By | April 7, 2023

Sasur bahu ki chudai kahani:- हेलो दोस्तों कैसे है आप सभी, उम्मीद है सभी ठीक होंगे और जम के चुदाई चल रही होगी।

हमारी वैबसाइट से चुदाई की मस्त कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे-> www.xstory.in

Sasur bahu ki chudai kahani

आज मैं एक नयी कहानी ले कर आया हूँ, उम्मीद है ये कहानी आप सब को काफी पसंद आएगी।

अपने बहुमूल्य विचार अवश्य शेयर करे, तो अब ज़्यादा टाइम वेस्ट न करते हुए स्टोरी पर आते है।

ये कहानी है एक परिवार की है जहां सब खुल के चुदाई का मज़ा लेते है।

इस कहानी में जैसे-जैसे लोग आते जायेंगे उनका परिचय मैं करवाता जाऊंगा।

Antarvasna Sasur bahu ki chudai

सब से पहला है रोहन हाइट 5 फुट 6 इंच, लंड 7 इंच काफी खूबसूरत जवान है और उसके पापा उदयकांत (उदय) हाइट 5 फुट 4 इंच, लंड 7 इंच।

रितिका रोहन की वाइफ है उसकी हाइट 5 फ़ीट है और फिगर 34-30-36 है।

कामिनी उदय की वाइफ और रोहन की माँ है, उसकी हाइट 5.2 फुट है और फिगर 36-32-38 है।

आज रितिका की सुहागरात है और वो काफी खुश है, उसके मन में एक अजीब सी हलचल है।

फिर जैसे-तैसे शाम हुई, उसकी ननद जो की मैरिड थी उसका नाम रोहिणी है हाइट 5 फ़ीट फिगर 34-30-34 है अपनी भाभी को सजाने आ गयी और आते ही मज़ाक के लहजे में बोलती है-

Sasur ne bahu ki chudai ki

रोहिणी: तो भाभी आज की लड़ाई के लिए तैयार हो?

रितिका शरमाते हुए मुस्कुरा देती है, फिर रोहिणी दरवाज़ा बंद कर देती है और बोलती है-

रोहिणी: चलो भाभी अब अपने कपडे उतार दो, ये सुन कर रितिका चौंक जाती है।

फिर रोहिणी बोलती है: शर्माओ मत आपको जल्दी से तैयार करना है, और फिर एक और रसम है।

तभी आप भैया से मिल पाओगे।

ये कहते हुए वो अलमारी से एक पैकेट निकालती है और इधर रितिका शरमाते हुए अपने कपडे उतारती है।

अब वो सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी, ये देखते ही रोहिणी गुस्सा होने का नाटक करते हुए वो भी उतारने को कहती है जिसे रितिका मान लेती है।

अब वो पूरी नंगी हो जाती है, उसके शरीर पर सिर्फ गहने होते है।

रितिका को नंगी देख कर रोहिणी की भी आँखें खुल जाती है और वो बोलने लगती है- Sasur bahu ki chudai kahani

रोहिणी: भाभी काश मैं मर्द होती, तो तुम्हे अभी चोद देती।

Sasur bahu ki chudai kahani

ये सुन कर रितिका शर्मा जाती है, रोहिणी ने ध्यान दिया की उसकी चूत के बाल हलके बड़े थे तो उसने झटपट उनको शेव कर दिया और फिर पैकेट से एक-दम ब्रांडेड और ट्रांसपेरेंट रेड कलर की ब्रा और पैंटी निकालती है।

फिर वो खुद अपने हाथो से पहनाने लगती है और इसी बहाने रोहिणी रितिका के मम्मो और चूत को भी सहलाने लगती है। इस दौरान रितिका की सिसकारी निकलने लगती है।

फिर दोनों अलग हो जाते है। उसके बाद रोहिणी अलमारी से एक और पैकेट निकालती है जिसमे एक दुल्हन का जोड़ा होता है।

Sasur ne bahu ko choda kahani

उसको दिखाते हुए रोहिणी बोलती है: ये हमारी पुश्तैनी ड्रेस है।

जब भी कोई नयी दुल्हन घर में आती है तो यही ड्रेस पहन के उसको वो ख़ास रसम पूरी करनी होती है और फिर सुहागरात मनानी पड़ती है।

वो ड्रेस एक-दम ट्रांसपेरेंट थी जिसमे से सब कुछ आसानी से दिख रहा था।

रितिका ने हैरानी से रोहिणी की तरफ देखा तो उसने मुस्कुराते हुए कहा –

रोहिणी: चिंता मत करो भाभी सब ने यही पहन के पहली बार अपनी चूत चुदवाई थी।

फिर वो उसको वो ड्रेस पहनाने लगती है और फिर उसको अच्छे से मेकअप करके सजती है।

रितिका सच में काम की देवी लग रही थी।

उसकी ड्रेस के अंदर से ब्रा और उसके अंदर से उसके बूब्स भी दिख रहे थे।

ये सब करते-करते शाम के 8 बज गए थे।

फिर रोहिणी ने उसका खाना भी रूम में ला कर खिलाया और फिर वो बोली-

रोहिणी: आप रेडी हो जाओ मैं 5 मिनट में आती हूँ।

ये कह कर वो चली गयी। 5 मिनट बाद जब वो आयी तो उसके साथ में उसकी माँ भी थी। आते ही उसने अपनी बहु की नज़र उतारी और उसके माथे पर एक किस दिया। फिर उसने कहा-

सास: बहु आज जो रसम तुम करने जा रही हो वो सब से अनोखी है। ये सिर्फ हमारे खानदान में होता है और कही नहीं। तो

रितिका ने पुछा: ऐसी कौन सी रसम है?

तो उसकी सास ने कहा: देखो बेटी जब किसी का बेटा जॉब करता है तो वो अपनी पहली कमाई अपने माता-पिता के हाथो में सौंपता है।

क्यूंकि उन्होंने ही उसको पाल-पोस कर बड़ा किया होता है।

इसी तरह हमारे खानदान में भी ऐसी मान्यता है की जब बेटा या बेटी की शादी होती है तो उन पर पहला हक़ उनके माँ-बाप का होना चाहिए। Sasur bahu ki chudai kahani

ये सुन कर रितिका शोक्ड हो गयी और बोली: ये क्या कह रही है आप माँ जी?

Sasur bahu ki chudai ki Stories

तो उसकी सास ने फिर कहा: बेटी घबराओ मत जब मैं आयी थी तो मेरे साथ सबसे पहले मेरे ससुर ने सुहागरात मनाई थी।

वो भी पूरे परिवार के सामने, और जब मेरी ननद की शादी हुई थी तो उनके हस्बैंड को सब से पहले मेरी सास के साथ चुदाई करनी पड़ी थी।

इसी तरह जब रोहिणी की शादी हुई थी तो दामाद जी (अविनाश) ने सब से पहले मेरी चूत को चोदा था और बेटी आज तुम्हारी बारी है अपने ससुर को खुश करने की।

ये सुन कर रितिका घबरा गयी।

फिर उसकी सास बोली –घबराओ मत बेटी वो बहुत अच्छे से चुदाई करते है, बड़े प्यार से चोदेंगे तुम्हे, और एक बार चुदने के बाद तुम बार-बार उनसे ही चुदना चाहोगी।

चुदाई की इतनी बातें सुन कर रितिका भी गरम होने लगी थी।

उसने सोचा की जब खुद परिवार वाले उसको दुसरे से चुदने का चांस दे रहे है तो मौका क्यों वेस्ट करना।

वैसे भी रितिका ने कॉलेज के टाइम बहुत से लौड़ों को चखा था।

तो उसने हां कर दी, फिर उसकी सास और ननद दोनों बड़े प्यार से उसको कमरे से बाहर ले जाते है।

हॉल में जाते ही वो देखती है की एक बड़ा सा बेड लगा था।

मुलायम गद्दे लगे थे और पूरा पलंग फूलों से सजा था।

पलंग के आस-पास कुर्सियां लगी थी जिन पर उसकी फॅमिली के सारे मेंबर्स बैठे थे, उसको आश्चर्य तब हुआ जब उसने देखा की उसके मम्मी-पापा और भाई-भाभी भी वहाँ थे।

उसकी ननद ने उसको ले-जा कर पलंग पर बिठाया और कहने लगी –Sasur bahu ki chudai kahani

रोहिणी: मेरे सारे चोदू मर्दों और रंडी औरतों जैसा की आप सब जानते है की मेरा दल्ला भाई एक नयी रंडी हमारे घर में लाया है जिसकी आज नथ उतरने वाली है।

जो की मेरा दल्ला बाप उतारेगा जिसने मेरी सील तोड़ी थी।

फिर सब तालिया बजाने लगते है और रितिका की माँ अपने समधी उदय का हाथ पकड़ कर उसको पलंग तक लाती है।

फिर वो उसका हाथ अपनी बेटी के हाथ में देते हुए कहती है –

रितिका की माँ: समधी जी खूब अच्छे से चोदना मेरी बेटी को जैसे मुझे चोदते हो।

ससुर बहू की चुदाई की कहानी

(उनके पहले की चुदाई की कहानी बाद में बताऊंगा),ये सुन कर अब रितिका को कोई आश्चर्य नहीं हो रहा था मानो सब नार्मल हो गया था अब उसके लिए। और अब उसने भी खुल के मज़ा लेने की ठान ली थी।

फिर उदय बेड पे बैठ जाता है और बड़े प्यार से रितिका के घूंघट उठाने की फॉर्मेलिटी करता है।

क्यूंकि सब तो दिख ही रहा होता है।

फिर मुँह दिखाई के तौर पर वो अपनी जेब से एक सोने की चेन निकाल कर उसके गले में पहना देता है।

सब तालिया बजाने लगते है।

फिर उदय धीरे-धीरे अपनी बहु को बेड पे लिटा देता है और प्यार से उसका दुपट्टा खींच के हटा देता है।

रितिका की साँसे भारी होने लगती है और उसके बूब्स ऊपर-नीचे होने लगते है।

फिर उदय एक-एक करके उसके ब्लाउज के हुक्स खोल देता है और उसको भी उतार देता है।

अब वो सिर्फ ब्रा में थी जो की उसके बूब्स को साफ़-साफ़ दिखा रही थी।

अब उदय अपनी बहु के पैर के नीचे आ जाता है।

फिर वो उसके अंगूठे को मुँह में ले कर बड़े प्यार से चूसने लगता है।

इससे रितिका काफी उत्तेजित हो जाती है और अपने हाथ से बेड को दबाने लगती है। Sasur bahu ki chudai kahani

फिर उदय धीरे-धीरे उसका लेहंगा ऊपर करते हुए उसके पैरो को चाटने लगता है और जांघो की तरफ बढ़ने लगता है।

उसके बाद वो एक हाथ की ऊँगली से अपनी बहु की नाभि सहलाने लगता है जिससे रितिका और भी मदहोश होने लगती है। उदय काफी मँझा हुआ खिलाडी था।

उसको चुदाई का एक-एक गुण पता था जिसका वो पूरा सुख अपनी बहु को दे रहा था।

अब वो धीरे-धीरे उसकी जांघो से होते हुए उसकी चूत की तरफ बढ़ रहा था।

उसकी साँसे रितिका अपनी चूत में महसूस कर रही थी जिससे उसकी सिसकारियां और भी कामुक हो रही थी।

फिर उदय ने धीरे-धीरे अपनी बहु की पैंटी को उतारा और अपनी जीभ उसकी चूत पर रख कर चाटने लगा।

रितिका तो मानो सातवे आसमान में थी।

अब वो भी साथ दे रही थी और अपने हाथ से अपने ससुर का सर अपनी चूत में दबा रही थी और सिसकारियां ले रही थी।

ससुर ने बहू के साथ मनाई सुहागरात

करीब 10 मिनट तक चूत चाटने के बाद रितिका झड़ने लगी और उदय ने उसका सारा रस पी लिया।

फिर उसने कहा –उदय: बहु अब तो मेरा लंड अपने मुँह में लो और ये बोलते ही वो लेट गया और रितिका ने भी देर न करते हुए उसके 7 इंच के लंड को अपने मुँह में डाल लिया और ऊपर-नीचे करने लगी।

और जब वो ऊपर-नीचे करती तो उसका बदन हिलने की वजह से उसके गहने भी खनक रहे थे जो की पूरे माहौल को और भी कामुक बना रहे थे।

करीब 15 मिनट तक वो अपने ससुर के लंड को चूसती रही।

फिर उसका सारा माल अपने मुँह में ले लिया और बड़े बेशरम अंदाज़ में बोली-

रितिका: पापा जी अपना अमृत पियोगे?

तो उदय ने भी कहा: हां बेटी क्यों नहीं!

फिर दोनों पागलों की तरह किस करने लगे और दोनों एक-दुसरे के मुँह में काम-रस डालने लगे और आखिर में दोनों ने पी लिया।

फिर रितिका ने उदय के लंड को मुँह में लेकर टाइट करना चालु कर दिया और जल्दी ही उसका लंड खड़ा हो गया।

उदय रितिका को बोला: बेटा लेट जाओ।

तो रितिका ने कहा: नहीं पापा जी आज आप नहीं मैं आपको चोदूंगी।

ये सुन कर सब हंस पड़े और उदय ने भी हँसते हुए कहा-

उदय: ठीक है मेरी जान। लो मैं ही लेट जाता हूँ।

और इतना बोल कर वो लेट गया और रितिका ने अपनी ननद को बुलाया और कहा –

रितिका: अपने बाप को चोदने में मेरी मदद कर और उनका लंड पकड़ कर मेरी चूत में डाल दे।

पहले रोहिणी ने अपने बाप का लंड अपने मुँह में ले कर गीला किया और फिर लंड को रितिका की चूत के मुँह के सामने रख कर कहा-रोहिणी: भाभी चोद डालो आज मेरे चोदू बाप को।

ये सुनते ही रितिका ने हल्का सा ज़ोर लगाया और लंड का टोपा उसकी चूत में चला गया।

भले ही वो पहले चुद चुकी थी लेकिन ऐसे मुश्तंडे लंड से उसका पाला पहली बार पड़ा था।

रितिका की आँखों से आंसू निकल आये लंड लेके।

फिर उसने थोड़ी हिम्मत करके ज़ोर लगाया और बड़ी मुश्किल से आधा लंड ही उसकी चूत में जा सका।

वो अब रुआंसी सी हो गयी थी। ये देख कर उसकी ननद ने उसकी पीठ को सहलाया और थोड़ी देर बाद जब वो थोड़ा नार्मल हुई तो वो लंड पर ऊपर-नीचे होने लगी।

उदय ने जब ये देखा तो उसके मन में एक शरारत सूझी।

जब रितिका लंड पर बैठने लगी तो उसने नीचे से एक ज़ोरदार झटका दिया और उसका पूरा लंड रितिका की चूत में समां गया, रितिका चीख पड़ी और रोने लगी। Sasur bahu ki chudai kahani

ससुर ने नयी बहू के चूत फाड़ी

ये देख कर उदय ने धक्के लगाना बंद कर दिया और उसको अपने सीने से चिपका के किस करने और पीठ सहलाने लगा।

इधर रितिका अपने ससुर को गाली दिए जा रही थी।

करीब 5 मिनट के बाद वो शांत हुई और अब वो फिर ऊपर-नीचे होने लगी और अब उदय भी उसका साथ देने लगा और अपने दोनों हाथो से उसके बूब्स को मसलने लगा।

रितिका काफी कामुक सिसकारियां ले रही थी।

पूरा हॉल उसकी सिसकारियों और चुदाई की आवाज़ों से गूँज रहा था।

करीब 10 मिनट तक इसी तरह चुदाई के बाद रितिका ने कहा-

रितिका: पापा अब आप चोदो मुझे!

और वो उसके ऊपर से उतरने लगी तो उदय ने रोक दिया और उसको अपनी बाहों में जकड के पलट गया।

अब रितिका नीचे और उदय ऊपर था, और फिर उदय ने अपना असली रंग दिखाना चालु किया और धक्को की स्पीड बढ़ाने लगा, वो काफी ज़ोर से धक्के लगाने लगा जिससे रितिका का पूरा शरीर हिलने लगा और उसके बूब्स उछल रहे थे, और अब वो ज़ोर-ज़ोर से सिसकारियाँ लेने लगी, उदय पूरे जोश में आ गया और गालिया देने लगा। Sasur bahu ki chudai kahani

उदय: ले मादरचोद चुद अपने ससुर से।

आज तेरी चूत का भोंसड़ा बना दूंगा जिस तरह से तेरी माँ की चूत का बनाया है मैंने।

अपने ससुर के मुँह से गालिया सुन कर रितिका भी उत्तेजित होने लग गयी और वो भी गालिया देने लगी।

रितिका: हां भड़वे चोद अपनी बहु को! बना दे आज मुझे अपनी सास की सौतन और दे दे मेरे पति का सौतेला भाई मेरी कोख में।

ससुर बहू की चुदाई की स्टोरी

इस तरह से दोनों चुदाई करने लगे और एक-दुसरे को गालिया देने लगे, 20 मिनट की घमासान चुदाई के बाद उदय ने कहा-

उदय: मेरा माल निकलने वाला है। बोल कहा निकालूँ?

तो इतने में उसकी बीवी कामिनी ने कहा: सुना नहीं अपनी बहु को आपका बच्चा चाहिए, डाल दो उसकी चूत में अपना सारा माल और बना दो मेरी सौतन।

करीब 15-20 धक्के लगाने के बाद उदय ने अपना सारा माल अपनी बहु की चूत में डाल दिया, फिर वो रितिका के ऊपर में ही निढाल हो कर गिर पड़ा और दोनों अपनी-अपनी साँसों पर काबू पाने की कोशिश करने लगे।

करीब 5 मिनट के बाद उदय रितिका के ऊपर से हटा और पूछने लगा की चुदाई कैसी लगी।

तो इस पर रितिका ने कहा की उसने आज तक ऐसी चुदाई कभी नहीं करि थी।

ये बोल कर वो अपने ससुर को किस करने लगी। Sasur bahu ki chudai kahani

फिर वो बोली: अब जब सब यहाँ है तो क्यों न मेरी एक ख्वाहिश और पूरी कर दी जाये?

तो उदय ने कहा: बोलो क्या ख्वाहिश है तुम्हारी?

इसपर रितिका ने कहा: मुझे आपसे और पापा से एक साथ चुदना है।

ये सुन कर सब हंसने लगे

और उदय ने कहा: समधी जी देर किस बात की? जिस पेड़ को आपने पाल पोस कर बड़ा किया है उसका फल खाने का टाइम आ गया है।

ये सुन कर रितिका के पापा खड़े हो गए और पलंग पर आ गए।

चुदाई की ये कहानी यहीं तक। अगले पार्ट में बताऊंगा की रितिका ने किस तरह से एक साथ अपने ससुर और बाप से खुल कर अपनी चूत चुदवाई और मज़ा लिया। और उस रात वो और कितने लंड से चुदी। सब अगली स्टोरी में बताऊंगा। आप सभी को परिवार की सामूहिक चुदाई कैसी लगी मुझे कमेंट करके ज़रूर बताना।

Read More Sex Stories..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *