By | March 21, 2023

Sasur Bahu Ki Chudai huyi: हेलो दोस्तों, मेरा नाम अंकुर है ये कहानी मेरे दादा, मेरी और मम्मी की चुदाई की है  दादा जी कैसे मम्मी के दूध चूसते थे तो मेरा भी मन करता था और दादा जी मम्मी का पूरा बदन चाट चाट के गीला कर देते थे जिसे देखकर मेरा लंड पागल हो जाता था और मम्मी की ख़ुशी का कोई ठिकाना नहीं था अब आगे.

ये भी पढे-> पति घर के बाहर, ससुर का लंड बहू की गरम चूत मे, पोते के सामने

Sasur Bahu Ki Chudai huyi

अब तो दादा जी पुरे जोश में थे दादा जी ने मम्मी के बाल पकड़ लिए और जोर जोर से माँ की चुदाई करने लगे मम्मी खुद अपनी चुत को रगड़ रही थी और दादा जी भी पुरे स्पीड में मम्मी की गांड मार रहे थे लगभग 20-मिनट में ही दादा जी का माल मम्मी की गांड में निकल गया, दादा जी ने अपना लंड निकाल लिया और वह बेड पर लेट गए, 

दादा जी का माल मम्मी की गांड की गहराई में चला गया और मम्मी की गांड का छेद भी काफी खुल गया था, मम्मी ऐसी ही नंगी उठ गयी और पास पड़े कपडे से दादा जी का लंड साफ़ करने लगी दादा जी का लंड साफ़ करने के बाद मम्मी दादा जी के साथ लेट गयी, 

दादा जी::-बहु आज बहुत टाइम के बाद मुझे गांड चोदने का सुख मिला है तुम्हारी गांड चोद कर तो मैं जन्नत की सैर कर आया, 

मम्मी: मम्मी  – पापा जी आपने ही देर कर दी वरना मैं तो कब से यही सोच रही थी मगर बस कहा नहीं कही आप सोचने लगे की मेरी बहु तो पूरी रंडी है,  Sasur Bahu Ki Chudai huyi

दादा जी – नहीं बहु मैं कभी ऐसा नहीं सोचता और अगर तू रंडी है भी तो वह सिर्फ मेरे बेटे और मेरी रंडी है

मम्मी और दादा कुछ देर लेटे रहे और फिर मम्मी मैक्सी पहनने लगी और मैं सीधा आपने कमरे में आ गया और कच्छा नीचे करके मम्मी की गांड के बारे में सोचने लगा, 

Maa ki chudai kahani

मम्मी की गांड का ख्याल करते हुए मैं अपना लंड हिलाने लगा मेरा माल भी जल्दी निकल गया और वह सारा मेरे पेट पर निकल गया था मैं वैसे ही लेता हुआ था, तभी मम्मी कमरे में आ गयी मम्मी की नज़र मेरे 7 -इंच के लंड पर गयी जो सूपड़ा खोले माल की बूंदे टपका रहा था और साथ ही साथ झटके खा रहा था

मैंने मम्मी की तरफ देखा तो उनकी नज़र मेरे लंड पर ही थी मैंने अपनी बनियान उठायी और आपने पेट पर से सारा माल साफ़ कर दिया, फिर मैं खड़ा हो गया और अपना लंड साफ़ करने लगा मम्मी और मेरे बीच अभी तक कोई भी बात नहीं हुई थी मैंने अपना लंड अंदर कर लिया मगर वह अभी भी खड़ा हुआ था।

मम्मी – बेटा ये सब बाथरूम में किया करो यहाँ ये सब अच्छा नहीं लगता है

मैं – सॉरी मम्मी वैसे तो मैं हमेशा बाथरूम में ही करता हु मगर आज आपकी गांड की चुदाई देखकर कण्ट्रोल नहीं कर पाया इसीलिए यही कर लिया, मम्मी ने कोई जवाब नहीं दिया और वह बेड पर आके लेट गयी फिर मैं भी बेड पर लेट गया।

मैं – मम्मी आज तो आपको बहुत दर्द हो रहा होगा दादा जी ने आपकी गांड में लंड डाल दिया था क्या मैं आपको दर्द की दवाई दू।

मम्मी – नहीं बेटा मैं ठीक हु तू इन सब की चिंता मत कर अब सो जा मैं ठीक हु

मैं – लगता है मम्मी तुम पापा से भी गांड मरवा चुकी हो इसीलिए आपको भी मज़ा आया आज तो दादा जी ने आपकी मालिश भी की थी।

मम्मी – बेटा सो जा मैं थक गयी हु सुबह बात करते है।

मैं – मम्मी मैं थोड़ी देर आपके दूध पी लू फिर सो जाऊंगा।

मम्मी – नहीं बेटा अभी रहने दे मैं थक गयी हु।

मैं – मम्मी बस थोड़ी देर फिर मैं सो जाऊंगा।

मम्मी – तू मानेगा नहीं चल ठीक है मैंने मम्मी के दूध बहार निकाल लिए और उन्हें चूसने लगा कुछ देर दूध चूसने के बाद मैं भी मम्मी से चिपक कर सो गया, पूरी रात मैंने भी मम्मी की गांड पर आपने लंड घिसा और ऐसी ही २ से ३ दिन किया मम्मी अब मुझसे काफी खुल चुकी थी अब मुझे मम्मी की चुत चाटनी थी Sasur Bahu Ki Chudai huyi

ऐसी ही एक दोपहर को मम्मी चुदाई करवा के आयी थी मैं और मम्मी लेटे हुए थे मम्मी के दूध बहार निकले हुए थे और मैं उन्हें चूस रहा था मम्मी भी लेटे लेटे दूध चूसवाने का मज़ा ले रही थी।

मैं – मम्मी दादा जी जब भी आपकी चुदाई करते है तो आपने माल आपकी चुत में डाल देते है क्या आपको डर नहीं लगता? की कही आप प्रेग्नेंट हो गयी तो पापा से क्या कहोगी?

Bete ne maa ki chudai

मम्मी – बेटा हर औरत इस बात का ख्याल पहले रखती है तुझे क्या लगता है? अगर ऐसा होता तो मैं पहले ही माँ बन चुकी होती तेरे पापा भी ऐसा ही करते है वह भी मेरे अंदर ही निकाल देते है मगर मेरे पास ऐसे कुछ नुस्खे है जिससे मैं माँ बनने से बच जाती हु वरना तो तेरे पापा ने ही मुझे कई बार प्रेग्नेंट कर दिया होता।

मैं – वहा मम्मी आप तो सच में कमाल हो मुझे तो डर लगने लगा था कही किसी दिन मेरी मम्मी दादा जी से प्रेग्नेंट हो गयी तो गड़बड़ हो जाएगी।

मम्मी – बेटा जयादातर सब औरते इस बात का ख्याल रखती है

मैं – वैसे मम्मी आपने कभी वह चुदाई वाली मूवी देखि है

मम्मी -हा  देखि है तेरे पापा ने दिखाई थी

मैं – मम्मी आपने वह वाला सीन देखा है जिसमें आदमी औरत की चुत चाटता है और उस औरत को भी बहुत मज़ा आता है

मम्मी – हा बेटा देखा है मगर तू क्यों पूछ रहा है?

मैं – मम्मी मैं इतने दिनों से आपको दादा जी के साथ चुदाई करते देख रहा हु मगर दादा जी आपकी चुत कभी नहीं चाटते है वह तो बस आपकी चुत पर हाथ लगाते है और आप तो उनका लंड भी कितने अच्छे से चुस्ती हो क्या आपको अच्छा नहीं लगता है की वह भी आपकी चुत चाटे ।

मम्मी – बेटा तेरे दादा जी पुराने ज़माने के है हमारे बीच ये रिश्ता जरूर है मगर वह ये सब नहीं करते है

मैं – तो क्या मम्मी आपका मन नहीं करता है? की कोई आपकी चुत भी चाटे मम्मी – करता है बेटा मगर मैं उनसे ऐसा नहीं कहती हु

मैं – मम्मी सच कहु तो जब भी मैं आपकी चुत देखता हु मेरे मुँह में पानी आ जाता है अगर दादा जी की जगह मैं होता तो रोज आपकी चुत चाट के गीली कर देता तब तक आपकी चुत चाटता जब तक आपका पानी नहीं निकल जाता।

मम्मी मेरी बात सुनके शॉक हो गयी थी उन्हें समझ नहीं आ रहा था की वह मुझसे क्या बोले?

मम्मी – बेटा ये कुछ जयादा ही हो रहा है चल अब सो जा शाम को तेरे पापा भी आ जायेंगे फिर मम्मी सोने लगी और मैं समझ गया था की मम्मी की चुत से ही उन्हें पटाया जा सकता है मम्मी सो रही थी और मैं पूरी तरह तैयार था मैं बस सही टाइम का इंतज़ार कर रहा था, लगभग 1 घंटे का इंतज़ार करने के बाद वह मौका आ गया मम्मी ने अपनी टाँगे मोड़ ली और वह अंदर पहले ही कुछ नहीं पहना था Sasur Bahu Ki Chudai huyi

तो मैं मम्मी की टांगो के बीच आ गया और हलके हलके मम्मी की मैक्सी ऊपर करने लगा मम्मी की चुत मुझे साफ़ दिखाई दे रही थी।

मैंने एक जोर की सांस भरी और सीधा आपने मुँह मम्मी की फूली हुई चुत पर लगा दिया मम्मी अभी भी सो रही थी मगर मेरी जीभ का अहसास मिलते ही वह जाग गयी।

मम्मी – ये क्या कर रहा है तू हरामी चोद मुझे? ये सब ठीक नहीं है मम्मी मुझे दूर धकेलने लगी मगर मैंने मम्मी की दोनों टांगो को पकड़ कर रखा था।

Maa ki chudai kahani

मैं – वही कर रहा हु मम्मी जो आपको भी अच्छा लगता है मगर दादा और पापा आपको ये सुख नहीं देते है

मम्मी – प्लीज बीटा ऐसा मत कर ये ठीक नहीं है 

मैं – मम्मी ठीक तो दादा के साथ भी नहीं था मगर आप उनके साथ करती हो मैं तो ये बात किसी को बताता भी नहीं हु क्या मैं सिर्फ आपकी चुत भी नहीं चाट सकता हु मैंने मम्मी को इंदिरेक्ट्ली ब्लैकमेल किया था मम्मी भी जानती थी की अगर वह मना करेंगी तो शायद मैं ये बात किसी से कह न दू।

मम्मी – बेटा प्लीज मान जा ऐसा मत कर माँ बेटे के बीच ये सब गलत है

मैं – मम्मी मैं जनता हु आप और भी जयादा चुदाई करवा सख्ती हो मगर दादा की उम्र हो गयी है इसीलिए आप उन्हें जयादा करने को नहीं कहती हो, मगर मैं जनता हु आप अंदर से अभी भी पूरी तरह संतुस्ट नहीं हो

 मैं तो बस आपकी चुत चाट के आपको थोड़ा और मज़ा दे रहा हु, कही न कही मम्मी भी ये बात जानती थी की वह जितनी चुदाई कर सकती है उतनी वह दादा जी से नहीं करवा सकती है क्युकी वह एक जवान औरत है और दादा जी बूढ़े हो चुके है, मगर फिर भी दादा जी उनका काम तो चला ही देते है

मेरी जीभ मम्मी की चुत को पूरा चाट रही थी और अब तो मम्मी भी पूरी तरह से लेट गयी थी मम्मी ने मुझे रोकना बंद कर दिया था और अपने माथे पर हाथ रखकर चुत चटवाने का मज़ा ले रही थी आखिर वह भी खुद को कब तक रोकती, मेरी जीभ मम्मी की चुत के दाने को चाट रही थी और मेरी 2 उंगलिया मम्मी की चुत में अंदर बहार हो रही थी ऐसा दुगना मज़ा शायद ही कोई औरत सेह सकती है Sasur Bahu Ki Chudai huyi

Sasur bahu ki chudai ki kahani

फिर मम्मी का भी हाथ मेरे सर पर आ गया था और मेरी जीभ ने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी थी मम्मी अपनी चुत को ऊपर नीचे कर रही थी, यानी मम्मी का पानी निकलने ही वाला था मैं जल्दी जल्दी ऊँगली अंदर बहार कर रहा था जैसे ही मम्मी का पानी निकला मम्मी ने मेरा मुँह अपनी चुत पर दबा दिया और मैं भी वही पर रुक गया, कुछ देर मम्मी ऐसी ही लेटी रही और फिर मैंने उनकी चुत चाट के साफ़ कर दी अब मैं मम्मी की टाँगे छोड़ के उठ गया मम्मी मेरी आँखों में देख रही थी और एक अच्छे चरमसुख का अहसास उनकी आँखों में दिख रहा था

मैं – मम्मी यही वह चीज थी जिसकी कमी आपकी ज़िन्दगी में थी मगर अब आपको ये कमी भी कभी महसूस नहीं होगी।

मम्मी – बेटा ये तूने बिलकुल भी अच्छा नहीं किया

मैं – मम्मी गलती तो आप पहले ही कर चुकी हो दादा जी से चुदवा के तो अब ये भी गलत नहीं है वैसे भी बात तो घर में ही रहेगी और आज कल ये सब होता है।

मम्मी – बेटा गलती इसमें मेरी ही है जब तूने मेरे दूध चूसने को कहा था मुझे तभी मना करना चाहिए था

मैं – मम्मी अब तो सब हो चूका है तो अब अफ़सोस करने का कोई फायदा नहीं है

मम्मी – बीटा अफ़सोस करने से होगा भी क्या? तूने जो करना था वह तो तू कर चूका

मैं – मगर मम्मी ऐसा मज़ा तो आपको दादा जी से चुदवा के भी नहीं आया होगा।

मम्मी स्माइल करने लगी यानी उन्हें भी पूरा मज़ा आया था

मैं – बताओ न मम्मी मज़ा आया या नहीं।

मम्मी – अब जब कोई मेरी चुत चाटेगा तो मज़ा ही आएगा मगर मैंने ये नहीं सोचा था की वह मेरा बीटा ही होगा।

मैं – मम्मी जब मज़ा आ रहा हो तो सिर्फ मज़े देने वाला देखा जाता है उसका रिश्ता नहीं।

मम्मी – तू एक दम सड़क छाप लोगो की तरह बाते करता।

मैं – तो मम्मी एक बार और आपकी चुत चाट सकता हु Sasur Bahu Ki Chudai huyi

Sasur bahu ki chudai

मम्मी – नहीं बीटा अब रहने दे मैंने फिर मम्मी की बात मान ली क्युकी आगे मुझे उनकी चुत में लंड भी डालना था फिर मैं और मम्मी सो गए और शाम को जब मेरी आँख खुली, तब तक पापा आ चुके थे फिर हम सबने चाय पि और दादा जी और मैं बहार चले गए।

मैं – दादा जी आज तो पापा आ गए अब 2 या 3  दिन बिना मम्मी की चुत के रहना पड़ेगा।

दादा जी – बेटा इस बार ऐसा नहीं होगा आज दोपहर ही तेरी मम्मी को अच्छे से चोदा है बाकी तू तो मेरा साथ देगा ही तो फिर से चोद लूंगा।

मैं – मैं तो हमेशा आपके साथ हु दादा जी और अब तो मम्मी भी आपके साथ है

फिर मैं और दादा जी वापस आ गए हम सब ने खाना खाया और फिर मैं अपने  स्टडी वाले रूम में आ गया और दादा जी भी जाके सो गए,

पापा ने आज माँ की चुदाई की होगी सुबह मेरी आँख 7 बजे खुली मैं आपने रूम से बहार आया और सीधा दादा जी के कमरे की खिड़की के पास गया, कमरे के अंदर दादा जी का पजामा नीचे था और मम्मी घोड़ी बानी हुई थी 

मम्मी ने साड़ी और पेटीकोट ऊपर किया हुआ था और दादा जी धक्के लगा रहे थे

मम्मी – पापा जी जल्दी कर लीजिये मन्नू के पापा उठने वाले ही होंगे, मम्मी की ये बात सुनके मुझे धयान आया की पापा भी घर पर है वरना मैं तो चुदाई देखने में इतना खो गया था की ये बात भूल गया था

अब मैं एक नज़र माँ की चुदाई पर रख रहा था और दूसरी नज़र मम्मी के कमरे पर और दादा जी पुरे मज़े से माँ की चुदाई कर रहे थे अभी 5  ही मिनट हुए थे तभी मम्मी के कमरे का दरवाजा खुल गया और पापा बहार आ गए मैं तुरंत पापा के पास गया और जोर से उन्हें गुड मॉर्निंग बोला , 

मैं – गुड मॉर्निंग पापा।

पापा – गुड मॉर्निंग बेटा आज बड़ी जल्दी उठ गए, मेरी आवाज मम्मी और दादा जी के लिए सिग्नल थी तभी दादा जी के कमरे से मम्मी बहार आयी उनके सर पर साड़ी का पल्लू था पापा तो इस बात से बेखबर थे की उनके बाप अभी अभी उनकी बीवी को चोद रहे थे। Sasur Bahu Ki Chudai huyi

Sasur bahu ki chudai hindi mein

मम्मी – मुझे आवाज दे दिए होते मन्नू के पापा तो मैं चाय ले आती।

पापा – अरे बस अभी ही उठा हु चाय बाद में पियूँगा पापा ने चाय पि ली?

मम्मी – बस अभी अभी उन्ही को चाय देके आ रही हु, फिर पापा दादा जी के पास चले गए और मम्मी मेरे पास आयी।

मम्मी – थैंक्स बीटा आज तूने बचा लिया वरना तेरे दादा ने तो मरवा ही दिया था।

मैं – मम्मी मेरे रहते आपको चिंता करने की जरुरत नहीं है वैसे चुदाई पूरी हो गयी थी या रह गयी है।

मम्मी – बेटा पूरी नहीं हुई थी मगर बाद में हो जाएगी।

मैं – आप कहो तो मैं चाट के पानी निकाल देता हु।

मम्मी – हैट हरामी जब देखो यही बाते करता रहता है तेरे पापा यही है मरना है क्या मुझे?

मैं – वैसे मम्मी रात में पापा ने भी तो पूरा मज़ा लिया होगा कितने बार किया?

मम्मी – 2 बार किया था फिर सो गए।

मैं – मम्मी आपकी बातो से लगता है आपको जयादा मज़ा नहीं आया।

मम्मी – ऐसा नहीं है बेटा बस अब पहले जैसे बात नहीं रही है चल अब जा फ्रेश हो जा, फिर हम सब फ्रेश हो गए और नास्ता करने लगे मम्मी अपने काम में लग गयी और पापा के होने की वजह से दादा जी कुछ कर भी नहीं पाए, पूरा दिन ऐसी ही निकल गया मम्मी भी पापा के साथ टाइम बिता रही थी और फिर शाम को पापा बहार घूमने के लिए निकलने लगे, 

Sasur bahu ki chudai hindi

मम्मी – मन्नू के पापा आते हुए चिकन लेते आना,

पापा – ठीक है चल बेटा बाइक निकाल ले,

मैंने बाइक निकाल ली और मैं मम्मी और दादा की तरफ देख रहा था वह दोनों बहुत खुश थे हमारे निकलते ही दादा जी ने दरवाजा बंद कर लिया, पापा बाइक चला रहे थे फिर हम लोग मार्किट गए वहा पापा चिकन लेने लगे और मेरे दिमाग में यही चल रहा था की घर पर दादा जी कैसे माँ की चुदाई कर रहे होंगे,

तभी पापा का दोस्त भी वही मिल गया पापा उससे बात करने लगे और दादा जी घर पर माँ की चुदाई में लगे होंगे लगभग 40 -मिनट के बाद हम घर पहुँच गए, जब घर पर पहुंचे तो दरवाजा दादा जी ने खोला और उनके चेरे पर साफ़ पता चल रहा था की वह माँ की चुदाई कर चुके है मैं सामान लेके किचन में गया, मम्मी काम कर रही थी और मैंने उन्हें पीछे से जाके पकड़ लिया और उनके दूध दबा दिए। Sasur Bahu Ki Chudai huyi

मैं – मम्मी पुरे आधे घंटे बाद में और पापा वापस आये है दादा जी ने तो अच्छे  से गर्मी निकाल दी होगी।

मम्मी – सस्शह्ह्ह आराम से बोल तेरे पापा भी घर में है कही उन्होंने सुन लिया तो सब बर्बाद हो जायेगा।

मैं – वैसे बताओ न मम्मी दादा जी ने कर ली न चुदाई।

मम्मी – और नहीं तो क्या ऐसा मौका वह कहा छोड़ेंगे।

मैं – मतलब पापा से चुदाई करवा के मन नहीं भरा था मगर दादा जी ने अच्छे से ठंडा कर दिया।

मम्मी – ऐसा नहीं है बेट तेरे पापा भी कम नहीं है

मैं – वैसे मम्मी बस एक चीज की कमी रह गयी है पापा और दादा जी ने चूत नहीं चाटी होगी, लेकिन  वह कमी मैं पूरी कर दूंगा।

मम्मी – चल भाग यहाँ से वरना अभी बताती हु।

मम्मी खाना बनाने लगी और पापा दादा जी के साथ बैठकर बाते करने लगे फिर पापा ने दारू की बोतल निकाल ली और दादा जी और पापा दारू पीने लगे।

मैं छत पर आके मोबाइल चलाने लगा शाम के टाइम मैं अक्सर छत पर आता हु छत पर अच्छी हवा चल रही थी और मैं मोबाइल में गाने सुन रहा था तभी मम्मी भी छत पर आ गयी और मैंने उन्हें देखते ही पकड़ लिया।

मम्मी – क्या कर रहा है बेटा ? यहाँ कोई देख लेगा।

मैं – मम्मी यहाँ कोई भी नहीं है हमारी दीवार काफी बड़ी है इसीलिए किसी को कुछ नहीं दिखेगा और दादा और पापा नीचे दारू पी रहे है, मैं मम्मी के दूध दबा रहा था और मम्मी मेरा हाथ बार बार हटा रही थी मैंने मम्मी को नीचे बिठा दिया।

मम्मी – बेटा मान जा यहाँ मुझे डर लग रहा है। Sasur Bahu Ki Chudai huyi

Sasur bahu ki chudai story

मैं – मम्मी कोई नहीं देखेगा बस आप घोड़ी बन जाओ और सीढ़ियों पर देखते रहना।

मम्मी ने बिलकुल भी देर नहीं की जैसे की वह मुझसे अपनी चूत चटवाने ही आयी थी मम्मी की नज़र सीढ़ियों पर थी और मेरी नज़र उनकी मोटी गांड पर थी

मैंने देर किये बिना मम्मी की साड़ी और पेटीकोट उनकी गांड पर पलट दिया और चाँद की रोशिनी में मम्मी की गांड चमकने लगी मैंने अपना मुँह मम्मी की चूत में लगा दिया और मैं उनकी चूत को चाटने लगा मम्मी ने मुझे एक बार भी नहीं रोका मेरे दोनों हाथ मम्मी की गांड पर थे और मैं उनकी गांड को खोल खोल के चाट रहा था।

मम्मी ने आपने मुँह पर हाथ रखा हुआ था ताकि उनकी आवाज नीचे न चली जाये शायद आज पहली बार मम्मी की गांड पर किसी ने अपनी जीभ लगायी थी जिससे उनका मज़ा और भी जयादा हो गया था कभी मैं अपनी जीभ मम्मी की गांड के छेद पर चलता तो कभी अपनी जीभ उनकी चूत के अंदर डाल देता,

मम्मी को इस चुट से बहुत ही मज़ा आ रहा था और कुछ ही देर में मम्मी का पानी निकल गया मम्मी की साँसे तेज तेज चल रही थी और मम्मी की गांड और चूत का खुला मुँह मेरे लंड को बुला रहा था और मैं भी अब पागल हो रहा था इसीलिए मैंने अपना लंड निकाला और सीधा उसे मम्मी की चूत में डाल दिया।

मेरा लंड एक बार में चूत में समां गया मेरा पूरा लंड झाड़ तक अंदर चला गया था मगर मैंने अभी तक धक्के नहीं मारे थे और हैरानी की बात ये है की मम्मी ने मुझे कुछ भी नहीं कहा मैं वैसे ही लंड डाले खड़ा हुआ था मैंने अपना लंड बाहर  खींचा और जैसे ही उसे अंदर डालने वाला था, Sasur Bahu Ki Chudai huyi

Sasur bahu ki chudai ki kahaniyan

तभी नीचे से पापा ने आवाज लगा दी मुझे और मम्मी को पता ही नहीं चला की हमें ऊपर काफी टाइम हो गया था पापा की आवाज सुनके मम्मी तुरंत खड़ी हो गयी और मेरा लंड भी बहार निकल आया था जो मम्मी की चूत के पानी से गिला पड़ा था फिर मम्मी की नज़र मेरे लंड पर पड़ी तभी पापा ने फिर से आवाज लगा दी, 

मम्मी नीचे जाने लगी तभी मैंने उनका हाथ पकड़ लिया.

मैं – मम्मी मैं आज रात आपका इंतज़ार करूँगा और जब तक आप नहीं आएँगी तक मुझे नींद नहीं आएगी फिर मम्मी नीचे चली गयी और फिर मैं भी नीचे आ गया फिर हम सबने खाना खाया पापा और दादा जी ने काफी दारू पि थी खाना खाने के बाद सब अपने अपने  कमरे में चले गए और मैं खड़ा लंड लेके उस पल को याद कर रहा था

जब मेरा पूरा लंड मम्मी की चूत के अंदर था कितना गरम और सुखद अहसास था मैं लेटा लेटा मम्मी का इंतज़ार कर रहा था आज मेरी आँखों में नींद भी नहीं थी इसीलिए मैं उठके छत पर आ गया और मम्मी का इंतज़ार करने लगा,

अब  रात के लगभग 1 बजे थे और मम्मी छत पर आयी, मम्मी ने सिर्फ नाइटी पहनी हुई थी ये नाइटी उनके घुटनो तक थी जो उनके ऊपर बहुत सेक्सी लग रही थी आज ये नाइटी उन्होंने पापा के लिए पहनी थी मगर पापा दारू पिके सो गए थे अब मम्मी मुझे ही घूर के देख रही थी मगर आज मुझे उनकी आँखों में ना नहीं दिख रही थी

तो मैंने पास पड़ी चटाई को नीचे बिछा दिया और मम्मी को उस पर लिटा दिया मम्मी ने मुझसे कोई सवाल नहीं कियाऔर मैं सीधा उनके ऊपर आ गया मेरा बदन मम्मी से चिपक गया था और मेरे होंठ मम्मी के होंठों को चूस रहे थे मम्मी ने भी मेरे होंठों का स्वागत किया आज मुझे मम्मी का एक राज़ और पता चल गया । Sasur Bahu Ki Chudai huyi

Sagi maa ki chudai

जब मैंने मम्मी को किश किया तो उन्हें मुँह से दारू की बदबू आ रही थी यानी मम्मी ड्रिंक भी करती है मगर मैंने बदबू पर धयान नहीं दियाऔर हम दोनों माँ बेटे खुले आसमान के नीचे एक दूसरे को प्यार कर रहे थे मम्मी ने मुझे गिरा दिया और वह मेरे ऊपर आ गयी हमारा किश अभी भी चल रहा था और मैं मम्मी की नाइटी ऊपर करने लगा नाइटी ऊपर होते ही मेरा हाथ मम्मी की गांड पर आ गया और मैं उनकी गांड को दबाने लगा, ।

अब मम्मी का हाथ भी मेरे लंड पर आ गया था और फिर वह मेरे ऊपर से उठ गयी मम्मी मेरी सीने को चाट रही थी और फिर उन्होंने मेरे सीने पर काट भी लिया, मैं मम्मी का ये रूप में पहली बार देख रहा था शायद वह पापा के साथ ही ड्रिंक करती है इसीलिए ये बात आज तक राज़ थी आज मम्मी पूरी जंगली बिल्ली बन गयी थी ।

फिर मम्मी ने मेरे सीने को किश करते हुए नीचे आ गयी और उन्होंने मेरे कच्छे को नीचे कर दिया मेरा लंड उछल के बहार आ गया, जिसे मम्मी ने पकड़ लिया मेरे लंड का सूपड़ा खुल चूका था और मम्मी ने देर किये बिना उसे आपने मुँह में ले लिया उस पल को मैं शब्दों में नहीं लिख सकता हु,  की मुझे समय कितना मज़ा आ रहा था मम्मी ने अपनी पूरी जीभ निकाल के मेरे लंड के सुपडे पर चला रही थी और फिर उसे अपने  मुँह में लेके चूस रही थी सच में वह पल जन्नत जैसा लग रहा था कुछ देर मम्मी ने मेरा लंड चूसा और

फिर वह खुद मेरे लंड को पकड़ के अपनी चूत पर लगाने लगी और फिर वह मेरे लंड पर बैठ गयी मेरा पूरा लंड मम्मी की चूत में घुस चूका था मम्मी ऊपर नीचे होने लगी मैंने देखा जब मेरा लंड मम्मी की चूत में गया तो उस पर कुछ सफ़ेद सफ़ेद सा लगा हुआ था मुझे ये समझते देर नहीं लगी की मम्मी पापा से चुदवा के आयी है और पापा ने अपना सारा माल मम्मी की चूत में निकाल दिया है मगर मुझे इस बात का कोई फरक नहीं पड़ रहा था Sasur Bahu Ki Chudai huyi

Soti hui maa ki chudai

इस टाइम मैं मम्मी की चूत का सुख भोग रहा था मम्मी अपनी कमर चला रही थी और मैं आपने हाथ पीछे करके आराम से लेटा हुआ था मेरे और मम्मी के बीच अभी तक कोई बात नहीं हुई थी मम्मी ने मेरे हाथ पकडे और उसे अपने बूब्स पर लगा दिये फिर मैं भी मम्मी के दूध को मसलने लगा ऐसे खुले आसमान के नीचे माँ की चुदाई करने में मज़ा आ रहा था मम्मी और मैं पुरे नंगे थेऔर चलती हुई हवा हम दोनों के नंगे बदन पर लग रही थी

फिर मैं उठ के बैठ गया और मम्मी की पीठ पर हाथ रखकर मैंने उन्हें लिटा दिया, लेकिन मेरा लंड अभी भी चूत के अंदर था मैंने देखा मम्मी की चूत से सफ़ेद झाग जैसा कुछ निकल रहा था और मेरे लंड पर भी वही लगा हुआ था,

फिर मैंने दुबारा से आपने लंड अंदर डाल दिया और मम्मी ने भी खुद की टाँगे फैला दी मैं तेज तेज धक्के लगा रहा था और छत पर थप थप की आवाज गूंज रही थी, मगर मुझे और मम्मी को कोई डर नहीं था क्युकी पापा और दादा जी तो सो रहे थे मम्मी को भी कोई चिंता नहीं थी इसीलिए वह आहा की आवाज निकाल रही थी

फिर मैंने मम्मी को घोड़ी बना दिया और और पीछे से लंड डालके उनकी चुदाई करने लगा मम्मी भी अपनी गांड पीछे कर कर के मेरा साथ दे रही थी, मैं मम्मी के बाल पकड़ के धक्के लगा रहा था और लगभग 45 -मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना सारा माल मम्मी की चूत में निकाल दिया,

अब जैसे ही मैंने अपना लंड मम्मी की चूत से निकाला मम्मी की चूत से मेरा माल निकल के नीचे चटाई पर गिरने लगा मम्मी और मेरी साँसे तेज तेज चल रही थी और मेरा लंड अभी भी झटके खा रहा था Sasur Bahu Ki Chudai huyi

Bete ne maa ki chudai ki

इससे पहले मम्मी कुछ समझ पाती मैंने फिर से अपना लंड मम्मी की चूत में डाल दिया, मम्मी ने मुझे मुड़ के देखा और मैंने एक स्माइल की और धक्के लगाने शुरू कर दिए मम्मी भी वैसे ही घोड़ी बनी रही और मैं उनकी चुदाई करता रहा मगर कुछ देर बाद मम्मी खुद बोल पड़ी।

मम्मी – बेटा जल्दी से कर ले मेरे अंदर जलन हो रही है मगर आज मेरे ऊपर कोई भी असर नहीं हो रहा था मैंने कई पोज़ बदले मगर फिर भी मेरा माल नहीं निकल रहा था और जब मम्मी के जलन जयादा होने लगी।

तब उन्होंने मेरा लंड बहार निकाल दिया और मुझे खड़ा कर दिया मम्मी मेरे नीचे घुटनो के बल बैठी हुई थी और मेरा लंड मम्मी के मुँह के पास था मम्मी ने मेरा लंड पकड़ लिया और चूसने लगी मैं भी पुरे जोश में था इसीलिए मैं भी उनका मुँह पकड़ के चोदने लगा कुछ देर लंड चुसवाने के बाद मुझे लगा की अब मेरा निकलने वाला है । Sasur Bahu Ki Chudai huyi

Sasur bahu ki chudai ki story

तभी मैंने मम्मी को खड़ा कर दिया और पीछे से लंड उनकी चूत में डाल दिया कुछ ही देर धक्के लगाने के बाद मेरा माल निकल गया, फिर मम्मी कुछ देर ऐसी ही खड़ी रही और मैं भी लंड डाले ऐसी ही खड़ा हुआ था फिर मम्मी आगे हो गयी और मेरा लंड बहार निकल आया, अब मेरा माल मम्मी की जांघो पर बह के आ रहा था ।

मैंने मम्मी को अपनी बनियान दे दी और मम्मी ने सारा माल उससे साफ़ कर दिया फिर मम्मी ने जल्दी से अपनी निघ्त्य पहन लीऔर वह नीचे आ गयी फिर मैंने भी आपने कच्छा पहन के नीचे आ गया मैंने देखा मम्मी टॉयलेट से निकल रही थी फिर मैं भी टॉयलेट करके सो गया। Sasur Bahu Ki Chudai huyi

तो दोस्तो इस कहानी मे बस आज इतना ही, अगले भाग मे बतऔगा की कैसे हम माँ बेटो को चुदाई करते पापा ने देख लिया था और फिर क्या हुआ ।

Read More Sex Stories..  

One Reply to “पति घर के बाहर, ससुर का लंड बहू की गरम चूत मे, पोते ने भी अपनी माँ की चुदाई भाग 2 Sasur Bahu Ki Chudai huyi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *