By | March 22, 2023

Sasur Bahu Ki Chudai huyi: हेलो दोस्तों, मेरा नाम अंकुर है ये कहानी मेरे दादा, मेरी और मम्मी की चुदाई की है  दादा जी कैसे मम्मी के दूध चूसते थे तो मेरा भी मन करता था और दादा जी मम्मी का पूरा बदन चाट चाट के गीला कर देते थे जिसे देखकर मेरा लंड पागल हो जाता था और मम्मी की ख़ुशी का कोई ठिकाना नहीं था अब आगे.

ये भी पढे-> पति घर के बाहर, ससुर का लंड बहू की गरम चूत मे, पोते ने भी अपनी माँ की चुदाई भाग 2

Sasur Bahu Ki Chudai huyi

सुबह मेरी आँख थोड़ी से खुली सब कुछ नार्मल था मगर अब मम्मी और मेरे बीच एक नया रिश्ता था मैंने देखा पापा और दादा जी नास्ता कर रहे थे मैं सीधा किचन में गया मम्मी मुझे देखकर स्माइल करने लगी और मैंने उन्हें पीछे से जाके पकड़ लिया मेरा हाथ मम्मी के पेट पर था.

मम्मी – उठ गया बेटा  चल जल्दी से मुँह हाथ धो ले फिर मैं तेरे लिए नास्ता लगाती हु।

मैं – मम्मी मेरा पेट तो कल रात ही भर गया था

मम्मी – अच्छा अगर तेरा पेट रात में ही भर गया था तो ये तेरा लंड मेरी गांड में क्यों घुसा जा रहा है

मैं – मम्मी ये तो आपको देखकर ही खड़ा हो जाता है Sasur Bahu Ki Chudai huyi:

Sasur bahu ki chudai ki kahani

मम्मी – बेटा थोड़ी तो शर्म कर ले तेरे पापा घर पर है और तू यहाँ मुझसे चुदाई की बाते कर रहा है

मैं – मम्मी कल पापा के रहते हुए ही आपकी चूत से कई बार पानी निकाल दिया था वैसे सुबह दादा जी ने भी तो पानी निकाला होगा।

मम्मी – नहीं बेटा आज मैंने तेरे दादा को कुछ भी नहीं करने दिया अभी भी हलकी हलकी जलन हो रही है

मैं – मम्मी आप कहो तो जलन मिटा दू।

मम्मी – बेटा अभी तो रहने ही दे शाम को तेरे पापा चले जायेंगे तब जो मर्ज़ी कर लेना।

मैं – वैसे मम्मी आप दारू भी पीती हो ये बात मुझे कल ही पता चली।

मम्मी – बेटा ये बात राज़ ही रखना मैं तेरे पापा के साथ कभी कभी पी लेती हु उन्होंने ही मुझे पीना सिखाया था

फिर मैं भी फ्रेश हो गया और पापा और दादा जी के साथ नास्ता करने लगा उसके बाद पापा और मम्मी घूमने निकल गए शाम को पापा और मम्मी वापस आ गए और फिर मम्मी ने खाना बनाया और पापा खाना पैक करके निकल गए पापा के जाते ही मैं और मम्मी कमरे में आ गए और मैं मम्मी को किश करने लगा, मम्मी भी मेरा साथ दे रही थी

फिर मम्मी ने आपने ब्लाउज निकाल दिया उसके नीचे उन्होंने काले रंग की ब्रा पहनी हुई थी जो उनके ऊपर बहुत अच्छी लग रही थी Sasur Bahu Ki Chudai huyi:

Sasur bahu ki chudai hindi mein

मैंने खुद मम्मी की ब्रा निकाल दी अब मम्मी ऊपर से नंगी हो गयी थी और मैं उनके दूध पकड़ के मसल रहा था मम्मी आँखे बंद करके मज़े ले रही थी।

फिर उन्होंने हाथ पीछे करके मेरा लंड पकड़ लिया और उसे कच्छे के बहार निकाल लिया मम्मी मेरा लंड पकड़ के आगे पीछे करने लगी।

मैंने मम्मी का पेटीकोट भी निकाल दिया अब मम्मी पूरी नंगी हो चुकी थी और फिर वह बेड पर जाके लेट गयी और उन्होंने अपनी टाँगे फैला दी मैं समझ गया की मम्मी क्या मांग रही है? मैंने भी देर किये बिना सीधा जाके आपने मुँह मम्मी की चूत पर लगा दिया मम्मी का हाथ भी मेरे सर पर आ गया, 

वह मेरे सर को सेहला रही थी और मैं उनकी चूत को चाट रहा था चूत चाट ते हुए मैं मम्मी के दूध मसल रहा था और उनके निप्पल को खींच रहा था, मम्मी बार बार अपनी टांगो से मुझे दबा रही थी और जल्दी ही मम्मी का जिस्म कांप गया और उनका पानी निकल गया जिसे मैंने चाट के साफ़ कर दिया,  Sasur Bahu Ki Chudai huyi:

फिर मैं मम्मी के बगल में लेट गया मम्मी मेरे बालो में हाथ फेर रही थी और मैं उनके दूध चूस रहा था

मैं – मम्मी आपको चूत चटवा के मज़ा आया 

मम्मी – हा बेटा बहुत मज़ा आया तूने जो ये अहसास मुझे दिया है वह तो तेरे पापा और दादा कभी नहीं देते है

मैं – मम्मी क्या पापा कभी आपकी चूत नहीं चाट ते है?

मम्मी – बेटा वह चाटते है मगर बस थोड़ी देर तक जिसमें मुझे बिलकुल भी मज़ा नहीं आता है मगर जैसे तू एक दम आराम आराम से चाट ता है उससे मेरी अंदर तक तसल्ली हो जाती है तेरी उंगलिया और तेरी जीभ दोनों अंदर तक मुझे हिला के रख देती है

मैं – मम्मी क्या इसी अहसास की वजह से आपने मेरा लंड अपनी चूत में ले लिया था?

Sasur bahu ki chudai kahani

मम्मी – बेटा हमारा रिश्ता तो पहले ही बदल चूका था जब तुझे ये राज़ पता चला था की मैं तेरे दादा का बिस्तर गरम करती हु उसके बाद तू हलके हलके आगे बढ़ रहा थाऔर मैं भी अंदर से पागल हो रही थी

जब भी तू मुझसे चुदाई की बाते करता था तब मेरी चूत गीली होके टपकने लगती थी और फिर जब तूने मेरे बूब्स  चूसे उस दिन मुझे ये अहसास हो गया था की मेरे बूब्स चूसने वाला मेरा बेटा नहीं बल्कि एक मर्द है  Sasur Bahu Ki Chudai huyi:

क्युकी जब तू मेरे बूब्स चूस रहा था तब मैंने कई बार अपना पानी निकाल दिया था और उसके बाद जब तूने मेरी चूत को चाट के मुझे चरमसुख दिया मैंने उसी दिन ये तय कर लिया था की मैं भी तुझे वही मज़ा दूंगी जो तू मुझे दे रहा हैऔर तुझसे चुदाई करवा के मेरी चूत की बची हुई गर्मी भी निकल गयी जो तेरे दादा जी भी नहीं निकल सकते थे

मैं – मम्मी मुझे भी आपके साथ बहुत मज़ा आया मैं तो रात दिन आपकी चूत चाट सकता हु।

मम्मी – बेटा तेरा जब भी मन करे तू मेरी चूत चाट लेना बस आपने दादा का और पापा का ख्याल रखना मैं भी तुझे कभी कोई कमी महसूस नहीं होने दूंगी।

मम्मी और मैं नंगे एक दूसरे से चिपके हुए थे और फिर मम्मी ने सिर्फ मैक्सी पहन ली।

मम्मी – बेटा तेरे दादा को खाना दे दू फिर रात में सब होगा जो तू चाहता है

मैं – मगर मम्मी पहले दादा जी की गर्मी निकाल देना वह भी अपना खड़ा लंड लिए आपका इंतज़ार करते है फिर मम्मी किचन में खाना निकालने लगी और मैं उनके पीछे से आपने लंड लगाने लगा।

मम्मी – बेटा मान जा न तेरे दादा जी देख लेंगे।

मैं – मम्मी बस थोड़ी देर आपकी चूत में लंड डालने का मन कर रहा है Sasur Bahu Ki Chudai huyi:

Maa ki chudai story

मम्मी – बेटा अभी नहीं बाद में कर लेना, मम्मी की बात सुनके में साइड मैं खड़ा हो गया तभी मम्मी ने मेरी तरफ देखा और एक स्माइल किया और फिर उन्होंने अपनी मैक्सी ऊपर कर दी मैंने भी देर किये बिना अपना लंड अंदर डाल दिया और उन्हें वही किचन में चोदने लगा लगभग 2 से 3 मिनट्स तक मैंने उन्हें चोदा फिर मेरा लंड मम्मी की चूत से गिला होकर बहार निकला था फिर मैंने और दादा जी ने खाना खा लिया और फिर मैं अपने कमरे में आ गया मम्मी और फिर मैं जैसे ही मम्मी की चूत में लंड डालने लगा मम्मी ने मुझे रोक दिया।

मम्मी – बेटा अभी रहने दे वरना तेरे दादा जी को शक जो जायेगा की मैं किसी और से भी चुदाई करवाती हु वैसे भी तू अपना पानी मेरे अंदर ही निकालता है फिर मम्मी दादा जी के पास चली गयी और

मैं खिड़की से देखने लगा दादा जी ने थोड़ी देर चूमा चाटी की और 15  मिनट्स के आस पास माँ की चुदाई की और सारा माल मम्मी की चूत में निकाल दिया फिर मम्मी मैक्सी पहन के बहार आ गयी फिर मम्मी ने मुझे खिड़की के पास मैं दिखाई दिया और मम्मी मेरे पास आयी और मेरा लंड पकड़ के मुझे अंदर ले गयी अंदर जाते ही मैंने मम्मी को झुका दिया और फिर ढेर सारा थूक निकाल के उनकी गांड पर लगा दिया और हलके हलके अपना पूरा लंड गांड में डाल दिया,

मम्मी की गांड एक दम मस्त थी मैं मम्मी की गांड चोदने लगा और मम्मी भी आह अहह कर रही थी मैं बीच बीच में आपने लंड निकल लेता तो मम्मी की गांड का छेद पूरा खुला हुआ दिखाई देता था Sasur Bahu Ki Chudai huyi:

जिसे देखकर मुझे और जोश आ जाता था कुछ देर मम्मी की गांड मारने  के बाद मैंने सारा माल उनकी गांड में डाल दिया और फिर मैंने अपना लंड मम्मी की चूत में डाल दिया जहा पर पहले से ही दादा जी के लंड का पानी भरा हुआ था दूसरा राउंड और लगभग 30  मिनट तक चला,

Sasur bahu ki chudai dikhao

फिर मैं और मम्मी आराम करने लगे।

मम्मी – बेटा चल छत पर चलते है

मैं – मम्मी क्या खुल्ले में चुदाई करवाना चाहती हो।

मम्मी – हा  बेटा कल वह बहुत मज़ा आया था फिर मैं और मम्मी छत पर चले गए और वहा भी मैंने उन्हें चोदा अब मम्मी दादा जी से जयादा मुझसे चुदवाती है क्युकी अब वह रोज रोज चुदाई भी नहीं कर सकते थे तो दोस्ती कैसे लगी मेरी कहानी मुझे कमेंट जरूर करना  Sasur Bahu Ki Chudai huyi:

Read More Sex Stories….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *