By | April 30, 2023

Sasur bahu ki chudaii: हैलो दोस्तो, पिछले पार्ट्स में आपने पढ़ा की आशु की बहन को चुदाई का चस्का लग गया था और वह एक बार चुदने के बाद फिर से चुदना चाहती थी 

फिर आशु और मैं उसको फार्महाउस में ले गए और वहा जाके आशु ने उसकी चुदाई की, लेकिन तभी पता नहीं कहा से आशु के पापा धनुष अंकल वहा आ गए।

Sasur bahu ki chudaii

मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की लेकिन वह नहीं रुके उन्होंने आशु को गालिया दी और रूम से बाहर निकाल दिया फिर उन्होंने खुद अपनी बेटी को चोदा और उसकी गांड भी फाड़ डाली अब आगे चलते है।

एक बाप अपनी बेटी का और एक भाई अपनी बहन का मज़ा ले चूका था धनुष अंकल थक चुके थे और कीर्ति भी थक चुकी थी फिर वह दोनों वही लेट गए।

अब मेरा और आशु का वह कोई काम नहीं था तो हम दोनों वापस आ गए मैं भी आके सो गयी और आशु भी अपने रूम में जाके सो गया अगले दिन फिर मैं नाहा धो के तैयार हो गयी, घोष बाबू काम पर जा चुके थे फिर मैं किचन में गयी अपने लिए चाय बनाने मैं किचन में चाय बना रही थी की तभी धनुष अंकल पीछे से आ गए उन्होंने मुझे बोले: Sasur bahu ki chudaii

Sasur bahu ki chudai ki kahani

धनुष अंकल: चाय बना रही हो?

मैं: जी अंकल।

धनुष अंकल: एक कप मेरे लिए भी बना के दे जाना मुझे।

मैं: ओके अंकल फिर मैंने उनके लिए चाय बनाई और उनके रूम में देने चली गयी मैंने पिंक कलर की साड़ी पहनी हुई थी और ब्लाउज भी उसी रंग का था जब मैं उनके रूम में गयी तो अंकल लुंगी में बैठे थे।

मुझे देख कर वह अपना लंड मसलने लग गए उनका लंड उनकी लुंगी में खड़ा हुआ था। मैंने उनके लंड को इग्नोर किया और चाय टेबल पर रख कर बोली-

मैं: अंकल आपकी चाय,

धनुष अंकल: ठीक है फिर मैं वापस मुड़ी और रूम से बाहर आने लगी जैसे ही मैं रूम के दरवाज़े तक पहुंची तो अंकल ने पीछे से मेरी साड़ी का पल्लू खींच दिया।

वह पल्लू खींचते रहे और मैं घूम गयी इससे मेरी पूरी साड़ी निकल गयी अब मैं उनके सामने सिर्फ ब्लाउज और पेटीकोट में थी तभी मैं बोली-

मैं: ये क्या कर रहे है आप अंकल?

अंकल: साली रांड तुझे क्या लगा की मुझे कुछ पता नहीं चलेगा मैं पहले दिन ही तुझे देख कर समझ गया था की तू बहुत बड़ी वाली रांड है घोष को मैं बचपन से जानता हु उसमे इतना दम नहीं है की तुझे चोद कर ऐसा बना सके।

ये तो किसी और की ही मेहनत है।

अंकल: तेरी बड़ी गांड देख कर पता चलता है की इसमें बहुत सारे लंड गए है तेरे रस से भरे बूब्स को पता नहीं किस-किस के होंठो ने चूसा है तेरी ये जाँघे ऐसे ही नहीं इतनी सेक्सी हुई बहुत से मर्दो की जाँघों से टकरा-टकरा कर तेरी जाँघे इतनी ज़बरदस्त हुई है Sasur bahu ki chudaii

Sasur bahu ki chudai kahani

अंकल: अब तू यहाँ आ ही गयी है तो मेरे लंड की प्यास भी बुझा दे अपने जिस्म की गर्मी मुझे दे दे निकिता और ये बोल कर अंकल ने मुझे अपनी बाहों में भर लिया और मुझे पागलों की तरह चूमने लगे।

मैं तो वैसे भी नए-नए मर्दों से चुदने की शौक़ीन हु मैंने उनको पीछे धक्का दिया और कहा-

मैं: दरवाज़ा तो बंद कर लीजिये जनाब, धक्का लगने पर एक बार अंकल घबरा गए थे लेकिन मेरी इस बात ने उनको खुश कर दिया फिर वह बोले-

धनुष अंकल: निकिता मुझे तुम्हारी गांड मारनी है इतनी ज़बरदस्त गांड मैंने कभी नहीं चोदी ।

मैं: आप जो चाहो अंकल लेकिन ज़रा दबा के चोदना मुझे हलकी-फुलकी चुदाई से मुझे मज़ा नहीं आता।

अंकल: अरे तू फ़िक्र न कर मेरी जान आज तेरी गर्मी को ठंडा कर दूंगा मैं फिर उन्होंने कोई गोली खायी और वापस मेरे पास आ गए आके उन्होंने मुझे अपनी बाहों में जकड लिया और मुझे चूमना शुरू कर दिया।

उन्होंने अपने होंठ मेरे होंठो से चिपका दिए और हम दोनों किश करने लगे वह मेरे होंठो को काट-काट कर चूस रहे थे और साथ में मेरी गांड के चीयर में हाथ डाल कर दबा रहे थे।

उन्होंने पीछे से मेरा पेटीकोट ऊपर कर लिया था और पंतय पर से मेरी गांड दबा रहे थे।

फिर उन्होंने मेरा ब्लाउज और ब्रा उतार दिए अब मेरे रस से भरे बड़े-बड़े बूब्स उनके सामने थे वह मेरे बूब्स को देखते ही उन पर टूट पड़े उन्होंने ज़ोर से मेरे बूब्स को पकड़ लिया और निप्पल्स चूसने लग गए।

मैं आहें भर रही थी फिर वह नीचे हो गए और मेरी कमर को चूमते हुए मेरी जांघों पर चले गए उन्होंने मेरे पेटीकोट का नाडा खोला और उसको उतार दिया मेरी जाँघे देख कर वह पागल हो गए। Sasur bahu ki chudaii

Sasur bahu ki chudai hindi mein

उन्होंने मुझे अपने कंधे पर उठा लिया और बेड पर ले गए बेड पर ले-जाके उन्होंने मुझे पटक दिया और मेरे ऊपर कूद पड़े।

वह मेरी जाँघों को चूमने लगे और मेरी पंतय में मुँह मारने लगे, फिर उन्होंने मेरी पंतय उतार दी और मेरी जाँघों में अपना मुँह डाल कर वह मेरी चुत में जीभ डालने लगे और उसका मधुर रस पीने लगे।

मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था और मैं मदहोश हो रही थी वह मेरी चुत के बालों को अपने दांतो से खींच रहे थे इसका अपना अलग सा ही मज़ा आ रहा था कुछ देर उन्होंने ऐसे ही किया अब मैं चुदने के लिए तरस रही थी।

फिर उन्होंने अपने कपडे उतार दिए और उनका लंड उछल कर मेरे सामने आ गया वह मेरे मुँह के ऊपर आये और अपना लंड मेरे होंठो पर रगड़ने लग गए फिर जैसे ही मैंने मुँह खोला तो उन्होंने अपना लंड मेरे मुँह में घुसा दिया।

उन्होंने अपना पूरा लंड मेरे मुँह में डाल दिया और अंदर-बाहर करने लग गए मुझे सांस नहीं आ रही थी और मैं उनकी जाँघों पर तप कर रही थी लेकिन वह लंड मेरे मुँह में घुसेड़े जा रहे थे।

25-मिनट में उन्होंने मेरे मुँह को चोद चोद  कर लाल कर दिया फिर उन्होंने लंड बाहर निकाला और मेरे होंठ चूसने लग गए उनका लंड नीचे मेरी चुत पर रगड़ खा रहा था और वह मुझे किश कर रहे थे।

फिर मैं अपना एक हाथ नीचे लेके गयी और उनका लंड अपनी चुत पर सेट कर दिया चुत गीली थी तो उनका लंड चुत के अंदर चला गया फिर मैंने बोला- Sasur bahu ki chudaii

मैं: चलो दिखाओ अब अपने लंड का जादू, मेरे ये बोलते ही अंकल ने धक्का-पेल चुदाई शुरू कर दी वह फुल स्पीड में मेरी चुत में लंड अंदर-बाहर करने लग गए मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और मैं अपने बूब्स आपस में दबा रही थी।

Sasur bahu ki chudai story

फिर अंकल ने मुझे एक साइड मोड़ दिया और साइड से मेरी चुत चोदने लग गए मैं अब एक टांग उठा कर अपनी चुत चुदवा रही थी लगभग 20  मिनट ऐसे ही उन्होंने मेरी चुत चोदी ।

फिर उन्होंने लंड चुत से बाहर निकला और मेरी गांड में दाल दिया, लंड चुत के पानी से गीला था तो आराम से अंदर चला गया मैंने आठ अहह करनी शुरू कर दी और अंकल मेरी गांड चोदते रहे।

फिर उन्होंने मुझे घोड़ी बना लिया और पीछे से मेरी गांड में धक्के देने लग गए थप-थप की आवाज़े आ रही थी और चुत पानी निकाले जा रही थी अंकल ने मेरी गांड पर थप्पड़ भी मारे जिससे मेरी गांड लाल हो गयी थी।

वह पीछे से हाथ लाके मेरे बूब्स दबा रहे थे वह इतने ज़ोर से मेरे बूब्स दबा रहे थे जैसे दूध निकाल रहे हो अब वह निकलने वाले हो चुके थे जैसे ही उन्होंने बताया की उनका निकलने वाला था मैंने जल्दी से उनका लंड मुँह में डाल लिया.

उन्होंने मेरे मुँह में धक्के मारने शुरू कर दिए और मेरे फेस को थप्पड़ो से लाल कर दिया, फाइनली वह मेरे मुँह में झड़ गए उनका लंड काफी पानी छोड़ रहा था.

मैंने उनका सारा पानी निगल लिया फिर हम दोनों वैसे ही लेट गए कुछ देर बाद मैं उठी और साड़ी पहन कर बाहर चली गयी।

तो दोस्तो ये थी मेरे चुदक्ड खानदान की चुदाई की कहानी, मुझे उम्मीद है आपको बहुत पसंद आई होगी , प्लीज कमेंट करके ज़रूर बताना , Sasur bahu ki chudaii

इस कहानी का भाग 4 यहा से पढे: भाग 4 –> चुदकड़ों की खानदानी रासलीला 4

हमारी वैबसाइट से चुदाई की मस्त कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे-> www.xstory.in

Read More Sex Stories……


3 Replies to “चुदकड़ों की खानदानी रासलीला 5”

  1. Pingback: मम्मी को पटा के चोदा 2 Bhai Ne Mom ki Chudai kii

  2. Pingback: मम्मी को पटा के चोदा 3 Mummy Kii Chudai

  3. Pingback: कामवाली ने कारवाई माँ की चुदाई 2 Sagi Maa ki chudai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *