By | April 15, 2023

Sasur bahu ki Story: हैलो दोस्तो,  मेरा नाम सारा अंसारी है मैं पुणे में रहती हु और 24 साल की हु मैं जानती हु की आप सब उत्सुक है तो मैं बता देती हु की मेरा फिगर साइज है 36-30-38 कहानी शुरू करने से पहले मैं अपना बैकग्राउंड बताती हु।

मैं थोड़ी देर में ही पूरी तरह नशे में आ चुकी थी मेरे हाथ पाँव मेरे काबू में नहीं थे मुझे खड़ा किया तो लड़खड़ा गयी ससुर ने तुरंत से कमर में हाथ डाल के सहारा दिया और बेड पे लेता दिया।

Sasur bahu ki Story

मेरे दोनों बूब्स को काटा कई जगह दांत गड़ाए 1-2 जगह से हल्का खून भी रिसा, फिर निप्पल को दांत के बिच डाल के दबाया नशे के कारन चीख भी घुटी घुटी ही निकल रही था।

ससुर भी नशे के शुरुर में था और जोश चढ़ा हुआ था मेरे पेट पे बेल्ट से 6-7  बार मारा फिर पीठ पे भी और जांघ पे भी फिर पेट गर्दन और जांघ पे कई जगह चूसा और काटा, अब उनका लंड एक झटके में अंदर घुसेड़ दिया और  काफी  देर तक ही चुदाई करता रहा।

मुझे बस दर्द हो रहा था पता नहीं एक बार झड़ी या दूसरी बार आँखें बंद करके पड़ी रही अब मुझे गोद में उठा के बाथरूम ले गया और सीधे बाथटब में डाल दिया। Sasur bahu ki Story

Sasur ki chudai

अब पानी की ठंडक से कुछ नशा हल्का हुआ, ससुर ने ही टब से बहार आने कहा तब उनका  सहारा ले कर खड़ी हुई और जैसे तैसे खुद को टॉवल से पूंछा और सीधे बेड पे आकर लेट गयी।

अब उसने मेरी चुत पे भी दांत काटा था जगह जगह दर्द हो रहा था काटे हुए का ससुर का  फिर से लंड अंदर ग़ुस्सा के मेरे ऊपर लेट गया और टीवी देखते हुए फ़ोन पे बातें करता रहा, बिच बिच में 7-8  झटके मारता, फिर रुक जाता इस तरह से मेरी साँसे भारी होने लगी उसके वज़न से तब मुझे करवट दिला के सुला दिया और मेरी पीठ के पीछे लेट के लंड को चुत के अंदर ग़ुस्सा दियाऔर 2 घंटे तक रुक रुक के 5-6 झटके मारता हुआ टीवी और फ़ोन चलता रहा।

जब मन भर गया तो मुझे सीधा लेटा के सुरु हो गया और 15-20  झटके दे कर झड़ गया और अब सुबह उठ के टॉयलेट गयी तो उसकी हैवानियत के निशान शरीर पे थे बूब्स पे कटे हुए के निशान घाव और सूजन थी।

पेट कमर पीठ और जांघ पे बेल्ट के निशान थे रूम में जाते ही ससुर ने सॉरी बोला और बेल्ट मुझे दे कर बोला:.

ससुर जी: तुम चाहो तो बदला ले लो” इतनी शराफत देख कर सारा दर्द भूल गयी और प्यार से लंड को सहलाते हुए खड़ा किया और बगल में लेट गयी।

ससुर मेरे ऊपर सवार हो के धक्के लगाने लगे दोनों एक साथ ही झड़े थोड़ी देर बाद उठ के अपने काम में लग गए उस दिन हॉलिडे था इसलिए घर पर ही थे ससुर के साथ नाश्ता किया और 10 बजे दोनों कार से ड्राइव पे निकल पड़े।

अब दोहपर को 3 बजे घर लौटे ससुर के कहने पे मैं सिर्फ एक टॉवल लपेट के आ गयी और ऊपर लाइनर पहना था हंसी मज़ाक करते हुए ससुर ने लाइनर उत्तार दिया और बूब्स को प्यार से सहलाते हुए निप्पल को चूसा फिर चुत को भी फिर मुझे उल्टा करके मेरी पीठ पे सवार हो के मेरी गर्दन और कान को चूसा और में शरबत बना के लाई तब मुझे बताया की वह आज मुझ से ज़बरदस्ती के मूड में है। Sasur bahu ki Story

Bahu sasur ki chudai

मुझे भी अब लंड का डर रहा नहीं, फिर मैंने  कहा कर लो तो खुलासा किया की वह मेरी गांड में डालेंगे सुनते ही मैं डर गयी और मना किया लेकिन ससुर ज़िद पे आ गया की मैंने ही कहा था कर लो और मुझे पकड़ के उल्टा लेटाने लगे।

दोनों में कुस्ती की तरह लड़ाई होने लगी लेकिन ससुर में ताकत ज्यादा थी मुझे उल्टा करके दबा दिया और लंड का सूपड़ा अंदर जाते ही चीख पड़ी बेदर्दी की तरह मेरी चीख पुकार सुने बिना ही गांड के भीतर तक पूरा लंड घुसेड़ के रुक गया।

मेरी सिसकियाँ निकल रही थी और गांड में खून भी आ चूका था फिर सुरु हो गया और 7-8  मिनट तक धक्के लगते हुए झड़ गया और बेड  शीट पे भी खून लग गया था अब  मेरी गांड में दर्द हो रहा था मुझे पुचकारा और थोड़ी देर बाद मुझे गहने दिए मैं बहुत खुस्स हुई और ससुर से नाराज़गी दूर हो गयी, नाराज़ हो कर भी क्या कर सकती थी रात को 9  बज चुके थे।

ससुर मेरे ऊपर सवार हो के सुरु हो गए दोनों साथ ही झड़े किसी तरह का दर्द नहीं हुआ सिर्फ मज़ा ही आया अगले दिन रात को ससुर ने गांड में भी डाला तो

मज़ा ही आया।

अब 5 दिन बीत चुके थे मेरे और ससुर के बिच खुल के चुदाई हो रही थी ससुर ने बताया की उनका एक एम्प्लोयी जिसकी बीवी बहुत सुन्दर है वह ले कर आएगा घर पे क्यूंकि ससुर ने उसको प्रमोशन का लालच दिया एम्प्लोयी का नाम राजेश था और बीवी का नाम सुमन था।

उनकी उम्र 22 साल ही थी राजेश अपनी बीवी को घर पे 2 दिन के लिए छोड़ गया अब मेरे और ससुर रिलेशन का किसी को भी भनक तक भी नहीं थी और मैं निचे फ्लोर के रूम में चली गयी ससुर के कमरे तक जाने की दूसरी सीढ़िया भी थी राजेश के जाने के बाद में छुप के ससुर के रूम के दूसरे दरवाज़े से भीतर गयी  तो मैं पीछे छुप के देख रही थी।

ससुर को पता था इस बात कासुमन दुबली पतली और सुन्दर थी एवरेज हाइट ही थी और ससुर एक दम से विवेक ओबेरॉय जैसे स्ट्रांग बॉडी के थे। Sasur bahu ki Story

अब सुमन को गोद में बैठा का किश करते हुए पुरे कपडे उत्तार दिए छोटे छोटे बूब्स थे अब उनको पूरा ही मुँह में ले कर चुस्ता हुआ दांत गढ़ा दिया।

Sasur ki chudai ki kahani

सुमन चीख ने लगी फिर तो चीखने का सिलसिला जारी ही रहा कई जगह बूब्स को काट चूका था और ससुर का लंड देख कर सुमन भी मेरी तरह सकपका गयी और हाथ जोड़ के कहा की पूरा नहीं ले पाउंगी।

लेकिन ससुर पे तो भूत सवार था बेड पे लेटा के बेदर्दी से एक ही झटके में अंदर डाला, अब रूम में सुमन की चीख गूंजने लगी सुमन की आँखों में आंसू आ चुके थे और गिड़गिड़ाए जा रही थी।

लेकिन ससुर ज़ालिम की तरह धक्के पे धक्का लगाता हुआ उसके छोटे छोटे बूब्स और निप्पल को भी बुरी तरह मसल रहा था।

झड़ गया, तब सुमन की सांस में सांस आयी उसके बूब्स में 2-3  जगह से खून रिस रहा था हल्का और सूजन भी थी बेचारी से चला भी नहीं जा रहा था ठीक से,

फिर भी टॉयलेट जा के आयी ससुर ने उसको 2 पेग पीला दिए और नींद की गोली खिला दी 10 मिनट में नशे में आते ही सुमन को रूम में बंद कर मेरे रूम की तरफ आ गए।

मैं भी आ गयी ससुर जी ने कहा “इस पे नज़र रखना मैं बहार जा रहा हूँ अर्जेंट काम है 3-4 घंटे के लिए इसका पति अगर आ जाय तो उसको चाय पीला के कह देना वह दोनों बहार गए है अगर वेट करे तो उसको निचे के फ्लोर के रूम में वेट करने देना”।

ससुर के जाने के बाद मेरे मन में भी बेमानी आ गयी मैंने राजेश को आता देख लिया और ब्रा उत्त्तार दी थी सिर्फ ब्लाउज ही था और जानभूझ के साड़ी को निचे बाँधा और कमर और पेट दिख रहा था राजेश अंदर आया तो उसको रटा रटाया जवाब दे दिया, बेचारा छोटा सा मुँह लेकर बैठ गया उसके लिए चाय ले कर आयी और बातें करने लगी।

अब राजेश की नज़रें मेरे शरीर को घूर रही थी छुप छुप के ससुर और उसकी बीवी दोनों का ही फ़ोन भी नहीं लग रहा था रह रह के चिंता ज़ाहिर कर रहा था। Sasur bahu ki Story

Bahu sasur ki chudai ki kahani

मैंने कह दिया “जब अपनी बीवी को किसी को दे ही दिया है 2 दिन के लिए चुदवाने के लिए तो अब चुद के ही मिलेगी पहले नहीं मिलने वाली” ये सुनकर राजेश सकपका सा गया तो मैंने कहा:

मैं: मुझे सब मालुम पड़ चूका है वह रोने लगा फफक फफक के और बताया की 

राजेश: “ये फैसला उसकी बीवी ने ही लिया क्यूंकि हम दोनों मज़बूर थे पैसों के लिए आपके ससुर ने मज़बूरी का नाज़ायज़ फायदा उठाया है” वह मेरे से 2 साल छोटा था और था भी कमज़ोर सा दुबला पतला मैंने सहानुभूति जताते हुए खड़े हो कर उसके सर पे हाथ फेरा और चुप करते हुए उसको अपने में भींच लिया उसका मुँह मेरे पेट से लग गया और आंसुओं से पेट गिला हो गया।

 मैंने पुछा- “ससुर से बेइज़ती का बदला लेना चाहो तो मैं तुम्हारा साथ दूंगी” उसने हामी भरी तब मैंने कहा:

मैं:  –“तुम मेरे साथ वही करो जो मेरे ससुर ने तुम्हारी बीवी के साथ किया है”

राजेश सुरप्रीसेड था और आँखों में चमक आ गयी वह डरते हुए से तैयार हो गया मैंने राजेश का शर्ट उत्तरा फिर बनियान और उसको डाट के कहा:

मैं: मेरे कपडे तुम्हारा बाप उतारने आएगा क्या?” राजेश ने ब्लाउज उत्तार दिया मैं ज्यादा गरम हो चुकी थी।

मैंने ही राजेश को बेड पे गिरा के उसके निप्पल चूसने सुरु किये और उसके दोनों हाथ दबा के उसकी कमर और पेट में मुँह घुससा के गुदगुदी की और नंगा कर दिया लंड 6  इंच का ही था। Sasur bahu ki Story

Bahu aur sasur ki chudai ki kahani

मेरे पिछले पति के जितना ही बड़ा था मुँह में लिया उसकी खुद की बीवी ने मुँह में नहीं लिया था।

राजेश को भी जोश आ चूका था मैं लेट गयी और राजेश को मौका दिया राजेश ने दोनों बूब्स को दबाया और चूसा हलके हलके से दांत गड़ाए अच्छा लगा उसके ना चाहते हुए भी मेरी चुत की क्लीट को चुसवाया और अंदर जीभ डलवाया राजेश ने चुदाई सुरु की लंड छोटा ही था।

लेकिन मैं मोअन करने लगी राजेश का झड़ गया लेकिन मेरा पूरा नहीं हुआ था फिर भी मैंने उसको खुश रखने के लिए पूरी संतुष्टि दिखाई मेरे पेट पे ही सर रख के बातें करने लगा।

मैंने बताया की “तुम्हारी बीवी शराब के नशे में सो रही है और ससुर अभी आने वाले है उसकी चुदाई देखना चाहो तो  दिखा दूँगी”ससुर का फ़ोन आ गया था की वह 20 मिनट में ही पहुँच जाएगा।

मैंने भी झूट बोल दिया की राजेश जा चूका है ससुर आते ही रूम में चला गया और मैं राजेश को लेकर चुपके से पिछले दरवाज़े से पहुँच गयी सुमन की नींद खुल चुकी थी और वह हलके नशे में थी।

ससुर ने उसको खिलोने की तरह अपनी मज़बूत बाँहों में फूल की तरह उठाया और बूब्स को चूसते हुए पेट कमर झंघ और चुत को चूसा चुत के अंदर बादाम भर के जीभ से खाने लगे तो सुमन मोईन करने लगी। Sasur bahu ki Story

Bahu or sasur ki chudai

अब सुमन का नशा ख़तम सा ही था उसको ये सब देख कर राजेश का लंड भी तन चूका था।

उसने मेरे बूब्स पकड़ लिए तभी ससुर ने सुमन को उल्टा किया और पीछे से गांड में सूपड़ा ग़ुस्सा दिया सुमन चीखने लगी।

मैंने राजेश को चुप रहने का इशारा किया और बेबसी से अपनी बीवी की गांड फैटते हुए देख रहा था थोड़ा सा हिलने के बाद सुमन चुप हो गयी थी।

तभी ससुर ने एक झटके में पूरा अंदर करके गांड ही फाड़ दी खून निकल रहा था और जोर जोर से चिल्ला रही थी।

ससुर ने 7-8 मिनट तक ताबड़तोड़ चुदाई की गांड में ही और झड़ गया और उसके खून साफ़ किये मैं राजेश को लेकर अपने रूम में आ गयी बाकि अगले पार्ट में.  Sasur bahu ki Story

हमारी वैबसाइट से चुदाई की मस्त कहानिया पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे-> www.xstory.in

Read More Sex Stories…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *