फील नहीं हो रहा की मैं ये सब…?अब जो जवाब सुनके मैं और शॉक में था और मेरे कान और आँखें आँख खुले के खुले रह गए थे वो था-ज्योति: भैया तुम मुझे चोदो मेरा मन हो रहा है इतने दिन से ये भी पता है. बस मैं भी एन्जॉय कर रही थी.

Bhai Bahan Ki Chudai

मैं ख़ुशी से पागल हो गया था ये सुन कर. इतने दिन तक मुठ मार के चल रहा था मैं. फिर मैंने हाथ पकड़ा उसका और उसको धीरे से अपनी तरफ खींचा. वो शर्मा रही थी.मेरे दिमाग में अब उसको चोदने के अलावा कुछ और नहीं चल रहा था. वो अपने लिप्स को काट रही थी. फिर मैंने उसकी कमर को ज़ोर से पिंच किया. Sage Bhai Bahan Ki Chudai ki Story:

तभी वो शरमाते हर बोली-ज्योति: भैया ये डोर तो लॉक करो.मैंने डोर लॉक किया और फट से उसको पकड़ा और किश किया. इतने मुलायम उसके लिप्स थे की मज़ा ही आ गया. फिर मैंने उसके कपडे उतारने शुरू किये.

मैं तो सिर्फ शॉर्ट्स में था. ज्योति ने नाडा खोला और मेरे लंड को पकड़ लिया.मेरा लंड इतना बड़ा था और सलामी दे रहा था. मैं अब उसको नंगा करके उसकी चूत को मसल रहा था. वो वर्जिन थी तो डर भी रही थी की क्या होगा.

मैं उसकी चूत में ऊँगली करते हुए उसके बूब्स को चूस रहा था.वो भी बहुत सिसकिया लेते हुए “भैया अहह आराम से भैया” बोल रही थी. मैंने 5 मिनट की ऊँगली के बाद ऊँगली उसके मुँह में डाल दी और चूसने को कहा. वो गीली ऊँगली को चूसने लगी.

Choti bahan ki chudai ki kahani

फिर मैं उसकी नेक को किश करने लगा. मैं उसके बदन को मसल रहा था ज़ोर से. फिर मैं बोला-में: आज तू जम के चुदेगी. आज से सिर्फ मेरी है ज्योति.सिर्फ मेरी कहते हुए मैंने उसके निप्पल्स को काटा.

वो बहुत ज़ोर से सिसकिया ले रही थी.मैंने उसकी मुँह में मेरा अंडरवियर रखा और उसकी चूत में मेरा लंड घुसाने की कोशिश करता रहा. ज्योति की चूत टाइट थी. मैंने 6 या 7 झटके दे कर पूरा लंड अंदर डाल दिया.

वो तो दर्द से रो रही थी. उसका बदन मुझे मदहोश कर रहा था तो मैंने उसके रोने की केयर नहीं की. मैंने उसकी चूत को लंड से धीरे-धीरे करके चोदना चालु किया. पहले तो उसको बहुत दर्द हो रहा था. वो तड़प रही थी.मेरी पीठ पे उसके नाख़ून के निशाँ बैठ रहे थे. Sage Bhai Bahan Ki Chudai ki Story:

हम दोनों बहुत प्लेअसुरे ले रहे थे.ज्योति: भैया…. अह्ह्ह्हह कामिनी बहन हु रंडी नहीं. प्लीज आराम से कर. ुह्ह्हह्ह मर गयी आराम से भैया प्लीज.

में: उठ उह्ह्ह रंडी नहीं है? है आज से तू मेरी रांड है.ज्योति: भैया अह्ह्ह अह्ह्ह छोड़ दो अह्ह्ह्ह.15 मिनट तक उसकी चूत चोदने के बाद मैं झड़ गया.

वो दर्द से चल नहीं पा रही थी. मैंने अपना पूरा माल उसके मुँह पे डाला और एक थप्पड़ भी मारा.फिर मैंने उसको किश किया और आई लव यू बोला.

रात के 3 बज रहे थे. मैंने अपनी शॉर्ट्स पहनी और निकाल ही रहा था की उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने पास बुलाया. फिर उनसे मेरा लंड शॉर्ट्स से निकला और मुँह में लिया.

उसके बाद वो बोली-ज्योति: भैया सुबह उठ कर चले जाना. मुझे अब बहुत दर्द हो रहा है. प्लीज इधर ही सो जाओ.मैंने उसको बेड पे लिटाया और उसके मुँह में मेरा लंड दाल कर चूसने को कहा. वो बहुत थकी हुई थी. Bhai Bahan Ki Chudai ki Story

अपनी सगी बहन की चुदाई की रात मे

फिर मैं 69 पोजीशन में जा कर उसकी चूत को आराम से चूसने लगा.वो तब और मदहोश हो रही थी और उसको अच्छा भी लग रहा था. फिर 10 मिनट के बाद हम सो गए. ऐसे हुई शुरुवात हमारी कहानी की जो कभी एन्ड नहीं होगी.

सुबह उठ कर भी वो नहीं चल पा रही थी. मम्मी ने भी उसको पुछा.वो बोली: बस तबियत ठीक नहीं है.सुबह ब्रेकफास्ट में सब बैठे थे टेबल पे तब मैंने ज्योति की चूत को सहलाया और फिर उसके टांगो को पिंच किया.ऐसे हुई मेरी और मेरी प्यारी बहन के प्यार की शुरुआत.

तो दोस्तो कैसी लगी आपको ये कहानी मुझे कमेंट करके ज़रूर बताए ।
Read More Sex Stories…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *