By | February 4, 2023

Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:हैलो दोस्तो, मैं आपका दोस्त अमित, मुझे उम्मीद है आपको ये कहानी पसंद आ रही होगी , अगर किसी दोस्त को ये कहानी पसंद नहीं आ रही तो प्लीज आप मुझे कमेंट करके बता दे फिर मैं आपके लिए लिए कोई दूसरी अच्छी सी कहानी लेके आऔगा . चलो अब कहानी को आगे पढ़ते है

ये भी पढे-> ससुर के 12 इंच लंड से बहू की चूत फटी

श्रद्धा के इशारे पर मैं अक्षुण के कमरे में जा छिपा. डोर को अंदर से लॉक कर दिया और दूर के पास ही खड़ा रहा. बहार से आती कोई बात चीत की आवाज़ सुनने लगा. इतने में बहार श्रद्धा को किसी से बाते करते सुना.

Sagi Bhabhi Ki Chudai ki

श्रद्धा: अरे तुम हेलो पायल.सोचने लगा की इस पायल नाम की जो भी हो उसे अभी ही आना था क्या. खामखा टेबलेट खाकर मेरा लंड खड़ा होने लग गया था. साथ ही मेरे सीने से पसीना भी चूत ने लगा डर के मारे. कही हम दोनों पकडे न जाये. मैं उन दोनों की बाकी की बाते सुनने लगा.

पायल: हेलो श्रद्धा कैसी हो?श्रद्धा: मैं ठीक हूँ.पायल: तो कैसा चल रहा है?शरदः: सब बढ़िया सही तरीके से चल रहा है. आओ बैठाना.पायल: तो तुझे कल वह मिला?श्रद्धा: हाँ मिला.पायल: कैसा था?श्रद्धा: अच्छा और सच मे मज़ेदार है.मैं सोचने लगा की ये दोनों किस चीज़ की बात कर रहे है? कही मेरी तो नहीं? पर फिर सोचा नहीं मैं तो इत्तिफाक से मिला श्रद्धा को.

तो इस आयी हुई पायल नाम की महिला को कैसे पता होगा?पायल: और क्या किया कल?श्रद्धा: कल… सोचले सब कुछ.
पायल: सब कुछ मतलब?श्रद्धा: तू क्या क्या सोच सकती है सब कुछ में?पायल: मतलब तेरी गांड भी मारी उसने?ये सुन में जान गया की ये दोनों मेरी ही बात कर रहे है. मैं हैरानी से उनकी बाते आगे सुनने लगा.श्रद्धा: हाँ वह भी 2 या तीन बार. तुझे पता है कल रात 2 बजे सोये हम.

पायल: वाओ यार मुझे तो अब जलन हो रही है. अब कब आएगा वह?श्रद्धा: है है है! हम्म्म सच बताऊँ?पायल: हाँ बोलना.श्रद्धा: वह गया नहीं यही है. अक्षुण के रूम में है और पक्का हमारी बाते सुन रहा होगा.पायल: सच्ची तो मुझे क्यों बुलाई?अब मुझे ये समझ आया की उसका आना कोई बेवक़्त आना नहीं था श्रद्धा ने ही बुलाया था उसे. Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:

Desi bhabhi ki chudai ki kahani

श्रद्धा: सोचले क्यों बुलाया. चल आ मेरे साथ.इसके बाद ऐसा आवाज आया की श्रद्धा उसे लेकर अपने रूम को गयी. मैं सोचने लगा की भला हो क्या रहा है. श्रद्धा मुझसे चुदने के लिए गोली भी खिला दी जिससे मेरा लंड लोहे के तरह गरम था.

बिना चोदे ये शांत भी नहीं होने वाला था. और फिर उसने अपने फ्रेंड को घर भी बुला लिया. फिर मैं यही हूँ वह भी बता दिया. पता नहीं श्रद्धा मेरे बारे में और किनको बताई. ये सारी बाते कही अंकल आंटी तक पहुँच गयी तो कितनी बदनामी होगी.

एक तरफ निराशा और गुस्सा था वही एक तरफ डर की कही श्रद्धा मुझे किसी जाल में तो नहीं फसा रही.फिल्मो और अखबारों में अक्सर देखा है ऐसे शहर की लड़किया सीधे साधे लोगो को फसा कर पैसे वगेरा सब निकलवाती है.

ये सब सोच मैं अंदर बैठा रहा अपने लंड को सहलाते हुए. मैं अक्षुण के कमरे के दीवार से कान लगा कर उनकी बाते सुनने की कोशिश की.पर उसके और अक्षुण के कमरे के बीच श्रद्धा के रूम का बाथरूम आता था. जिससे मुझे कुछ भी साफ़ साफ़ सुनाई नहीं दे रहा था.

तभी श्रद्धा की आवाज़ ज़ोर से आयी उसके कमरे से श्रधा: अमित मेरे रूम में आओ डर भी था और गुस्सा भी. लेकिन फिर हिम्मत बनाकर मैं अक्षुण के कमरे से निकल कर बहार आया तो देखा श्रद्धा का डोर हलकी सी खुली हुई है. और कमरे से दो आवाज़े आ रही थी.

वह दोनों अंदर थी और मैं नंगा होने के कारन डरता शर्माता हुआ डोर ओपन किया.और उन दोनों को देख मेरी सारी निराशा छू मंतर हो गयी. श्रद्धा तो अपने उम्र में भी कमल की पटका थी ही. और अब साथ में उसके एक और महिला खड़ी थी

जो काफी खूबसूरत गोरी और श्रद्धया से हलकी सी नाती पर उसकी भी उम्र करीब श्रद्धा के जितनी ही होगी.और तो और श्रद्धा ने अपना कपडा भी बदल ली थी. वह अब काफी छोटी सी बेबीडॉल में थी. हलके हरे और क्रीम कलर की साटन की बनी हुई. और इतनी छोटी की बस उसके चूत से थोड़ा नीचे तक ही थी. और उसकी सहेली पायल नीले रंग की हलकी पारदर्शी बेबीडॉल जो ठीक उसके आधी जांघो तक थी. Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:

जो भी कहो श्रद्धा ही ज़्यादा सेक्सी लग रही थी. मैंने तुरंत इधर उधर देखा और नज़र बेड पर पड़ी एक सलवार सूट पर गयी. जिससे मैं समझ गया की पायल अभी श्रद्धा के रूम में ही अपना कपडा बदली है. मन में डर और गुस्सा जो भी था पता नहीं कहा गायब हो गया.उन दोनों की खूबसूरत शकल और चिकनी गोरी जांघो को देख.

मैं चुप चाप अपना खड़ा लंड झूलते हुए खड़ा रहा. तभी उन दोनों ने रूम में बसा सन्नाटा तोड़ा और बोली.

पायल: ओह वाओ श्रद्धा! इसे क्या कपडा भी पहनने नहीं दिया तुमने? श्रद्धा: ऐसा नहीं है यार ये बस यू अगले राउंड के लिए.
पायल: सी हिज डिक यार! उसका लंड हमेशा खड़ा ही रहता है या अभी हमे देख हुआ? श्रद्धा: उफ्फो तुम भी न. काफी सवाल करती हो.इतना कहती हुई श्रद्धा मेरे तरफ आयी. मेरे कंधे पर अपना हाथ रख कर बोली:गहबराओ मत अमित ये मेरी सबसे बेस्ट फ्रेंड है.

यही इसी अपार्टमेंट में रहती है. पायल नाम है. तुम चिंता मत करो हम तुम्हारे और हम तीनो के बारे में और किसी को नहीं बताएँगे.मैं थोड़ा हकलाता हुआ बोलै: पर…पर ये क्यों यहाँ?पायल: रिलैक्स अमित.

Devar bhabhi ki chudai ki story

मैं तुम्हे खा नहीं जाउंगी. या शायद खा भी लू है है!श्रद्धा: पायल! शठ. चुप. देखो अमित तुमने मुझे कल इतना खुश किया की मैं तुम्हारे बारे में अपनी बेस्ट फ्रेंड से बताई बिना नहीं रह पायी.

प्लीज सॉरी. पर इसमें तुम्हारा ही फायदा है.अमित: मेरा क्या फायदा है?श्रद्धा: बताओ ज़रा क्या पायल दिखने में खूबसूरत है? मैं सोचा भला ये कैसा सवाल है और बोली: है हाँ. काफी खूबसूरत है.श्रद्धा: और मैं?अमित: आप! आप तो काफी खूबसूरत हो सच मे.श्रद्धा: उफ्फो! पायल है सामने तो ये आप वाप मत बोलो. Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:

अब तक नाम ही ले रहे थे न तो नाम ही लो. चलेगा. रिलैक्स रहो और बताओ क्या तुम्हारे लाइफ में कभी तुमने सोचा था की हम जैसी खूबसूरत दो महिलाये तुम्हे मिलती. सोचो!

मैं सोचने लगा की श्रद्धा की बात तो सही है. अगर मैं जान भी लगा दूँ तो इन दो हसीनाओ को मेरे सामने इतने छोटे कपडे पहन नहीं देख पता अपनी ज़िंदगी में. ये सोच मैंने अपना सर न के इशारे में हिला दिया.

जिसे देख पायल बोली: तो फिर इतना शर्मा क्यों रहे हो अमित. मुझे भी अपनी फ्रेंड समझो. जैसे तुम श्रद्धा के साथ हो वैसे ही मेरे साथ रहो.

श्रद्धा: और डॉन’टी वोर्री बिलकुल मत घबराओ ये बात बस हम तीनो के बीच रहेगी. प्रॉमिस!इनकी बाते सुन अब में सोचने लगा. चाहे भगवान् ने दिया हो या भले ये मुझे फसा रही हो मुझे कोई फरक नहीं पड़ता.

जब दो खूबसूरत हसीनाएं मेरे सामने मेरे साथ मज़े लेने के लिए खड़ी हो. और ये सोच मेरे चेहरे पे मुस्कान आ गयी.मेरी मुस्कान देख पायल बोली: तहत स्माइल इस यस श्रद्धा है है है!

मैं: पर मैंने कभी ये किया नहीं.श्रद्धा: क्या? क्या नहीं किये इससे पहले?पायल: है है है! समझना श्रद्धा उसने कभी थ्रीसम नहीं किया इससे पहले.श्रद्धा: उफ्फो कभी किसी लड़की की गांड मारी थी कल रात से पहले? चलो अब ज़्यादा सोचो मत. मज़ा आएगा.

इतना कहती हुई श्रद्धा मेरे हाथ को पकड़ कर खींची. डोर के पास से कमरे के अंदर ले गयी. फिर मेरे पीछे हो कर मुझे एक धक्के मार कर बेड पर गिरा दिया.

मैं मुँह के बल उसके मुलायम बेड पर गिरा. और पलटा तो देखा पायल तुरंत अपना पैंटी निकाल रही थी. श्रद्धा वापस जाकर डोर बंद करने लगी. फिर श्रद्धा मूड कर चिलायी: थे पार्टी स्टार्टस नाउ!पायल: यस! वो हूँ!

मैं श्रद्धा को देख ही रहा था की एक छोटा सा कपडा मेरे मुँह पर आ ग्रा. हाथ से लेकर देखा तो वह पायल की चूत की खुशबू से भरी पंतय थी. भले अब सारा मामला ठीक था. फिर भी पायल से बात करने को मैं हिचकिचा रहा था.

indian bhabhi ki chudai ki kahani

पायल: ये तो अब भी शर्मा रहा है श्रद्धा.इतना कहती हुई वह बेड पर चढ़ी और मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर बोली: ये भले शर्मा रहा है. पर इसका लंड नहीं है है है! देखो तो कैसे तन्न कर खड़ा है डंडे के तरह.श्रद्धा: वह एक्चुअली पायल. ये थोड़ा नया है इसी लिए इसे वह टेबलेट दी है मैंने. Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:

पायल मेरी आँखों में देख मेरे लंड को निचोड़ी. वह बोली: क्या यार हम अपने पतियों को भूल कर तुम्हारे साथ मज़ा करते है. ये सोच कर के तुम लोग सांड जैसे होंगे और तुम्हे भी टेबलेट चाहिए.इस बात को सुन मैं समझ गया की मैं इनके लिए कोई पहला शख्स नहीं हूँ. और साथ ही थोड़ा बेइज़ती भी लगी जिस पर मैं श्रद्धा को देखने लगा.

वह समझ गयी की मैं उसे क्यों देख रहा हूँ.श्रद्धा थोड़ी गुस्से से पायल से बोली: पायल मंद योर वर्ड्स. उसे ऐसा मत बोलो ओके. वह पूरी कोशिश करता है और ख़ास कर सबसे ज़्यादा मज़ा वह बिना चोदे ही दे देता है. समझी! ऐसा दुबारा मत कहना. .ये सुन सच मे मुझे मनो श्रद्धा से प्यार होने लगा.पायल: ओह गॉड श्रद्धा!

तुमने ऐसा कभी नहीं कहा किसी के बारे में.इस पर श्रद्धा बेड पर चढ़ कर आयी. और मेरे लंड को उसके हाथ से लेती हुई बोली: छोडो इसे ये मेरा है.इतना कहती हुई वह भी पायल के तरह मेरे दूसरी तरफ कुतिया बनी झुकी.

और मेरे लंड को अपने मुँह में ले ली. सच बताऊँ तो जो भी डर और गुस्सा था मेरे मैं में अब वह नहीं रहा. श्रद्धा के मुँह में मेरा लंड इतना मज़ा ले रहा था की मैं सब भूलता जा रहा था.तभी ऐसा लगा की मेरे लंड को किसी हाथ ने पकड़ा और उसके मुँह से खींच लिया हो.पायल: इसे मुझे भी दो मुझे क्या देखने के लिए बुलाई हो तुम?

इतना कहती हुई पायल ने अपने मुँह में मेरा लंड ले लिया.कुछ सेकंड चूसने के बाद बोली: इस्पे तो कुछ और भी टेस्ट कर रहा है. ये क्या है? समथिंग लिखे कुकिंग आयल का फ्लेवर.श्रद्धा: है है है! बस कुकिंग आयल का मिला?

मैं इन दोनों की गन्दी बातो का मज़ा लेता रहा बिना कुछ बोले.पायल: हाँ कुकिंग आयल का ज़्यादा है और साथ ही मुठ का भी स्वाद है.श्रद्धा: तुम्हारे आने से पहले ये मेरी गांड और चूत चोदा है. सोचलो पायल.पायल: रियली? पर. वाओ इसका लंड तो अभी भी मस्त रेडी है. नीस अमित. मज़ा आएगा तुम्हारे साथ.इतना कहती हुई पायल अपने मुँह में मेरा लंड लेकर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी. मनो अब उसे काफी मज़ा आरहा ता श्रद्धा की गांड चूत और मेरी मुठ के साथ कुकिंग आयल का स्वाद.

इसके बाद ऐसा लगा मनो श्रद्धा और पायल का कोई झगड़ा चल रहा हो मेरा लंड चूसने के लिए.श्रद्धा: बस करो अब मुझे दो. काफी चूस लिए तुमने.श्रद्धा मेरे लंड को चूसने लगी और फिर एक मिनट बाद.पायल: इतनी लालची मत बन मुझे भी दो फिर पायल चूसने लगी अगले एक मिनट के लिए.श्रद्धा: बस बस हो गया अब मेरी बारी.इतना कहती हुई वह मेरे लंड को पायल के मुँह से खीच ली. Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:

Sexy bhabhi ki chudai ki story

अपने मुँह में घुसकर अपना सर हिलती हुई अपना मुँह छुड़वाकर चूसने लगी. मैं बस आंखे बंद कर इनकी बाते सुन मज़ा लेता हुआ बेड पर लेटा रहा. कई बार जब भी ये मुँह से लंड खींच कर निकलती तो दन्त से लंड पर खरोच पड़ती.दर्द तो होता था पर जो मज़ा ये सोच कर की दो महिलाये मेरे लंड चूसने के लिए पागल हो रही है सारा दर्द भुला देती.

कुछ देर बाद एहसास होने लगा की इनमे से कोई मेरे अंडो को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. एक औरत लंड चूस रही थी तो दूसरी मेरे अंडो को.इतना मज़ा आ रहा था की मन ही नहीं हो रहा था की आंखे खोल कर देखूं की कौन क्या कर रहा है. करीब 20 मिनट ये दोनों ऐसे ही ज़िद पर चीन चीन कर मेरे लंड और अंडो को चुस्ती रही.

तभी मुझे एहसास हुआ की कोई मेरे सीने पर चढ़ रही है. आंखे खोल कर देखि तो वह पायल थी.वह मुझे देख बोली: बड़ा मज़ा ले रहे हो चलो अपना मुँह काम पे लगाओ.इतना कहती हुई वह अपनी जंघे मेरे सर के इर्द गिर्द रख अपनी चूत ठीक मेरे मुँह पर रखी .

अपना निचला हिस्सा एक हाथ से उठाकर दूसरे हाथ से मेरे बालो को पकड़ कर खींची.फिर मेरा मुँह अपनी चूत पर लगा दी. उसकी चूत गीली थी और मैं उसे चाटने चूसने लगा. अब श्रद्धा मेरा लंड चूस रही थी और पायल मेरे मुँह पर बैठ अपनी चूत चुसवा रही थी. हर बार मैं उसकी चूत के दाने को ज़ोर से होंटो पे दबा जाता. पायल हाथ से मेरे बालो पर और ज़ोर से कस्ती जाती.

करीब ३ से ४ मिनट यही होता रहा और फिर पायल बोली: और और! ऐसे ही चाटो! ओह्ह्ह! चुसो! मैं झड़ने वाली हूँ!और एक मिनट और फिर पायल मेरे मुँह पे झड़ पड़ी. वह अपना कमर हिलाती हुई पागलो की तरह मेरे मुँह पर अपनी चूत रगड़ रगड़ कर अपना रस निकाल रही थी.

ये देख सच मे आज इस पल मुझे ऐसा लग रह था, की मैं सचमे एक मर्द हूँ जो दो औरतो को एक साथ मज़ा दे सकता हूँ. इतने में मुझ एहसास हुआ की श्रद्धा उठ कर मेरी लंड के पास आ बैठी. और मेरा खड़ा लंड का सिर अपनी चूत के मुँह पर रख उस पर धीरे से बैठ अपने अंदर घुसाने लगी.पायल: थिस इस नॉट फेयर यार तुम कल से इससे चुद रही हो और अब फिर से मुझसे पहले ले ली. Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:

श्रद्धा: तुम झड़ी न अभी मैं तो नहीं झड़ी और सुबह जब ये चोदा तो भी नहीं झड़ी थी.पायल: तो भी मैं इसका लंड अपने अंदर लेना चाहती हूँ दो इधर.श्रद्धा: रुको थोड़ी देर आईटी’स इन में नाउ. मुझे थोड़ा मज़ा लेने दो उसके बाद ही अब.

Hot bhabhi ki chudai ki raat me

इतना कहती हुई श्रद्धा अपनी कमर ऊपर निचे हिलायी. अपनी चूत मेरे लंड से चुदवाने लगी. पायल वापस मेरे मुँह पर बैठती हुई बोली: मुझे मज़ा चाहिए चलो चुसो फिरसे चुसो मुझे.इसके बाद करीब 3 मिनट हम ऐसे ही रहे.

मैं पायल की चूत चुस्त और श्रद्धा नीचे मेरे लंड से अपनी चूत चुदवा रही थी. थोड़ी ही देर में मेरा कमर भी श्रद्धा के कमर के साथ ताल मेल मिला. और ऊपर नीचे उछलता हुए उसे चोदने लगा.श्रद्धा: अमित और ज़ोर से हिलाओ अपनी कमर में झड़ने वाली हूँ रुको मत.

मैं पायल की चूत चूस हुआ और श्रद्धा की चूत को कमर हिलाता हुआ चोदता जा रहा था ऍम क्युम्मिंग अमित! यस मज़ा आ रहा है ऐसे ही अहह.पायल: अहह! मैं भी दुबारा झड़ने वाली वाली हूँ ऐसे ही अमित. चाटो अपनी जीभ अंदर घुसाओ और निकालो मज़ा आ रहा है!मेरा लंड उस टेबलेट की ताकत से ऐसा मज़ा दे रहा था.

अब तक मुझे ऐसा लगा ही नहीं की में झड़ने के आस पास भी हूँ. चाहो तो इन दोनों को 1 से 2 घंटे और चोद सकता था. इसके कुछ ही पालो बाद श्रद्धा और पायल दोनों एक साथ झड़ी. श्रद्धा: मैं झड़ने वाली हूँ! हो गया!पायल: में तू! अहह!दोनों एक साथ झड़ी और दोनों के जिस्म मुझे अकड़ती हुई नज़र आयी. थोड़ी ही देर बाद ये दोनों झड़ कर मुझसे अलग होकर बेड पर चित बेहाल दिखी.

और अपना लंड देखा तो वह अब भी खड़ा था. कुछ पांच मिनट बाद रूम में बसा सन्नाटा था. पायल बोली: चलो उठो अमित!पायल उछलती हुई बेड पर पीट के बल लेट गयी. श्रद्धा होश संभालती हुई पायल को देखने लगी.

जो अपने टाँगो को फलाती हुई मुझसे बोली: इतना क्या देख रहे हो. आओ अपना लंड घुसाओ और चोदो मुझे .सच बोलो तो जब भी वह अंग्रेजी में कमांड करती थी तो मज़ा आ जाता था. श्रद्धा पायल के कमर के पास घुटनो पर बैठ गयी. झुक कर अपने हाथो से पायल की जांघो को फैलाकर मुझे दिखती हुई मुझे देख बोली: Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:

सी अमित देखो तो कितनी मस्त है इसकी चूत .मैं श्रद्धा की हरकत देख और पागल होने लगा. उसे भी ये पता था की उसकी हरकते मेरे अंदर आग भड़का रही है. तो इस पर मेरे नज़रो से नज़र न हटती हुई श्रद्धा अपना मुँह पायल की चूत के पास लगाई. फिर धीरे से उसे चाटने लगी और बोली: युम्मी.पायल: आह! श्रद्धा ममम चाटो अमित आओ चोदो मुझे.

मैं पायल की जांघ के बीच घुटनो पर सेट होकर अपना लंड अपने हाथ से पकड़ने जा रहा था. श्रद्धा मेरे हाथ को हटाई और अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर उसके चूत के पास ले गयी.चूत के दाने पर लंड का सर रगड़ा. श्रद्धा पायल को मूड कर देख बोली: से आईटी पायल! से यू वांट आईटी.!पायल: स्टॉप तैसिंग. छेड़ना बंद करो और अंदर डालो.

Moti bhabhi ki chudai ki kahani

श्रद्धा: तो बोलना यू वांट आईटी तभी डालूंगी.पायल इस बार थोड़ी ऊंची आवाज़ में बोली: मेरी चूत मे ये लंड डाल दो. दो मुझे वह लंड . घुसाओ. !इतना सुनते ही श्रद्धा अपने एक हाथ से पायल की चूत को पिलाई. दूसरे हाथ से लंड का सर चूत में घुसाई. फिर बोली: ज़ोर से मार अमित एक ही बार में पूरा घुसा दो.पायल: यस! ज़ोर से.मैंने एक झटका मारा. पायल की चूत तो गीली थी ही. मेरे चाटने और उसके रस से साथ ही मेरा लंड अब भी श्रद्धा की चूत रस से सना हुआ था.

मेरे एक झटके में ही लंड पायल की चूत को चीरता हुआ पूरा अंदर समां गया.पायल: फ़क!पायल चीख पड़ी और श्रद्धा बोली: वाओ! लुक्ड सो सेक्सी!श्रद्धा मेरे नावी को धकेल कर लंड पायल की चूत से निकाली और बोली: वन्स मोरे अमित. इस बार और ज़ोर से मरना.पायल: यू बीच! मरवाओगी मुझे.श्रद्धा: मरवाने के लिए ही तो बुलाई तुझे आज. अमित और ज़ोर से गुसाओ इसकी चूत में.इस बार और तगड़ा ज़ोर से झटके के साथ मैं अपना लंड पायल की चूत में पूरी गहराई तक दे मारा.

फिर पायल की जांघो को पकड़ अपना कमर हिलाते हुए ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा.पायल: फील सो गुड.श्रद्धा पलट कर पायल को देख बोली: अच्छा चोदता है ना ये? Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:

पायल: हाँ! बहुत अच्छा चोदता है. मुझे बहुत अच्छा लग रहा है. चोदो अमित चोदो ज़ोर से!श्रद्धा वापस अपना सर पायल की चूत के पास ले गयी. मेरे चोदने के साथ ही पायल की चूत के दाने को अपने जीब से चाटने और टटोलने लगी.पायल: वाओ श्रद्धा यू अरे अमेजिंग! चाटो और चाटो श्रद्धा और तुम रुको मत अमित तुम भी चोदते रहो.

श्रद्धा को पायल की चूत चुदते देख में और पागल होने लगा. आज तक कभी ऐसे लेस्बियन हरकत अपने ज़िंदगी में सिर्फ पोर्न में देखा था. ये सब देख मैं पागल होगया. पायल की चूत को और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. श्रद्धा जान गयी की मुझे उसे देख काफी जोश आ रहा था.

तो शायद मुझे पागल करने के लिए ही वह उठी. और अपने कपडे को उठा कर अपनी कमर पर टिकाई. पायल की मुँह पर अपनी चूत रखती हुई बैठ गयी. अपनी कमर हिलाती हुई अपनी चूत को पायल के होंटो पर रगड़ने लगी.

Mast bhabhi ki chudai ki chudai

मुझे देख बोली: तुजे यह पसंद हा न अमित? अच्छा लग रहा हैना देखने में?मैं: हाँ. बहुत बहुत अच्छा.मैं और ज़ोर ज़ोर से पायल की चूत को तेज़ी से चोदने लगा. पायल की आहे श्रद्धा की चूत के नीचे दबी दबी सी निकलने लगी. श्रद्धा चूत रगड़ती हुई थोड़ा आगे बड़ी.और हाथ बढाकर मेरे कंधे को पकड़ मुझे अपने तरफ खींचा. Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:

होंटो से होंठ लगाकर मुझे चूमने लगी. क्या नज़ारा था मेरे ज़िंदगी का. मैं पायल को चोद रहा था. पायल चुदवाती हुई श्रद्धा की चूत चाट और चूस रही थी.श्रद्धा पायल से अपनी चूत चटवाती चूस्वाति हुई मुझे पागलो की तरह चूम रही थी. तीनो को एक साथ मज़ा आ रहा था. ये सब ही कारन था और साथ ही दवाई का भी असर था की मेरे अंदर चुदाई का जानवर घुस गया था.

सुबह श्रद्धा को चोदा.फिर अभी थोड़ी देर पहले श्रद्धा को पायल के साथ और अब पायल को चोद रहा था. लेकिन ऐसा लग नहीं रहा था की मैं अभी आस पास कभी झाड़ूंगा या थकूंगा. श्रद्धा को चूमते हुए पायल की जांघो को कास कर पकड़े. उसकी चूत में दना दन लंड पेले जा रहा था.करीब 10 मिनट ऐसे ही बिना रुके चोदने के बाद अब जाकर शायद पायल झड़ने वाली थी. क्यों की उसकी टंगे सीधी होकर अकड़ने लगी.

इतने में श्रद्धा की चूत को मुँह से हटती हुई पायल बोली: डॉन’टी स्टॉप अमित! मैं झड़ने वाली हूँ चोद और चोद!ये सुन मैं और ज़ोरदार झटके मरता हुआ उसकी चूत में लंड ज़ोर से चोदने लगा. फिर पायल की कमर कम्पटी हुई झटके मारती हुई मेरे चोदने के साथ ही रस की छीटे फेकने लगी. पर मैं रुक नहीं रहा था. लंड इतना टाइट था उसकी चूत में की रस की छीटे डाब डाब कर मेरे नावी पर पड़ रहे थे पायल धक्के मारती हुई श्रद्धा को अपने ऊपर से हटाई. Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:

और कपकपाती हुई मेरा जानवर लंड जो रुक नहीं रहा था. उसे अपनी चूत से निकला और बिना कुछ बोले सहमति हुई आंखे बंद कर बेड पर पड़ी. फिर झटके कहती हुई शांत हो गयी. कुछ 3 मिनट बाद जब पायल आंख खोली तो मुझे सामने उसी अवस्ता में देखि.

New bhabhi ki chudai ki hindi me

फिर श्रद्धा को देखि जो उसे देख मुस्कुराती हुई बोली: क्या हुआ पायल थक गयी पूरी. मज़ा आया?पायल: पूछ मत. बहुत मज़ा आया.मैं अपने लंड को हिलाते हुए बोला: तुम दोनों का तो हो गया पर मेरा क्या?श्रद्धा मेरे लंड को अपने ऊँगली से टटोलती हुई बोली: किसने कहा तुमसे हम दोनो का हो गया? अब मेरी बारी चुदवाने की इस लोहे जैसे लोडर और मेरे बाद फिर से पायल की बारी.पायल: येह अमित. आज तुम नॉन स्टॉप चोदोगे हमे.

मैं: तो आओ श्रद्धा तो मुझे अपनी चूत अब. इस पर श्रद्धा उठी और पलट कर मेरे सामने अपने गांड दिखाती हुई कुतिया बनी बैठी. और पलट कर मुझे देख बोली: चूत नहीं!श्रद्धा अपना एक हाथ पीछे लेकर अपनी बेबीडॉल का निचला हिस्सा उठाया.
अपनी उंगलियों से अपनी गांड को फैलाकर गांड की छेद मुझे दिखा कर बोली: चूत को थोड़ी आराम दो अब तुम मेरी गांड चोदोगे.पायल: वाओ! आज फिर से मैं तेरी गांड चुदती हुई देखूंगी.

श्रद्धा: सिर्फ देखोगी नहीं पायल मैडम. तुम भी आज इससे अपनी गांड चुदवाऔगी और वह भी कई बार. क्यों की 4 बजने को अभी कई घंटे बचे है. Sagi Bhabhi Ki Chudai ki story:

तो दोस्तो इस कहानी मे आज बस उतना ही आगे क्या हुआ ये मैं आपको अगले भाग मे बतौयाग.
Read more Sex Stories…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *