By | December 28, 2022

Sagi maa ki chudai:-हैलो दोस्तो, मेरा नाम समीर है ओर मैं रिस्तों मे चुदाई की कहनिया पढ़ना पसंद है।. चलो अब मैं सीधा कहानी पे आता हुआ मैं आपको कुछ महीने पीछे लेके जाता हु जब हम पूरी फॅमिली पापा मम्मी मेरा भाई ओर मैं हमारे गांव गए थे

मेरे बुआ के बेटी की शादी अटेंड करने के लिए. हम सब औरंगाबाद(मह) में रहते हैं एंड मिडिल क्लास है मैं अभी इंजीनियरिंग 3 साल हैं .और तब में सेकंड ईयर में था. हमारा गांव थोड़ा पिछड़ा हुआ है. सड़क की बुरी हालत हैं लोग टॉयलेट्स भी इस्तेमाल नहीं करते थे .बाथरूम के लिए खेतो में जाया करते हैं. सो मैं 18 साल से इस स्टोरीज पढता था.

Sagi maa ki chudai

माँ स्टोरीज मुझे बहोत पसंद हैं. मैं उन लोगो में से हु जो माँ के साथ सोना तो चाहते हैं पर डरते हैं. तो मैं बस माँ से सेक्स करना इमेजिन करके के मास्टर बेट करता था. माँ के बारे में बता दू तोह वो टिपिकल हाउसवाइफ है पर बेहेवियर से थोड़ी सही है. ये ऐसी औरते होती हैं न जिन्हे फॅमिली फंक्शन्स में मटकाना पसंद होता हैं Sagi maa ki chudai

ऐसा था की किसी के भी निचे वो सजाये. वह इस तहत आंटी जो सब चाहते हैं है की अपने मोहल्ले में हो. उनका साइज इस 36-32-36 है. स्किन गुड राउंड बूब्स नीस टाइट अस्स तो दिए फॉर. एक बार देर रात में किसी काम से माँ के रूम में गया था तू उनकी नाईट घुटनो से थोड़ा ऊपर तक उठी हुई थी

Sasu maa ki chudai

मेरी कण्ट्रोल नै हुआ और मैंने थोडीसी और ऊपर कर दी वो गोरे है रलेस तइस का तोह मैं दीवाना हो गया पर आगे कुछ करने की हिम्मत ही नै हुई.

तोह बात गांव की थी हल्दी का फंक्शन चल रहा था कुछ औरते ढोल बजा रही थी सब हसी मजाक मस्ती कर रहे थे पर मेरी नजर तोह बस माँ पर थी चूड़ीदार में जो सलवार उन्होंने पहनी थी वो एकदम लेग्गीइस जैसी टाइट थी जिससे उनकी तइस न अस्स का पूरा शेप एकदम साफ पता चल रहा था मेरी नज़र वहा से हाट ही नै रही थी तभी कुछ हुआ.

एक आदमी माँ के पीछे से गुजरा और क्यूंकि मेरी नज़र सिर्फ माँ के अस्स पर थी मैंने क्लेअर्ल्य देखा उसने अपना हाथ हलके से माँ के अस्स क्रैक में थोडा सा घुसाया और हलके से दबाते हुए चला गया.

माँ ने पीछे देखा तब वो चला गया था तो माँ ने इग्नोर कर दिया उन्हें लगा हयद गलती से कुछ हुआ होंगे.

पर उसने जान बूझकर दबाया था पता नि कोन था वो.जब मैंने दादाजी से पूछा तो पता चला कोई रिलेटिव है और बहोत पैसे वाला है. उसका कंस्ट्रक्शन का काम हैं और वो अपनी बूढी माँ को शादी के लिए लेके आया हैं

जो मेरी दादी को बहुत क्लोज हैं.तब मुझे लगा इतना बड़ा आदमी है तोह उसने सच में वो हरकत की या गलती से हुआ. फिर रात हो गयी थि सब सो गए थे तब मैं पेशाब के लिए उठा और घर के पीछे खेतो में गया. Sagi maa ki chudai

Maa ki chudai ki kahani

मैं वापस लौट ही रहा था तब कुछ लोगो के हसने की आवाज़ आयी मैं धीरे से गया तो देखा वो रिलेटिव और उसके कार का ड्राइवर बियर पि रहे थे.

तभी मैंने सुना की वो ड्राइवर से बोले “शेखर पैसो को कोई कमी नै हैं अच्छी से अच्छी रंडी बुला सकता हु पर इस औरत को मैं चोदना है. ऐसा नै की उससी कोई सूंदर नै पर देखा तूने कैसे मटक रही थी फंक्शन में और उस गांड को दबा कर लगा जैसी अब इस पर बस मेरा हक़ हैं”.

मैं बुरी तरह से डर गया मेरे हाथ पैर सुन पड़ गए की उसने जान बूझकर कर सब किया था. ड्राइवर बोले”पर सर मुश्किल हैं शादी का घर हैं उसे 2 बेटे हैं मुझे नहीं लगता वो पैसो से मानेगी”.अंकल-“पैसो से नहीं शेखर उसे प्लान कर के इमोशनली चुदना पड़ेगा”ड्राइवर-“मतलब”अंकल-“सबेरे रेडी रह बस जब वो खेतो में जाएँगी ”ड्राइवर-“रपे?”शॉक होक पूछा मैं और दर गयउंक्ले-“चोदगे तोह उसकी मर्जी से ”फिर से वापस आके सोने की कोशिश करने लगा पर नींद कहा आने वाली थी.

मैं सोचने लगा अगर सच मे उस अंकल ने माँ को चोदा
तोह. एंड तो माय सरप्राइज मुझे मजा आने लगा ये सोच के. और जब उसने कहा की चोदगे तो माँ की मर्जी से मतलब मैं मन ही मन खुश होने लगा की चलो मैं चोद नहीं सकता तो कम से कम देख तो सकता ही हूँ. Sagi maa ki chudai

Desi maa ki chudai

मैंने माँ पापा को सेक्स करते हुआ सुना तोह था पर देखा नै था.बस मैं सबेरे होने का वेट करने लगा लगभग 5 बजे माँ उठी और पानी के बाल्टी लेके खेतो में जाने लगी मैं भी चुपचाप से पीछे जाने लगा माँ गन्ने के खेतो में गयी थोड़ी रौशनी तोह हो गयी थी.
उन अंकल का कोई पता नहीं था. मैं चुपके माँ ने अपनी सलवार नीचे की ड्रेस ऊपर कर नीचे बैठने ही वाली थी के गन्नो से अंकल बहार निकल कर माँ के ठीक सामने आ गए माँ झक्से उठ खड़ी हो गयी सलवार नीचे ही थी.

माँ शॉकेड थी क्या बोले क्या नै कुछ समझ नहीं आया उनके. और बस्स्स. अंकल बिना कुछ बोले चले गए. मुझे कुछ समझ नहीं आया. मुझे लगा शायद कोई प्लान था शादी में और 4 दिन थे और अंकल को जल्दबाजी नहीं करना चाहते.

फिर दोपहर में अंकल अपनी कार में बैठे थे मैंने सोचा चलो पहचान बढ़ाते हैं.

मैंने बोला “हैलो अंकल पहचाना?” उन्हने कंफ्यूज होके बोलै “नहीं ”मैंने माँ के और पॉइंट करके कहा “मैं उनका बेटा हु यह मेरी बुआ की बेटी की शादी हैं”पहेले अंकल बोले”ओह्ह अच्छा अच्छा” और ड्राइवर के और देख के मुस्कुराने लगे मैंने कहा” आपकी कार बहोत मस्त हैं मेरी फव हैं (हुंडई वर्ण)” वो बोले आओ बैठो अंदर.

मैं ड्राइविंग सीट पर बैठा और वहासे माँ को आवाज लगाई “कैसा लग रहा हु” माँ बोली अच्छा और फिर अंकल जो मेरे बाजु बैठे थे उनकी और माँ की नज़र मिल गयी. अंकल देखते रहे और माँ ने नज़र हटा ली . बाद मे शाम को मैं माँ से बात कर रहा था

सगी माँ की चुदाई हुयी खेतो मे कहानी

“माँ आपको पता हैं वो कार वाले अंकल बहोत आमिर हैं और अच्छे भी हैं उनके साथ बड़ा मजा आता है.” माँ कुछ नहीं बोली बस हां में मुंडी हिलायी. Sagi maa ki chudai

फिर मैं जल्दी खाने खाके सो गया सबेरे जल्दी जो उठाना था मैं सबेरे 4 बजे उठे के माँ के उठाने का वेट करने लगा.
माँ लगभग 5.15 पर उठी और अस उसुअल खेतो में जनि लगी मैंने नोटिस किया एक्साक्ट्ली सेम जगह पर गयी जैसे ही हम खेतो में घुसे अंकल की जोर जोर से फ़ोन पर बात करने की आवाज आने लगी माँ ने भी सुना और वो धीरे धीरे उधर जाने लगी. अंकल बात कर रहे थे “सुमन तुम जानती हु मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकता तुम क्यों नहीं आयी इस शादी में मैं तड़फ रहा हूँ सेक्स के लिए कब तक हिलाता रहु.

तुम होती तो कितना मजा आता” कनेव ये कोई प्लान था अंकल ऐसे ही कुछ देर बात करने के बाद बोले”मुझे सेक्सी फील करवा अब फ़ोन पे” और फिर उम्म्म अहह करने लगे.

मुझे ठीक से नहीं दिख रहा था लेकिन सुरेली वो मास्टरबेट कर रहे थे. कुछ देर बाद शायद उनका पानी निकल गया और वो चले गए. ये अंकल का प्लान मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था.

Bete ne maa ki chudai ki

लेकिन उसके बाद जो हुआ माँ अंकल ने जिधर मास्टरबेट किया था उधर आयी मैं भी थोड़ा आगे आ गया माँ ने अंकल के पानी को हाथ लगाया जो गन्नो के पत्तो पर गिरा हुआ था. एंड माँ शर्मा के मुस्कुराने लगी. माँ हसी तो फांसी. फिर पूरा दिन वेट करने पर कुछ नहीं हुआ.

शाम में माँ ने साड़ी पहनी. तो माय सुप्रिसे ऐसा कभी नहीं होता की माँ साड़ी पहने. शाम को भी खास कुछ नहीं हुआ था ।
फिर वही मैं सबेरे होने का वेट करने लगा. 5 बजे एक्सएक्ट माँ उठी और चल दी खेतो में.

मैं विश कर रहा की आज कुछ हो. माँ खेतो में गयी. अगेन आवाज आयी पर हलकी सी माँ आगे बढी माँ ने देखा अंकल फिर वही बैठे थे. उन्होंने पैंट नीचे की और हिलाने लगे. एंड थें वास् थे टाइम माँ ठीक उनके सामने से आ गयी.थोड़ी देर ख़ामोशी दोनों एक दूसरे के आँखों में देखने लगे. Sagi maa ki chudai

माँ से हलके से नीचे देखा अंकल के लंड के तरफ. ठीक से पता नही सायद 7-8 इंच होंगे. माँ चुपचप खड़ी थी. अंकल का लंड अभी भी हातो में था पर उन्होंने हिलना बंद कर दिया था. अंकल ने लंड छोड़ दिया और धीरे से आगे बढे.

माँ हिली नहीं खड़ी रही. अंकल ने एकदम आराम से एक हाथ कमर पर रखा और एक गर्दन के पीछे एंड लिप्स कीश करने लगे . माँ खड़ी थी असिस्ट टोने कर रही थी पर सुरेली रेसिस्ट तोह बिलकुल भी नै. मैंने देखा माँ का मुँह थोडासा खुला थे अंकल एकदम आराम से लिप्स चूस रहे थे . फिर अंकल के दोनों हाथ बैक से होते हुआ माँ के गांड पर आये और उन्होंने बिल्कुल हल्के से गांड को दबाया माँ के मुँह से हलकी सी आहा सुनाई दी.

Maa ki chudai hindi me story

मेरी माँ की गांड किसी और के हाथ में थी और मैं खुश था. अपना फेस बूब्स से लेते हुए नीचे लेन लगे उन्होने हल्का सा किश किया. माँ ने आँखे बंद कर ली थी. घुटनो पर बैठते हुए माँ के चुत के एकदम सामने थे उन्होंने चुत पर साडी के ऊपर से ही ही हाथ फेरा और हल्का सा किश किया. अंकल खड़े होके माँ के पीछे आ गए अपने दोनों हाथ बूब्स पर रख कर दबाने लगे. अंकल अच्छे से जानते थे औरतो को खुश करना. पीछे से नैक पर किश करने लगे मेरी माँ 38 साल की थी

पर अंकल उन्हें नई मैरिड फील करा रहे थे.5.30 बज गए थे अंकल को जल्दी करना था नहीं तो और लोग खेतो में आना शुरू होते.

अंकल ने माँ को पीठ के बल झुका दिया. उनका पल्लू हटाया ब्लाउज़ के हुक खोल दिए तो माय सरप्राइज तेरे वास् नो ब्रा. बिलीव में मैं माँ को अच्छी चैक आउट करता हु वो हमेशा ब्रा पहनती है लेकिन आज नहीं थी. निप्पल्स थोड़े लूसे तो हो गए थे अब उम्र के साथ पर स्टिल सेक्सी थे.

माँ के ऊपर लेटते हुआ उनके बूब चूसने लगे और दूसरा हाथ से दबाने लगे. माँ आँखे बंद कर मोअन कर रही थी. 10 मिंट तक दोनों बूब चुस्की अंकल पैरो के और आये और साड़ी कमर तक उठा दी. Sagi maa ki chudai

Sauteli maa ki chudai

वो गोर हैरलेस तइस देख अंकल भी खुश हो गए होंगे.
फिर उन्होंने पेंटी निकल दी चुत को हलके से किश किया. रौशनी बढ़ती जा रही थी अंकल ने माँ की टाँगे थोड़ी फैला दी अपनी पैंट उत्तार दी और अपना लंड माँ के चुत के पास ले गए.

फिर उन्होंने माँ का हाथ लिया और माँ की चुत मे अपना लंड दिया और माँ ने लंड चुत की और डायरेक्ट किया और माँ को 20 मिंट बहुत चोदा और फिर अपना सारा पानी माँ की अंदर डाल दिया था।

शादी के बाद जब अंकल जा रहे थे मैंने अंकल से बोला अंकल अच्छा लगा आपसे मिल कर.

आई होप माँ को भी अच्छा लगा हो”वो थोड़ा शॉक हो गए और बाई बोल के चल गए।

तो दोस्तो कैसी लगी आपको मेरी माँ की ये चुदाई की कहानी अगर अच्छी लगी हो तो कमेंट करके ज़रूर बताना ।
Read More Sex Stories…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *